गरियाबंद

सामान्य सभा में बारिश से फसल क्षति समेत कई मुद्दे उठाए
28-Nov-2021 7:58 PM (52)
सामान्य सभा में बारिश से फसल क्षति समेत कई मुद्दे उठाए

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नवापारा-राजिम, 28 नवंबर।
रायपुर जिला पंचायत सामान्य सभा की बैठक शुक्रवार को सभागार गृह रेडक्रॉस भवन में रखी गई थी। बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष डोमेश्वरी वर्मा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी मयंक चतुर्वेदी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष टंकराम वर्मा एवं सभी सदस्य, विभागीय व संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

सामान्य सभा की बैठक में भाजपा नेत्री एवं जिला पंचायत सदस्य रानी पटेल ने किसानों की पीड़ा को प्रमुखता से उठाते हुए कहा कि असमय बारिश के कारण फसल नुकसान हो गया है। जब फसल पूरी तरह पक कर तैयार हो गया था, ऐसे में अचानक हुई भारी बारिश से फसल प्रभावित हो गया है। अगर छत्तीसगढ़ राज्य सरकार एक नवंबर से धान खरीदी शुरू कर देती, तो आज अन्नदाता किसानों की फसल नष्ट नहीं होती। प्रदेश के किसान आज पूरी तरह से कर्ज में डूब चुके हंै। पहले खंड वर्षा के चलते फसल की पैदावार कम होने की अशंका थी, मगर बारिश ने तो पूरी तरह किसानों को बर्बाद कर दिया। छत्तीसगढ़ राज्य सरकार अन्य राज्यों में मुआवजा देने जाती है। अब अपने राज्य की सुध भी नहीं ले रहे हैं। कृषि अधिकारियों से किसानों के खेतों का धान की पैदावार का निरीक्षण करवा कर किसानों को जल्द से जल्द मुआवजा राशि देने और बैंकों का ऋण माफ करने बोनस देने की बात कही।

उन्होंने कहा कि सरकार बारदाने की व्यवस्था कर धान खरीद शुरू करें। रानी पटेल ने बताया कि एक तरफ धान की फसल नुकसान होने से अन्नदाता किसानों के पास कर्ज एवं घर परिवार की चिंता का विषय है तो दूसरी ओर जौंदा भाठा धान संग्रहण केन्द्र मे धान का उठाव नहीं होने के कारण बारिश में भीगकर धान सडक़र खाद बन गया है। प्रदेश में किसानों के साथ अन्याय हो रहा है।
 
शिक्षा विभाग के अधिकारियों को श्रीमती पटेल ने कहा कि क्षेत्र के स्कूलों में मॉनिटरिंग कर शिक्षकों की व्यवस्था कराई जाए। जिन स्कूलों में बालिका शौचालय नहीं है या जर्जर हो चुका है वहाँ अतिशीघ्र व्यवस्था करवाने के लिए कहा। साथ ही स्कूलों मे मध्याह्न भोजन संचालित कर रही महिला स्वसहायता समूहों का वेतन भुगतान करने की बात कही। बताया कि लगभग चार महीने से भुगतान नहीं होने के कारण महंगाई के चलते महिला स्वसहायता समूहों को मध्याह्न भोजन संचालन करने मे बहुत ही दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

इसी प्रकार पर्यावरण के लिए पिछली बैठक में नवापारा, पारागांव राइस मिल से राखड़ उडऩे के कारण राहगीरों को परेशानी हो रही है, उसमें का गंदा पानी किसानों के खेतों से होकर नदी में जा रही है जिससे नदी का जल प्रदूषित हो रहा है। सभी समस्याओं को अतिशीघ्र दूर करने कहा।

 ग्राम पंचायत तामासिवनी मे आंगनबाड़ी केन्द्र क्र. 1 जो नवापारा आरंग के मेन रोड में संचालित होने के कारण बच्चों के जान माल का खतरा होने के कारण आंगनबाड़ी केन्द्र क्र 1 को सुरक्षित व्यवस्थित स्थान पर बनवाने के लिए कहा। श्रीमती पटेल ने प्रधानमंत्री आवास, प्रधानमंत्री ग्राम सडक़, मुख्यमंत्री ग्राम सडक़, समाज कल्याण विभाग सहित विभिन्न मुद्दे पर अपनी बात रखी।

इस दौरान कई विभागीय अधिकारी से संतोष जनक जवाब नहीं मिलने पर श्रीमती पटेल ने अधिकारियों के प्रति नराजगी जाहिर करते हुए कहा, हम जनता के चुने हुए प्रतिनिधि है। हमारे क्षेत्र की जनता को हमशे ढेरों उम्मीदे हंै। अगर अधिकारी सही ढंग से काम नहीं करेंगे और हमारे द्वारा बैठकों में पूछे गये सवाल का जवाब में सिर्फ खाना पूर्ति करेंगे, क्षेत्र की समस्याओं को दूर करने हितग्राही मूलक कार्यों में सहयोग प्रदान नहीं करेंगे, तो हम जनता की सेवा व परेशानी कैसे दूर करेंगे।

अन्य पोस्ट

Comments