छत्तीसगढ़ » दुर्ग

28-May-2020 7:17 PM

दुर्ग, 28 मई। पूर्व महापौर एवं पूर्व अध्यक्ष जिला कांग्रेस कमेटी आरएन वर्मा ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धन्यवाद देते हुए कहा है कि कठिन परिस्थितियों में भी किसानों के प्रति जो वायदा निभाया, वह बेहद ही साहसिक एवं  प्रशंसनीय कदम हैं। छग में राजीव गांधी न्याय योजना का शुभारंभ स्व. राजीव गांधी के पुण्यतिथि के अवसर पर किया गया, जिसमें प्रदेश के 19 लाख किसानों को 5750 करोड़ की राशि चार किश्तों में दिये जाने का प्रावधान किया गया है। जिसके तहत प्रथम किश्त में 1500 सौ करोड़ का भुगतान किसानों के खाता में सीधा ट्रांसफर हो गया है। आरएन वर्मा ने कहा है कि मुख्यमंत्री के इस कार्यक्रम से किसान प्रफुल्लित हो गये हैं। किसानों का चेहरा खिल गया है, प्रदेश में खुशहाली का नया दौर शुरू होगा, किसानों को खेती के लिये प्रोत्साहन मिलेगा, किसान सशक्त होंगे, तो प्रदेश भी सशक्त होगा।
 


28-May-2020 7:16 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भिलाई नगर, 28 मई।
नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्र अंतर्गत गौरव पथ रोड से नंदनी रोड जाने वाले रास्ते पर वाहन सर्विसिंग सेंटर के संचालक यशवंत साहू द्वारा सार्वजनिक नल पर एक तरफा कब्जा करते हुए स्वयं का मोटर लगाकर पेयजल के पानी से वाहन की धुलाई करते पाए जाने पर निगम टीम ने कार्रवाई की है। 

विगत कई वर्षों से हैप्पी इंटरप्राइजेज के संचालक यशवंत द्वारा वाहनों की धुलाई निगम के सार्वजनिक नल के पानी से की जा रही थी, मोहल्ले वासियों ने इसकी शिकायत निगम के अधिकारियों से की थी। आसपास के निवासी जब सार्वजनिक नल पर पानी भरने के लिए पहुंचे, तब दुकान के संचालक ने यह कर कर उन्हें चलता कर दिया कि पहले वाहनों की धुलाई हो जाए उसके बाद पानी भरने का कार्य कर लेना, इस पर आसपास के निवासियों ने निगम में शिकायत की।

जोन आयुक्त सुनील अग्रहरि के निर्देश पर जोन क्रमांक दो के कर्मचारी अनिल मिश्रा, अनिल शुक्ला एवं अंजनी सिंह सहित निगम के अन्य कर्मचारी मौके पर पहुंचे और सार्वजनिक नल का दुरुपयोग करते पाए जाने पर वाश मशीन, मोटर पंप एवं पाइप को जब्त किया तथा पंचनामा तैयार कर दुकान संचालक को हिदायत दी गई। 

अधिकारियों ने बताया कि सर्विसिंग सेंटर का संचालक मोटर पंप से पाइप लगाकर सार्वजनिक नल के पानी का दोहन करता था, जिससे आसपास वाले लोगों को भी पानी मिलने में समस्या होती थी, 1 दिन में सर्विसिंग सेंटर के द्वारा 50 से 60 वाहनों की धुलाई की जाती थी। 

जोन आयुक्त ने बताया कि नंदनी रोड, हाउसिंग बोर्ड में फिल्टर प्लांट के मुख्य पाइप लाइन से इस सार्वजनिक नल की कनेक्टिविटी है, जिससे जुड़े होने के कारण दिन भर पानी यहां से प्राप्त होता है, जिसका फायदा दुकान संचालक के द्वारा उठाया जा रहा था। इस दुकान संचालक के द्वारा किसी भी प्रकार का नल कनेक्शन नहीं लिया गया है।
 


