बिलासपुर

तीन दिन में ही 100 कोरोना-मौतें, 1136 नये मरीज
16-Apr-2021 7:06 PM (47)
तीन दिन में ही 100 कोरोना-मौतें, 1136 नये मरीज

कोरोना महामारी भयावह स्थिति में पहुंच रही, ऑक्सीजन बेड की कमी बड़ी वजह, डिप्टी कलेक्टर्स के फोन नंबर किसी काम के नहीं

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बिलासपुर, 16 अप्रैल।
बीते तीन दिनों के भीतर जिले में कोरोना संक्रमण से 97 लोगों की मौत हो गई। आज दोपहर दो बजे तक मिली जानकारी के मुताबिक 7 लोगों की और मौत हो चुकी है। इस तरह 100 से अधिक लोगों ने जान गवां दी है। अप्रैल माह के 15 दिनों में सरकंडा स्थित मुक्तिधाम में 175 शवों का दाह संस्कार किया जा चुका है।

अकेले बुधवार को जिले में 40 लोगों की मौत हुई है उसके पहले मंगलवार को 36 कोरोना संक्रमित जान गंवा बैठे। इन 76 मौतों में 40 बिलासपुर जिले के रहने वाले थे। शेष दूसरे जिलों से इलाज कराने पहुंचे थे।

स्वास्थ्य विभाग की ओर से यह दावा किया जा रहा है कि जिले में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। इस बारे में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बयान जारी किया है। यह सही है कि ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी नहीं है पर ऑक्सीजन बेड की भारी कमी है। कोरोना संक्रमितों को ऑक्सीजन बेड के लिये अस्पतालों में सिफारिश करनी पड़ रही है, उसके बावजूद व्यवस्था नहीं हो रही है। अन्य अस्पतालों के डॉक्टर व नर्स कोरोना संक्रमित मरीजों को हाथ लगाने के लिये तैयार नहीं हैं। मरीजों की मौत का आंकड़ा इसलिये भी बढ़ रहा है क्योंकि उन्हें समय पर ऑक्सीजन बेड उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। इधर जिला प्रशासन तथा विधायक की ओर से लगातार बयान जारी किया जा रहा है कि अस्पतालों में बेड बढ़ाये जा रहे हैं पर बीते साल के मुकाबले अब तक एक भी बिस्तर किसी सरकारी अस्पताल में नहीं बढ़ाया जा सका है।

जिला प्रशासन ने जिन डिप्टी कलेक्टरों का फोन नंबर जारी किया है वे मरीजों की कोई मदद नहीं कर रहे हैं। वे मरीजों को सलाह दे रहे हैं कि इस अस्पताल में जगह नहीं हैं तो वे खुद उस अस्पताल में पता कर लें। ये एक तरह से सिर्फ सूचना देने का काम कर रहे हैं। कई डिप्टी कलेक्टर्स तो फोन भी नहीं उठा रहे हैं। इस समय प्रशासन का सारा जोर लॉकडाउन और वैक्सीनेशन को सफल बनाने में है जबकि अस्पतालों में व्याप्त अव्यवस्था और मरीजों के सामने खड़े हो रहे संकट के निदान के लिये उनकी टीम काम नहीं कर रही है।

जिले में कोरोना के नये केस भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुरुवार को जिले में 1136 नए मरीजों का पता चला है। ये शहर के सभी इलाकों से हैं।

नए मरीजों में हरि नगर, विजया पुरम्, इंदिरा विहार, भरनी, गुलाब नगर, मिशन हॉस्पिटल, स्काई हॉस्पिटल, घाटगे हॉस्पिटल, निराला नगर, क्रांति नगर, गीतांजलि सिटी, राजकिशोर नगर, शांति नगर, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी चिल्हाटी, पुराना बस स्टैंड, उसलापुर, अभिलाषा परिसर, देवनंदन नग, आदर्श कॉलोनी, इमली भाठा, गंगानगर कॉलोनी, पुलिस लाइन, महाराणा प्रताप चौक, सिंधी कॉलोनी, सदर बाजार, बोदरी, गोलबाजार, बसंत विहार, विनोबा नगर, इमली पारा, जूनी लाइन, नेहरू नगर, डीपू पारा सरकंडा. सीआरपीएफ आदि शामिल है।

अमर, डांगी कोरोना पॉजिटिव
पूर्व मंत्री व भाजपा नेता अमर अग्रवाल आज सपत्नीक कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं। दोनों अपोलो अस्पताल में इलाज के लिये भर्ती  हो गये हैं। उनके बेटे कान्हा अग्रवाल पहले से ही संक्रमित हैं। अग्रवाल ने अपने सम्पर्क में आये लोगों को कोरोना टेस्ट कराने की सलाह दी है। उन्होंने कल ही कलेक्टर से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपा था जिसमें नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, प्रदेश भाजपा प्रवक्ता भूपेन्द्र सवन्नी, जिला भाजपा अध्यक्ष रामदेव कुमावत सहित कुछ और नेता उनके साथ थे। पुलिस महानिरीक्षक रतनलाल डांगी ने भी ट्वीट कर अपने कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी है। वे घर पर रहकर स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। 

 

अन्य पोस्ट

Comments