दुर्ग

ज्ञान को आचरण में लाने से ही जीवन परिवर्तन संभव- रीटा
23-Feb-2021 6:23 PM 39
ज्ञान को आचरण में लाने से ही जीवन परिवर्तन संभव- रीटा

दुर्ग, 23 फरवरी। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय के बघेरा स्थित आनंद सरोवर के विशाल सभागृह में रामायण, महाभारत एवं श्रीमद्भागवत गीता पर आधारित गीता ज्ञान यज्ञ का शुभारंभ रविवार को संध्या 4 बजे हुआ। इस अवसर पर अतिथि के रूप में डॉ. रेखा गुप्ता, पुष्पा राजपूत (अध्यक्ष मानस मंडली, सिकोला, दुर्ग), कुमारी बाई साहू , मंजू गुप्ता (अध्यक्ष, कादम्बरी नगर मानस मंडली), राजीव अग्रवाल, नरोत्तम टाक, मुख्य वक्ता ब्रह्माकुमारी रेणुका बहन रहीं।

 ब्रह्माकुमारी रीटा बहन (संचालिका) ब्रह्माकुमारीज ने अध्यक्षीय उद्बोधन में कहा कि आज दुनिया में कितनी कथायें रामयाण महाभारत की हो रही है, किन्तु मनुष्य इसे स्वयं अपने आचरण में नहीं लाने के कारण समाज पतन की ओर जा रहा है। उक्त शिविर में आचरण में लाकर जीवन में परिवर्तन कैसे करें यह सिखाया जाएगा।
 

अन्य पोस्ट

Comments