28-May-2020 7:14 PM

दुर्ग, 28 मई। मामूली बात पर आरोपी ने युवक पर बसुला से सिर पर प्राणघातक हमला करते हुए वार कर दिया। इससे घायल को गंभीर स्थिति में परिजनों ने जिला अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने आरोपी को उसके ग्राम महका से गिरफ्तार कर लिया है। उसे न्यायालय में पेश किया गया, जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया। पुलिस के मुताबिक 300 रुपए के लेन-देन को लेकर विवाद हुआ था। प्रार्थी आनंद राम के भाई नंदू बंजारे का बेटी दामाद राजू जोशी अपने परिवार के साथ बजरंग चौक बोरसी में रहता है। 26 मई की शाम को आनंद राम तालाब के पास घूमने गया हुआ था। उसी दौरान गांव के ही बिल्ला यादव मोटर साइकिल से आया और आनंद राम को बताया कि राजू जोशी के साथ धर्मेन्द्र ने झगड़ा किया है और बसुला से सिर पर वार कर दिया है। सभी ने खेत में जाकर देखा तो राजू जोशी खून से लथपथ पड़ा हुआ था। पूछने पर राजू ने सिर्फ यह कहा कि उसे धर्मेन्द्र ने मारा है और वह बेहोश हो गया। इसके बाद आनंद राम ने अपने साथियों के साथ मिलकर उसे जिला अस्पताल पहुंचाया। स्थिति को देख जिला अस्पताल से उसे मेकाहारा भेज दिया गया है। प्रार्थी आनंद राम बंजारे की रिपोर्ट पर पद्मनाभपुर चौकी पुलिस ने आरोपी धर्मेन्द्र सतनामी के खिलाफ  धारा 307 के तहत मामला पंजीबद्ध कर जांच में लिया है। पुलिस ने आरोपी धर्मेन्द्र सतनामी को उसके ग्राम महका से गिरफ्तार कर लिया है। उसे न्यायालय में पेश किया गया जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया।
 


28-May-2020 7:13 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भिलाई नगर, 28 मई।
नगर पालिक निगम भिलाई के आयुक्त ऋ तुराज रघुवंशी ने कुछ अधिकारियों के कार्यों में फेरबदल किया है। उन्होंने पूर्व जारी आदेश में आंशिक संशोधन करते हुए अशोक द्विवेदी उपायुक्त नगर पालिक निगम को उनके वर्तमान कार्यों के साथ-साथ प्रभारी अधिकारी राजस्व/संपदा विभाग एवं भवन अनुज्ञा शाखा का दायित्व निर्वहन हेतु आदेशित किया है। जोन 1, 2, 3 एवं जलकार्य की विकास एवं निर्माण कार्य संबंधी कार्यों की नस्तियां अब इनके माध्यम से प्रस्तुत नहीं होंंगी बल्कि तरुण पाल लहरे के माध्यम से प्रस्तुत होंगी। 

जल कार्य की नस्तियां तरुण पाल लहरे उपायुक्त, नगर पालिक निगम को प्रभारी अधिकारी संपदा/राजस्व/भवन अनुज्ञा शाखा के दायित्वों से मुक्त कर दिया गया है। जोन 1, 2, 3 एवं जलकार्य की विकास एवं निर्माण कार्य संबंधी नस्तियों को तरुण पाल लहरे उपायुक्त के माध्यम से प्रस्तुत करने हेतु आयुक्त ने आदेशित किया है। निगमायुक्त श्री रघुवंशी ने हिमांशु देशमुख, सहायक अभियंता निगम भिलाई को भवन निर्माण अधिकारी का दायित्व निर्वहन किये जाने हेतु आदेशित किया है इस आदेश के साथ ही सहायक अभियंता सुनील जैन को भवन निर्माण अधिकारी के दायित्व से मुक्त कर दिया गया है। विदित है कि उपायुक्त अशोक द्विवेदी के द्वारा जनगणना महत्वपूर्ण कार्य मे संलग्न होने के दौरान राजस्व एवं संपदा विभाग का प्रभार तरुण पाल लहरे को दिया गया था।
 


28-May-2020 7:10 PM

भिलाई नगर,  28 मई। मुख्यमंत्री कोविड रिलीफ फ़ंड में दुर्ग पुलिस के अधिकारी एवं कर्मचारियों ने 22,86,836 रुपए जमा किए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक लखन पटले ने बताया कि दुर्ग जिले के सभी 2091 अधिकारी एवं कर्मचारियों के द्वारा स्वेच्छा से अपने मासिक वेतन में से एक दिन का वेतन दान किया गया। जिससे इस वैश्विक महामारी से इस संकट काल में निपटने के लिए सहयोग मिल सके। 

