सरगुजा

जनता के सामने कांग्रेस सरकार का ढाई साल वादाखिलाफी, विश्वासघात व धोखाधड़ी जैसी पहचान-कौशिक
12-Jun-2021 9:06 PM (89)
जनता के सामने कांग्रेस सरकार का ढाई साल वादाखिलाफी, विश्वासघात व धोखाधड़ी जैसी पहचान-कौशिक

   कहा- सरकार की प्राथमिकता दवाई नहीं घर-घर दारू पहुंचाने की है    

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अम्बिकापुर, 12 जून।
सरगुजा प्रवास पर पहुंचे छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने शनिवार को अंबिकापुर नगर के भाजपा कार्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि ढाई साल की कांग्रेस सरकार ने प्रदेश की जनता को जो बड़े-बड़े सपने दिखाए थे, वादे किए थे एक भी वादे को पूरा नहीं करी, इस सरकार के ढाई साल जनता के साथ विश्वासघात धोखाधड़ी जैसी पहचान बनी है। सरकार ने शराबबंदी की बात कही थी, बंद करना तो दूर सरकार आज घर-घर शराब पहुंचा रही है। इस सरकार की भाषा शैली आज पूरी तरह बदल गई है, शराब के कारण परिवार विनाश के रास्ते पर जा रहा है। सरकार की प्राथमिकता दवाई नहीं घर-घर दारू पहुंचाने की है।

श्री कौशिक ने आगे कहा कि कांग्रेस सरकार ने किसानों को 2500 रुपए में धान खरीदी की घोषणा की थी जो अभी तक किसी भी किसान के खाते में नहीं आई और न ही यह सरकार देने वाली है। छत्तीसगढ़ धान का कटोरा कहलाता है लेकिन इस सरकार ने इसके अस्तित्व को संकट में डाल दिया है। कानून व्यवस्था का भी वही हाल है, प्रदेश में लूट, हत्या बलात्कार,डकैती,अपहरण, चोरी की घटना से प्रदेश वासी सहम गए हैं।बलात्कार के मामले में छत्तीसगढ़ देश में चौथे स्थान व अपहरण के मामले में सातवें स्थान पर है, इससे प्रदेश की कानून व्यवस्था को समझा जा सकता है। साढ़े चार सौ से ऊपर किसान आत्महत्या कर चुके हैं। सरकार जब किसानों को इतना प्रोत्साहन दे रही है तो किसान आत्महत्या करने पर विवश क्यों हैं। थाने में पुलिस की पिटाई के बाद अपराध दर्ज नहीं होता, ऐसी सरकार चल रही है छत्तीसगढ़ में।
कर्ज माफी को लेकर श्री कौशिक ने कहा कि किसानों का केवल अल्पकालीन ऋण माफ किया गया है, आज भी किसान कर्ज में डूबे हुए हैं और इसीलिए आत्महत्या कर रहे हैं। सरकार ने किसानों को 2 साल का बोनस देने का वादा किया था ढाई साल हो गए सरकार कब बोनस देगी। 25 लाख बेरोजगार पंजीकृत हैं,कांग्रेस सरकार ने 10 लाख को बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही थी, पर इन्होंने 10 लोगों को भी नहीं दिया।1 लाख लोगों को नौकरी देने का वादा था पर जो काम कर रहे हैं उन्हें भी निकाल दिया। सरकार ने बेरोजगारों को छलने का काम किया है।

प्रधानमंत्री आवास में बड़ा झटका दिया कांग्रेस सरकार ने
वार्ता के दौरान श्री कौशिक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2022 तक हर गरीब के लिए पक्के मकान का सपना देखा था और इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत की थी जिसमें 60 प्रतिशत राशि केंद्र सरकार और 40 प्रतिशत राशि राज्य सरकार देती है पर इस सरकार ने छत्तीसगढ़ में इस योजना को बंद करके रखा है। पांच लाख मकान की कटौती राज्य सरकार ने की है,जो प्रदेश वासियों के लिए बड़ा झटका है।

मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट से गोबर माफिया का हुआ उदय
वार्ता के दौरान नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि प्रदेश में रेत, भू, शराब, ड्रग माफिया के बाद अब मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट नरवा घुरवा बाड़ी योजना से गोबर माफिया का उदय हुआ है। श्री कौशिक ने बताया कि गोबर खरीदी का 88 करोड़ का पेमेंट हुआ है, जिसमें वर्मी कंपोस्ट के लिए दो करोड़ 75 लाख रुपए एवं अन्य के लिए 62 लाख रुपए खर्च हुआ है। कुल 3 करोड़ 25 लाख खर्च हुआ है तो बाकी का पैसा कहां गया।मैं पूछना चाहता हूं गोबर बेचकर कितने लोग मोटरसाइकिल खरीदें।

राजा साहब के ड्रीम प्रोजेक्ट का उंगली तो निकलना चाहिए था
धरमलाल कौशिक ने स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव पर चुटकी लेते हुए कहा कि राजा साहेब का ड्रीम प्रोजेक्ट यूनिवर्सल हेल्थ प्रोजेक्ट कहां गया, मैं पूछना चाहता हूं जो बड़े अधिकारियों को लेकर हुए विदेश गए थे उसका क्या हुआ। इस प्रोजेक्ट के हाथ-पैर तो नहीं निकले हैं लेकिन कम से कम उंगली तो निकलना चाहिए था। श्री कौशिक ने कहा कि इस सरकार ने आयुष्मान योजना को खूबचंद योजना के तहत परिवर्तित कर दिया, इसका लाभ लोगों को नहीं मिल रहा है। लोग मकान बेचकर अपना इलाज कराने पर मजबूर हैं। ड्रीम प्रोजेक्ट के नाम से आयुष्मान योजना की बलि चढ़ा दी गई,बड़े पैमाने पर गरीब परिवार इस महामारी के दौर में इलाज कराने से वंचित रह गए। श्री कौशिक ने कहा कि वह सरकार से मांग करते हैं कि जिनके पास आयुष्मान कार्ड है सरकार को उनका पैसा वापस करना चाहिए।
श्री कौशिक ने कहा कि भाजपा के 15 साल की सरकार जोगी सरकार के 8 हजार करोड़ का कर्ज के साथ कुल 41हजार करोड़ का कर्ज ली थी, पर इस ढाई साल की कांग्रेस सरकार ने अब तक 36 हजार करोड़ का कर्ज ले चुकी है,आने वाले 5 साल में क्या स्थिति बनेगी कुछ कह नहीं सकते। प्रदेश में विकास के नाम पर केवल केंद्र से जो राशि आ रही है उन्हीं योजनाओं पर काम हो रहा है,इस सरकार ने पूरे प्रदेश का बंटाधार कर दिया है।

धान सडऩे के कारण इस बार 35 सौ करोड़ के नुकसान होने की आशंका
धरमलाल कौशिक ने कहा कि पूरे प्रदेश में खुले छत के नीचे धान पड़ा है और सड़ रहा है, सोसाइटी से धान का उठाव नहीं हुआ है। 12 सौ से 13 सौ रुपए में नीलामी हो रही है इसकी भरपाई कहां से होगी। सोसाइटी से 72 घंटे के अंदर धान उठ जाना चाहिए लेकिन यह सरकार बरसात में डीओ काट रहे हैं। पिछले वर्ष इस लापरवाही से 12 सौ करोड़ का नुकसान हुआ था और इस वर्ष 35 सौ करोड़ के नुकसान होने की आशंका है, इसका भार छत्तीसगढ़ की जनता पर आएगा। श्री कौशिक ने तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने के पूर्व वक्त है बदलाव का नारा दिया था, आज लोग बोल रहे हैं वक्त है पछताव का।

पता नहीं 17 जून को क्या पहाड़ फूटने वाला है
वार्ता के दौरान श्री कौशिक से मौजूदा समय में प्रदेश में ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री को लेकर पत्रकारों द्वारा प्रश्न किया गया तो उन्होंने कहा कि पता नहीं 17 जून को क्या पहाड़ टूटने वाला है वैसे कांग्रेस के कार्यकर्ता व जनता विधायक मंत्री से काफी नाराज हैं। सर्वदलीय बैठक में से स्वास्थ्य मंत्री नदारद रहते हैं अनेक बार स्वास्थ्य विभाग की बैठक होती है लेकिन स्वास्थ्य मंत्री को पता ही नहीं रहता। इस प्रदेश में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है।पत्रकारों द्वारा श्री कौशिक से पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि केंद्रीय मंत्री से राहत के लिए चर्चा की गई है इस पर काम किया जा रहा है।

अन्य पोस्ट

Comments