छत्तीसगढ़ » राजनांदगांव

अलाव की ताप के लिए जानवर भी डटे

Posted Date : 12-Jan-2019

छत्तीसगढ़ संवाददाता
राजनांदगांव, 12 जनवरी। मौसम के उतार-चढ़ाव के चलते सुबह और देर शाम को लोगों को ठंड से कंपकपी होने लगी है। ऐसे में लोग अलाव जलाकर ठंड से राहत पाने मशक्कत कर रहे हैं। वहीं मवेशी भी अलाव में आग तापने डटे रहने मजबूर हो रहे हैं।   इधर वनांचल में दोपहर तक कोहरे का आलम बना हुआ है और लोग दिनभर गर्म कपड़ों का सहारा ले रहे हैं। 
कोहरे और सर्द हवाओं से ठिठुरन बढ़ गई है। पिछले कुछ दिनों से वनांचल में सूर्य निकलने के बाद भी कोहरे का आलम बना हुआ है। लगातार दिन और रात के पारा में गिरावट दर्ज की जा रही है। इधर अचानक ठंड बढऩे से स्वास्थ्य पर इसका विपरीत असर पड़ रहा है। सर्दी-खांसी व वायरल के मरीजों की संख्या बढ़ गई है। चिकित्सक बच्चों व बुजुर्गों को पर्याप्त गर्म कपड़े उपयोग करने की सलाह दे रहे हैं। वहीं गर्म पानी और गर्म भोजन ग्रहण करने की समझाईश दी जा रही है।  इधर तापमान गिरने से लोग सुबह से गर्म कपड़ों स्वेटर व जैकेट पहने हुए नजर आ रहे हैं। इसके अलावा मजदूर वर्ग के क्षेत्रों में लोग ठंड से बचने के लिए अलाव भी जलाकर राहत पा रहे हैं।
ठंड बढऩे के साथ ही सेहत पसंद लोगों की भीड़  पार्कों समेत स्टेडियम और सड़कों में देखने को मिल रही है। सुबह सैर-सपाटे के लिए युवाओं के अलावा महिलाएं और बुजुर्ग भी अलसुबह सड़कों में वाक करते नजर आ रहे हैं। वहीं युवा वर्ग भी सेहतमंद रहने के लिए व्यायाम समेत दौड़ का अभ्यास कर रहे हैं। पार्कों में भी महिलाएं समेत बुजुर्ग भी पहुंचकर योगा का अभ्यास करते बीमारी से दूर रहने  प्रयासरत हैं। 

 




Related Post

Comments