 


28-May-2020 7:10 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 28 मई।
प्रवासी मजदूरों व अन्य लोगों को लेकर बुधवार को सतारा से बिलासपुर श्रमिक स्पेशल ट्रेन दुर्ग पहुंची। इस ट्रेन से कुल 23 श्रमिक व अन्य लोग पहुंचे। सभी लोगों का थर्मल स्क्रीनिंग किया गया। जांच में कोई भी व्यक्ति संक्रमित नहीं पाया गया है। 

बुधवार को सतारा-बिलासपुर श्रमिक स्पेशल ट्रेन क्रमांक 01936 से दुर्ग संभाग के कुल 23 लोग दुर्ग स्टेशन पर उतरे। ट्रेन लगभग साढ़े तीन घंटे देरी से पहुंची। इस गाड़ी से दुर्ग जिले के 5 श्रमिक व 2 अन्य, बालोद के 6 श्रमिक व 2 अन्य, राजनांदगांव के 5 श्रमिक व तीन अन्य लोग पहुंचे। ट्रेन से उतरते ही लोगों को एक-एक मीटर की दूरी पर खड़ेकर गेट पर स्वास्थ्य विभाग की दो टीम द्वारा थर्मल स्क्रीनिंग की गई। इसके बाद हाथ सैनिटाइज कर उन्हें भोजन का पैकेट देकर उनको ले जाने के लिए तैयार खड़ी बसों में बैठाया गया। 
इस दौरान जिला प्रशासन के अधिकारी, स्वास्थ्य विभाग के डॉ. अनिल शुक्ला, डॉ. सुगम सावंत, आरपीएफ थाना प्रभारी पुरूषोत्तम तिवारी, जीआरपी थाना प्रभारी हरीश शर्मा सहित आरपीएफ व जीआरपी के जवान मौजूद रहे। श्रमिक ट्रेनों के देरी से चलने का सिलसिला लगातार जारी है। भरी गर्मी एवं नौतपा में ट्रेनों के घंटों देरी से चलने के कारण यात्रियों को परेशान होना पड़ रहा है। 

ट्रेन से आए रामचरण साहू, मदन वर्मा, लोमेश्वर साहू आदि ने बताया कि रास्ते में पानी के लिए परेशान होना पड़ा तथा उमस से और परेशान होना पड़ा था। खासतौर पर छोटे बच्चे ज्यादा परेशान हुए हैं। 
 

 


28-May-2020 7:09 PM

भिलाई नगर, 28 मई। टिड्डी दल के जिले में प्रवेश की आशंका को दृष्टिगत रखते हुए जिला स्तर पर टिड्डी दल की निगरानी एवं नियंत्रण उपाय के क्रियान्वयन हेतु जिला स्तरीय दल का गठन कर दिया गया है। यह दल नोडल अधिकारी के मार्गदर्शन में अन्य विभाग से समन्वय स्थापित कर कार्य करेगा। 

नियंत्रण कक्ष की कार्य अवधि कार्यालयीन समय प्रात: 10:30 से शाम 5:30 बजे तक होगी। समस्त वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारियों को अपने विकासखण्ड के मैदानी अधिकारियों के सतत संपर्क में रहने एवं टिड्डी दल की जानकारी प्रतिदिन ई-मेल, दूरभाष या डाक के माध्यम से नियंत्रण कक्ष को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए हैं। दल में एसके कोर्राम सहायक संचालक कृषि, मोनं 73893-68625, सहायक नोडल अधिकारी श्रीमति सुचित्रा दरबारी, सहायक संचालक कृषि मोनं 98932-64469, उप प्रभारी डीके द्विवेदी, सहायक सांख्यिकीय अधिकारी मोनं 79993-65671, वैज्ञानिक सलाहकार ईश्वरी प्रसाद साहू वैज्ञानिक, केव्हीके पाहंदा, मोनं 99938-16173, वैज्ञानिक सलाहकार डॉ. एसके थापक वरिष्ठ वैज्ञानिक केव्हीके अंजोरा, मोनं 94242-57393, वैज्ञानिक सलाहकार डोमन साहू, वाहन चालक मोनं 97522-40318, वैज्ञानिक सलाहकार मुकेश साहू भृत्य, मोनं 90099-49735 की ड्यूटी नियंत्रण कक्ष में लगाई गई है। 
 


