सरगुजा

को-वैक्सीन उपलब्ध कराने नागरिकों ने सीएमएचओ को सौंपा ज्ञापन
04-Mar-2021 8:28 PM 31
 को-वैक्सीन उपलब्ध कराने नागरिकों  ने सीएमएचओ को सौंपा ज्ञापन

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अम्बिकापुर, 4 मार्च। भाजपा जिला उपाध्यक्ष विनोद हर्ष के नेतृत्व में शहर के लगभग दर्जन भर लोगों ने कोरोनावायरस से बचाव हेतु को-वैक्सीन उपलब्ध कराए जाने की मांग को लेकर गुरुवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन में बताया गया कि कोरोना से रक्षा हेतु टीकाकरण अभियान के तहत टीका लगवाने गए थे, परंतु को- वैक्सीन की उपलब्धता नहीं होना स्वास्थ्य कर्मचारियों द्वारा बताया गया।

ज्ञापन में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी को बताया गया कि आज 60 साल से ऊपर और निर्धारित 45 वर्ष से ऊपर के लगभग 10 नागरिक वैक्सीन लगवाने अस्पताल पहुंचे, जहां उन्हें को-वैक्सीन उपलब्ध नहीं होने की जानकारी दी गई। नागरिकों ने सीएमएचओ से कोविशील्ड की जगह कोवैक्सीन उपलब्ध कराने की मांग की गई। नागरिकों ने कहा कि हमारा विश्वास कोवैक्सीन टीके पर है जिसे प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति व उप राष्ट्रपति सहित अनेको गणमान्य लोगों ने लगवाया है।

 60 वर्ष से ऊपर जो वेक्सीनेशन के लिए गये थे, उनमें विनोद हर्ष, नन्द किशोर गुप्ता, कृष्णा कुमार सोनी, रमेश कुमार जिंदल, उमेश कुमार, बद्रीनारायण सहित अन्य थे। ज्ञापन सौंपने के दौरान बल्लू शर्मा, रामप्रवेश पाण्डेय, संजय गुप्ता, संजीत सिंह उपस्थित रहे।

स्वास्थ्य मंत्री प्रदेश की जनता व वैज्ञानिकों से मांगे माफी-अनुराग

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता अनुराग सिंहदेव ने भी छत्तीसगढ़ के लाभार्थियों को भारत सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई वैक्सीन में बेहतर चयन का अधिकार दिए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि को वैक्सीन जिसे पूरा देश और भारत द्वारा विदेशों को भी भेजी जा रही है और इससे छत्तीसगढ़ के नागरिक को वंचित किया जा रहा है।

अनुराग ने कहा कि छत्तीसगढ़ में राजनीतिक कारणों से को-वैक्सीन पर प्रतिबंध लगाया गया है, जो अनुचित है। अब तो परीक्षणों में कोविशील्ड से को वैक्सीन के ज्यादा प्रभावी होने के नतीजे सामने आए हैं। स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव ने कोवैक्सीन पर रोक लगाकर देश के वैज्ञानिकों सहित देश के उच्चतम मेडिकल एजेंसीज को गलत ठहराने का प्रयास किया है।

भारत सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ को भेजी गई कोवैक्सीन की खेप को रायपुर में ही रोककर रखा, जो निंदनीय है। अब नए परिणामों के बाद टीएस सिंहदेव को राज्य की जनता एवं वैज्ञानिकों से माफी मांगनी चाहिए और राज्य के सभी टीकाकरण केंद्रों में कोवैक्सीन की पहुंच सुनिश्चित करना चाहिए। अनुराग सिंह देव ने भी सीएमएचओ दफ्तर पहुंच वैक्सीन की उपलब्धता को लेकर जानकारी ली।

अन्य पोस्ट

Comments