छत्तीसगढ़ » बस्तर

Previous123456789...1213Next
24-Nov-2020 1:51 PM 26

विलुप्त हो रही बस्तर आर्ट साडिय़ों को मिला पुनर्जीवन

जगदलपुर, 24 नवम्बर। बस्तर की बहुमूल्य सांस्कृतिक धरोहर को हाथकरघा के माध्यम से वस्त्रों में कलाकृति के रूप में अभिव्यक्त किया जा रहा है। जिले के महात्मा गांधी बुनकर सहकारी समिति, बस्तर के बुनकरों द्वारा परंपरागत ट्राइबल आर्ट साडिय़ों और विभिन्न रंगों के ट्राइबल आर्ट दुपट्टों का भी निर्माण किया जा रहा है।

बस्तर जिले के तोकापाल ब्लाक के ग्राम-कोयपाल में प्राकृतिक रंगों  से रंगे सूती ट्राइबल आर्ट साडिय़ां बनाई जा रही है, जो संपूर्ण छत्तीसगढ़ में अद्वितीय है। हाथकरघा विभाग द्वारा इन साडिय़ों एवं दुपट्टे को राजधानी रायपुर स्थित बिलासा शोरूम द्वारा विक्रय किया जा रहा है। हाथकरघा विभाग द्वारा न सिर्फ बस्तर की संस्कृति को संरक्षित व संवर्धित किए जाने का प्रयास किया जा रहा है, बल्कि स्थानीय बाजारों से अलग इनकी आमदनी में भी चार-पांच गुना वृद्धि हुई है।

 साड़ी बनाने वाले बुनकरों को ट्राइबल डिजाइन के आधार पर 4 से 5 हजार रुपए प्रति साड़ी बुनाई मजदूरी दिया जा रहा है जबकि ट्राइबल आर्ट दुपट्टे, गमछे इत्यादि का प्रति नग 400-500 रूपए बुनाई मजदूरी है। पिछले दो माह में ट्राइबल आर्ट साडिय़ों एवं दुपट्टे के लिए बस्तर समिति द्वारा कुल एक लाख 60 हजार की मजदूरी का भुगतान किया गया है।

 जिला हाथकरघा कार्यालय में पदस्थ सहायक संचालक  अनिल कुमार सोम ने बताया कि आगामी योजना के तहत जिले के समस्त बुनकर सोसायटियों ने ट्राइबल आर्ट साडिय़ों, दुपट्टे, गमछे, शर्टिंग आदि का निर्माण प्रारम्भ किया जाएगा तथा स्थानीय स्तर पर प्राकृतिक रंगों से धागा रंगाई करने की सुविधा उपलब्ध किया जाना है। इसके लिए विभागीय एवं जिला प्रशासन के सहयोग से बस्तर की विलुप्त होती परम्परा को पुनर्जीवित किया जा रहा है।


24-Nov-2020 1:50 PM 20

नालों का भौतिक रूप से सर्वे तथा जीआईएस सैटेलाइट का उपयोग किया गया

जगदलपुर, 24 नवम्बर। राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी सुराजी योजना के प्रमुख घटकों में नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी योजना में नरवा परियोजना विशुद्ध रूप से वर्षा जल संचयन, सिंचाई और आजीविका के लिए मनरेगा की गाइड लाइनों के तहत वाटरशेड अवधारणा पर आधारित है। इस परियोजना के तहत जिला पंचायत बस्तर द्वारा वर्षा जल संचयन के लिए रीड्ज टू वेली कंसेप्ट के अनुसार डीपीआर तैयार किया। योजना के तहत ऐसी संरचनाएं बनाई जाएगी, जो सतही भंडारण या भूजल के माध्यम से आगे के उपयोग के लिए वर्षा जल की कुछ मात्रा को धारण करने और पुनर्भरण करने में सक्षम हो। कम वर्षा और कम सिंचाई क्षमता के कारण जलवायु परिवर्तन और सिंचाई क्षमता की कमी के कारण आजीविका प्रभावित हुई है। योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र में सुरक्षित आजीविका बनाना है क्योंकि वे अधिकतर सिंचाई और कृषि से संबंधित कार्यों के लिए बारिश के पानी पर निर्भर रहते हैं।

जिला पंचायत के एपीओ पवन कुमार ने बताया कि बस्तर जिले के सभी सात ब्लॉक एमडब्ल्यूसी (मिशन वॉटर कंजरवेशन) के तहत शुष्क और सिंचाई से वंचित के रूप में आते हैं। हाल के वर्षों में जिले में वर्षा का स्वरूप में काफी परिवर्तन आया है और सिंचाई के लिए पानी की उपलब्धता में कमी और भूजल स्तर में कमी आई है और इन कारणों से जिले के लिए महत्वपूर्ण परियोजना बन गई है। नरवा अंतर्गत जिले में कुल 65 नालों का चयन कर उपचार हेतु विस्तृत कार्ययोजना तैयार की गई है।

कार्य योजना तैयार करने के लिये नालों का भौतिक रूप से सर्वे तथा जीआईएस सैटेलाइट का उपयोग किया गया है। सर्वे में इन नालों पर छोटे बड़े कुल 5125 कार्यों को शामिल किया गया है। जिनकी जलग्रहण क्षमता 104483 हेक्टेयर है और नाला की कुल लंबाई 624.65 किलोमीटर है। इन 65 नालों पर कुल ग्राम पंचायत 158 को कवर किया जा रहा है जिसमें आवश्यकता के अनुसार कार्य किए गए हैं, एससीटी, सीसीटी, वृक्षारोपण, ब्रशवुड, गली प्लग, एलबीसी, गेबियन, स्टॉप डैम, चेक डैम, सिंचाई नहर, खेत तालाब, कुआ, नवीन तालब आदि हैं। नाला के उपचार वाटरशेड अवधारणा में आवश्यक है। योजना की तैयारी के लिए हम ग्राम पंचायत स्तर पर पानी की आवश्यकताओं के मुद्दों को हल करने के लिए ग्राम पंचायत स्तर पर जीआईएस विधि और जमीनी स्तर के सर्वेक्षण का उपयोग किये है।

