सरगुजा

भीषण गर्मी से उत्पन्न स्थिति से निपटने नोडल अधिकारी नियुक्त
05-Mar-2021 8:25 PM 38
 भीषण गर्मी से उत्पन्न स्थिति से निपटने नोडल अधिकारी नियुक्त

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

अम्बिकापुर, 5 मार्च। कलेक्टर संजीव कुमार झा के द्वारा आपदा प्रबंधन विभाग के निर्देशानुसार माह मार्च-जून के दौरान भीषण गर्मी ‘‘लू’’ से उत्पन्न स्थिति से निपटने हेतु जिला एवं तहसील स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

 जारी आदेशानुसार जिला स्तर नोडल अधिकारी हेतु डिप्टी कलेक्टर नीलम टोप्पो को नियुक्त किया है। इसी प्रकार अम्बिकापुर तहसील हेतु तहसीलदार ऋतुराज सिंह बिसेन, लुण्ड्रा तहसीलदार हेतु बिजयेन्द्र सिंह सारथी, उदयपुर तहसील हेतु तहसीलदार सुभाष शुक्ला, बतौली तहसील हेतु प्रभारी तहसीलदार देवेन्द्र चौधरी, दरिमा तहसील हेतु प्रभारी तहसीलदार भूषण सिंह मण्डावी, लखनपुर तहसील हेतु तहसीलदार शिवानी जायसवाल, सीतापुर तहसील हेतु नायब तहसीलदार सूर्यकांत साय, मैनपाट तहसील हेतु प्रभारी तहसीलदार शशिकांत दुबे को तहसील स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

भीषण गर्मी से उत्पन्न स्थिति से निपटने हेतु राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा ‘‘क्या करें और क्या न करें’’ के संबंध में विभागों तथा जन सामान्य के लिए आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया गया है।

जन सामान्य यह करें - घर में रहें तथा स्थानीय मौसम और कोविड-19 की स्थिति की अद्यतन जानकारी के लिए रेडियो सुनें, टीवी देखें तथा समाचार पत्र पढें़। प्यास न लगने पर भी यथा संभव पर्याप्त मात्रा में पानी पीयें। मिरगी या हृदय किडऩी, लिवर की बीमारी से ग्रसित व्यक्ति जिन्हे तरल भोजन प्रतिबंधित है वे चिकित्सकों की सलाह के अनुसार तरल पेय लें। ओआरएस, घरेलू पेय जैसे लस्सी, तोरनी, नीबू पानी का सेवन करें। हल्के व ढीले सूती वस्त्र पहने। धूप में बाहर न निकलें। यदि बाहर निकलना आवश्यक हो तो सिर को कपड़ा, टोपी या छाता से ढक़ लें। कम से कम 1 मीटर की शारीरिक दूरी बनाए रखें। हाथों को साबुन और पानी से समय-समय पर धोते रहें। जितनी ज्यादा संभव हो घर पर ही रहें। घर को ठंडक़ पहुंचाने के लिए पर्दे, शटर या सनशेड़ लगाएं। रात्रि में खिड़कियों को खुला रखें। बार-बार ठंडे पानी स्नान करें। यदि तेज बुखार या सर दर्द, सर्दी, खांसी, सांस लेने में तकलीफ होती है तो तत्काल डॉक्टर को दिखाएं।

यह न करें - लॉकडाउन के समय घर से बाहर न निकले। यदि आवश्यक काम से दिन में बाहर जाना हो तो कम धूप के समय जाएं। दिन में 12 से 3 बजे के बीच बाहर न निकले। नंगे पैर या बिना चेहरे को ढंके बाहर न निकलें। दोपहर तेज गर्मी में खाना न पकाएं। शरीर में निर्जलीकरण को बढ़ाने वाले मादक द्रव्य, चाय, कॉफी और कार्बोनेटेड ड्रिंक्स का सेवन न करें। उच्च प्रोटीनयुक्त, मसालेदार और तैलीय खाद्य पदार्थो का सेवन न करें। बिना हाथ को धोए आंख, नाक और मुह को न छुएं। बीमार व्यक्तियों के सीधे सम्पर्क में न आएं। बीमार हैं तो बाहर न निकलें।

अन्य पोस्ट

Comments