दन्तेवाड़ा

पारा मोहल्ला का लिया जायजा
18-Sep-2020 8:49 PM 6
 पारा मोहल्ला का लिया जायजा

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

दंतेवाड़ा, 18 सितंबर। मार्च में कोरोना के संक्रमण से शालाए बंद होने के कारण राज्य शासन की महत्वाकांक्षी योजना 'पढ़ई तुंहर दुआरÓ से पारा मोहल्ले, ज्ञानगंगा से जिले में कक्षा ऑफलाइन संचालन किया जा रहा है।

स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव के दंतेवाड़ा भ्रमण पर स्कूलों का निरीक्षण किया जाना है। जिसकी पूर्व तैयारी में कलेक्टर दीपक सोनी, और मुख्य कार्यपालन अधिकारी अश्वनी देवांगन के निर्देशन पर जिला शिक्षा अधिकारी, जिला मिशन समन्वयक, सहायक परियोजना समन्वयक ने विकासखंड कुआकोंडा के विभिन्न पारा मोहल्ला क्लास का अवलोकन किया।

 ग्राम पंचायत रेंगानार में सरपंच सनमती तेलामी के घर में पारा मोहल्ला क्लास में प्रीति भास्कर ने गोंडी का पाठ चार चने पढ़कर सुनाया, तो कक्षा 1  के जितेंद्र ने  ए से जेड तक अल्फाबेट पढ़कर सुनाया। राधा, आरती और रीना भास्कर ने  'वंदे मातरमÓ के गीत गाये। ग्राम पंचायत हितावर में पंचायत भवन में दो बहनें संध्या मंडावी और रामबती मंडावी दोनों बहन स्नातक हैं, शिक्षा सारथी के रूप में कक्षा 1 से 8 तक कुल 31 बच्चों को शिक्षा देने की मुहिम में लगी हैं, जिनमें डी ए व्ही अंग्रेजी माध्यम के बच्चे भी पढऩे आते है। कक्षा 6 से 8 तक के बच्चे ज्ञानगंगा सर्वर से पढ़ाई करते हैं।

बच्चों ने बताया कि ज्ञानगंगा से हमें सभी विषय पढऩे मिल जाते हैं तथा इसका प्रश्न उत्तर भी मिल जाता है। इसमें हमें गीत सुनने को भी मिल जाता है। निरीक्षण टीम के द्वारा माहरापारा हितावर के बंद स्कूल में चल रहे क्लास में दुर्गा राठौर की क्लास, गोंगपाल में ज्ञानगंगा से पढ़ाई, तथा पारा मोहल्ला क्लास का अवलोकन किया, जिसमें जिला शिक्षा अधिकारी, जिला मिशन समन्वयक ने बच्चों से सामान्य जानकारी पूछे, कई बच्चों ने बताया, कई बच्चों ने नहीं बताया, इस पर सभी शिक्षकों को सामान्य जानकारी सिखाने को कहा गया।

 मैलावाड़ा में ग्राम पंचायत भवन में ज्ञानगंगा सर्वर के बारे में बच्चों को पूछा गया तो बच्चों ने सभी पाठ को मोबाइल से पढ़ते है बताया। यहाँ पर शिक्षकों को बच्चों को सामान्य ज्ञान सिखाने, स्थानीय खेल, मिट्टी के खिलौने बनाने, आदि कौशल मे निपुण करने हेतु सलाह दी गई।

अन्य पोस्ट

Comments