राजनांदगांव

नवरात्र में स्थापित होगी 6 फीट ऊंचाई की प्रतिमा
24-Sep-2020 8:52 PM 6
नवरात्र में स्थापित होगी 6 फीट ऊंचाई की प्रतिमा

समिति को सीसीटीवी लगाना होगा अनिवार्य

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 24 सितंबर। नवरात्र पर्व पर स्थापित होने वाली प्रतिमाओं के लिए प्रशासन ने गाईड लाइन जारी कर दिया है। वहीं कोरोना संक्रमण को रोकने और नियंत्रण रखने के लिए भी पंडाल समितियों के लिए भी निर्देश जारी किए हैं। इसके अंतर्गत मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति को सीसीटीवी,  मास्क लगाने की अनिवार्यता, सेनिटाईजर, थर्मल स्क्रीनिंग, आक्सीमीटर, हैंडवाश एवं क्यू मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था करनी होगी।

कलेक्टर टीके वर्मा ने क्वांर नवरात्रि के संबंध में आदेश जारी किया है। जारी आदेश में कहा गया है कि मूर्ति की ऊंचाई एवं चौड़ाई 6 ङ्ग 5 फीट से अधिक न हो। मूर्ति स्थापना वाले पंडाल का आकार 15 ङ्ग 15 फीट से अधिक न हो। पंडाल के सामने कम से कम 3000 वर्गफीट की खुली जगह हो। पंडाल एवं सामने खुली जगह में कोई भी सडक़ अथवा गली का हिस्सा प्रभावित न हो। एक पंडाल से दूसरे पंडाल की दूरी 250 मीटर से कम न हो। मंडप/पंडाल के सामने दर्शकों के बैठने हेतु पृथक से पंडाल न हो, दर्शकों एवं आयोजकों के बैठने हेतु कुर्सी नहीं लगाई जाएगी। किसी भी एक समय में मंडप एवं सामने मिलाकर 20 व्यक्ति से अधिक न हों। मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति एक रजिस्टर संधारित करेगी। जिसमें दर्शन हेतु आने वाले सभी व्यक्तियों का नाम, पता, मोबाइल नंबर दर्ज किया जाएगा, ताकि उनमें से कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित होने पर कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके।

मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति अथवा समिति 4 सीसीटीवी लगाएगा, ताकि उनमें से कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित होने पर कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग किया जा सके। मूर्ति दर्शन अथवा पूजा में शामिल होने वाला कोई भी व्यक्ति बिना मास्क के नहीं जाएगा। मूर्ति स्थापित करने वाले व्यक्ति/ समिति द्वारा सेनिटाईजर, थर्मल स्क्रीनिंग, आक्सीमीटर, हैंडवाश एवं क्यू मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था की जाएगी। कंटेनमेंट जोन में मूर्ति स्थापना की अनुमति नहीं होगी। यदि पूजा की अवधि के दौरान भी उपरोक्त क्षेत्र कंटेनमेंट जोन घोषित हो जाता है, तो तत्काल पूजा समाप्त करनी होगी। मूर्ति स्थापना के दौरान, विसर्जन के समय अथवा विसर्जन के पश्चात् किसी भी प्रकार की भोजन, भंडारा, जगराता अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं होगी।

 

अन्य पोस्ट

Comments