जीआईएस आधारित सॉफ्टवेयर जैसे कि गूगल अर्थ आदि का उपयोग किया है। कार्य के बेहतर क्रियान्वयन के लिए हम नाला की बेहतर समझ के लिए भुवन पोर्टल की विभिन्न परतों का उपयोग करते हैं और उपचार के अनुसार इसकी योजना बनाते है। योजना की बेहतर दक्षता के लिए ग्राम पंचायत के साथ आजीविका को मजबूत करने के लिए पानी का उपलब्धता और सिंचाई क्षमता बढ़ाने के लिए योजना से अधिकतम उत्पादन प्राप्त करने की कार्य योजना तैयार की जा रही है।


24-Nov-2020 1:44 PM 17

जगदलपुर, 24 नवम्बर। कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान अंतर्गत सभी पर्यटन स्थलों में आने वाले पर्यटकों को मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील की गई है। ज्ञात हो कि कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान छत्तीसगढ़ के बस्तर जिला में स्थित है। कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान अंतर्गत सभी पर्यटन स्थलों को पर्यटकों के भ्रमण के लिए 1 नवम्बर से खोल दिया गया है। कोविड-19 संक्रमण से बचाव हेतु कार्यालय निदेशक कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के द्वारा पर्यटकों से अपील की जाती है कि वे मास्क लगाएं एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। बिना मास्क के राष्ट्रीय उद्यान क्षेत्र में प्रवेश वर्जित होगा।


23-Nov-2020 9:42 PM 23

जगदलपुर, 23 नवम्बर। सोमवार को मितानीन दिवस पर मोतीलाल नेहरू वार्ड नयापारा में समारोह पूर्वक मितानीनों का सम्मान किया गया। पार्षद आलोक अवस्थी व वार्ड निवासियों ने मितानीनों को पुष्प गुच्छ,शाल,श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया।

इस दौरान पार्षद आलोक अवस्थी ने कहा कि मितानीन बहनें सेवा की प्रतिमूर्ति हैं। स्वास्थ्य योजनाओं व सुविधाओं को घर-घर तक पहुँचाने का कार्य मितानीन करती हैं। भयावह कोरोना संकटकाल में भी अपनी जान जोखिम में डालकर प्रत्येक घर में दस्तक देकर लोगों को जागरूक करने,दवा आदि देने का बडा़ कार्य मितानीनें लगातार कर रही है। उनकी सेवा व समर्पण भावना सराहनीय है।

मोतीलाल नेहरू वार्ड स्थित प्राथमिक शाला मे आयोजित कार्यक्रम में मितानीन श्रीमती रमा प्रभु,राजेश्वरी निर्मलकर व रेखा पाढी़ को सम्मानीत किया गया। साथ ही आँगनबाडी़ कार्यकर्ता ज्योति ठाकुर व सहायिका वेदवती पात्र का भी सम्मान किया गया। इस मौके पर शिक्षिका उषा गोयल, बीएलओ बसंत बघेल,सरिता राव, पी नागमणि राजू, मोनू श्रीवास आदि उपस्थित थे।


23-Nov-2020 9:41 PM 21

जगदलपुर, 23 नवंबर। सोमवार को ग्राम पंचायत मालगांव पहुंचे सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष कवासी हरीश लखमा पंचायत भवन में आयोजित मितानिन दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए।

श्री कवासी द्वारा इस अवसर पर मितानिन माताएं बहनों को श्रीफल व साल से सम्मानित किया गया । उन्होंने कहा कि वार्ड की  सेवाओं में मितानिन बहनों का बड़ा योगदान है। इस दौरान युवा इंटक के संभागीय अध्यक्ष तुलाराम सेठिया, सरपंच बलराम नाग, अल्ताफ उल्ला खान, तरणजीत सिंह, रोशन वार्ड पंचगण व मितानिन उपस्थित थे।


23-Nov-2020 9:40 PM 22

जगदलपुर, 23 नवंबर। पब्लिक वॉइस के सदस्य सोमवार की दोपहर जिलाधीश के नाम ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर दीप्ति गौते को सौंपा। सदस्यों ने बताया कि आईजी बंगला रोड, लालबाग स्थित 2 ऑफिसर्स बंगलों की चारदीवारी तोडक़र एक चौड़ी सडक़ निकाली गयी है, जो कि पहले दिन से कई सारे सवालों के घेरे में है और जिसे लेकर आम जनमानस में भी कई सारे शंकाये व्याप्त हैं। इस सडक़ निर्माण की जांच होनी चाहिए।

      पब्लिक वॉइस के सदस्यों ने कहा कि बताया यह भी जा रहा है कि कथित सडक़ मास्टर प्लान में है, जिस वजह से ऐसा किया गया है, पर सवाल यह उठता है कि आनन-फानन में मास्टर प्लान का हवाला देकर इस सडक़ को निकाले जाने के पीछे किस वर्ग अथवा व्यक्ति विशेष को फायदा पहुँचाने की कोशिश की गयी, जबकि मास्टर प्लान के आधार पर क्षेत्र में बहुत से अन्य आवश्यक फेरबदल भी लंबित है, ऐसे में मात्र एक सडक़ को मास्टर प्लान का हवाला देकर रातों रात निर्माण करना स्वत: कई सवालों को जन्म देता है। उक्त कृत्य इसलिए भी लोगों को अधिक अचंभित कर रहा है क्योंकि दो वरिष्ठ उच्च अधिकारीयों की बाउंड्रीवॉल को तोडकर एक चौड़ी सडक़ निकाली गयी है।

