कोरबा

निदान 36, 5 कलस्टर शिविरों में पहुंचे 33 गांवों के निवासी
12-Feb-2021 6:04 PM 35
निदान 36, 5 कलस्टर शिविरों में पहुंचे 33 गांवों के निवासी

बताई समस्याएं और मांगे, 406 आवेदनों का निराकरण

छत्तीसगढ़’ संवाददाता
कोरबा, 12 फरवरी।
दूरस्थ और ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं को जानने और उनका यथासंभव मौके पर निराकरण करने की कलेक्टर किरण कौशल की पहल पर आज निदान 36 कार्यक्रम के तहत जिले में पांच कलस्टर शिविरों का आयोजन हुआ। कोरबा विकासखंड में कोल्गा, कटघोरा विकासखंड के झाबर, करतला विकासखंड के कथरीपाल, पाली विकासखंड के मुरली और पोड़ीउपरोड़ा विकासखंड के कुटेशरनगोई में आज कलस्टर शिविर लगे। इन शिविरों में आसपास के 33 ग्राम पंचायतों के लोग शामिल हुए। आज इन शिविरों में कुल 773 आवेदन देकर लोगों ने अपनी मांग और समस्याओं के बारे में प्रशासन को अवगत कराया। शिविरों में मौजूद अधिकारियों ने मौके पर ही परीक्षण कर 406 आवेदनों का लोगों की समस्याओं का निराकरण कर दिया। इन शिविरों में आज जनसामान्य की राजस्व संबंधी समस्याओं से लेकर बिजली, पानी, शिक्षा, सडक़, स्वास्थ्य आदि समस्याओं का यथा संभव मौके पर ही निराकरण किया गया। नए राशन कार्ड बनाने से लेकर नाम जोडऩे, नाम काटने के काम भी इन शिविरों में हुए। ग्रामीणों में से सामाजिक सुरक्षा पेंशनों के पात्र हितग्राहियों का चिन्हांकन, पेंशन प्रकरण तैयार कर स्वीकृति के लिए भेजने के काम भी इन शिविरों में हुए। इन शिविरों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ-साथ जिला एवं ब्लाक स्तर के विभागीय अधिकारी भी मौजूद रहे।

कोरबा एसडीएम पहुंचे कोल्गा, ग्रामीणों से ली योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी- कोरबा के एसडीएम श्री आशीष देवांगन आज कोल्गा के निदान शिविर में पहुंचे और उन्होंने उपस्थित ग्रामीणों से शासकीय योजनाओं की जमीनी हकीकत जानी। श्री देवांगन ने ग्रामीणों से पटवारी के कामकाज के बारे में पूछा। इसके साथ ही उन्होंने राजस्व निरीक्षण और नायब तहसीलदार का बुलाकर भी राजस्व प्रकरणों की जानकारी ली। राजस्व अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में नामांतरण-सीमांकन के एक भी प्रकरण लंबित नहीं हैं। एसडीएम ने शिविर में मौजूद ग्रामीणजनों से प्रायमरी और हाईस्कूल में पढ़ाई, मोहल्ला स्कूल के संचालन और पढ़ई तुंहर दुआर कार्यक्रम के संचालन के बारे में जानकारी ली। उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्रों द्वारा संचालित पोषण योजनाओं की भी जानकारी ग्रामीण महिलाओं से ली। 

महिलाओं और बच्चों ने बताया कि आंगनबाड़ी केन्द्र नियमित रूप से खुलते हैं और पोषक आहार के साथ-साथ अण्डा तथा गुड़ की चिक्की भी मिल रही है। एसडीएम ने स्वास्थ्य विभाग के अमले से बच्चों के टीकाकरण की जानकारी ली और वन विभाग के अधिकारियों को हाथियों के हमले से हुए नुकसान के प्रकरणों को किसी भी स्थिति में लंबित नहीं रखने तथा उनका तुरंत निराकरण कर मुआवजा आदि का वितरण करने के निर्देश दिए। श्री देवांगन ने रोजगार सहायक को बुलाकर मनरेगा के तहत चल रहे कामों की भी जानकारी ली और रोजगार सहायक को समय पर मजूदरी भुगतान करने के निर्देश दिए। 

एसडीएम ने पंचायत सचिव को बुलाकर सामाजिक सुरक्षा पेंशनों के भुगतान और पात्र लोगों के प्रकरण तैयार करने के बारे में पूछा। कुछ लोगों ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन स्वीकृत नहीं होने की जानकारी एसडीएम को दी। श्री देवांगन ने मौके पर ही सभी पात्र हितग्राहियों के पेंशन प्रकरण तैयार कर इस माह के अंत तक स्वीकृति कराने और अगले माह से पेंशन भुगतान सुनिश्चित करने के निर्देश जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को दिए।
 

अन्य पोस्ट

Comments