महासमुन्द

महासमुंद के 1125 ग्राम पंचायतों में इस साल भी नहीं पहुंचेगा घर-घर पानी
29-Oct-2020 8:02 PM 20
महासमुंद के 1125 ग्राम पंचायतों में इस साल भी नहीं पहुंचेगा घर-घर पानी

गड़बड़ी की शिकायत के बाद टेंडर निरस्त 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
महासमुन्द, 29 अक्टूबर।
पिछले एक साल से जिले के 1125 ग्राम पंचायतों में घर-घर जल पहुंचाने की योजना अधूरी पड़ी हुई है। पिछले साल 2019 में इसकी टेंडर की प्रक्रिया पूरी हुई थी, जो अब निरस्त हो गई है। अत: इसके कारण ग्रामीणों को इस साल भी गर्मी के दिनों में पानी की किल्लत से जूझना पड़ेगा। 

ज्ञात हो कि जल जीवन मिशन योजना के तहत ग्रामीणों को घर-घर में नल कनेक्शन देना था। अब इसके लिए ग्रामीणों को लंबा इंतजार करना पड़ेगा। क्योंकि सरकार ने 271 करोड़ का टेंडर निरस्त कर दिया है। 

जानकारी के अनुसार टेंडर में गड़बड़ी की शिकायत राज्य सरकार को मिली थी। पीएचई विभाग के ईई एके शुक्ला ने बताया कि जल जीवन मिलन योजना के तहत घर-घर नल कनेक्शन देने की योजना सरकार ने बनाई थी। इस योजना के तहत तीन साल के अंदर ग्रामीणों के घरों में कनेक्शन देना था। इसके लिए राज्य स्तरीय टेंडर सरकार ने निकाला था। अब टेंडर में गड़बड़ी होने के कारण सरकार ने इस टेंडर को निरस्त कर दिया है। नए टेंडर के बाद कनेक्शन का काम शुरू होगा। फिलहाल ग्रामीणों को इस योजना के लिए इंतजार करना होगा। ग्रामीण इस योजना से काफी खुश थे। उम्मीद थी कि जल्द ही पानी की किल्लत से गांव में मुक्त होगा। गर्मी में ग्रामीणों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

पीएचई विभाग के अनुसार जिले में 11 हजार 893 जल स्त्रोत है। जिससे लोगों को पानी का मुहैया कराया जा रहा है। जल जीवन मिशन में इन्हीं जल स्त्रोंतों से ग्रामीण के घर तक पानी पहुंचाने की योजना है। वहीं 11 हजार 893 जल स्त्रोतों को छोडक़र विभाग को नए जल स्त्रोत भी खोजना था। महासमुन्द जिले में 700 गांव ऐसे हैं, जहां ग्रामीण हैडपंप से आश्रित हंै। जहां अभी भी हैडपंप के सहारे से पेयजल ले रहे हैं। इसके अलावा जिले के 253 गांव ऐसे हैं, जहां पीएचई के द्वारा नल जल योजना का लाभ नहीं दिया गया है। यह आकड़ा पीएचई विभाग से ही मिला है। हालांकि यहां के ग्रामीण स्थानीय स्तर पर हल निकालकर समस्या को दूर कर रहे हैं, लेकिन गर्मी के दिनों में इन्हें भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इन गांवों में नल जल योजना व सोलर पंप कनेक्शन भी नहीं है। यहां के ग्रामीण जल जीवन मिशन योजना का इंतजार कर रहे थे कि उन्हें इस योजना से घर में नल कनेक्शन मिलेगा।
 

अन्य पोस्ट

Comments