छत्तीसगढ़ » बिलासपुर

प्रो. मोदक होंगे सीयू के कुलाधिपति

Posted Date : 11-Jul-2018

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बिलासपुर, 11 जुलाई। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के करीबी माने जाने वाले मुम्बई के प्रोफेसर अशोक गजानन मोदक को गुरु घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय का कुलाधिपति नियुक्त किया गया है। मोदक उन तीन प्रोफेसरों में शामिल रहे हैं जिन्हें उच्च शिक्षा के पाठ्यक्रमों पर शोध करने के लिए केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्रालय ने नियुक्त किया था। प्रो. मोदक भाजपा की ओर से 12 साल तक महाराष्ट्र विधानपरिषद् के सदस्य भी रहे हैं। 
प्रो. मोदक ने सन् 1980 में जेएनयू से अर्थशास्त्र में पी-एच.डी. उपाधि प्राप्त की। उन्होंने ''सोवियत इकॉनामी एड टू इंडिया'' में शोध किया। उन्हें 06 जनवरी, 2015 को राष्ट्रीय अनुसंधान प्राध्यापक नामित किया। 21 जनवरी, 2016 को उन्हें भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद् की सामान्य सभा का सदस्य नियुक्त किया गया।
उन्होंने पुणे विश्वविद्यालय से एम.ए. अर्थशास्त्र (1963) एवं एम.ए. राजनीति विज्ञान (1967) की पढ़ाई की। सन् 1963 में कला, विज्ञान एवं वाणिज्य महाविद्यालय चालीसगांव (जलगांव, महाराष्ट्र) में अर्थशास्त्र के व्याख्याता के रूप में उन्होंने अपना शैक्षणिक कैरियर प्रारंभ किया। बाद में वे मुंबई विश्वविद्यालय ने सोवियत अध्ययन केन्द्र में रीडर बने। सन् 2006 में मुंबई विश्वविद्यालय के केन्द्रीय यूरेशियन अध्ययन केन्द्र में एडजंक्ट प्रोफेसर नियुक्त कर उन्हें सम्मानित किया गया। 1986 में अमेरिकी सरकार ने उन्हें महाशक्ति संबंधों पर बोलने के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कई विदेश यात्राएं भी की। वे 30 किताबों के रचयिता हैं। वहीं उनके 104 अधिक शोध पत्र राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त विभिन्न समाचार पत्रों एवं पत्रिकाओं में प्रकाशित हो चुके है। डॉ. मोदक का जन्म सन् 1940 में हुआ। 
इंटरनेशनल स्टडीज, जर्नल ऑफ इंडियन काउंसिल ऑफ वल्र्ड अफेयर्स नई दिल्ली एवं एटर्नल इंडिया जैसी पत्रिकाओं में वे नियमित रूप से लिख रहे है। 1994 एवं 2000 में वे महाराष्ट्र में विधान परिषद के सदस्य निर्वाचित हुए। वर्तमान में वे महाराष्ट्र की दो शैक्षणिक संस्थाओं के अध्यक्ष हैं। 1997 में मुंबई विधान परिषद ने उन्हें सर्वश्रेष्ठ संसदीय अवार्ड से सम्मानित किया।  सीयू की विद्या परिषद् की कल आयोजित बैठक में इसकी सूचना कुलपति प्रो. अजिला गुप्ता ने सदस्यों को दी।  




Related Post

Comments