कोरिया

मार्च के अंतिम दिन 37 पॉजिटिव मिले
01-Apr-2021 7:03 PM (23)
 मार्च के अंतिम दिन 37 पॉजिटिव मिले

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

बैकुंठपुर, 1 अप्रैल कोरिया जिले में मार्च के अंतिम दिन 31 मार्च को कुल 37 की संख्या में कोरोना पॉजिटिव पाए गए। जिनमें शहरी क्षेत्र में 26 तथा ग्रामीण क्षेत्र में 11 की संख्या में पॉजिटिव प्रकरण दर्ज किए गए। यह आंकड़ा 929 सैंपलों की जांच के बाद सामने आया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार 31 मार्च को जिले के शहरी क्षेत्र चिरमिरी में 14 की संख्या में पॉजिटिव मिले वहीं 8 की संख्या में बैकुण्ठपुर तथा शिवपुर चरचा व मनेंद्रगढ में 2-2 की संख्या में पॉजिटिव पाए गए।

इसी तरह ग्रामीण क्षेत्र बैकुंठपुर, खडगवां तथा सोनहत में 3-3 की संख्या में तथा मनेंद्रगढ में 2 की संख्या में पॉजिटीव मिले। इसके साथ ही जिले में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 6071 हो गई वहीं एक्टिव संक्रमितों की संख्या 298 पहुंच गई। जबकि इस दिन तक कोविड अस्पताल कंचनपुर में भर्ती मरीजों की संख्या 35 तथा होम आईसोलेशन में 263 लोग रखे गये है।

उल्लेखनीय है कि मार्च माह के पहले सप्ताह में कोरिया जिले में एक अंकों में पॉजिटिवमिल रहे थे लेकिन दूसरे सप्ताह से दो अंको में पॉजिटिव प्रकरण दर्ज किये जाने लगे इसके बाद से लगातार दो अंको में पॉजिटिव प्रकरण दर्ज किए जा रहे है इस दौरान मार्च माह में सर्वाधिक  53 की संख्या में गत 27 मार्च को पॉजिटिव मिले थे।

सामाजिक दूरी का नहीं हो रहा पालन

कोरिया जिले में प्रशासन द्वारा भले ही धारा  144 प्रभावशील कर दिया गया है लेकिन बाजारों में  प्रतिबंध का पालन नही हो रहा है सोशल डिस्टेंसिंग भी लोग भूल गये है जबकि प्रतिदिन संक्रमितों की संख्या बढ रही है। वही लगातार मास्क की जॉच भी की जा रही है। इसके बावजूद जॉच केंद्र के बाहर कई लोग बिना मास्क के ही नजर आते है तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नही करते है। शहर के जिला केंद्रीय सहकारी बैंक मर्यादित में प्रतिदिन उपभोक्ताओं की भारी भीड़ जुट रही है। जहां पर नियमों की धज्जियां उड़ रही है। इसके अलावा बाजार स्थलों में भी नियमों का पालन नहीं किया जा रहा है।

45 प्लस को वैक्सीन लगना शुरू

सरकार के निर्णय अनुसार गत 1 अप्रैल से 45 प्लस लोगों का कोरोना वैक्सीन लगाने के निर्देश के पालन में जिला अस्पताल सहित अन्य टीकारण केंद्रों में उक्त आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण शुरू हेा गया है। जहां टीका लगवाने के लिए लोग पहुंच रहे है।जिससे कि अब राहत की बात हो गयी है । जानकारी के अनुसार पूर्व में जितने भी लोगों की कोरोना से मौत हुई उनमें से ज्यादातर  45 प्लस के लोग शामिल थे।

जानकारी के अनुसार प्रदेश की राजधानी रायपुर में कोरोना के मामले सबसे ज्यादा निकल रहे है। लोगों का कहना है कि प्रदेश की राजधानी होने के कारण कोरिया जिले से प्रतिदिन लोगों का आना जाना रायपुर राजधानी होता है ऐसे में ऐतियात के तौर पर जिला प्रशासन को रायपुर राजधानी क्षेत्र से कोरिया जिला आने वाले लोगों को सात दिवस का होम कोरंटाईन करने किया जाना आवश्यक है।

 वर्तमान में केवल बाहरी राज्य से आने वाले लोगों को होम क्वारंटाईन करने के निर्देश है जबकि रायपुर व इसके आस पास जिले में कोरोना के बढते प्रभाव को देखते हुए  रायपुर, दुर्ग क्षेत्र से आने वाले लोगों को सात दिवस को होम कोरंटाईन किया जाए।

अन्य पोस्ट

Comments