सुकमा

जादू-टोने के शक में हत्या, 24 घंटे में 2 बंदी
15-Sep-2020 8:56 PM 3
जादू-टोने के शक में हत्या, 24 घंटे में 2 बंदी

तोंगपाल, 15 सितंबर। सुकमा जिले के कूकानार थाना क्षेत्र के पालेम में गाँव के ही दो युवकों ने गाँव के युवक की हत्या कर शव को गाँव के ही तालाब में फेंक दिया। कूकानार पुलिस ने 24 घंटे में मामले को सुलझाकर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार 11 सितंबर को पालेंम निवासी चालीस वर्षीय मुचाकी कोशा दोपहर को भोजन करने के पश्चात खेत जा रहा हूं कहकर घर से निकला। शाम तक वापस नहीं आने पर उसके पिता मुचाकी मल्ला ने कहीं बाहर गया होगा, सोचकर पता किया तो पता नहीं चला। उसके पश्चात दो दिनों के बाद 13 सितंबर को उसी गाँव की कवासी सोमडी अपने तालाब की ओर गई व उसने किसी पुरुष के शव को तालाब के ऊपर पानी में तैरते हुए देखा उसे मल्ला के बेटे के गायब होने की खबर थी, इसलिए उसने मल्ला को इस बात की जानकारी दी ,मल्ला गाँव के पटेल व सरपँच को लेकर तालाब में जाकर देखा व शर्ट से अपने बेटे की पहचान की। उसके बाद हत्या की आशंका होने पर मल्ला ने पुलिस थाने कूकानार में जाकर इस बात की जानकारी दी। जिस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए एसआई राकेश पटेल व एसआई मनीष मिश्रा ने पालेंम जाकर गाँव वालों की मदद से शव को तालाब से बाहर निकाला शव के बाएं हाथ व पैर में रस्सी बंधी हुई थी व सीने व सर पर चोट के निशान देखने पर पर हत्या होना प्रतीत हो रहा था।

शव को पुलिस के द्वारा पीएम हेतु डॉक्टर के पास भेजा गया, जहां हत्या होने की पुष्टि होने के बाद कूकानार पुलिस ने सूझबूझ से 24 घण्टे के अंदर हत्या के आरोपी 25 वर्षीय माड़वी लच्छुराम व 20 वर्षीय माड़वी हूंगा को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया

आरोपियों ने गाँव में जादूटोना करने का लगाया आरोप

आरोपी लच्छुराम व हूंगा ने बताया कि चार पांच वर्ष पहले मृतक मुचाकी कोशा ने मेरे पिता माड़वी बामन व मेरे बड़े पिताजी माड़वी जोगा जो कि गाँव में पुजारी का काम करते थे, उनकी जादूटोने के द्वारा इलाज किया था उसके बाद दोनों की अलग-अलग समय में मृत्यु हो गई थी उसके बाद भी हमारे परिवार में आये दिन कुछ न कुछ परेशानी आती रहती थी, जिसे सिरहा गुनियाँ कराने पर  सभी मुचाकी कोशा के द्वारा किया गया है कहते थे, इसलिए गुस्से में आकर हम लोगों ने हत्या कर दी।

इस अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाने में एसपी सुकमा शलभ सिन्हा के मार्गदर्शन में एसआई राकेश पटेल ,एसआई मनीष मिश्रा व पुलिस स्टाफ कूकानार का सराहनीय योगदान रहा। कूकानार पुलिस ने अपराध पंजीबद्ध कर आरोपियों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

 

अन्य पोस्ट

Comments