रायपुर

गोठानों को ‘रूलर इंडस्ट्रियल पार्क’ के रूप में विकसित करने के निर्देंश
03-Mar-2021 7:29 PM 17
गोठानों को ‘रूलर इंडस्ट्रियल पार्क’ के रूप में विकसित करने के निर्देंश

  किसानों को वर्मी कम्पोस्ट खाद के लिए प्रशिक्षण   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 3 फरवरी। रायपुर कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने  जिला कार्यालय के रेडक्रॉस सोसाइटी सभाकक्ष में जिला अधिकारियों की बैठक ली तथा समय-सीमा तथा जनचौपाल के आवेदनों और लंबित प्रकरणों को तत्परतापूर्वक निराकृत करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि रायपुर जिले में गोठानों को ‘रूलर इंडस्ट्रियल पार्क’ के रूप में विकसित किया जाना है। उन्होंने इसके लिए उद्योग, खादी ग्रामोद्योग तथा अन्य ऐसे विभाग जो ग्रामीण क्षेत्रों में उत्पादन संबंधी कार्यों से जुड़े हैं, सेे कहा कि वे इसके लिए प्रोजेक्ट बनाएं, इससे ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और गांव को उत्पादक इकाई के रूप में आगे बढ़ाने में भी मदद मिलेगी। इसे ग्रामीण क्षेत्रों में मार्केट भी बनेगा।

कलेक्टर ने कृषि, उद्यानिकी, वन और पंचायत विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे जिले के विभिन्न गौठानों में उत्पादित किए जाने वाले वर्मी कंपोस्ट खाद का व्यापकता से प्रचार-प्रसार करें और विभागीय वृक्षारोपण जैसे कार्यो में इसका उपयोग करें। इसके लिए ग्राम पंचायतों और क्लस्टर के किसानों को वर्मी कम्पोस्ट खाद का प्रशिक्षण देने को कहा। इससे भूमि और फसलों की गुणवत्ता के साथ उत्पादकता भी बढ़ेगी।

कलेक्टर ने रायपुर जिले में अंग्रेजी माध्यम के स्वीकृत 3 स्वामी आत्मानंद स्कूलों तथा 6 नए स्कूलों के प्रगति की समीक्षा की और इनको समय-सीमा में प्राथमिकता के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने कहा कि आगामी 5 मार्च से नवा रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में वल्र्ड रोड सेफ्टी वल्र्ड सीरीज क्रिकेट टूर्नामेंट का शुभारंभ हो रहा है। उन्होंने राजस्व सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों को उन्हें सौंपे गये महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों का पूरी मुस्तैदी तथा निष्ठा से निर्वहन करने को कहा।

कलेक्टर ने मुख्य जिला एवं स्वास्थ्य अधिकारी से कहा कि वे आगामी ग्रीष्म ऋतु को ध्यान में रखते हुए अभी से संक्रामक बीमारियों की रोकथाम के लिए जिले और शहर के विभिन्न क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिविर लगायें तथा रोग से बचाव के लिए जागरूकता संबंधी कार्य करें। उन्होंने वृद्धाश्रम की महिलाओं के लिए आधार कार्ड बनाने के निर्देश भी समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों को दिए। उन्होंने जल शक्ति अभियान के तहत स्वास्थ्य केंद्रों, ग्राम पंचायतों, आंगनबाड़ी केंद्रों और स्कूल परिसरों में ट्यूबवेल की समुचित व्यवस्था करने को कहा।

अन्य पोस्ट

Comments