सदस्यों ने कहा कि जनभावना व आम जनता के विश्वास को बनाए रखने हेतु एसडीएम स्तर के सक्षम अधिकारी के नेतृत्व में तहसीलदार, टाउन प्लानिंग, पीडब्ल्यूडी एवं नगर निगम के 5 सदस्यीय सक्षम अधिकारियों की एक संयुक्त जांच सामिति गठन कर उक्त विषय की गंभीरता से निष्पक्ष जाँच करवाकर जाँच रिपोर्ट जनता के समक्ष 7 कार्य दिवसों में सार्वजानिक की जाएँ, जिससे शहर में व्याप्त शंका व सवालों को विराम लग सके।

इस दौरान रोहित सिंह आर्य, लखपाल सिंह, गोपाल तीरथानी, अविलाश भट्ट, मितेश पाणिग्राही, गणेश राव, रोहन घोष सहित अन्य उपस्थित रहे।


23-Nov-2020 9:37 PM 24

जगदलपुर, 23 नवंबर। छत्तीसगढ़ प्रदेश शासकीय अर्ध शासकीय वाहन चालक संघ की विशेष बैठक रविवार को कलेक्टोरेट  परिसर में आयोजित की गई। इस बैठक में विशेष रूप से प्रांत अध्यक्ष एसएन महापात्र उपस्थित हुए। बैठक में सर्वसम्मति से कार्यकारिणी गठित की गई। प्रदेश महामंत्री के पद पर सत्यजीत बाघ, प्रदेश सचिव नरेश सेठिया, संभाग अध्यक्ष  शैल चावड़ी और जिला अध्यक्ष के पद पर अमरदेव वर्मा की नियुक्ति की गई। बैठक में अन्य पदाधिकारियों के साथ काफी संख्या में सदस्यगण उपस्थित थे।


23-Nov-2020 9:36 PM 28

जगदलपुर, 23 नवम्बर। जिला प्रशासन द्वारा  जगदलपुर शहर के आडावाल ओरना कैम्प, पुलिस लाइन आसना, बलदेव स्टेट, सिंधी कलोनी, सनसिटी एवं हाउसिंग बोर्ड कालोनी साई मंदिर के सामने में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की  लगातार बढ़ते संख्या को देखते हुये आने वाले दिनों में सम्बंधित क्षेत्र को कंटेन्मेंट जोन घोषित  करने की करवाई की जाएगी। इसके संक्रमण के प्रसार के रोकथाम के समुचित उपाय सुनिश्चित करने हेतु इन स्थानों को एक दो दिनों के लिए सील कर वहाँ रहने वाले लोंगों की अनिवार्य सैम्पलिंग की करवाई की जाएगी।

जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रभावी उपाय सुनिश्चित  करने हेतु उठाये गए इस  कार्य में जनप्रतिनिधि एवं आम नागरिकों से सहयोग की अपील की गई है, ताकि आने वाले समय में कोविड-19 के केसेस की जल्द डिटेक्शन कर समय पर इलाज के आधार पर जीवन बचाया जा सके। सघन जांच अभियान के अंतर्गत जगदलपुर शहर के भींडभाड वाले  क्षेत्रों में लोगों की लगातार कोरोना जांच की जा रही है। इसके अंतर्गत आज चर्च प्रांगण में लोगों का कोरोना जांच किया गया।


23-Nov-2020 9:34 PM 20

भानपुरी, 23 नवंबर। विकासखंड बस्तर के अंतर्गत भानपुरी- करन्दोला बाजार स्थल में आयोजित किया गया।

हर वर्ष की भांति इस वर्ष  भी हर्ष उल्लास के साथ सहस्त्रबाहु जयंती कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को मनाई जाती है। सर्वप्रथम भगवान सहस्त्रबाहु अर्जुन, माता बहादुर कलारिन के छाया चित्र पर दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की कड़ी को बढ़ाते हुए कार्यक्रम स्थल से भव्य कलश यात्रा सिविल अस्पताल भानपुरी चौक तक निकाला गया तथा कार्यक्रम में उपस्थित सभी समाज के लोगों के द्वारा कोरोना संक्रमण के बचाव हेतु सोशल डिस्टेंस, मास्क, सैनिटाइजर उपयोग कर कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए जागरूक समाज का परिचय दिया गया।

समाज के पदाधिकारियों के द्वारा अपनी मांगों को लेकर विधायक नारायणपुर चंदन कश्यप एवं पूर्व सांसद दिनेश कश्यप को कलार समाज भवन के लिए ज्ञापन सौंपा, जिसमें नारायणपुर विधायक चंदन कश्यप के द्वारा 5 लाख रुपए देने की घोषणा की गयी।

पूर्व बस्तर सांसद दिनेश कश्यप ने समाज को एकता रहकर सभी कार्य करने का आह्वान किया, उन्होंने अपने ओर से यथासंभव समाज के लिए कार्य करने का आश्वासन दिया गया।

इस भव्य कार्यक्रम में भानपुरी क्षेत्र के फरसागुड़ा ,कुगारपाल, सालेमेटा, बडेआमाबाल ,मुरकुची, मुंडा गांव ,सिवनी, बड़ेअलनार, घोटिया, सितलावंड, देवड़ा सहित 22 पंचायत के कलार समाज के लोग शामिल हुये।

ब्लाक अध्यक्ष मंगल सेठिया एवं कार्यक्रम प्रभारी एवं कलार समाज सचिव मुकेश दिवान ने सभी अतिथियों एवं समाजिक बंधुओं को सफल आयोजन हेतु धन्यवाद दिया।

 कार्यक्रम में  कलार समाज संभाग अध्यक्ष, दिनेश पोया,संभागीय सदस्य रमेश दिवान, संभागीय  महासचिव, रमेश पांडे, जिला पंचायत सदस्य निर्देश दीवान विधायक प्रतिनिधि सालिकराम, महेंद्र पांडे, बघेल, अनिल बघेल,  लोकनाथ दीवान, गोपीनाथ बघेल ,पहलाद दीवान गंगाराम ,सेठिया ,पति सिन्हा लक्ष्मीनाथ बैध ,लखेश्वर वैद्य जीवन सेठिया ,खेतीमल दीवान, नीरजा दीवान ,रमेश सार्दुल, डाली राम दीवान, पतिराम दिवान,रमेश सेठिया एवं समस्त ब्लाक के समाज जन मौजूद रहे ।


