छत्तीसगढ़ » बस्तर

Previous123456789...1516Next
22-Sep-2020 10:40 PM

जगदलपुर, 22 सितम्बर। नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनान्तर्गत आम नागरिकों को रियायती दर पर हवाई सेवा का लाभ दिलाने क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना उड़ान के माध्यम से पुन: प्रारंभ हुई वायुसेवा को छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई योजना बता कर कांग्रेसी झूठी वाहवाही लेने का प्रयास कर रही है। 

भाजपा जगदलपुर नगर अध्यक्ष राजेन्द्र बाजपेयी ने जारी विज्ञप्ति में कहा है कि जून 2018 को शुरू हुई वायुसेवा, जो विमानन कम्पनियों की अड़चनों के चलते थम गई थी वहीं वायुसेवा आज पुन: हैदराबाद -जगदलपुर - रायपुर - जगदलपुर - हैदराबाद शुरू की गई है। समाचारपत्रों के माध्यम से प्रचारित किया गया कि इस वायुसेवा का शुभारंभ मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ के द्वारा किया जाएगा जबकि आज इस वायुसेवा का पुनर्आरम्भ केंद्रीय विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने किया। बस्तर को वायुसेवा की सौगात दिलाने में तत्कालीन मुख्यमंत्री रमन सिंह की महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। साथ ही पूर्व मंत्री केदार कश्यप, पूर्व सांसद दिनेश कश्यप और पूर्व विधायक संतोष बाफना के महत्वपूर्ण प्रयासों से ही बस्तर में वायुसेवा शुरू हो पाई है और आज के कार्यक्रम में प्रशासन द्वारा इन भाजपा जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित नहीं करना निन्दनीय है। हमने भी आज 4 टिकट रायपुर के लिए खरीदी थी लेकिन कार्यक्रम में भाजपा के जनप्रतिनिधियों की अवहेलना के विरुद्ध रायपुर जाना स्थगित कर दिया। 


22-Sep-2020 10:39 PM

जगदलपुर, 22 सितम्बर। कलेक्टर  रजत बंसल ने कोरोना की रोकथाम के लिए अधिक से अधिक टेस्टिंग पर जोर दिया। डिमरापाल स्थित स्व बलीराम स्मृति चिकित्सा महाविद्यालय के सभाकक्ष में आयोजित टास्क फोर्स की बैठक में कलेक्टर श्री बंसल ने टेस्टिंग की क्षमता तीन गुना तक बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने बस्तर जिले में चौबीसों घंटे कोरोना जांच प्रारंभ करने की बात भी कही।

कलेक्टर ने कहा कि कोरोना पाजिटिव पाए गए मरीजों के संपर्क में आने वाले सभी लोगों की कोरोना जांच तत्काल सुनिश्चित करने के लिए कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य भी यथाशीघ्र किया जाना आवश्यक है और इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जिन्हें घर-घर जाकर कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य करने की जिम्मेदारी दी गई है, वे पूरी गंभीरता के साथ इस कार्य को करें। उन्होंने कांटेक्ट ट्रेसिंग की एंट्री शीघ्र करने के साथ ही कोरोना जांच के बाद पॉजीटिव पाए गए लोगों की रिपोर्टिंग में किसी भी प्रकार का विलम्ब नहीं करने को कहा, जिससे मरीज का उपचार शीघ्र प्रारंभ हो सके।

कलेक्टर ने गांव-गांव में जाकर लोगों की कोरोना जांच के निर्देश दिए। उन्होंने इसके लिए चलित जांच केन्द्र हेतु वाहन उपलब्ध कराने की बात कही। इसके साथ ही प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में नमूना संग्रहण के लिए जरुरी प्रबंध करने के निर्देश भी दिए। जगदलपुर नगरीय क्षेत्र में नमूना संग्रहण के लिए वार्ड कार्यालयों में आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए और कहा कि नजदीक में ही कोरोना जांच की व्यवस्था होने से लोगों को सहुलियत होगी। कोरोना जांच के बाद इसके परिणामों की जानकारी मेकाज के वेबसाईट में उपलब्ध लिंक के माध्यम से प्रदान करने के साथ ही इसकी जानकारी आम जनता तक पहुंचाने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिए।

कलेक्टर श्री बंसल ने कहा कि कोरोना से बचाव व इसकी रोकथाम के लिए अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करने की आवश्यकता है। उन्होंने इसके लिए शहरी क्षेत्रों में लाउडस्पीकर के माध्यम से प्रचार करने के निर्देश दिए। ग्रामीण क्षेत्रों में भी इसके लिए गठित दलों के माध्यम से घर-घर पहुंचकर लोगों को जानकारी देने के साथ ही कोरोना जांच के लिए प्रेरित करने को कहा। उन्होंने कहा कि इस कार्य की निगरानी के लिए अधिकारियों की नियुक्ति की जाए। उन्होंने कहा कि लोगों की सहुलियत के लिए एक टोल फ्री नम्बर भी उपलब्ध कराया जाएगा, जिसमें कोरोना से संबंधित सहायता प्रदान की जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना के खिलाफ यह लड़ाई सभी के द्वारा लड़ी जा रही है और इस लड़ाई के दौरान किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। उन्होंने हड़ताली कर्मचारियों के विरुद्ध भी कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने दवाइयों को अधिक मूल्य पर बिक्री की शिकायत पर कड़ी कार्यवाही के निर्देश भी अधिकारियों को दिए।

