राजनांदगांव

हम सुविधाओं के बंधन में जकड़े रहते हैं - हर्षित मुनि
28-Jul-2022 3:09 PM
हम सुविधाओं के बंधन में जकड़े रहते हैं - हर्षित मुनि

राजनांदगांव, 28 जुलाई। रत्नत्रय के महान आराधक, परमागम रहस्यज्ञाता, परम पूज्य श्रीमद जैनाचार्य श्री रामलाल जी मसा के आज्ञानुवर्ती व्याख्यान वाचस्पति शासन दीपक हर्षित मुनि ने कहा कि हम जेल में कैदियों से अगर पूछे कि उन्हें क्या चाहिए तो वे मुक्ति मांगना छोड़ भौतिक सुविधाओं की मांग करते हैं। इसी तरह संसार भी एक जेल है और हम भौतिक सुविधाओं के बंधन में जकड़ कर मुक्ति को ही भूल जाते हैं।

हर्षित मुनि ने कहा कि भविष्य को अनुकूल बनाने के लिए हमें भौतिक सुविधाओं से मोह छोडऩा होगा। उन्होंने कहा कि हम सुविधा मांगते हैं, लेकिन छुटकारा कभी नहीं मांगते। जितनी सुविधाएं होती है, उतना ही हमें दुख भी होता है। हमारा संसार के प्रति मोह नहीं छूटता और यही कारण है कि हम दुखी रहते हैं। भौतिक सुविधाओं की चाह में हम यह भूल गए हैं कि हम आए क्यों हैं। हमें तरह तरह की परेशानियां घेरी हुई है। शारीरिक-मानसिक एवं व्यवसायिक परेशानियां हम सबको घेरे हुए हैं।

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news