जशपुर

ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा की कमी के चलते अंधविश्वास-आईजी
06-Mar-2021 7:33 PM 40
 ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा की कमी के चलते अंधविश्वास-आईजी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

पत्थलगांव, 6 मार्च। सरगुजा आईजी आरपी साय ने शनिवार को पत्थलगांव के चंदागढ़ भैसामुड़ा गांव में चौपाल लगाई। यहां लोगों से सीधा संवाद करते हुए कहा कि वाहनों के कागजात पूर्ण रखें। बीमा, ड्रायविंग लायसेंस जरूर बनाये, यदि रजिस्ट्रेशन, लायसेंस बनवाने में कोई दिक्कत हो तो सीधे मुझसे संपर्क करे, मैं स्वयं आरटीओ से बात कर आपके कागजात बनवाने की पहल करूगा।

 उन्होंने उपस्थित समाज के लोगों से अपील की कि समाज में दहेज के प्रचलन पूर्णत: बंद हो। उन्होंने कहा कि सभी को संकल्प लेने की जरूरत हैं कि नशे के कारोबार पर अंकुश लगाएं। अपने आसपास होने वाले शराब, गांजा, नशीली गोली के कारोबार की जानकारी पुलिस तक जरूर पहुंचाए।

आईजी साय ने ग्रामीणों से कहा कि फरियादी को थाने में किसी भी प्रकार की समस्याओं का सामना न करना पड़े, इस हेतु उन्होंने समस्त थानेदार को फरियादी से अपनत्व के साथ पेश आने के निर्देश दे रखे है। अगर किसी थाने में आप के साथ या अन्य और किसी के साथ भी कोई अधिकारी अभद्रता करता है। फरियाद नहीं सुनते हैं तो मुझ तक बात पहुंचाएं, हम कार्रवाई करेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा की कमी के चलते अंधविश्वास है।

उन्होंने कहा कि अगर किसी की दुश्मनी हो जाती है, तो उस महिला को टोनही बताकर प्रताडि़त किया जाता है। पहले इस तरह के मामले कम ही सुनाई देते थे। सरकार ने इस अंधविश्वास व महिलाओं पर होने वाले अत्याचार को रोकने के लिए कानून बनाया है। इस कानून के माध्यम से महिलाओं के ऊपर टोनही के नाम पर होने वाली प्रताडऩा को रोका जाता है। टोनही नाम की कोई चीज नहीं होती। यदि तंत्र मंत्र के दम पर कोई किसी को नुकसान पहुंचा सकता है, तो तंत्र मंत्र के जरिये सबसे पहले मुझे नुकसान पहुंचाकर दिखाए।  साय ने सभी से कहा कि टोनही को लेकर किसी पर भी संदेह न करें। सभी का सम्मान करें, किसी को प्रताडि़त न किया जाए।

इस मौके पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बालाजी राव सोमावार ने कहा कि प्रदेश की सरकार की मंशा है कि जनता अपराध से ग्रस्त होने से पहले जनता को जागरूक कर सके। एसपी ने घरेलू हिंसा, दहेज प्रताडऩा, टोनही प्रताडऩा, महिला सशक्तिकरण, नशे के कारोबार पर अंकुश, मानव तस्करी, ऑनलाइन ठगी,सायबर अपराध संबंधी विस्तृत जानकारी साझा की।

इस कार्यक्रम में पत्रकार नीरज गुप्ता, रमेश शर्मा, शिव प्रताप सिंह, एसडीओपी योगेश देवांगन, सूबेदार सौरभ चन्द्राकर, महिला एसआई रश्मि थामस, रक्षा टीम प्रभारी स्वर्णकार मेम, प्रधान आरक्षक नसरुद्दीन अंसारी, डीडीसी रत्ना पैंकरा, रम्मू शर्मा, विश्वनाथ शर्मा, चंदागढ़ के पूर्व सरपंच रोशन प्रताप सिंह, चंदागढ़ सरपंच अनिता पैंकरा, हरीश कपूर, उपसरपंच सावत्री पैंकरा, तमता उपसरपंच विशाल अग्रवाल, फाल्गुनी नन्दे, अनिल यादव आदि मौजूद रहे।

अन्य पोस्ट

Comments