कोण्डागांव

पैदल गश्त सर्चिंग करते घोर नक्सल प्रभावित कुएमारी पहुंचे एसपी व आईटीबीपी के कमांडेंट
23-Feb-2021 8:28 PM 39
 पैदल गश्त सर्चिंग करते घोर नक्सल प्रभावित कुएमारी पहुंचे एसपी व आईटीबीपी के कमांडेंट

   चौपाल लगाकर की ग्रामीणों से चर्चा  

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

कोण्डागांव, 23 फरवरी। गांव कुएमारी थाना धनोरा क्षेत्र के सुदूर पहाड़ी अंचल में कांकेर और कोण्डागांव जिले के सरहदी इलाके में स्थित हैं, जो हमेशा से नक्सल प्रभावित रहा है।

वहां की नक्सल गतिविधियों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से 21 फरवरी को जिला कोण्डागांव एसपी सिद्धार्थ तिवारी और कमांडेंट आईटीबीपी 29वीं वाहिनी समर बहादुर सिंह के नेतृत्व में जिला बल और आईटीबीपी जवानों की संयुक्त टीम जंगल व पहाड़ों के रास्ते पैदल गश्त सर्चिंग करते गांव में सिविक एक्शन कार्यक्रम के लिए पहुंची। गांव के रहवासियों ने भी सुरक्षा बलों का स्वागत करते हुए भारी संख्या में उनसे मुलाकात के लिए उपस्थिति दर्ज कराई।

एसपी सिद्धार्थ तिवारी और कमांडेंट 29वीं बटालियन आईटीबीपी समर बहादुर ने कुएमारी के ग्रामीणों से चौपाल लगाकर चर्चा की। जिसमें उन्होंने सभी का हाल जाना, उनकी आवश्यकता और जरूरतों का जायजा लिया। साथ ही उन्होंने गांव वालों से नक्सलवाद के उन्मूलन के लिए सहयोग देने व शासन की योजनाओं से जुडक़र समाज की मुख्यधारा में जुडऩे की अपील की।

अधिकारियों ने गांव के ऐसे युवाओं जो पुलिस व आर्मी भर्ती के लिए प्रशिक्षण प्राप्त करने की चाह रखते हो, उनके प्रशिक्षण की व्यवस्था धनोरा कैंप में उपलब्ध कराने का वायदा भी किया। जिसके बाद उन्होंने गांव के जरूरतमंद व्यक्तियों को कपड़े वितरित किए, बच्चों और युवाओं को खेल सामग्रियां बांटी।

इस दौरान एसपी व उनके जवानों ने गांव के युवाओं के साथ उत्साहवर्धन के लिए वॉलीबॉल का मैच भी खेला। जिले के आला अधिकारियों को अपने बीच सहजता से पाकर ग्रामीणों ने भी खुलकर अपने दिल की बात रखी और उनके इस अंदाज से आम रहवासियों से घुलने मिलने के प्रयास की सराहना की।

इस अभियान में आईटीबीपी के डॉ. राहुल रावत भी साथ रहे। जिन्होंने मौके पर ग्रामीणों की आम मेडिकल समस्याओं को सुनकर उनका निराकरण किया तथा आवश्यकता अनुसार सामान्य दवाइयां वितरित की तथा ग्रामीणों को बदलते मौसम में स्वस्थ रहने के लिए नुस्खों के बारे में भी बताया। इस पूरे अभियान में आईटीबीपी के धनोरा कैंप प्रभारी ललित कुमार, थाना प्रभारी धनोरा निरीक्षक रोहित बंजारे और निरीक्षक देवेंद्र दर्रो भी सक्रिय भूमिका में साथ रहे।

अन्य पोस्ट

Comments