लापरवाह नागरिकों पर होगी सख्त कार्रवाई

कलेक्टर ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन द्वारा सभी जरुरी प्रयास किए जा रहे हैं तथा इसमें जनता का सहयोग भी आवश्यक है। उन्होंने जिले में धारा 144 प्रभावशील होने के कारण इसका उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए। इसके साथ ही बिना मास्क के पाए जाने पर लोगों के विरुद्ध तत्काल जुर्माने की कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए।

बैठक में पुलिस अधीक्षक दीपक झा, सहायक कलेक्टर रेना जमील,  अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओपी शर्मा, अपर कलेक्टर अरविंद एक्का, चिकित्सा महाविद्यालय के अधिष्ठाता यूएस पैकरा सहित टास्क फोर्स के सदस्यगण शामिल थे।


22-Sep-2020 10:38 PM

जगदलपुर, 22 सितम्बर। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रजत बंसल द्वारा जिले के आकस्मिक भ्रमण के दौरान यह देखा गया है कि पेट्रोल पम्प, गैस एजेंसी, राशन दुकानों में लोग बिना मास्क के उपस्थित हो रहे हैं और उनके द्वारा फिजिकल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान नहीं रखा जा रहा है, इसके बावजूद भी पेट्रोल पम्प, गैस, एजेंसी, राशन, दुकान संचालकों द्वारा संबंधित वांछित सामग्री प्रदान की जा रही है। जो शासन द्वारा समय-समय पर जारी निर्देशों का उल्लंघन है।

इस संबंध में कार्यालय कलेक्टर खाद्य शाखा द्वारा जारी आदेश के तहत जिले के समस्त पेट्रोल पम्प, गैस एजेंसी, राशन दुकान संचालकों को निर्देशित किया गया है कि अपने संस्थान, दुकानों में फिजिकल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करवाना सुनिश्चित करेंगे। यदि कोई व्यक्ति बिना मास्क लगाये पेट्रोल पम्प, गैस एजेंसी, राशन दुकान में उपस्थित होता है तो उन्हें पेट्रोल, डीजल, गैस एवं राशन नहीं दिया जाए। साथ ही अपने संस्थान को नियमित रूप से सेनेटाईज करवाने के निर्देश भी दिए गए हैं।


22-Sep-2020 10:37 PM

जगदलपुर, 22 सितम्बर। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रजत बंसल के निर्देशानुसार  जिले के सभी अनुभाग के ग्रामों में डोर टू डोर कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य किया जा रहा है। साथ ही उन्हें कोविड-19 के बचाव एवं नियंत्रण हेतु जागरूक किया जा रहा है।  तोकापाल अनुभाग में एसडीएम गीता रायस्त के मार्गदर्शन में ग्राम स्तर पर डोर टू डोर कांटेक्ट ट्रेसिंग दल द्वारा तोकापाल अनुभाग में अब तक 11 हजार 518 लोगों का स्क्रीनिंग किया जा चुका है। इसी प्रकार अन्य अनुभाग में भी डोर टू डोर कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य किया जा रहा है। जिला प्रशासन के निर्देश पर सभी अनुभागों में कांटेक्ट ट्रेसिंग हेतु तैनात दलों के सदस्यों को प्रशिक्षण भी दिया गया है।


22-Sep-2020 10:36 PM

जगदलपुर, 22 सितंबर। सांसद प्रतिनिधि व प्रदेश महासचिव युवा कांग्रेस सुशील मौर्य ने किसान अध्यादेश राज्यसभा से पारित होने के बाद आज केंद्र की मोदी सरकार पर सीधा हमला बोला।

उन्होंने जारी विज्ञप्ति में कहा कि किसान विरोधी सरकार के इस निर्णय को आज पूरे देश के किसान विरोध कर रहे हैं लेकिन पूंजीपतियों को लाभ देने के लिए केंद्र की सरकार ने कृषि अध्यादेश 2020 लाया है जिसकी किसी भी प्रकार की अभी आवश्यकता नहीं  थी। पूरा देश वैसे ही कोरोना की चपेट में है देश में 55 लाख के करीब कोरोना के मामले हैं प्रतिदिन 90 हजार से ज्यादा कोरोना के केस सामने आ रहे हैं।

विश्व में भारत दूसरे स्थान पर पहुंच चुका है सिर्फ अमेरिका ही है भारत से आगे और सबसे ज्यादा मौतें भी 20 दिनों से विश्व में सबसे ज्यादा भारत में हो रही है।   2 करोड़ से ज्यादा लोगों की नौकरियां छीन गई हैं कितने परिवारों ने आत्महत्या तक कर ली हैं अपना भविष्य अंधकार में में देखते हुए।

