धमतरी

कुकरेल-बनबगौद-नरहरा मार्ग जर्जर
12-Aug-2022 5:32 PM
कुकरेल-बनबगौद-नरहरा मार्ग जर्जर

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
नगरी, 12 अगस्त।
जिले के नगरी विकासखंड के ग्राम - बनबगौद (कुकरेल) का रोड़ इस साल के बरसात में पूरी तरह जर्जर हो गया हैं। आम लोगों को आवागमन में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
4 साल के अथक प्रयास के बावजूद, न जाने कितने आवेदन, आंदोलन के बाद भी कुकरेल से बासीखाई तक के मार्ग को अभी तक नहीं बनाया गया है, बरसात में इसकी हालत आप स्वत: ही फोटो में देख पा रहे हैं। इस रोड की हालत और ज्यादा जर्जर हो गई । जि़ला प्रशासन नरहरा जलप्रपात को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित कर रही है। इसी जर्जर मार्ग से हजारों की संख्या में पर्यटक छत्तीसगढ़ का विख्यात नरहरा जलप्रपात देखने जाते हैं।

लगता है शासन - प्रशासन के बड़े-बड़े अधिकारी, क्षेत्र के जनप्रतिनिधि आंखों में पट्टी बांधकर, कानों में रुई डाल कर नरहरा जलप्रपात को देखने जाते हैं, क्योंकि पिछले 4 सालों में ना तो उनको इस मार्ग की स्थिति दिखी और ना ही आम जनता की आवाज सुनी।

ग्रामीणों ने शासन - प्रशासन से मांग की है कि जल्द से जल्द उपरोक्त सडक़ का निर्माण करवाया जाए।  विदित हो कि नगरी ब्लॉक के कुकरेल से बनबगौद- नरहरा मार्ग पूरी तरह से जर्जर हो गया है जिसकी वजह से ग्रामीणों को आने - जाने में भारी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। सडक़ के बड़े - बड़े गड्ढे बड़ी दुर्घटना को आमंत्रण दे रहे है। कुकरेल से नरहरा वाटर फॉल की दूरी लगभग 18 किमी है। जिसमें कुकरेल से बनबगौद 5 किमी एवं कोटरवाही से नरहरा लगभग 6 किमी सडक़ पूरी तरह से जर्जर है जिसकी वजह से राहगीरों को आने जाने में तकलीफ होती है खास करके रात को दुर्घटना की ज्यादा संभावना रहती है। नरहरा जाने का प्रमुख सडक़ मार्ग यहीं है। आपको बता दे कि पिछले कुछ वर्षों में नगरी ब्लॉक के नरहरा वाटर फॉल ने पूरे प्रदेश के सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित किया है। यहां का मनोरम दृश्य बारिश के दिनों में देखते ही बनता है। बारिश के मौसम में सैलानियों का तांता लगा रहता है।
 

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news