छत्तीसगढ़ » धमतरी

कलेक्टर ने फस्र्ट एड ट्रेनिंग के प्रशिक्षुओं व देहदान करने वालों 1466 लोगों का किया सम्मान

Posted Date : 12-Jan-2019

छत्तीसगढ़ संवाददाता 

धमतरी, 12 जनवरी। जिले के रेडक्रॉस वॉलिंटियर्स निस्संदेह विभिन्न सामाजिक गतिविधियों एवं त्वरित सेवा के क्षेत्र में बेहतर ढंग से अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं। चाहे मतदाता जागरुकता कार्यक्रम हो या स्वच्छता का अथवा दिव्यांग मतदाताओं को मतदान से जोडऩे का कार्य हो, हर बार अपने सक्रिय भूमिका से सोसायटी के बच्चों ने बेहतर मिसाल कायम की है। यह बात कलेक्टर एवं जिला रेडक्रॉस सोसायटी के अध्यक्ष डॉ. सीआर प्रसन्ना ने जिला स्तरीय फर्स्ट एड ट्रेनिंग एण्ड वर्कशॉप के तहत आयोजित सम्मान समारोह में कही।  
विंध्यवासिनीं वार्ड के सामुदायिक भवन में आयोजित समारोह में कलेक्टर ने आगे कहा कि शासन की अनेक नीतियों एवं योजनाओं के क्रियान्वयन में धमतरी जिला हमेशा अग्रणी रहा है। स्वच्छता अभियान और रक्तदान शिविर जैसे कार्यक्रमों में रेडक्रॉस वॉलिंटियर्स ने अपनी हर जिम्मेदारियों का निर्वहन बखूबी किया है। उन्होंने आगे कहा कि नेत्रदान और देहदान जैसे पुनीत कार्य में इतनी बड़ी संख्या जिले के नागरिकों की पहल करना अपने आप में सराहनीय है। इससे निश्चित ही और लोगों को प्रेरणा मिलेगी और वे प्रोत्साहित होकर आगे आएंगे। इसके पहले, एस.पी. श्री सिंह और सोसायटी के सचिव ने अपने संक्षिप्त उद्बोधन में मौजूद वॉलिंटियर्स को अपनी शुभकामनाएं देते हुए समाज औ प्रदेश के लिए प्रेरक बताया। 
सम्मान समारोह में जिले भर के 168 स्कूल और 12 कॉलेजों के 1466 वॉलिंटियर्स, कैम्पस एंबेसेडर और ईएलसी मेंमर्स को कलेक्टर एवं मंचस्थ अतिथियों द्वारा प्रशस्ति-पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया। जिलेभर से देहदान एवं नेत्रदान करने वाले लोगों को भी शॉल, श्रीफल एवं प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। रेडक्रॉस सोसायटी के जिला संगठक प्रदीप साहू ने बताया कि उनके साथ-साथ उक्त समारोह में देहदान एवं नेत्रदान की घोषणा करने वालों में धमतरी के आकाशगिरी गोस्वामी एवं उनकी पत्नी वंदना गोस्वामी, निरुपा जयसिंधु, सुशीला गुप्ता, प्रीतम केसवानी, मूलसंजीवन ध्रुव, नगरी की रजनी देवी, गौतमचंद साहू, गोरेगांव नगरी के लेखराज साहू व ललिता देवी साहू, भोथीडीह मगरलोड के राधेलाल सिन्हा शामिल हैं। इस अवसर पर एसपी रजनेश सिंह, सीएमएचओ तथा रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव डॉ. डीके तुर्रे मौजूद थे। 

 

 

 




Related Post

Comments