 पर कभी केंद्र की मोदी सरकार को इससे कोई सरोकार ना पहले कभी था ना आगे रहेगा अब किसानों को भी आत्महत्या की कगार पर ला रही है।

  कृषि अध्यादेश के दो बिल को राज्यसभा में ध्वनिमत से पारित करा कर भाजपा ने ये सिद्ध कर दिया है कि वो किसान विरोधी के साथ तानाशाह रवैया भी अपना रही है। लगातार राज्यसभा में विपक्ष यह कह रहा था की वोटिंग करवा  लीजिए लेकिन राज्यसभा में विपक्ष की कोई बात नहीं सुनी गई और ध्वनि मत से कृषि अध्यादेश के बिल को पारित कर दिया, इससे स्पष्ट ज्ञात होता है किस प्रकार विपक्षी दलों की आवाज को दबाया जा रहा है। श्री मौर्य ने इसकी निंदा की है 

  किसान शोषण का शिकार ना हो जाए इसलिए न्यूनतम मूल्य निर्धारित किए गए थे। जिसको वह अपनी समीप की मंडी में बेच सकता था। आने वाले समय में यह प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी किसान वापस मल्टीनेशनल कंपनियों का गुलाम बनकर रह जाएगा। किसानों के शोषण को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा हमारी पार्टी सरकार के विरोध में किसानों के साथ अब सड़कों पर निकलेगी।


22-Sep-2020 10:35 PM

जगदलपुर, 22 सितम्बर। भारतीय जनता युवा मोर्चा  के प्रदेश कार्यसमिति सदस्य संग्राम सिंह राणा ने कहा कि कृषि विधेयक बिल से किसानों को नई आजादी मिली है ,किसानों के फायदे के लिए यह बिल पास किया गया है,आज किसान अपनी शर्तों पर उपज बेच सकता है, अपनी क्षेत्र की मंडी के अलावा किसानों को और विकल्प मिले हैं। इस बिल से किसानों की आर्थिक स्थिति सुधरेगी। पहले के नियम से किसानों के हाथ पाव बंधे हुए थे, विपक्षी दल कांग्रेस बिचौलियों के लिए खड़े हुए हैं, यह बदलाव कृषि मंडियो के खिलाफ नहीं है, एमएसपी की व्यवस्था पहले की तरह चलती रहेगी।

किसान बिल आने के बाद किसानों की आत्महत्या पर रोक लगेगी, साथ में यहां पर प्रशासन के द्वारा जो किसानों के खलियानो में छापा मारकर फसल जब्ती करते थे इस पर भी रोक लगेगी।

किसान बिल आज पूरे भारत की जरूरत बन चुकी है, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कृषि मंडियों के कार्यालयों को ठीक करने के लिए वहां का कंप्यूटराइजेशन कराने के लिए, पिछले 5 से 6 साल से देश में बहुत बड़ा अभियान चल रहा है इसलिए जो यह कहता है कि नए कृषि सुधारों के बाद कृषि मंडिया समाप्त हो जाएगी तो वो किसानों से सरासर झूठ बोल रहा है।

संग्राम सिंह राणा ने कहा कि कांग्रेस सिर्फ दिग्भ्रमित करने का काम कर रही है ,कृषि क्षेत्र में बदलाव पर चर्चा करते हुए मोदी जी ने कहा है कि संसद ने देश के किसानों को नए अधिकार देने वाले बहुत ही ऐतिहासिक कानूनो को पारित किया है। देश के लोगों को, देश के किसानों को, देश के उज्जवल भविष्य के आशावान लोगों को भी इसके लिए बहुत-बहुत बधाई मोदी जी ने दिए है,हमारे देश में अब तक उपज बिक्री की जो व्यवस्था चली आ रही थी ,जो कानून थे, उसने किसानों के हाथ-पांव बांधे हुए थे। इन कानूनों की आड़ में देश में ऐसे ताकतवर गिरोह पैदा हो गए थे, जो किसानों की मजबूरी का फायदा उठा रहे थे, आखिर ये कब तक चलता रहता, एमएसपी को लेकर विपक्षी कांग्रेस के लोग इसको लेकर गुमराह कर रहे है, सरकारी खरीद पहले की तरह जारी रहेगी।


22-Sep-2020 10:34 PM

जगदलपुर, 22 सितम्बर। विश्व प्रवासी सामाजिक एवं सांस्कृतिक संघ छत्तीसगढ़ प्रदेश के युवा प्रभाग के प्रदेश अध्यक्ष संग्राम सिंह राणा को बनाया गया है। प्रदेश प्रभारी अशोक बजाज की अनुशंसा पर  रायपुर में 21 सितंबर को युवा प्रभाग के प्रदेश अध्यक्ष की घोषणा की। 

