रायपुर

शराब घोटाले पर 10 हजार पन्नों की चार्ज शीट, 5500 पन्ने अकेले टूटेजा पर
20-Jun-2024 4:39 PM
शराब घोटाले पर 10 हजार  पन्नों की चार्ज शीट, 5500  पन्ने अकेले टूटेजा पर

205 करोड़ की संपत्ति भी अटैच

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 20 जून। प्रवर्तन निदेशालय ईडी ने कांग्रेस शासनकाल में हुए दो हजार करोड़ रूपए के शराब घोटाले की चार्ज शीट आज विशेष अदालत में पेश किया है। इस मामले में पूर्व आईएस अनिल टूटेजा, आईटीएस एपी त्रिपाठी ,अनवर ढेबर ,अरविन्द सिंह और त्रिलोक सिंह ढिल्लन  को आरोपी बताया है। 10 हजार पन्नों की चार्ज शीट के साथ 200 पेज के पूरक दस्तावेज भी जमा किया है। उक्त सभी आरोपी इस समय जेल में हैं। इनमें से अनिल टूटेजा के  जमानत याचिका लगाए जाने की खबर है।

 इस केस में पूर्व आईएएस अनिल टूटेजा के खिलाफ ईडी की स्पेशल कोर्ट में 5 हजार 710 पन्नों का चालान और 220 पन्नों का अभियोजन दस्तावेज पेश किया है। ईडी के वकील ने कोर्ट को टूटेजा की 205 करोड़ रुपये की बेनामी संपत्ति के साथ एक हार्ड डिस्क जब्त करने की सूचना भी दी है।

ईडी ने कोर्ट में पेश चालान में कहा कि अनिल टूटेजा ने अनवर ढेबर के साथ मिलकर सिंडिकेट बनाकर घोटाला किया और राज्य सरकार को चंपत लगाई। अनिल टूटेजा, अनवर ढेबर, एपी त्रिपाठी, निरंजन दास और अन्य पर नकली होलोग्राम बनाकर शराब बेचने का आरोप लगाया गया है। 19 जुलाई को इस मामले की अगली सुनवाई होगी।

आपको बता दें, भूपेश सरकार के दौरान 2 हजार करोड़ रुपये का शराब घोटाला मामले में ईओडब्ल्यू ने पूर्व सेवानिवृत्त आईएएस अनिल टूटेजा समेत, अनवर ढेबर समेत एपी त्रिपाठी, निरंजन दास व अन्य को आरोपी बनाया गया था।

गौरतलब है कि, कुछ दिनों पहले अनिल टुटेजा के साथ उनके बेटे यश टूटेजा को पूछताछ के लिए अप्रैल 2024 में तलब किया था। लेकिन ईडी ने दोनों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया था, लेकिन ईओडब्ल्यू कार्यलय से बाहर निकलते ही ईडी ने दोनों को हिरासत में लेकर पूछताछ के लिए अपने कार्यालय ले आई। जिसके बाद अजेय ने यश को तो छोड़ दिया, लेकिन अनिल टूटेजा  गिरफ्तारी के बाद से अब तक  न्यायिक रिमांड पर हैं।

अन्य पोस्ट

Comments

chhattisgarh news

cg news

english newspaper in raipur

hindi newspaper in raipur
hindi news