राजनांदगांव

पदोन्नति नियम का हो पालन-फेडरेशन
28-Oct-2020 7:09 PM 23
पदोन्नति नियम का हो पालन-फेडरेशन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

राजनांदगांव, 28 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष राजेश चटर्जी, प्रांतीय महामंत्री सतीश ब्यौहारे ने जारी बयान में कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश शिक्षक फेडरेशन द्वारा चलाए गए नियाय पाती अभियान के तहत छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के सहायक शिक्षकों (प्रथम नियुक्ति), शिक्षकों एवं व्याख्याताओं द्वारा पोस्टकार्ड लिखकर तथा द्वितीय चरण में सभी जिलों में कलेक्टर को मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री एवं प्रमुख सचिव शिक्षा के नाम ज्ञापन देकर पदोन्नति तथा सहायक शिक्षकों को क्रमागत समयमान वेतन देने हेतु ज्ञापन सौंपा गया है।

उन्होंने बताया कि इस प्रकार यह प्रक्रिया प्रारंभ हुई और डीपीआई द्वारा पदोन्नति प्रस्ताव मंगाने हेतु पत्र जारी किया गया है। जिसमें प्रधान पाठक तथा व्याख्याताओं से जिनकी पद पर 5 वर्ष की सेवा पूर्ण हो चुकी है, से पदोन्नति प्रस्ताव मंगाए गए हैं। यह प्रस्ताव विकासखंड शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से मंगाया गया है और विभाग में जमा भी हो गया है। दूसरा आदेश डीपीआई कार्यालय से आदेश पुन: जारी हुआ है।

फेडरेशन के प्रांताध्यक्ष श्री चटर्जी, प्रांतीय महामंत्री श्री ब्यौहारे एवं राजनांदगांव जिला महामंत्री पीआर झाड़े ने प्रमुख सचिव शिक्षा तथा संचालक लोक शिक्षण से मांग की है कि पदोन्नति में भर्ती पदोन्नति नियम 2019 का पालन हो और 25 प्रतिशत प्रधान पाठक पूर्व माध्यमिक शाला प्रशिक्षित एवं स्नातकोत्तर एवं 65 प्रतिशत व्याख्याताओं प्रशिक्षित द्वारा पदोन्नति पद भरा जाए।

डीपीआई कार्यालय से जारी द्वितीय आदेश में सिर्फ  व्याख्याता से पदोन्नति प्रस्ताव मंगाया गया है। जबकि फेडरेशन की मांग है कि प्राचार्य पदोन्नति हेतु 25 प्रतिशत प्रधान पाठक पूर्व माध्यमिक शाला प्रशिक्षित एवं स्नातकोत्तर को प्रदान किया जाकर भर्ती पदोन्नति नियम 2019 का पालन किया जाना चाहिए। साथ ही वित्त विभाग छत्तीसगढ़ के आदेश 28 अप्रैल 2008 कंडिका 15 के अनुसार तथा सामान्य प्रशासन विभाग के आदेश 24 अप्रैल 2006 एवं 10 मार्च 2017 के अनुक्रम में सहायक शिक्षक पद पर नियुक्त शिक्षकों को क्रमागत तृतीय समयमान वेतनमान 15600-39100 धन 5400 (लेवल-12) के स्वीकृति का प्रस्ताव राज्य शासन को भेजने की मांग की है।

 

अन्य पोस्ट

Comments