28-May-2020 7:08 PM

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भिलाई नगर, 28 मई।
दुकानों को खोलने और बंद करने का समय निर्धारित है ,बावजूद इसके कई दुकानदारों ने अतिरिक्त आय की कमाई के लिए के समय सीमा के बाद भी दुकानों को खुला रख कारोबार किया। जिस पर कल निगम टीम ने कार्रवाई की।

 सेक्टर क्षेत्र के कई इलाकों में तय समय के बाद भी दुकान एवं होटल खोलने की शिकायत प्राप्त हुई थी। राजस्व विभाग की टीम ने बीती रात को नियमों का उल्लंघन करने वाले 5 व्यापारियों से 10 हजार 300 रुपए अर्थदंड वसूला। निर्धारित समय के बाद भी दुकान खोलने वाले जोन 5 के शांता नर्सरी ई मार्केट सेक्टर-6 से 1000 अर्थदंड लिया गया, होटल संचालक रोहित शर्मा सिविक सेन्टर से 1000 रूपए, होटल संचालक शेक उक्स सिविक सेन्टर से 2000 रूपए, पान दुकान संचालक रामचंद्र सिविक सेन्टर से 300 रूपए, अग्रवाल रेस्टोरेंट न्यू सिविक सेन्टर से 1000 रूपए, रूबी जनरल स्टोर्स सेक्टर 5 से 5000 रूपए अर्थदंड वसूला गया। ये सभी दुकानदार प्रतिबंधित समय के बाद दुकान खोलकर व्यापार कर रहे थे। शाम 6 बजे के बाद निगम की टीम ने सेक्टर 6 ए मार्केट, ई मार्केट, सिविक सेंटर, सेक्टर 10 जोनल मार्केट, सेक्टर 5 मार्केट आदि क्षेत्रों में प्रतिबंधित समय के बाद दुकान खोलने वालों का निरीक्षण किया। इस दौरान कार्यपालन अभियंता सुनील जैन, सहा. अभियंता हिमांशु देशमुख, मलखान सिंह सोरी, शशांक सिंह सहित राजस्व विभाग की टीम मौजूद थे।

बिना मास्क पहने घर से बाहर निकलने वालों पर भी कार्रवाई हुई। पिछले दो दिन की कार्रवाई में बिना मास्क पहने बाहर निकलने वाले 3300 रुपए अर्थदंड की कार्रवाई की गई। निगम भिलाई क्षेत्र में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु घर के बाहर निकलने पर मास्क पहनना अनिवार्य है, परंतु कई लोग बिना मास्क पहने घर से बाहर निकल रहे हैं जिन पर अर्थदंड की कार्रवाई की जा रही है। दो दिनों की कार्रवाई में जोन 1 में नेहरू नगर क्षेत्र में 12 लोगों से 2300, जोन 2 वैशालीनगर में 9 लोगों से 500, जोन 4 शिवाजी नगर क्षेत्र में 5 लोगों से 500 रूपए अर्थदंड की वसूल किए गए हैं। 
 


27-May-2020

इनकम टैक्स रिटर्न में खुलासे के बाद शिकायत, दोनों गिरफ्तार

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

भिलाई नगर, 27 मई। कपड़ा कारोबारी से दोस्तों द्वारा जमीन खरीदी के नाम पर 18 लाख की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। जमीन बिक्री के 5 साल बाद इनकम टैक्स विवरणी में ठगी का खुलासा हुआ। इसके बाद व्यापारी ने दोनों से बाकी रकम की मांग की। सौदे की शेष राशि नहीं देने पर दोनों के खिलाफ 9 साल बाद शिकायत की। छावनी पुलिस ने बीती रात दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