23-Nov-2020 9:33 PM 18

जगदलपुर, 23 नवंबर। बस्तर जिला कांग्रेस कमेटी (शहर) के अध्यक्ष राजीव शर्मा ने बताया कि राज्य के  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विश्व मत्स्य दिवस के अवसर पर मंशानुरूप मछली पालन को भी कृषि का दर्जा दिए जाने का जो फैसला किया है वह सराहनीय, कारगर और मछुआ समाज के लिए मील का पत्थर साबित होगी। खेती किसानी की तरह मछली के लिए भी ब्याज मुक्त ऋण उपलब्ध कराने की पहल राज्य सरकार करेगी कृषि की तरह यह ब्याज मुक्त ऋण भी कोऑपरेटिव बैंकों के माध्यम से दी जाएगी।

 राजीव शर्मा ने जारी विज्ञप्ति में कहा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की इन घोषणाओं से संपूर्ण प्रदेश के मछुआरा समाज में खुशी, हर्ष और ज़श्न का माहौल है। किसानों को दी जाने वाली छूट की भांति मछली पालन करने वाले निषाद केंवट और ढीमर समाज के लोगों को भी छूट दिए जाने के लिए पहल की जाएगी। मुख्यमंत्री की सोच ने वैज्ञानिक पद्धति से मछली पालन और उत्पादित मछली के विक्रय का अच्छा प्रबंध करने पर जोर दिया, इससे मछुआरों की आर्थिक स्थिति भी सुधरेगी और छत्तीसगढ़ धान उत्पादन की भांति मछली उत्पादन में भी देश में प्रथम स्थान पर रहेगा।

आगे कहा कि छत्तीसगढ़ में मछली पालन के लिए राज्य सरकार नई नीति बनाएगी और वैसे भी मत्स्य उत्पादन और मत्स्य बीज उत्पादन के मामले में भी छत्तीसगढ़ देश का अग्रणी राज्य है। कांग्रेस की भूपेश सरकार ने सभी वर्ग विशेष को ध्यान में रखकर जो योजनाबद्ध तरीके से कार्य को अंजाम दे रही है निश्चित ही उसका लाभ हितग्राहियों को अवश्य मिलेगा, जिससे बेरोजगारी की  समस्या पर एक हद तक अंकुश भी लग सकेगा और बेरोजगार युवाओं को रोजगार मुहैया कराने में भूपेश सरकार की यह महती योजना कारगर साबित होगी। शासन की योजनाओं का लाभ अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे यह सरकार की पहली प्राथमिकता है।


23-Nov-2020 9:08 PM 18

जगदलपुर, 23 नवंबर। कोरोना वायरस के बचाव व नियंत्रण के लिए जिले में प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना विभाग द्वारा निर्माणाधीन कार्य स्थलों सहित सडक़ों से गुजरने वाले ग्रामीणों को कोविड-19 के प्रति जागरूकता अभियान किया जा रहा है। कार्यपालन अभियंता पी. मोहन सोनी ने बताया कि विभाग के निर्देशानुसार कोविड-19 के प्रति ग्रामीणों को जागरूक करने हेतु जागरूकता अभियान, सेनेटाईजर और मास्क का वितरण किया जा रहा है।


23-Nov-2020 9:01 PM 21

  50 लाख के कार्यों का भूमिपूजन व लोकार्पण   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता  

जगदलपुर, 23 नवम्बर। बस्तर जिले के दरभा जनपद के अंतर्गत दरभा, मावलीपदर, चिंगपाल व नेगानार में सरस्वती सायकिल वितरण योजना अंतर्गत 80 छात्राओं को साइकिल वितरण किया गया। इस दौरान दरभा व चिंगपाल में  31 लाख रुपए की लागत से दरभा में चार कक्ष व चिंगपाल -नेगानार में एक अतिरिक्त कक्ष का निर्माण होगा जिसका भूमिपूजन किया। साथ ही मावलीपदर हायर सेकेण्डरी स्कूल में निर्मित अतिरिक्त कक्ष का लोकार्पण किया।

 प्रावीण्य सूची में आए बच्चों को आर्शीवचन देकर संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने लक्ष्य आधारित पढ़ाई करने की जरूरत बताई और पढ़ाई में किसी भी प्रकार की आर्थिक अड़चन आने पर उसे दूर करने का भरोसा दिलाया। स्कूली बच्चों को स्वामी विवेकानंद जी के प्रेरणादायक बातों के माध्यम से भी जानकारी दी।

 दरभा जनपद पंचायत क्षेत्र के विकास कार्यों पर ध्यान आकर्षित कराते हुए संसदीय सचिव व जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन ने कहा कि अतिसंवेदनशील क्षेत्र मुंड़ागढ़ में चार नग बोरिंग खनन प्रारंभ करवाया गया है। श्री जैन ने इस दौरान जल मिशन योजना अंतर्गत घर-घर स्वच्छ पेयजल आपूर्ति किए जाने की बात कही और भरोसा दिलाया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार स्वच्छ पेयजल आपूर्ति हेतु कटिबद्ध है। 

दरभा के मावलीपदर हायर सेकेण्डरी स्कूल में संसदीय सचिव व जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन ने कहा कि पूर्व में मावलीपदर एक पंचायत था और भौगोलिक स्थिति को देखते हुए ग्रामीणों की जरूरत को पूरा करते हुए विखंडित किया गया है तथा तीन पंचायत बनाये गये हैं जिससे पंचायतों में विकास की बयार बहेगी। भूपेश सरकार की सोच है कि आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में तेजगति से विकास हो।

