सरगुजा

पुलिस गश्त की निगरानी के लिए भी अधिकारी होंगे नियुक्त
23-Jan-2021 8:26 PM 23
पुलिस गश्त की निगरानी के लिए भी अधिकारी होंगे नियुक्त

  फरियादियों की बात नहीं सुनी तो होगी कार्रवाई- आईजी   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अंबिकापुर, 23 जनवरी। पुलिस महानिरीक्षक आर पी साय ने शनिवार को कोऑर्डिनेशन सेंटर में पत्रकारों से चर्चा की। संभाग में बढ़ती चोरी की घटनाओं को लेकर उन्होंने कहा कि चोरी की घटनाओं से पुलिस की बदनामी होती है, चोरी रोकने के लिए गश्त बढ़ाई जाएगी। इसके साथ साथ गश्त की निगरानी के लिए भी अधिकारी नियुक्त होंगे।

थानों से अक्सर फरियादियों की बात नहीं सुने जाने की शिकायतों के मद्देनजर उन्होंने कहा कि सभी थानों में फरियादियों की बात सुनी जाएगी। रिपोर्ट दर्ज कर फरियादियों को तत्काल उसकी कॉपी भी देनी होगी। अगर कहीं से भी फरियादियों की बात ना सुने जाने की शिकायत सामने आती है तो संबंधित पर कार्रवाई भी की जाएगी। उन्होंने कहा कि नशे से कई परिवार बर्बाद हो जाते हैं, इसे लेकर वे काफी सख्त हैं। नशे के खिलाफ कार्रवाई निरंतर जारी रहेगी।

सरहदी क्षेत्रों में नक्सल मूवमेंट के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरगुजा में जरूर माओवादी समस्या नहीं है, लेकिन पुलिस अधीक्षकों ने बताया कि कुसमी से लगे झारखंड की सीमावर्ती क्षेत्र में अक्सर उनका मूवमेंट बना रहता है, इसलिए सभी को अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जनता का पुलिस के प्रति विश्वास बढ़े, इस दिशा में भी काम किया जाएगा।

विभिन्न थानों में निरीक्षक की जगह एएसआई को प्रभारी बनाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि कई लोगों की जांच अभी चल रही है लाइन में अगर काबिल जितने भी निरीक्षक होंगे, उन्हें जरूर थानों में पदस्थ किया जाएगा।

अन्य पोस्ट

Comments