छावनी पुलिस ने बताया कि लल्लन तिवारी कैंप 2 का सर्कुलर मार्केट में कपड़े की दुकान है। उसके दोस्त रणजीत शर्मा हाऊसिंग बोर्ड भिलाई ने वर्ष 1996 में प्लाट खरीदने को कहा तो कुरूद कैलाश नगर स्थित खसरा नम्बर 1599 / 15 व 1599 / 48 कुल रकबा 7800 वर्ग फीट को नीरू भार्गव एस.पी. भार्गव के आम मुख्त्यार रणजीत शर्मा से दिनांक 06 दिसंबर1996 में बयनामा निष्पादित कराकर रजिस्ट्री कराया था। तब से लल्लन उक्त जमीन में काबिज था। पैसे की आवश्यकता है जमीन को बिक्री करना है कहने पर रणजीत शर्मा ने बताया था कि उक्त जमीन का रकबा कम लग रहा है। इनका सीमांकन कराना पड़ेगा, मेरे नाम से आम मुख्त्यार नामा बना दो जिससे जमीन का सीमांकन करवाने एवं बिक्री करने में सुविधा होगा। जिस पर ललित तिवारी ने 9 जून 11 को पंजीयक कार्यालय दुर्ग में रणजीत शर्मा के नाम से आम मुख्त्यार नामा तैयार किया था। रणजीत शर्मा ने कुछ समय बाद प्रवीण कुमार पाण्डेय को मेरे पास लाया और बताया कि जमीन को प्रवीण कुमार पाण्डेय खरीदने के लिये तैयार है कहने पर 4800 वर्गफुट का 33,00,000/- रू. में सौदा तय होने पर दिनांक 15 जुलाई 11 को प्रवीण पाण्डेय से 15,00,000/- रू. प्राप्त कर बिक्री इकरारनामा तैयार किया था। जिससे शेष राशि 18,00,000/- रू. को 2 माह के अंदर देने का इकरारनामा मे लेख किया। प्रवीण पाण्डेय एवं रणजीत शर्मा को 2 माह होने पर शेष रकम 18,00,000/- रू देने एवं जमीन को रजिस्ट्री कराने कहने पर प्रवीण पाण्डेय तथा रणजीत शर्मा ने बताये कि जमीन कम है। जिसका सीमांकन कराने के बाद ही शेष रकम देने के बाद रजिस्ट्री कराने का आश्वासन दिया। समय समय पर लल्लन तिवारी द्वारा रणजीत शर्मा व प्रवीण पाण्डेय को बार बार बचत रकम के संबंध व रजिस्ट्री के संबंध में पूछा गया पर उनके द्वारा बाद में रकम देना व रजिस्ट्री करा लेना बताया गया। सन 2016 में आयकर विभाग में अन्तरण की राशि रू. 62,40,000 रू. आयकर विवरणी में नहीं दिखाई गई।

जानकारी प्रस्तुत करने के संबंध में नोटिस प्राप्त होने पर लल्लन तिवारी ने इनकम टैक्स में जानकारी देकर रणजीत शर्मा एवं प्रवीण पाण्डेय से संपर्क किया। दोनों ने सही जानकारी नहीं देने पर लल्लन तिवारी ने उक्त जमीन के संबंध में रजिस्ट्री कार्यालय से जानकारी ली। तब पता चला कि  कुरूद कैलाश नगर स्थित मेरे कब्जा की जमीन खसरा नं. 1599 / 15 व 1599 / 48 कुल रकबा 7800 वर्गफ़ीट रणजीत शर्मा ने आम मुख्त्यार का फायदा उठाते प्रवीण पाण्डेय के साथ मिलकर 28 अक्टूबर 2013 को यशस्वी पारख के पास रू. 62,40,000/- रू. में बिक्री कर दिये।

जमीन बिक्री के 9 वर्ष बाद भी आरोपियों द्वारा लल्लन तिवारी को सौदे की शेष राशि 18 लाख का भुगतान नहीं किया गया। गत 22 मई को लल्लन तिवारी की शिकायत पर छावनी पुलिस के द्वारा आरोपी रणजीत शर्मा हाउसिंग बोर्ड एवं प्रवीण कुमार पांडे सेक्टर 1 भिलाई के खिलाफ धारा 420, 406 के तहत मामला कायम कर विवेचना में लिया है। थाना प्रभारी विनय सिंह बघेल ने बताया कि इस मामले में दोनों ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।