इस दौरान जनपद पंचायत अध्यक्ष ललीता राव, जनपद पंचायत उपाध्यक्ष अनंत कश्यप, जनपद सदस्य तुलाराम कश्यप,  दिनमणी बेसरा,मुन्ना कश्यप, सांसद प्रतिनिधि महादेव नाग,अशोक चौहान, कमलसाय , गागरु राम, अनिल सिंह, मानसिंह ठाकुर,बोनो राम, जयपाल चौहान, सोनारु राम ,राजेश दाश,गुंजुराम,लच्छीन, जिला महामंत्री हेमु उपाध्याय, वरिष्ठ कांग्रेसी संजय जैन, आईटी सेल प्रदेश महासचिव योगेश पानीग्राही सहित अन्य उपस्थित थे।

मितानिनों का सम्मान

दरभा जनपद पंचायत क्षेत्र के मावलीपदर व कोयनार में विधायक एवं संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख कड़ी मितानिनों का सम्मान किया। कार्यक्रम के आयोजक जनपद पंचायत सदस्य तुलाराम नाग एवं उपसरपंच मान सिंह ठाकुर रहे। श्री जैन ने जगदलपुर व दरभा में मितानिनों के लिए सामुदायिक भवन अतिशीघ्र बनाये जाने की घोषणा भी की।


23-Nov-2020 9:00 PM 20

जगदलपुर, 23 नवम्बर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने ‘कौन बनेगा करोड़पति’ कार्यक्रम में एक करोड़ की राशि जीत चुकी शहर की अनूपा दास को बधाई दी है। उन्होंने दूरभाष के माध्यम से बधाई देते कहा कि बस्तर की बेटी अनूपा दास की इस सफलता से समूचा छत्तीसगढ़ गौरवान्वित हुआ है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।


23-Nov-2020 8:57 PM 20

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 23 नवंबर। बस्तर जिले की सबसे पुरानी रियासतकालीन समुंद चौक स्थित कृष्ण मंदिर प्रांगण में सामुदायिक भवन बनाने हेतु संसदीय सचिव रेखचंद जैन व अन्य जनप्रतिनिधियों ने इसकी आधारशीला रखीं। यह सबसे बड़ी बात है कि रविवार को गोपाष्टमी महोत्सव भी बनाया गया, जिसमें यादव समाज ने शिरकत की।

संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने कहा कि गोपाष्टमी महोत्सव पर्व पर कृष्ण मंदिर में सामुदायिक भवन बनाने हेतु भूमिपूजन करने का सौभाग्य मिला, जिससे कृष्ण मंदिर आने वाले लोगों की सामाजिक गतिविधियों के लिए यह प्रमुख केन्द्र होगा।

इस दौरान बस्तर जिला यादव समाज अध्यक्ष बलराम यादव ने कहा कि संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने विधायक निधि से सामुदायिक भवन बनाने की दिशा में जो कार्य प्रारंभ किया है, उसके लिए वह साधुवाद के पात्र हैं। संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने जो कार्य किया है, भगवान कृष्ण राजनीति के क्षेत्र में शीर्ष स्थान पर पहुंचाये। यादव समाज के धीरेन्द्र यादव व कमल यादव ने भी संबोधित करते हुए समाज की ओर से संसदीय सचिव रेखचंद जैन का आभार व्यक्त किया।

इस दौरान महापौर सफीरा साहू, निगम अध्यक्ष कविता साहू, शहर अध्यक्ष राजीव शर्मा, प्रदेश कांग्रेस कमेटी महासचिव यशवर्धन राव, जिला महामंत्री अनवर खान, हेमु उपाध्याय, आईटी सेल प्रदेश महासचिव योगेश पानीग्राही, बृजेंद्र यादव, सुमन यादव, विक्की यादव, कमला यादव सहित बड़ी संख्या में यादव समाज के प्रमुख उपस्थित थे।


23-Nov-2020 8:54 PM 12

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 23 नवंबर। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को आंवला नवमी के रूप में मनाया जाता है। नवमी तिथि को अक्षय नवमी भी कहा गया है। इस दिन दान करने से अक्षय फल प्राप्ति की मनोकामना के चलते कई लोगों ने इस मौके पर दान भी किया।

शहर के लक्ष्मी नारायण मंदिर में सुबह से देर शाम तक श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। हर कोई मंदिर में भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करने के बाद आंवले के पेड़ की पूजा कर सूत्र बांधे और संतान प्राप्ति व परिवार की सुख समृद्धि की कामना की। इसके अलावा प्रमुख देव-देवी मंदिरों में भी लोगों ने जाकर पूजा की। आंवला वृक्षों के अलावा बाग बगीचों में भी लोगों ने सामूहिक भोजन किया। मंदिर में कई लोग अपने रिश्तेदारों के साथ ही पहुंचे थे। शाम के समय मंदिर में भगवान को भोग लगाया गया इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे ।

आंवला पेड़ पर भगवान विष्णु का वास

लक्ष्मी नारायण मंदिर के पुजारी किशोर तिवारी ने बताया कि मान्यता है कि ग्रहण में जिस प्रकार काशी स्थित गंगा में नहाने का पुण्य मिलता है ठीक वही पुण्य आंवला नवमी के दिन लोगों को पूजा करने का मिलता है। इसलिए भी इस पूजा का विशेष महत्व है। उन्होंने बताया कि आंवला के पेड़ में भगवान विष्णु का वास होता है जिनकी पूजा आंवला पेड़ के माध्यम से की जाती है। इस दौरान माता लक्ष्मी की पूजा भी की गई। पंडित ने बताया कि यह पूजा व्यक्ति के समस्त पापों को दूर कर पुण्य फलदायी होती है। यही कारण है कि कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की नवमी को महिलाएं आंवला पेड़ के विधि विधान से पूजा कर अपनी समस्त मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए प्रार्थना करती हैं।

