बस्तर

पक्षियों की बीमारी-मृत्यु की सूचना दें तत्काल, बर्ड फ्लू को देखते हुए बरतें सभी सावधानी
19-Jan-2021 9:37 PM 41
पक्षियों की बीमारी-मृत्यु की सूचना दें तत्काल,  बर्ड फ्लू को देखते हुए बरतें सभी सावधानी

  कुक्कुट पालक और ढाबा संचालकों की बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 19 जनवरी। कलेक्टर  रजत बंसल ने बस्तर जिले में बर्ड फ्लू के दो मामलों की पुष्टि को देखते हुए मुर्गे-मुर्गियों एवं किसी भी प्रकार पक्षियों की मृत्यु होने तथा किसी भी प्रकार के बीमारियों के लक्षण दिखाई देने पर तत्काल इसकी सूचना देने को कहा, जिससे  बीमारी फैलने पर रोकथाम हेतु समुचित व्यवस्था की जा सके।

 श्री बंसल आज जिला कार्यालय के प्रेरणा कक्ष में जिले के बर्ड फ्लू की रोकथाम के संबंध में मुर्गे-मुर्गियों के विक्रेता और ढाबा संचालकों की बैठक ली। बैठक में पुलिस  अधीक्षक दीपक झा, सहायक कलेक्टर रेना जमील, पशुधन विकास विभाग के  संयुक्त संचालक डॉ. लक्ष्मी अजगले, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ आरके चतुर्वेदी एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कलेक्टर ने कहा कि मुर्गा मुर्गी खाने वालों को इस बीमारी को  लेकर भय भीत होने की बिल्कुल भी आवश्यकता नही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में बस्तर जिले में मुर्गे-मुर्गियों में बर्ड फ्लू के मामले सामने नहीं आये है। इसके साथ ही मुर्गे-मुर्गियों को 70 डिग्री के  तापमान में पकाने से इसका वायरस खत्म हो जाता है। श्री बंसल ने लोगों को मुर्गे-मुर्गियों को अच्छे से पकाकर खाने की सलाह देने को कहा।

कलेक्टर ने कोरोना  वायरस के रोकथाम के उपायों की तरह इस व्यवसाय से जुड़े लोंगो को दुकानों में अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग करने तथा नियमित रूप से सेनेटाइज करने के अलावा हाथों की भी नियमित सफाई करने के निर्देश दिए।

पक्षियों के मरने की स्थिति में दुकान या कोई भी व्यक्ति इसे न उढ़ाये ऐसी स्थिति में तत्काल इसकी सूचना पशु चिकित्सा विभाग को दे। कलेक्टर ने कहा कि सभी व्यपारियो को इस संक्रमण से स्वयं की बचाव करने तथा इसके संक्रमण की रोकथाम की पुख्ता व्यवस्था करने की आवयश्कता है।

अन्य पोस्ट

Comments