राजनांदगांव

अहंकार से विनाश सुनिश्चित-हफीज
28-Oct-2020 10:00 PM 30
अहंकार से विनाश सुनिश्चित-हफीज

  गौरीनगर में 10 फीट रावण का दहन  

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

राजनांदगांव, 28 अक्टूबर। कौमी एकता दशहरा उत्सव समिति गौरीनगर में धार्मिक परंपरा अनुसार शासन के दिशा-निर्देश से 10 फीट के रावण पुतले का दहन किया गया।

कौमी एकता दशहरा उत्सव समिति के अध्यक्ष व छत्तीसगढ़ राज्य अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हफीज खान ने नागरिकों को संबोधित करते कहा कि विजयी दशमी का पर्व असत्य पर सत्य की जीत, बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। इस पर्व से हम सबको प्रेरणा मिलता है कि मनुष्य कितना भी शक्तिशाली हो यदि उसमें घमंड, अहंकार आ जाए तो उसका विनाश होना सुनिश्चित होगा। रावण महाशक्तिशाली, ज्ञानी होने के बाद असत्य के रास्ते पर चलकर जीतना चाहते थे, किन्तु उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा।

उन्होंने कहा कि कौमी एकता दशहरा उत्सव समिति का यह 16वां वर्ष है। यहां सभी धर्म के लोग मिलकर यह त्यौहार मानते हंै। इस वर्ष कोरोना संकट काल के चलते शासन द्वारा दिए गए निर्देश का पालन करते रावण वध कर रहे हैं। हम सभी भगवान श्री रामचंद्र जी से आशीर्वाद मांगते है कि कोरोना बीमारी से विश्व को मुक्ति दिलाए।

कार्यक्रम में पार्षद समद खान, मेवालाल बम्भोला, जीएल देवंागन, सतीश लाल, विजय यादव, जाकिर खान, हमीरचंद साहू, श्रेष्ठ गोगना, पुनेन्द्र कुंजाम, राजकुमार निषाद, मनोहर मानिकपुरी, अशोक शर्मा, बंशी यादव, बबला यादव, संतोष यादव, नागेश्वर बंजारे, अभिमन्यु मिश्रा, मन्नू पंचतिलक, निर्मला यादव, शीला दुबे, मीना साहू, लक्ष्मी सिंह, सुशीला निषाद, सावित्री यादव, मीना यादव, दासिन देशमुख, राधिका देवांगन, रधिया यादव, बसंती यादव, मोनी कंवर, सोनी कंवर, रूखमणी निर्मलकर, लीला यादव, गुक्कू यादव उपस्थित थे।

लखोली में भी रावण पुतले का दहन

लखोली में युवा संगठन द्वारा विजयादशमी पर्व पर अहंकार एवं बुराई के प्रतीक दस फीट ऊंचे रावण पुतले का दहन किया गया। प्रशासन के निर्देशानुसार कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते रावण दहन का कार्यक्रम संपन्न हुआ।

संगठन के प्रवक्ता संतोष निर्मलकर ने बताया कि लखोली स्कूल मैदान में आयोजित होने वाले भव्य आयोजन में अनेक ख्याति प्राप्त लोक सांस्कृतिक संस्थाओ के मंजे कलाकारों ने अपनी रंगारंग प्रस्तुति दी।

 साथ ही लोक कला संगीत के क्षेत्र में योगदान देने वाले प्रख्यात रंगकर्मी भैयालाल हेड़ाऊ, फिल्म अभिनेता नत्थु दादा तथा संगीतज्ञ भूषण नेताम सहित कई कला साधकों का सम्मान किया गया।

अन्य पोस्ट

Comments