एकादशी पर जागेंगे देव होंगे मांगलिक कार्य

बुधवार 25 नवंबर को देव प्रबोधिनी एकादशी है। पंडितों ने इस साल इस एकादशी का विशेष महत्व बताया है। इसी दिन देव जागेंगे और श्रद्धालुओं के घरों के साथ ही मंदिरों में तुलसी सालिगराम विवाह संपन्न कराया जाएगा। पूजा को लेकर अभी से ही तैयारी शुरू कर दी गई है। कई गांवों में जहां किसान गन्ने की कटाई को लेकर तैयारियों में जुट गए हैं।


23-Nov-2020 4:31 PM 334

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 23 नवम्बर। सुकमा जिले के विकासखंड कोंटा के अंतर्गत ग्राम पंचायत किस्टाराम के आश्रित ग्राम आरलापेंटा से धर्मापेंटा को जोडऩे के लिए सडक़ निर्माण कार्य प्रगति पर है। इसके अगल बगल के खेतों में जहां कपास व तिल की खड़ी फसल को बिना सूचना के जेसीबी से खोदकर बर्बाद कर दिया जा रहा है। यह काम हफ्तेभर से चल रहा है।

 किसानों का आरोप है कि बर्बाद हुई फसल का मुआवजा भी नहीं दिया जा रहा है। वहीं हरे-भरे पेड़ों की भी धड़ल्ले से कटाई की जा रही है। इससे स्थानीय आदिवासी कृषक काफी आक्रोशित हैं। इस विषय पर सीसीएफ मो. शाहिद खान ने बताया कि मामले का पता लगवाकर जांच की जाएगी। उन्होंने कहा कि 2019 में भी ऐसी शिकायत आई थी, तो वन विभाग द्वारा निर्माण कार्य बंद करवा दिया गया था।

आरलापेंटा व धर्मापेंटा के किसानों ने ‘छत्तीसगढ़’ को बताया कि विकास के लिए सडक़ जरूरी हैं लेकिन दूसरी तरफ हमारा जीविकोपार्जन का मुख्य जरिय कृषि से ही सम्भव है।

किसानों ने कहा कि सडक़ बनाने के पहले कम से कम किसानों को सूचना देना भी जरूरी नहीं समझा ठेकेदार ने। जिसके चलते उनकी खड़ी तिल्ली और कपास फसल बर्बाद हो गई। यही नहीं रिजर्व फारेस्ट एरिया आरलापेंटा में गुप्ता कंट्रक्शन द्वारा सडक़ बनाने के नाम पर जंगल में पेड़ों की अवैध कटाई की जा रही हैं। कंपनी अपने ट्रकों व ट्रेक्टरों का परिवहन करने के एवज में हरे भरे जंगलों को काट काट कर सडक़ निर्माण का कार्य किया जा रहा हैं। उक्त कार्य की पीएमजीएसवाई निर्माण एजेंसी है।

विकास की आड़ में वन तस्करी

धर्मापेंटा, आरलापेंटा रिजर्व पारेस्ट क्षेत्र अंतर्गत सडक़ निर्माण के नाम पर ठेकेदार के द्वारा दिन दहाड़े सागौन व अन्य पेड़ों की कटाई की जा रही हैं और वन विभाग मौन है।

जंगल पर आश्रित आरलापेंटा के ग्रामीण ने बताया कि हरे पेड़ कटते देख ग्रामीणों में रोष बढ़ता जा रहा है। किसानों ने बताया कि पीढिय़ों से यहां फसल उगा रहे हैं। आरलापेंटा के किसान आईएम कृष्णा ने बताया कि 4 किमी सडक़ बन रही है, इसमें से 2 किमी में हमारे गांव के करीब 25 एकड़ फसल बर्बाद हुई है।

बताया जाता है कि पूर्व में पैदागुडा से किस्टाराम व मरईगुडा वन से लिंगनपल्ली कैम्प तक बने सडक़ पर कई सैकड़ों पेड़ों की कटाई कर निर्माण में लगे टिप्परों में ही करोड़ों का सागौन तस्करी की गई थी । इसी तरह की धर्मापेंटा व आरलापेंटा इलाके में फिर तस्करी शुरू होने की आशंका है।


22-Nov-2020 9:10 PM 36

  नगरनार स्टील प्लांट के डीमर्जर व निजीकरण के विरोध में सर्वदलीय बैठक   

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 22 नवंबर। नगरनार स्टील प्लांट के डीमर्जर एवं निजीकरण के विरोध में सर्वदलीय बैठक का आयोजन 22 नवंबर को नगरनार में किया गया। ऑल इंडिया एनएमडीसी वर्कर्स फेडरेशन, इस्पात संयंत्र कर्मचारी संघ नगरनार और संयुक्त इस्पात कल्याण संगठन  नगरनार के  द्वारा आयोजित  बैठक में बस्तर वासियों के हितों को लेकर, इस विरोध को जन आंदोलन  बनाने के लिए रूपरेखा पर चर्चा किया गया।

बैठक को संबोधित करते हुए एस क्यू जामा महासचिव एनएमडीसी ऑलइंडिया  वर्कर्स फेडरेशन ने कहा कि 5500 मजदूर बैलाडीला, दोलामलाई और पन्ना के हीरा खदान में काम कर रहे हैं। इस स्टील  प्लांट का निर्माण एनएमडीसी कर्मचारियों के जमा पैसा से बना है। इसके लिए किसानों ने जमीन दी है। अब तक कुछ किसानों को मुआवजा नहीं मिला है निजी कंपनी प्रभावित किसानों को नौकरी नहीं देगी। यह अस्तित्व की लड़ाई है। इसके लिए संघर्ष आखरी तक करेंगे। फेडरेशन बस्तरवासियों के साथ है।

 सांसद दीपक बैज ने कहा कि केंद्र सरकार ने अनेक संस्थाओं के साथ इसे भी निजीकरण करने का निर्णय लिया है। सभी जनप्रतिनिधि,सभी समाज के प्रतिनिधि,व्यापारी संगठन, प्रभावित किसान एवं बस्तर के आम जनों को एकजुटता के साथ निजीकरण का विरोध करना है।  निजीकरण को रोकने के लिए क्रमबद्ध आंदोलन की जरूरत है, सभी को मिलकर करना है।

