दुर्ग

कृषि बिल के खिलाफ देशव्यापी आंदोलन में शामिल हुए इंटक के दुर्ग विस अध्यक्ष सत्यप्रकाश
01-Dec-2020 2:28 PM 27
कृषि बिल के खिलाफ  देशव्यापी आंदोलन में शामिल हुए इंटक के दुर्ग विस अध्यक्ष सत्यप्रकाश

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 1 दिसंबर।
केंद्र सरकार के कृषि बिल के खिलाफ  पूरे देश के किसानों ने  मोर्चा खोल दिया है। दिल्ली के बॉर्डर में कंपकपाती ठंड के बीच किसान डटे हुए हैं। दुर्ग से इंटक के दुर्ग विधानसभा अध्यक्ष सत्यप्रकाश चंद ने अपने दिल्ली प्रवास के दौरान छग के किसानों का प्रतिनिधित्व करते हुए भारतीय किसान संघ को अपना समर्थन दिया। उनके आंदोलन में वे पिछले 3 दिनों से शामिल हैं। 

उन्होंने हरियाणा और पंजाब से आंदोलन में शामिल हुए किसानों से दिल्ली, हरियाणा के टिकरी बॉर्डर पर मुलाकात की। पंजाब और हरियाणा के मनसा, लखवीरा, कोरबारा, चिचार, दानेवारा, कुक्कुरी व दिलेरवारा के सरदार बंश सिंह, सरदार खुशवंत सिंह, सरदार मनदीप सिंह, सरदार हरदीप सिंह से बिल की वजह से किसानों को होने वाले समस्या के बारे में चर्चा कर केंद्र सरकार के कृषि बिल की निंदा की। उनका कहना था कि किसान हक मांगने आए हैं, भीख नहीं। उन्होंने एक स्वर में कहा कि कृषि बिल किसान विरोधी है। देश को अन्न देने वाला किसान आज इस ठंड में अपनी लड़ाई लडऩे के लिए सडक़ों पर उतरा है। हम बिल वापस कराए बिना नहीं लौटेंगे। किसानों का कहना था कि घर के खर्च से लेकर बच्चों की पढ़ाई, बेटी का ब्याह और सब काम के लिए अपनी फसल की बिक्री पर निर्भर हैं, लेकिन इस कानून के बाद हम अपना नियंत्रण खो देंगे। 

सत्यप्रकाश चंद ने कहा धरती का सीना चीर कर फसल बोने वाले किसान को मजबूर करने वाली सरकार अगर अपना फैसला नहीं बदलेगी तो वही किसान चुनावों में केंद्र सरकार का सीना चीरने पर मजबूर हो जाएंगे। अपने आप को किसानों की हितैषी बताने वाली केंद्र सरकार को बिल में बदलाव करके साबित करना चाहिये कि वो किसानों के हित में फैसला ले रही है। 
 

अन्य पोस्ट

Comments