दुर्ग

घर बैठे ओलिंपियाड की परीक्षा देंगे छात्र, पिछले साल भिलाई से 32 हजार छात्रों ने दी थी परीक्षा
27-Oct-2020 10:07 PM 30
 घर बैठे ओलिंपियाड की परीक्षा देंगे छात्र, पिछले साल भिलाई से 32 हजार छात्रों ने दी थी परीक्षा

भिलाई नगर, 27 अक्टूबर। स्कूली छात्रों के लिए ओलंपियाड परीक्षाओं के सबसे बड़े आयोजक साइंस ओलंपियाड फाउंडेशन (एसओएफ) ने घोषणा की है कि ओलंपियाड परीक्षाएं वर्तमान शैक्षणिक वर्ष के दौरान ऑनलाइन आयोजित की जाएगी। छात्रों की सुरक्षा और स्वास्थ्य संबंधी चिंता को सर्वोपरि मानते हुए, सभी छात्र अपने घरों से एसओएफ ओलंपियाड परीक्षा में उपस्थित हो सकेंगे। 

ज्ञात हो कि हर साल भारत और अन्य देशों के लाखों छात्र एसओएफ ओलंपियाड परीक्षाओं में शामिल होते हंै। पिछले साल, भिलाई से लगभग 32000 छात्रों ने कक्षा एक से बारह तक ओलंपियाड परीक्षा दी थी।

एसओएफ इस साल चार ओलंपियाड परीक्षा आयोजित करेगा, जिसमें एसओएफ इंटरनेशनल जनरल नॉलेज ओलंपियाड, एसओएफ इंटरनेशनल इंग्लिश ओलंपियाड, एसओएफ नेशनल साइंस ओलंपियाड और एसओएफ इंटरनेशनल गणित ओलंपियाड शामिल हैं। पंजीकरण खुले हैं और छात्र प्रत्येक तिथि से 15 दिन पहले तक एसओएफ की वेबसाइट पर पंजीकरण कर सकते हैं। परीक्षाएं नवंबर से शुरू हो जाएंगी।

साइंस ओलंपियाड फाउंडेशन के संस्थापक निदेशक महाबीर सिंह ने कहा  कि एसओएफ ने  ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने के लिए एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय संगठन से भागीदारी की है। उन्होंने कहा कि परीक्षा की अखंडता को सुनिश्चित करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रिमोट प्रॉक्टरिंग, परीक्षा की वीडियो रिकॉर्डिंग और अन्य विभिन्न उपकरणों का व्यापक उपयोग किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि 2019-20 के दौरान, 6 ओलंपियाड परीक्षा के लिए पंजीकृत 32 देशों के 56000 से अधिक स्कूलों और लाखों छात्रों ने उनमें भाग लिया। एसओएफ की तरफ से  अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विजेता स्कूलों और छात्रों को पुरस्कार, और छात्रवृत्ति दी जाती है।

साइंस ओलंपियाड फ़ाउंडेशन

साइंस ओलंपियाड फ़ाउंडेशन, दुनिया में ओलंपियाड परीक्षाओं का सबसे बड़ा आयोजक है, जिसका उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय स्तर, राज्य स्तर और स्कूल स्तर पर भी प्रतिभा और प्रदर्शन को पहचानना, प्रेरित करना और पुरस्कृत करना है। यह छात्रों में प्रतिस्पर्धा की भावना विकसित करने और उन्हें अपने स्कूल स्तर से परे प्रतिस्पर्धा का सामना करने के लिए तैयार करने का प्रयास करता है।

प्रत्येक छात्र को स्कूल, शहर, राज्य और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रैंक प्रदान किया जाता है, ताकि छात्र प्रतिस्पर्धा के लिए उसकी तैयारियों और तत्परता के स्तर को जान सके। एसओएफ की परीक्षाओं में ब्रिटिश काउंसिल, टीसीएस, आईसीएसआई के तहत कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय, भारत सरकार और सिंगापुर के राष्ट्रीय विश्वविद्यालय भागीदार बने हैं।

अन्य पोस्ट

Comments