कोरबा

ऑपरेशन के बाद बच्चे की मौत, 3 डॉक्टरों पर अपराध दर्ज
11-Jan-2021 6:42 PM 68
 ऑपरेशन के बाद बच्चे की मौत, 3 डॉक्टरों पर अपराध दर्ज

कोरबा, 11 जनवरी। चिकित्सकों की लापरवाही से ऑपरेशन के दौरान एक बच्चे की मौत हो गई।  परिजन  की शिकायत पर पुलिस ने  एक महिला सहित तीन चिकित्सकों पर अपराध पंजीबद्ध किया है।

जानकारी के मुताबिक बालको थाना क्षेत्र के बेलगरी बस्ती लालघाट वार्ड क्रमांक 34 के निवासी मनोज केंवट का 5 वर्षीय पुत्र दिव्यांश को हार्निया की शिकायत पर जिला चिकित्सालय मे  उपचार कराने ले जाय गया था। यहां डॉ. प्रभात पाणिग्रही ने बच्चे का सोनोग्राफी कराया। 8 जनवरी को रिपोर्ट देखने के बाद हर्निया होने की जानकारी देते हुए आपरेशन करने की आवश्यकता बताई। उन्होने खुद को इस रोग का विशेषज्ञ बताया साथ ही बाल्को क्षेत्र में संचालित निजी आयुष्मान क्लीनिक में आपरेशन करने की बात कह वहां भेज दिया। आपरेशन से पहले पिता मनोज व मां रत्ना केंवट ने बच्चे की जान को खतरा होने की आशंका व्यक्त की, तो डाक्टर ने छोटा सा आपरेशन होने का हवाला देकर निश्चिंत रहने का भरोसा दिलाया। जिला अस्पताल में आपरेशन की सुविधा नहीं होने की बात कह कर भेजे गए मासूम को 9 जनवरी को दोपहर 12.30 बजे भर्ती किया गया। शाम 5.30 बजे आपरेशन थियेटर ले गए, जहां डॉ. पाणिग्रही के अलावा डॉ. ज्योति श्रीवास्तव व डॉ. प्रतीकधर शर्मा भी मौजूद थे। आपरेशन थियेटर से बाहर से आकर डाक्टर पाणिग्रही ने परिजनों को आश्वासन दिया कि 15 मिनट में बच्चे को वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाएगा। यह कह कर वे फिर वापस आपरेशन थियेटर में चले गए। 2 घंटे का समय बीत जाने के  बाद भी बच्चे को बाहर नहीं लाया गया, परिजन बच्चे की जानकारी लेते, तो स्वस्थ्य होने की बात कही जाती रही। इसके  पश्चात डाक्टर पाणिग्रही आपरेशन थियटेर से बाहर निकले और कहने लगे कि बच्चे की सांस रूक गई है। हम अपनी तरफ से कोशिश कर रहे हैं। इस बीच आनन- फानन में परिजनों से बिना सलाह लिए बच्चे को कोसाबाड़ी स्थित एक निजी अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में ले गए। यहां से अचानक डा. पाणिग्रही लापता हो गए। थोडी देर बाद आईसीयू से डाक्टर बाहर आए और बच्चे की मौत हो जाने की जानकारी दी। डाक्टरों ने कहा कि उसे काफी गंभीर हालत में यहां लाया गया था।  रामपुर पुलिस चौकी में मनोज केंवट ने शिकायत करते हुए अपने बच्चे की मौत के लिए डा. पाणिग्रही. डा. प्रतीकधर शर्मा व डा. ज्योती श्रीवास्तव को जिम्मेदार ठहराया है। कोरबा तहसीलदार की उपस्थिति में एफएसएल व बाल्को पुलिस ने पंचनामा की कार्रवाई की है। साथ ही तीन चिकित्सकों की टीम ने बच्चे का संयुक्त रूप से पोस्टमार्टम किया है। इस प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराई गई है। सोमवार को बालको थाना प्रभारी निरीक्षक राकेश मिश्रा ने बताया कि मृत बच्चे के परिजनों की शिकायत पर तीन चिकित्सकों पर मामला दर्ज किया गया है। घटना की जांच की जाएगी। निश्चेतना विशेषज्ञ की उपस्थिति के बिना ही आपरेशन किए जाने की वजह से बच्चे की मौत होने का आरोप लगाया गया है। मामले में रामपुर पुलिस ने मर्ग कायम कर केस डायरी बाल्को थाना प्रेषित की थी। बाल्को पुलिस ने तीनों डाक्टर के खिलाफ धारा 304 ए, 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर लिया है।

अन्य पोस्ट

Comments