संग्राम सिंह राणा ने कहा, जो जिम्मेदारी प्रदेश नेतृत्व विशेषकर प्रदेश प्रभारी अशोक बजाज ने दी है मैं अपने दायित्वों का निष्ठा पूर्वक निर्वहन करूंगा एवं संगठन को मजबूत करने की बात भी कही है। संगठन के प्रति आभार व्यक्त करते कहा कि जिस आशा और विश्वास के साथ मुझे सेवा का अवसर दिया गया है मैं अपना शत-प्रतिशत देकर संगठन के विचारों के विस्तार और उनकी सेवा करूंगा।

संग्राम सिंह राणा को छत्तीसगढ़ प्रदेश  के युवा प्रभाग के प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने पर बस्तर जिले के समस्त पार्टी कार्यकर्ताओं एवं उनके समर्थकों ने प्रसन्नता व्यक्त की है और साथ ही प्रदेश नेतृत्व का आभार व्यक्त किया है।

श्री राणा ने प्रदेश अध्यक्ष छत्तीसगढ़ विश्व प्रवासी सामाजिक व सांस्कृतिक संघ, प्रदेश सह प्रभारी  किरण देव ,समस्त महामंत्री संपर्क प्रमुख, समस्त कोर अध्यक्ष, राष्ट्रीय अध्यक्ष युवा प्रभाग, लछुराम कश्यप,दीपक गुप्ता,समस्त प्रभारी समस्त प्रदेश अध्यक्ष, समस्त प्रदेश अध्यक्ष युवा प्रभाग एवं संयोजक संचालन समिति का आभार व्यक्त किया है।


22-Sep-2020 10:33 PM

जगदलपुर, 22 सितम्बर। गीदम नाका के पास स्थित रेलवे की पटरी पर आज  सुबह एक युवक की लाश मिलने के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही मौके पर डायल 112 की टीम और परपा पुलिस पहुंच गई।

मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह रेलवे नाके का कर्मचारी अपनी ड्यूटी करने पहुंचा। तभी उसकी नजर रेलवे पटरी पर एक युवक की लाश पर पड़ी। जिसके बाद कर्मचारी ने घटना की सूचना रेलवे पुलिस और डायल 112 की टीम को दी। सूचना मिलते ही डायल 112 की टीम और परपा पुलिस दोनों ही मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शव के पास से एक पर्स बरामद किया। पुलिस ने मृतक की शिनाख्त नन्दकिशोर पांडेय निवासी गीदम नाका के रूप में की है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि युवक की मौत ट्रेन से टकराने की वजह से हुई है। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।


22-Sep-2020 10:33 PM

जगदलपुर, 22 सितम्बर। बस्तर को हवाई मार्ग से जोडऩे पर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का आभार जताया है। छग प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा है कि कांग्रेस सरकार और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की दृढ़ इच्छाशक्ति और बस्तर संभाग के विकास के लिए ललक एवं प्रतिबद्धता है कि बस्तर हवाई मार्ग से जुड़ पाया। जगदलपुर को हवाई मार्ग से जोडऩे की कार्य योजना बना कर, विमानन मंत्रालय तथा डीजीसीए से अनुमति प्राप्त कर निजी विमान कम्पनी को उड़ान सेवा के लिए आकर्षित कर इस महत्वपूर्ण परियोजना को साकार किया गया है।

      कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि यह उड़ान न सिर्फ बस्तरवासियों अपितु समूचे प्रदेश के विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगी। बस्तर की शेष प्रदेश से दूरी और कम होगी,परस्पर आवागमन में समय कम लगेगा।बस्तर के रास्ते हैदराबाद को हवाई मार्ग से जोडऩे से व्यापार,व्यवसाय और पर्यटन के अवसर बढ़ेंगे।

       कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि बस्तर को हवाई मार्ग से जोडऩे का लाली पाप कुछ साल पहले भी दिखाया गया था तब उद्घाटन की औपचारिकता भी की गई थी, लेकिन हवाई यात्रा का जो ख़्वाब दिखाया गया था वह भी हवा हवाई ही निकला था ।कुछ दिनों, कुछ फेरों में ही यह सपने बिखर गए थे।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस सरकार ने इस हवाई सेवा के मार्ग को प्रशस्त कर और इसके दीर्घ कालीन संचालन की व्यवस्था सुनिश्चित कर, बस्तर और प्रदेश के लोगों के सपनों को एक नया पंख दिया है।


22-Sep-2020 9:18 PM

जगदलपुर, 22 सितम्बर। गीदम नाका के पास स्थित रेलवे की पटरी पर आज  सुबह एक युवक की लाश मिलने के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई। सूचना मिलते ही मौके पर डायल 112 की टीम और परपा पुलिस पहुंच गई।

मिली जानकारी के अनुसार आज सुबह रेलवे नाके का कर्मचारी अपनी ड्यूटी करने पहुंचा। तभी उसकी नजर रेलवे पटरी पर एक युवक की लाश पर पड़ी। जिसके बाद कर्मचारी ने घटना की सूचना रेलवे पुलिस और डायल 112 की टीम को दी। सूचना मिलते ही डायल 112 की टीम और परपा पुलिस दोनों ही मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शव के पास से एक पर्स बरामद किया। पुलिस ने मृतक की शिनाख्त नन्दकिशोर पांडेय निवासी गीदम नाका के रूप में की है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि युवक की मौत ट्रेन से टकराने की वजह से हुई है। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।


