छत्तीसगढ़ » रायपुर

नकली नोट, जानकारी सही नहीं दे रहे आरोपी

Posted Date : 06-Dec-2018

दो एनजीओ से पूछताछ, दिल्ली की पार्टी का नाम नहीं बता रहे

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 6 दिसम्बर। राजधानी के अमलीडीह इलाके से सामने आए नकली नोट छापने के मामले में आरोपी पुलिस को सही जानकारी नहीं दे रहे। आरोपियों द्वारा जिस दिल्ली की पार्टी के बारे में बताया जा रहा है उसका नाम नहीं पा रहे हैं। जांच में जिन दो एनजीओ का नाम सामने आया है उसे सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है। बताया जा रहा है नाम सामने आने से जांच में बाधा पहुंच सकती है।

न्यू राजेन्द्र नगर अमलीडीह इलाके से पति-पत्नी को गिरफ्तार कर उनके पास से 5 करोड़ 60 लाख रूपए के नकली नोट जब्त किए गए थे। नकली नोट को जांच के लिए नासिक प्रेस भेजने की सलाह भी एसबीआई अफसर ने दिया था। पुलिस जांच में जुटी है लेकिन आरोपी पूरे मामले की जानकारी नहीं दे रहे हैं। आरोपियों और जिन दो एनजीओ का नाम इस मामले में सामने आया है उनके द्वारा जो जानकारी दी जा रही है। उसकी पुष्टि नहीं हो पा रही है।जिस दिल्ली की पार्टी के बारे में कहा जा रहा है उसका नाम पता नहीं बताया जा रहा है। जंाच कर रहे अफसरों ने बताया कि दो एनजीओ वालों से पूछताछ की गई। उनके दर्ज बयानों को वेरीफाय किया जा रहा है।

एनजीओ से संपर्क को लेकर कोई दस्तावेज नहीं मिला है इसलिए उनका वेरीफिकेशन किया जाना जरूरी है। बयान में बताया गया है कि दिल्ली से दो लोग आए थे, लेकिन उनका नाम पता नहीं बता रहे हैं। जिन एनजीओ का बयान लिया गया है उनका कहना है कि उनको केवल मध्यस्थ बनाया गया था। बाकी की डील दिल्ली की पार्टी से किया जा रहा था। जांच अफसरों का कहना है कि बिना दस्तावेज मिले एनजीओ के नामों का खुलासा करना ठीक नहीं है। दूसरी तरफ यह भी अंदेशा है कि एनजीओ का नाम सामने आने से जांच में बाधा पहुंच सकती है।  




Related Post

Comments