गरियाबंद

डड़सेना कलार समाज का इतिहास गौरवशाली है-मुरलीधर
22-Nov-2021 5:13 PM (30)
डड़सेना कलार समाज का इतिहास गौरवशाली है-मुरलीधर

सहस्त्रबाहु अर्जुन जयंती धूमधाम से मनी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
गरियाबन्द, 22 नवंबर।
ग्राम कुण्डेल मे  कलार समाज का इष्ट देव भगवान सहस्त्रबाहु अर्जुन की जयंती को बड़े धुमधाम से मनाई गई । सर्वप्रथम कलार समाज के युवती व महिलाओं द्वारा भव्य कलश शोभा यात्रा निकाली गई। जो ग्राम भ्रमण करते कुबेर पुजा हेतु तलाब पहुंचे। उनके बाद पुन: कलश यात्रा कार्यक्रम स्थल सिन्हा भवन कुण्डेल परिसर पहुंचे। इस बीच जोरों से जयकारा लगाते रहे कार्यक्रम के अन्त में महाआरती हुई। तत्पश्चात आमंत्रित अतिथियों ने कार्यक्रम स्थल में दीप धूप जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। वहीं  मंचासीन अतिथियों का फुल माला से स्वागत सत्कार किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कलार समाज गरियाबंद के  पूर्व जिला अध्यक्ष मुरलीघर सिन्हा ने अपने सम्बोधन कहा कि भगवान सहस्त्रबाहु अर्जुन और माता बहादुर कलारिन का इतिहास गौरवशाली इतिहास है जिस पर हम समाज के लोगों को गर्व है, आगे  सिन्हा ने कहा कि कलार समाज आर्थिक, सामाजिक और राजनैतिक दृष्टि से मजबूत है, परन्तु कहीं न कहीं हमारा संगठनात्मक ढांचा कमजोर है, हमें अपनो लोगों की बुराई छांटने के बजाय उनके एक अच्छाई को ग्रहण करनी चाहिये, जितना लाभ हमारे समाज को राजनैतिक क्षेत्र में मिलना चाहिये वो नहीं मिल रहा है। हम सबमें  एकता दिखाना ढृढ़ इच्छा शक्ति को प्रगट करना चाहिये है, जिससे समाज मजबूत हो, हमें अपने पूर्वजों से मिले संस्कृति और संस्कार को महत्व दिया जाना चाहिए जिससे आने वाली नई पीढ़ी संस्कारवान, गुणवान और धनवान बन सकें । उन्होंने कहा कि समाज के होनहार युवाओं में प्रतिभा निखार आये सदा प्रोत्साहित किया जाना चाहिए, चाहे शिक्षा, चिकित्सा या अन्य क्षेत्रों के कठिन परिस्थितियों में उन्हें मद्द करनी चाहिए।

कार्यक्रम के अध्यक्षता कर रहे डड़सेना कलार जिला गरियाबंद अध्यक्ष दीनुराम सिन्हा ने कहा कि समाज को शिक्षा पर विशेष जोर देनी चाहिये, समाज में युवक-युवती परिचय सम्मेलन कराने की मांग पर उन्होंने कहा कि बहुत जल्दी सुखद परिणाम मिलेंगे । विशिष्ट अतिथि फिंगेश्वर मण्डलेश्वर ओमप्रकाश सिन्हा ने भी संबोधित करते हुए आशीर्वाद दिये और फिगेंश्वर कलार समाज की ओर से 2100/- सौ रुपये तथा कलश यात्रा में शामिल समाज के बच्चों और महिलाओं को व्यक्तिगत 500/- रुपये नगद राशि प्रदान किए।  

उक्त कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि दुर्गा प्रसाद सिन्हा, दुर्गा राम सिन्हा, गुलाब सिन्हा, नेतराम सिन्हा, राजकुमार सिन्हा, सरपंच रामेश्वरी सिन्हा, मनहरण लाल सिन्हा ने भी समाज के गौरवशाली इतिहास पर अपने उदगार व्यक्त किए। उक्त कार्यक्रम में प्रमुख रूप से कमल सिन्हा, अनिरूद्ध सिन्हा, परदेशी सिन्हा, पुरानिक सिन्हा, रमेश सिन्हा, चेतन सिन्हा, अवधराम सिन्हा, कामता सिन्हा,भारत सिन्हा, कुंजीलाल सिन्हा, टिकेन्द्र, ठाकुर राम, पुरूषोत्तम, तोरन, भीमसेन, गुलशन, पुन्नीलाल, ओमबती बाई, सुशीला बाई,लता बाई, पद्मनी बाई, डिगेश्वरी बाई, रामबाई, सावित्री बाई, शिवकुमारी, नर्मदा, हिरमत, रेखा, नंदा बाई, बिसाहिन, पुर्णिमा, उषा, अंगेश्वरी, रामेश्वरी, प्रिया, तुषार सहित सिन्हा समाज के ग्राम प्रमुखों की बड़ी संख्या में उपस्थित थे, कार्यक्रम का सफल संचालन पूर्व सरपंच लालाराम सिन्हा और आभार सरपंच प्रतिनिधि राजेश सिन्हा ने किया।
 

अन्य पोस्ट

Comments