22-Sep-2020 9:17 PM

जगदलपुर, 22 सितंबर। कलेक्टर रजत बंसल द्वारा हड़ताल में बैठे एनएचएम कर्मचारियों में से दस लोगों को तत्काल प्रभाव से सेवा से पृथक करने की कार्रवाई की गई।

हड़ताल में बैठे कर्मचारियों को अपने कार्य में उपस्थित होने निर्देशित किया गया था। अधिकारी-कर्मचारी द्वारा समयावधि में उपस्थित नहीं होने के फलस्वरूप छ.ग. शासन सामान्य प्रशासन विभाग (शासकीय कर्मचारी कल्याण शाखा)के प्रावधानों के अनुसार उक्त प्रकार के कृत्य आयोजित हड़ताल धरना तथा सामूहिक अवकाश आदि छ.ग. सिविल सेवा आचारण नियम 1965 के अनुसार कदाचरण की श्रेणी में आता है एवं राज्य में छ.ग. अत्यावश्यक सेवा संधारण तथा विछिन्नता निवारण अधिनियम 1979 लागू किया गया है, जिसमें स्वास्थ्य सेवाओं में कार्य करने से इंकार किये जाने को पूर्णत: प्रतिबंधित किया गया है। एस्मा अधिनियम का उल्लंघन किये जाने की स्थिति में दण्डात्मक कार्यवाही का प्रावधान के तहत और उक्त कृत्य के लिये सिविल सेवा आचरण नियंत्रण 1966 के प्रावधानों के तहत उक्त कर्मचारियों को शासकीय सेवा से तत्काल प्रभाव से सेवा से पृथक किया गया है।

इन कर्मचारी में विकासखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक जगदलपुर संतोष सिंह, विकासखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक बास्तानार राजेन्द्र नेताम,विकासखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक तोकापाल प्रवीण निगम, विकासखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक बकावंड  राजेन्द्र बघेल,  दरभा ब्लाक लेखा प्रबंधक मोहम्मद सिराजुद्धीन, तोकापाल बीडीएम प्रेम कुमार गुप्ता,  प्रा.स्वा.केन्द्र, रोतमा आर.एम.ए. अमन कुमार वर्मा, सी.एच.ओ.उप.स्वा.केन्द्र परपा असीम मसीह, बड़े किलेपाल ए.एम.ओ. डॉ. डी.के, चतुर्वेदी, प्रा.स्वा.केन्द्र करपावंड पी.ए.डी.ए जितेश जोशी है।


22-Sep-2020 9:13 PM

जगदलपुर, 22 सितंबर। बच्चों के बेहतर सेहत, पोषण, मानसिक विकास और बेहतर जीवन हेतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा 22 सितम्बर को रााष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस के तहत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग मंत्री टीएस. सिंहदेव द्वारा वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से उद्धाटन करते हुए छत्तीसगढ़ के समस्त जिलों के स्वास्थ्य अधिकारी को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य अमला एवं सहयोगी संस्था के माध्यम से कृमि का संक्रमण दर 70 से घटकर 15 फीसदी रह गया। यह कृमि मुक्त अभियान की सफलता का परिणाम है।

 उन्होने सभी बच्चों को उज्ज्वल भविष्य एवं अच्छे स्वास्थ्य की शुभकामना देकर रायपुर के दो बच्चों को अपने हाथ से गोली का सेवन कराया। 23 से 30 सितम्बर तक 1-19 वर्ष के सभी बच्चों को कृमि नियंत्रण की दवाई मितानिनों-आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा घर-घर जाकर कृमि की दवा  खिलाई जाएगी।

1 से 2 वर्ष के बच्चों को आधी गोली  200 मि.ग्रा.पीस कर एवं 2 से 3 वर्ष के बच्चों को 1 गोली 400 मि.ग्रा पीसकर एवं 3 वर्ष से 19 वर्ष के बच्चों को 1 गोली 400 मि.ग्रा. चबाकर पानी के साथ नाश्ता अथवा भोजन के पश्चात खिलाई जाएगी। आकाशवाणी जगदलपुर के माध्यम से भी कृमि मुक्ति दिवस की जागरूकता बढ़ाई जा रही है। उक्त वीडियो कान्फ्रेंस में बस्तर जिला से डॉ. सी मैत्री, डॉ. डी.राजन ,अनिल बडकस  एवं शहरी क्षेत्र के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं मितानीन उपस्थित रहे ।


22-Sep-2020 9:10 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

जगदलपुर, 22 सितम्बर। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रजत बंसल द्वारा जिला बस्तर के तहसील व राजस्व निरीक्षक मंडल बकावण्ड, ग्राम मोंगरापाल प.ह.नं. 19 में अनमोल इंडिया एग्रो फार्मिक डेरिज कंपनी के नाम पर स्थित खसरा नंबर 2 कुल रकबा 3.250 हेक्टेयर सम्पति को छत्तीसगढ़ के निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम 2005 के अन्तर्गत जमाकर्ताओं के धन वापसी हेतु सम्पति कुर्क घोषित किया है।