बैठक का संचालन करते हुए ऑल इंडिया एनएमडीसी वर्कर्स फेडरेशन के राजेश संधू ने सुझाव देते हुए कहा कि निजीकरण के विरोध में विधान सभा में प्रस्ताव पारित हो, एक कमेटी गठित हो जिसके नेतृत्व में आंदोलन चले, सांसद भी लोकसभा में इस मामले को फिर से उठाएँ।

कोंडागांव विधायक एवं कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा 20 हजार करोड़ की सयंत्र को बेची जा रही है। बस्तर की जनता की उम्मीद पर कुठाराघात हुआ है। सभी बस्तरवासियों को मिलर निजीकरण रोकने के लिए संघर्ष करना है। राज्यपाल प्रधानमंत्री तक बात पहुंचाना पड़ेगा। क्रमवार आंदोलन के लिए नुक्कड़ सभाओं के माध्यम से जन जागरण अभियान चलाना पड़ेगा।

 स्थानीय विधायक एवं संसदीय सचिव रेखचन्द जैन ने कहा नगरनार स्टील प्लांट बस्तर और छत्तीसगढ़ के युवाओं का सपना था। बस्तर में पेसा कानून लगा है। इसलिए आदिवासियों की जमीन किसी निजी संस्था को नहीं दी जा सकती है। केंद्र सरकार बस्तर के लोगों को छलने का काम कर रही है। उन्होंने  कहा कि सांसद दीपक बैज के नेतृत्व में आंदोलन किया जाना चाहिए। बस्तरहित सर्वोपरि है।

बस्तर विधानसभा के विधायक और बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष लखेश्वर बघेल ने बहुत दिनों बाद  वृहद बैठक बुलाने के लिए श्रमिक संगठन को धन्यवाद देते हुए कहा कि यह बड़ी लड़ाई है। लंबा क्रमबद्ध आंदोलन करना होगा। उन्होंने अपने विचार व्यक्त करते हुए सुझाव दिया कि वृहद आंदोलन के पूर्व राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री,उद्योग मंत्री,से मुलाकात कर उनके समक्ष अपनी बात रखनी है।

 बैठक का संचालन करते हुए ऑल इंडिया एनएमडीसी वर्कर्स फेडरेशन के नेता श्री यादव ने कहा कि अब तक 16 हजार करोड़ रुपए एनएमडीसी का लगा है, केंद्र सरकार और 5 हजार  करोड़ रुपये कर्ज लेकर डिमर्ज करने का निदेश एनएमडीसी को दिया गया है। इंटक के महासचिव संजय सिंह ने  कहा कि स्थानीय लोगों को खरीददार और बाहरियों को नौकरी से रोकना होगा ।

 चित्रकूट विधायक राजमन बेंजाम ने कहा कि ग्राम पंचायतों में विरोध को लेकर प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार को भेजना चाहिए। वरिष्ठ आदिवासी नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविन्द नेताम ने कहा कि ट्रेड यूनियन के सारे नेताओं के साथ जनप्रतिनिधि गण और सभी समाज प्रमुखों के साथ आम नागरिक उपस्थित हैं, प्रभावित किसान भी बैठक में शामिल हुए इस कार्यक्रम के आयोजन के लिए श्रमिक संगठन का बहुत ही अच्छा प्रयास है। एनएमडीसी इस्पात संयंत्र के डीमार्ज और निजीकरण का फैसला बहुत  गंभीर मामला है। इस्पात संयंत्र शुरू नहीं हुआ है इसके विक्रय करने का जिक्र किया जा रहा है। पूरे देश में पहला प्रकरण है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार पहले से जानती थी कि आदिवासियों की जमीन निजी हाथों में सौंपना संभव नहीं है इसलिए डीमर्ज कर रही है।

इसी तरह सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश कवासी, पद्मश्री धर्मपाल सैनी एवं विभिन्न श्रमिक संगठनों के नेताओं के साथ अन्य जनप्रतिनिधि व कांग्रेसी नेताओं और विभिन्न संगठनों के लोगों ने भी अपने सुझाव और विचार रखें। इस बैठक में भारतीय जनता पार्टी के नेता व जनप्रतिनिधि शामिल नहीं हुए।


22-Nov-2020 9:05 PM 29

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 22 नवम्बर। विश्व प्रसिद्ध बस्तर दशहरा के आयोजन व प्रचार-प्रसार सहित कोरोना के इस संकटकाल में सेवा कार्य में योगदान देने वाले युवा कार्यकर्ताओं को आज शहर स्थित ऐतिहासिक राजमहल में एक सादे समारोह में बस्तर राजपरिवार के कमलचंद्र भंजदेव द्वारा सम्मानित किया गया।

प्रवीर सेना से जुड़े समस्त कार्यकर्ता व शहर के अन्य ऊर्जावान युवा, जिन्होंने 104 दिवसीय बस्तर दशहरा में बढ़-चढक़र हिस्सा लिया व सोशल मीडिया के माध्यम से पूरे आयोजन को देश-दुनिया तक पहुंचाने में अपना योगदान दिया, ऐसे सेवा भावी युवा कार्यकर्ताओं को सम्मान पत्र व स्मृति चिन्ह प्रदान कर श्री भंजदेव ने सम्मानित किया।

अपने उद्बोधन के दौरान श्री भंजदेव ने सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उनके नि:स्वार्थ योगदान की भूरी-भूरी प्रशंसा की व बस्तर की समृद्ध परंपरा व संस्कृति के उत्थान हेतु समय-समय पर आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में सबकी भागीदारी का आह्वान किया।