27-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

दुर्ग/भिलाई नगर, 27 मई। फसलों को नुकसान पहुंचाने वाले टिड्डी दल (लोकस्ट स्वार्म) का प्रकोप राजस्थान होते हुए महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश राज्य तक पहुंच गया है। सीमावर्ती क्षेत्र होने के कारण यह छत्तीसगढ़ और जिले में भी प्रवेश कर सकते हैं।

केन्द्रीय एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन केन्द्र के सहायक निर्देशक ने सीमावर्ती जिले के कृषि अधिकारियों कर्मचारियों एवं किसानों को सचेत रहने कहा है। टिड्डी दल सायं काल 6-9 बजे खेतों में झुंड में रहते हैं, इनकी गति 80-150 किलोमीटर प्रतिदिन होती है। तदनुसार कृषकों, ग्रामीणों कृषि विस्तार अधिकारी के माध्यम से तत्काल जानकारी प्राप्त करके नियंत्रण हेतु कृषि विभाग द्वारा पूर्ण तैयारी कर ली गई है। इसके रोकथाम के लिए जिले के प्राइवेट डीलर्स के यहां प्रभावशील अनुशंसित दवाइयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं। किसान डेजर्ट एरिया के लिए कीटनाशक मैलाथियोन, फेनवलरेट, क्विनालफोस तथा फसलों एवं अन्य वृक्षों के लिए क्लोरोपायरीफोस, डेल्टामेथ्रिन, डिफ्लूबेनजुरान, फिप्रोनिल, लेमडासाइहेलोथ्रिन कीटनाशक का प्रयोग कर सकते हैं। कृषि विभाग के मैदानी अमले टिड्डी दल की उपस्थिति को लेकर लगातार निगरानी कर रहे हैं। रात के समय टिड्डियां जहां भी सेटल होती है उसकी खबर भारत सरकार की लोकस्ट टीम तक पहुंचाई जाती है जिससे सुबह के समय टिड्डियों के उपर दवा का छिडक़ाव किया जा सके।

कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार टिड्डियों को उनके चमकीले पीले रंग और पिछले लंबे पैरों से पहचाना जा सकता है। टिड्डी जब अकेली होती हैं तो उतनी खतरनाक नहीं होती लेकिन झुंड में रहने पर इनका रवैया बेहद आक्रमक हो जाता है। टिड्डी दल करोड़ो की संख्या में होती है और फसलों को एकतरफा सफाया कर देती है। आपको दुर से ऐसा लगेगा, मानो आपकी फसलों के ऊपर किसी ने एक बड़ी-सी चादर बिछा दी है।  हैरत की बात यह है कि टिड्डिया खरीफ, रबी फसल एवं फलदार वृक्षों के फूल, फल, पत्ते, बीज, पेड़ की छाल और अंकुर सब कुछ खा जाती हैं। हर एक टिड्डी अपने वजन के बराबर खाना खाती है। इस तरह से एक टिड्डी दल, 2500 से 3000 लोगों का भोजन चट कर जाती हैं। इन टिड्डियों का जीवन काल लगभग 40 से 85 दिनों का होता है।

वैज्ञानिकों के अनुसार किसान टिड्डी दल से बचने के लिए कई उपाय अपना सकते हैं।फसल के आलावा टिड्डी किट जहाँ इक्कठा हो वह उसे फ्लेमथ्रोअर (आग के गोले) से जला दें, टिड्डी दल आकाश में 500 फुट पर उड़ान भरता है, कुछ टिड्डी नीचे भी उतरती है उसी समय भगाने के लिए थालियां, ढोल, नगाड़े, लाउड स्पीकर या दूसरी चीजों के माध्यम से शोरगुल मचाएं जिससे फसलों को बचाया जा सकता है।

इसे आगे बढऩे से रोकने के लिए लिए 5 प्रतिशत मेलाथियान या 1.5 प्रतिशत क्वीनालफॉक्स घोलकर छिडक़ाव करें, 40 मिली लीटर नीम के तेल को कपड़े धोने के पाउडर के साथ या 20-40 मिली नीम से तैयार कीटनाशक को 10 लीटर पानी में घोलकर छिडक़ाव करने से टिड्डे फसलों को नहीं खा पाते। फसल कट जाने के बाद खेत की गहरी जुताई करेंं, इससे इनके अंडे नष्ट हो जाते हैं।