उक्त संबंध में प्राप्त जानकारी अनुसार कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जिला सरगुजा के साथ जिला सरगुजा पुलिस अधीक्षक के द्वारा लेख किया गया था कि आवेदक महाजन दास निवासी कोरिमा थाना धौरपुर के द्वारा अनमोल इंडिया एग्रो फार्मिक डेरिज कंपनी के खिलाफ आवेदन प्रस्तुत की गई जिसकी जांच कर थाना धौरपुर में अपराध व छग निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम की धारा 10 इनाम चिटफण्ड पर पाबंदी अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है, जिसके डायरेक्टर मोहम्मद जावेद मेमन, जुनैद मेमन, खालिद मेमन, निलफौर बानो, नदिया बानो,सुपरा मेमन, हाजी उमर मेमन हैं।

 विवेचना के दौरान अनमोल इंडिया एग्रो फार्मिक डेरिज कंपनी के नाम जिला बस्तर के ग्राम मोंगरापाल मे संपत्ति खसरा नंबर 538 रकबा 1.250, खसरा नंबर 552 रकबा 2.000 हेक्टेयर होना पाया गया है। छत्तीसगढ़ निक्षेपकों के हितों का संरक्षण अधिनियम की धारा 7 के प्रावधानों के तहत उपरोक्त कंपनी व व्यक्तियों (डायरेक्टर्स) के नाम की संपत्ति को कुर्क किया जाना था इसी परिपेक्ष में जिला दण्डाधिकारी बस्तर के द्वारा कार्रवाई की गई।


21-Sep-2020 10:25 PM

जगदलपुर, 21 सितम्बर। आम आदमी पार्टी के बस्तर जिला अध्यक्ष तरुणा बेदरकर ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के स्वास्थ्य कर्मियों के हड़ताल पर ना जाने को लेकर मार्मिक अपील को भावुक अत्याचार कहा है। 

उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री को कहा कि जो स्वास्थ्य कर्मी अपनी जान की परवाह किये बगैर इस महामारी में लोगों की सेवा कर रहे हैं उन्हें नियमित करने में क्या समस्या है? ऐसे समय में तो सरकार को इनकी समस्याओं को देखते हुए बिना बोले नियमितीकरण कर देना चाहिए। सरकार जब उनकी भर्ती कर चुकी है वेतन भी दे रही है तो बस एक पत्र जारी कर उन्हें नियमित भी कर दें। ऐसे महामारी के समय स्वास्थ्य कर्मियों को नियमित कर उनका हौसला बढ़ाने के बजाय उन्हें मार्मिक अपील कर स्वास्थ्य कर्मियों के साथ भावुक अत्याचार कर रही है। 

    आगे उन्होंने कहा कि इसी महामारी काल में छत्तीसगढ़ सरकार संसदीय सचिवों की नियुक्ति की, विधायकों का पेंशन बढ़ाया। तो इस महामारी काल में 24 घण्टे डयूटी देने वाले इन कर्मियों को नियमित करने में क्या परेशानी हो रही है। अगर इनको नियमित नही कर सकती सरकार तो सभी विधायकों, संसदीय सचिवों को इनकी ड्यूटी पर लगाये सरकार।

        चुनाव के समय कांग्रेस घोषणा पत्र में अनियमित कर्मचारियों को वादा किया गया था कि सरकार बनने के बाद नियमित किया जाएगा। फिर ये वादा खिलाफी क्यों? 

आम आदमी पार्टी जिलाध्यक्ष बस्तर ने सरकार से आग्रह किया कि 13000 अनियमित स्वास्थ्य कर्मियों सहित प्रदेश के सभी अनियमित कर्मचारियों सरकार नियमित करें और दिल्ली की तर्ज पर हमारे कोरोना वॉरियर्स स्वास्थ्य कर्मी की मौत हो जाती है तो उनके परिवार को 1 करोड़ की राशि मुआवजे में दें।


21-Sep-2020 10:25 PM

जगदलपुर, 21 सितम्बर। केंद्र सरकार द्वारा कृषि सुधार के नाम पर लाये गए तीन विधेयक और पूरे देश में इनके विरोध के बावजूद विधेयक को पारित करने की अकुलाहट से एक बार फिर से भाजपा का किसान विरोधी चेहरा सामने आया है। छग प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता आलोक दुबे ने कहा है कि देश के किसान, सदन के अंदर विपक्षी दल इस विधेयक का विरोध कर रहे हैं, राज्य सभा में विधेयक की प्रतियां फाड़ी जा रही है, फिर भी मोदी सरकार इस कानून को बनाने की जिद पर क्यों अड़ी है।

