बिलासपुर

खारंग अहिरन लिंक जलाशय को मंजूरी, शहर को मिलेगा पानी
26-Nov-2020 9:22 PM 44
खारंग अहिरन लिंक जलाशय को मंजूरी, शहर को मिलेगा पानी

विधायक ने सीएम का माना आभार

छपराटोला जलाशय का प्रस्ताव केन्द्र को भेजा जायेगा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 26 नवंबर।
राज्य शासन ने 720 करोड़ के लागत से बनने वाले खारंग अहिरन लिंक जलाशय को मंजूरी दे दी है। इससे बिलासपुर में अमृत मिशन के अंतर्गत पेयजल आपूर्ति हो सकेगी। इसके अलावा अरपा नदी में छपराटोला में 968 करोड़ 56 लाख रुपये के जलाशय निर्माण का प्रस्ताव भी तैयार किया गया है जिसे मंजूरी के लिये केन्द्र सरकार को भेजा जायेगा।

विधायक शैलेष पांडेय ने कहा कि उक्त दोनों परियोजनाओं से बिलासपुर जिले सहित गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही के लोगों को लाभ मिलेगा। भीषण गर्मी में भी क्षेत्र का जल स्तर नीचे नहीं जायेगा और लोगों को आसानी से पीने का पानी मिलेगा। इन परियोजनाओं की स्वीकृति देने के लिये उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और सिंचाई मंत्री रविन्द्र चौबे का आभार माना है।

पांडे ने बताया कि बिलासपुर जिले में अहिरन नदी पर खारंग अहिरन लिंक जलाशय का निर्माण 720 करोड़ 52 लाख रुपये से किया जाना है। इसके लिए अण्डर ग्राउण्ड पाइप से अहिरन नदी का पानी खारंग जलाशय तक लाया जाएगा। इसका इस्तेमाल बिलासपुर और रतनपुर शहरों में पेयजल आपूर्ति के लिए किया जाएगा। इसके साथ ही नदियों के किनारे बसे 208 गांवों की हैं जिसमें की कुल 56285 हेक्टेयर क्षेत्र के लिए सिंचाई सुविधा भी उपलब्ध हो सकेगी।

अरपा नदी पर ही छपराटोला  जलाशय प्रस्तावित है जिसे भी मंजूरी के लिये नेशनल रिवर कंजर्वेशन प्लान के तहत स्वीकृति के लिये केन्द्र सरकार को भेजा जायेगा। पांडे ने कहा कि इस परियोजना के पूरा होने पर  अक्टूबर से मई माह के बीच अरपा नदी के आस-पास के क्षेत्रों में भू-जल में गिरावट की समस्या से मुक्ति मिलेगी और लोगों को पीने के लिए पानी आसानी से उपलब्ध हो सकेगा। साथ ही वर्ष भर जल प्रवाह और पर्यावरण संतुलन बना रहेगा। परियोजना के निर्माण के लिए लगभग 968 करोड़ 56 लाख रूपए खर्च होंगे। इस निर्माण से डुबान क्षेत्र के रूप में प्रभावित होने वाले गावों, परिवारों, कृषि भूमि, वन भूमि, निजी भूमि, पड़त भूमि, शासकीय भूमि आदि के विषय में विस्तार से सर्वे करने और उनका व्यवस्थापन के निर्देश दिए गये हैं।

अन्य पोस्ट

Comments