रायपुर

मशरूम उत्पादन-प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी पर 21 दिनी राष्ट्रीय प्रशिक्षण का शुभारंभ
04-Mar-2021 6:10 PM 28
  मशरूम उत्पादन-प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी पर 21 दिनी राष्ट्रीय प्रशिक्षण का शुभारंभ

रायपुर, 4 मार्च। इंदिरा गांधी कृषि विवि द्वारा राष्ट्रीय कृषि विकास सहकारी संघ, बारामूला (जम्मू-कश्मीर) के सहयोग से ‘मशरूम उत्पादन एवं प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी’ विषय पर उन्नत राष्ट्रीय प्रशिक्षण (2 से 22 मार्च 2021) तक ऑनलाईन किया जा रहा है। कार्यक्रम का शुभारंभ भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली के उप महा निदेशक डॉ. एके सिंह ने किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए इंदिरा गांधी कृषि विवि के कुलपति डॉ. एसके पाटील ने कहा कि मशरूम औषधि है, मशरूम में  विभिन्न प्रकार के तत्व पाए जाते हैं, जिसके कारण मशरूम की माग दिनों दिन बढ़ती जा रही है। मशरूम समय की मांग है। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में देश विदेश के 213 प्रतिभागी शामिल हो रहे हैं। इस 21 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में मशरूम उत्पादन, प्रसंस्करण, मूल्य संवर्धन आदि विषयों पर विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

कार्यक्रम के पाठ्यक्रम निदेशक डॉ. एमपी ठाकुर ने अपने संबोधन में कहा कि व्यवसाय और आहार की दृष्टि से मशरूम महत्वपूर्ण है। इससे बडी मात्रा में विदेशी मुद्रा अर्जित होती है। उन्होंने बताया कि इस 21 दिवसीय ऑनलाईन प्रशिक्षण में विभिन्न विषयों जैसे - मशरूम की उत्पत्ति एवं खाने योग्य, जहरीले तथा औषधीय मशरूम की पहचान, मशरूम के पोषण एवं औषधीय पहलुओं, भारत में मशरूम उद्योग की वर्तमान स्थिति एवं भविष्य की संभावनाएं, शुद्ध कल्चर प्राप्त करने की तकनीक, मातृ एवं रोपण बीज तैयार करना, उष्णकटिबंधीय और समशीतोष्ण मशरूम जैसे - ऑयस्टर मशरूम, पैडी स्ट्रॉ मशरूम, मिल्की मशरूम, बटन मशरूम की खेती के लिए सब्सट्रेट की तैयारी करना। इस अवसर पर संचालक अनुसंधान सेवाएं, डॉ. आरके बाजपेयी, अधिष्ठाता द्वय डॉ. एसएस राव  और डॉ. रत्ना नशीने, आयोजन सचिव डॉ. सीएस शुक्ला उपस्थित थे। 

 

अन्य पोस्ट

Comments