आलोक दुबे ने जारी बयान में कहा है कि सारा देश मान रहा है कि  किसान मूल्य आश्वासन और खेत पर समझौता सेवाएं विधेयक मूलत: किसान विरोधी है। यह बिचौलियों और मुनाफाखोरों को प्रोत्साहन देने वाला है। इस विधेयक के कानून बनने से मंडी व्यवस्था नष्ट हो जाएगी। मंडी में किसानों को उनकी उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य मिलने को सुनिश्चित करने का प्रावधान है। नए विधेयक में कोई भी पेनकार्डधारी व्यक्ति किसान से खरीदी कर सकता है। इस परिस्थिति में किसान शोषण का शिकार होंगे। यह किसानों को बाजार के जोखिम के अधीन सौंपने की साजिश है। इस विधेयक को पारित करवा कर मोदी सरकार,किसानों के प्रति केंद्र सरकार के परम्परा गत कर्तव्य से भागने के प्रयास में है।राज्य सरकारों के माध्यम से समर्थन मूल्य पर कृषि उत्पादों की खरीदी की प्रक्रिया अपनाई जाती है, यह काम राज्य और केंद्र सरकारें मुनाफा कमाने नहीं बल्कि किसानों की मदद के उद्देश्य से करती रही हैं। इस विधेयक के पारित होने पर समर्थन मूल्य पर खरीदी प्रक्रिया भी बंद होने का खतरा है।

    कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि इस विधेयक के साथ ही लाए गये दूसरे विधेयक में तो छोटे,मंझोले किसानों को बर्बाद कर, बड़े कारपोरेट सेक्टर को खेत ठेके में सौंपने का षड्यंत्र है। नए कानून में कम्पनियां, किसानों से उनके खेत ठेके पर लेकर खेती कर सकेंगी। किसानों से ठेके पर खेत लेने वाली कम्पनियाँ किसानों को बराबर का पार्टनर रखेगी तथा उनको मुनाफे का बराबर हिस्सा देगी, इस भागीदारी पर यह विधेयक मौन है। इस कानून के माध्यम से किसानों को उनकी ही ज़मीनों पर मज़दूर बनाने की तैयारी की जा रही है। भाजपा और मोदी जी ने वायदा तो 2022 तक किसानों की आय दुगुनी करने का किया था, लेकिन हकीकत में किसानों को उनकी खेती, किसानी से बेदखल करने का निंदनीय प्रयास केन्द्र सरकार द्वारा किया जा रहा  है।


21-Sep-2020 10:07 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

जगदलपुर, 21 सितम्बर। कोरोना को हराने के लिए जिला प्रशासन लगातार काम कर रहा है। वहीं शहर में बने क्वॉरंटीन सेंटर में मरीजों को रखने के साथ ही इनकी हर चीजों का ख्याल रखा जा रहा है। लेकिन व्यवस्था सुधरने का नाम नहीं ले रही है। जिसका ताजा उदाहरण परपा क्षेत्र में बने क्वॉरंटीन सेंटर में देखने को मिल रहा है।

क्वॉरंटीन सेंटर में भर्ती मरीजों ने बताया कि यहाँ वर्तमान में करीब 30 मरीजों को रखा गया है। वहीं बीती रात एक चिकित्सक पॉजिटिव पाया गया। लेकिन जिस रूम में चिकित्सक थे, उनके रूम को सैनिटाइज किये बगैर ही उस रूम को स्टाफ नर्स को दे दिया गया। जिससे कोरोना का खतरा बढ़ गया है। वार्ड में भर्ती मरीजों ने इस मामले को लेकर शिकायत भी की लेकिन अब तक रूम को सैनिटाइज नहीं किया गया है। इस क्वॉरंटीन सेंटर में चारों ओर गंदगी पसरी पड़ी है। जिसके कारण सफाई व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है।  इस मामले में बस्तर कलेक्टर रजत बंसल ने वहां की व्यवस्था को सुधारने की बात कही है।


21-Sep-2020 10:06 PM

जगदलपुर, 21 सितम्बर। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी रजत बंसल के द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए बस्तर जिले के सभी पर्यटन स्थलों में भ्रमण पर आगामी आदेश तक रोक लगायी गई है। कलेक्टर ने पुलिस विभाग, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, वन विभाग, नगरीय प्रशासन विभाग सभी अनुविभागीय दंडाधिकारी तहसीलदार, पर्यटन विभाग के अधिकारियों को और पर्यटन स्थल समिति व प्रबंधन को इस आदेश का पालन तत्काल सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं।


21-Sep-2020 10:01 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

जगदलपुर, 21 सितम्बर। बस्तर के पत्रकारों ने कोरोना वॉरियर्स की तरह सुरक्षा और जोखिम कवच देने की मांग शासन से की। इस संबंध में आज स्थानीय पत्रकारों ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।

पत्रकारों ने पत्र के माध्यम से कहा कि राज्य में दो सक्रिय पत्रकारों का कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो चुका है और अनेक पत्रकार कर्तव्य निर्वहन करते हुए संक्रमण की चपेट में हैं। अब भी निरंतर खतरा बना हुआ है। बस्तर के पत्रकार भी विषम परिस्थतियों में काम कर रहे हंै। ख़ास कर नक्सल इलाकों में बस्तर का पत्रकार मार्च महीने से ही कोरोनासंक्रमण के रोकथाम के लिये प्रचार-प्रसार करने के काम में जुटा है। ऐसे में पत्रकारों का स्वास्थ्य बीमा कराने तथा विशेष रूप से कोरोनाकाल में कोरोना वॉरियर्स की तरह सुरक्षा और जोखिम कवच उपलब्ध कराने की आवश्यकता समझी जा रही है।