गौरतलब है कि कोरोना काल में प्रवीर सेना द्वारा अनेक अवसरों पर श्री भंजदेव की पहल से भोजन वितरण, कच्चा राशन वितरण, मास्क वितरण सहित समाज के अन्य जरूरतमंद लोगों की सेवा का कार्य भी किया गया, ऐसे पुनीत कार्य में सहयोगी के रूप में कार्य करने वाले युवाओं को भी सम्मानित किया गया। शहर के नामचीन फोटोग्राफरों का भी बस्तर दशहरा के व्यापक कवरेज हेतु इस दौरान सम्मान हुआ। सम्मानित होने वाले लोगों में अजय साहू, राहुल ठाकुर, अजय सिंह, चिंटी रजना, अभिषेक सिंह ठाकुर, रजत जैन, विकास चांडक, नीरज मानिकपुरी, बाबुल नाग, सुभेन्द्र भदौरिया, तनिष जैन, देवेश चांडक, जशविन्दर सिंह, प्रकाश साहू, विशाल सेंगर, राजा साव, हेमंत तिवारी, दिव्यराज सिंह राणा, सूरज मिश्रा, पुष्पराज पात्रो, सोनू यादव, राहुल शर्मा, विकास यादव, सन्नी साव, अंजलि दास, भावना यादव, दुर्गा ठाकुर, पार्थ शर्मा, पर्व शर्मा, शालू वर्मा, राज पांडेय, नरेंद्र, समर्थ सेठिया, करण राव आदि प्रमुख रहे।


22-Nov-2020 9:05 PM 36

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भानपुरी, 22 । भानपुरी से लगभग 7 किमी दूर ग्राम घोड़ागांव में सुकमा जिला के दोरनापाल नगर पंचायत के सीएमओ कृष्णा राव एवं एक साथी सडक़ दुर्घटना में घायल हो गए। उन्हें जगदलपुर अस्पताल भेज दिया गया।

 प्राप्त जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय राजमार्ग 30 पर भानपुरी के समीप घोड़ागांव के पास सडक़ दुर्घटना में सुकमा जिला के दोरनापाल नगर पंचायत के सीएमओ कृष्णा राव एवं एक साथी कार से घर जगदलपुर जा रहे थे। वाहन अनियंत्रित होकर रोड से नीचे उतर गई, जिससे दोनों सवार को चोट आई ।  ग्रामीणों एवं 108 की मदद से घायलों को सिविल अस्पताल भानपुरी लाया गया, उसके पश्चात जगदलपुर मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया।


22-Nov-2020 9:03 PM 24

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

जगदलपुर, 22 नवंबर। भाजपा बस्तर जिले में अपने कार्यकर्ताओं को आगामी 1 से 20 दिसंबर तक मंडलवार प्रशिक्षण देगी। प्रत्येक मंडल में दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा। आज इस संबंध में भाजपा जिला कार्यालय में जिला प्रशिक्षण योजना की महत्वपूर्ण बैठक पूर्व मंत्री व प्रदेश उपाध्यक्ष लता उसेंडी की उपस्थिति एवं भाजपा जिला अध्यक्ष रूप सिंह मंडावी की अध्यक्षता में हुई।

  लता उसेंडी ने कहा कि जिले में भाजपा कार्यकर्ताओं का विभिन्न विषयों को लेकर प्रशिक्षण सभी 11 मंडलों में 1 दिसंबर से 20 दिसंबर के बीच होना है। इसके पूर्व विषयवार मुख्य वक्ताओं का प्रशिक्षण भाजपा प्रदेश कार्यालय में 6 से 8 नवंबर को पूर्ण हो चुका है।

उन्होंने कहा कि समय-समय पर कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने की परंपरा पार्टी की रही है। भाजपा की रीति नीति को कार्यकर्ता समझे-जानें, प्रशिक्षण में नई बातें भी कार्यकर्ताओं को सीखने को मिलती है। जिससे भाजपा का कार्यकर्ता पार्टी को मजबूत करने के साथ अपनी बातें आम आदमी तक पहुँचाता है,लोगों को जोड़ता है। सुश्री उसेंडी ने कहा कि कोरोना काल में आवश्यक नियमों का पालन करते हुए प्रशिक्षण शिविर मंडलवार पूर्ण करें।

प्रदेश महामंत्री किरणदेव ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं को और अधिक सक्षम बनाने प्रशिक्षण दिया जाता है। भाजपा की असली पहचान पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता ही है।

भाजपा जिलाअध्यक्ष रुप सिंह मंडावी ने कहा कि कार्यकर्ता ही हमारी शक्ति हैं,कार्यकर्ता मजबूत होता है तो संगठन व पार्टी मजबूत होती है।कोरोना काल समाप्त नहीं हुआ है,आवश्यक सुरक्षा नियमों का पालन करते हुए सभी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण लेना है। भाजपा से ही हमारी पहचान है,जिसे हमें कायम रखना है। कार्यक्रम का संचालन महामंत्री रामाश्रय सिंह व आभार प्रदर्शन वेद प्रकाश पांडे ने किया।

बैठक में पूर्व सांसद दिनेश कश्यप,पूर्व जिलाअध्यक्ष बैदूराम कश्यप,योगेन्द्र पांडे,शेषनारायण तिवारी,मनीराम कश्यप,लक्ष्मी कश्यप,समुंदसाय कच्छ,राजेन्द्र बाजपेयी,आर्येन्द्र सिंह आर्य,सुधीर पांडे,रजनीश पाणिग्रही,खेम सिंह देवांगन, राजपाल कसेर,दीप्ति पांडे,त्रिवेणी रंधारी, ममता पोटाई,दयावती देवांगन,उत्तमलाल वर्मा,संजय विश्वकर्मा,फिरोज बस्तरिया,निर्मल पाणिग्रही,अशोक यादव,सुरेश गुप्ता,दीपक त्रिवेदी, सुधीर शर्मा,संग्राम सिंह राणा,जीतेन्द्र पाणिग्रही, आलोक अवस्थी आदि  कार्यकर्ता उपस्थित थे।


Previous123456789...1213Next