बस्तर जिला पत्रकार संघ के अध्यक्ष एस. करीमउद्दीन ने कहा कि पत्रकार साथी स्वास्थ्य, सफाई और पुलिस अमले की तरह कोरोना से जंग लडऩे में समाज, शासन और प्रशासन के साथसक्रिय भागीदारी निभा रहे रहे हैं। अत: यह आवश्यक हो गया है कि पत्रकारों को तत्काल प्रभाव से कोरोना वॉरियर्स घोषित कर उन्हें जोखिम सुरक्षा प्रदान की जाए। श्री करीमुद्दीन ने कहा कि पत्रकारों के लिए 50 लाख का स्वास्थ्य बीमा तथा कोरोना से मृत्यु पर न्यूनतम 50 लाख की क्षतिपूर्ति उनके आश्रित को दी जाने पर पहल की जानी चाहिए।

ज्ञापन सौंपने के दौरान एस करीमुद्दीन,सुधीर जैन,राजेन्द्र तिवारी,मनीष गुप्ता,नरेश कुशवाहा सत्यनारायण पाठक,रवि दुबे,राकेश पांडे,अनुराग शुक्ला,महेंद्र विश्वकर्मा ,धर्मेंद्र महापात्र,संतोष वर्मा श्रीनिवास रथ, अजय श्रीवास्तव,कमलेश बघेल,श्रीनिवास नायडू,इमरान नेवी,सुब्बा राव,रविश राज परमार,सुभाष रतनपाल,सोहेल रजा,एंथोनी राम,आकाश मिश्रा,गजेंद्र सिंह ठाकुर,विकास तिवारी,अशोक नायडू,कृष्णा झा,बास्की ठाकुर,स्वरूपराज दास,संतोष ठाकुर सोमेश देवांगन,कार्तिक,करमजीत कौर सहित अन्य पत्रकार मौजूद थे।


21-Sep-2020 9:59 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

भोपालपटनम, 21 सितम्बर। भोपालपटनम सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के 31 कर्मचारी 17 सितम्बर से बेमुद्दत हड़ताल पर चले गए जिसमें संविदा डॉक्टर, एएनएम, कंप्यूटर ऑपरेटर एवं अन्य स्टाफ के कर्मचारी शामिल हंै। इनके हड़ताल में चले जाने से वैश्विक महामारी कोरोना के बचाव अभियान में बाधा उत्पन्न हो रही है।

इधर एक ओर जब क्षेत्र में संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है वहीं दूसरी ओर भोपालपटनम के संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी हड़ताल पर हैं। एनएचएम कर्मचारी संघ ने कहा है कि 15 साल से सभी स्वास्थ्य सुविधाओं को सुचारू रूप से चलाने में अपना योगदान दिए हैं, परंतु आज तक नियमितिकरण नहीं किया गया है। इस समस्या को लेकर शासन को बार-बार मांग करते रहे हैं। वर्तमान सरकार ने अपने घोषणा पत्र में इस मांग को शामिल किया था।


21-Sep-2020 9:48 PM

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

भोपालपटनम, 21 सितंबर। तेलंगाना के कोमरमभीम जिला, कागजनगर मंडल कदभा के जंगल में पुलिस एवं नक्सलियों के बीच शनिवार की रात फायरिंग हुई, जिसमें 2 नक्सली मारे गए, वहीं अन्य घने जंगल का फायदा उठाकर भाग गए।

 मृत नक्सलियों के शवों की पहचान की गई, जिसमें छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के निवासी सुकालू एवं दूसरे माओवादी की पहचान तेलंगाना के आदिलाबाद जिला के नेरेदूकोंडा मंडलम अड्डाल तिम्मापुर निवासी बाजीराव के नाम से की गई है। घटना स्थल की सर्चिंग करने पर जवानों को मौके से नक्सली साहित्य व अन्य सामग्री बरामद हुई।  बताया गया कि उक्त मुठभेड़ में माओवाद नेता अडेल उर्फ भस्कार दलम के बाकी सदस्य मौके का फायदा उठा कर भाग गए।

 पुलिस को सूत्रों से मिली सूचना के अनुसार कोरोना के लॉकडाउन के समय करीब 6 माह पहले छत्तीसगढ़ से महाराष्ट्र होते हुए तेलंगाना के कोमरमभीम जिला में माओवादी प्रवेश कर अपनी गतिविधियों को चला रहे हंै। तेलंगाना पुलिस पिछले  4 माह से कडभा जंगलों में सघन गस्त कर रही है और शनिवार रात लगभग 10 बजे यह मुठभेड़ हुई।


Previous123456789...1516Next