सबसे बड़ी चिंता का विषय यह है कि जब तक कृषि विभाग का टिड्डी उन्मूलन विभाग, टिड्डी दल प्रभावित स्थल पर पहुंचता है, तब तक ये अपना ठिकाना बदल चुका होता है। ऐसे में किसान सावधान रहें कि टिड्डी दल से संबंधित पर्याप्त जानकारी और उससे संबंधित रोकथाम के उपायों को मात्र अमल में लाना ही एकमात्र विकल्प है।


27-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 27 मई।
नाबालिग को शादी का प्रलोभन देकर भगा ले जाने वाले आरोपी को रानीतराई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी युवक मजदूरी कर जीवनयापन करता है। पुलिस ने आरोपी युवराज ठाकुर को न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। 

पुलिस के मुताबिक आरोपी युवराज ठाकुर (21) निवासी ग्राम बेलौदी थाना रानीतराई ने एक अन्य गांव में नाली निर्माण में मजदूरी कार्य के दौरान नाबालिग को प्रेमजाल में फांस लिया था। शादी का प्रलोभन देकर आरोपी ने नाबालिग को अपने एक रिश्तेदार ग्राम चंदखुरी में ले जाकर रखा था।  प्रार्थी ने 22 मई को थाना रानीतराई में रिपोर्ट दर्ज कराया था कि उसकी नाबालिग बेटी 19-20 मई की दरमियानी रात से गायब है। कोई व्यक्ति उसे बहला फुसला कर ले गया है। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 48 घंटे के भीतर 14 वर्षीय नाबालिग बच्ची को सकुशल बरामद कर लिया है। आरोपी की तलाश के लिए पुलिस टीम बनाई गई थी। टीम को जानकारी मिली कि ग्राम बेलौदी निवासी युवराज ठाकुर घटना तारीख के बाद से काम पर नहीं आ रहा है। इस पर आरोपी के रिश्तेदारों का पता कर जांच प्रारंभ की गई थी। आरोपी द्वारा संचालित मोबाइल नम्बर के लोकेशन को भी ट्रेस किया गया था। प्रार्थी की शिकायत के बाद पुलिस आरोपी के खिलाफ धारा 363, 366, 376 एवं पॉक्सो एक्ट की धारा 6 के तहत कार्रवाई की है।

 


27-May-2020

पीएस-सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन
‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 27 मई।
छत्तीसगढ़ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता संघ मंगलवार को कलेक्टोरेट पहुंचकर प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए पर्याप्त सुरक्षा साधन मुहैया कराने एवं आर्थिक सहयोग की मांग की है।

संघ के जिला अध्यक्ष कामिनी चंद्राकर ने कहा कि देश तथा प्रदेश में कोरोना वायरस बढ़ा है, तब से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं की ड्यूटी संक्रमण से ग्रसित और अन्य राज्यों से आने जाने वालों की जानकारी के लिए लगाई गई है। इसी तरह कोरोना नियंत्रण और बचाव की जानकारी भी कार्यकर्ताओं द्वारा नियमित रूप से दी जा रही है। घर-घर जाकर गर्भवती शिशुवती माताओं और बच्चों को पोषण आहार का वितरण के साथ अनौपचारिक शिक्षा शासन के दिशा निर्देशानुसार सतत दी जा रही है, जिसकी प्रशंसा वल्र्ड बैंक और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री द्वारा किया जा चुका है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से सभी कार्य सुरक्षा संसाधनों के जो कोरोना बचाओ के लिए जरूरी है, जिसके अभाव में प्रतिदिन लगभग 50-100 व्यक्तियों से सम्पर्क किया जा रहा है। वर्तमान में गांव-गांव में क्वारेंटाइन सेंटर बनाया जा रहा है, जिसमें वहां भी उक्त कार्यों के अलावा क्वॉरंटीन सेंटर में ड्यूटी लगाई जा रही है। सर्विलेंस का कार्य भी लगातार लिया जा रहा है। 

ऐसी स्थिति में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं पर भी गंभीर संक्रमण का खतरा संभावित है। उन्होंने मांग की कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं-सहायिकाओं का भी 50 लाख बीमा योजना कर लाभ दिया जाए जैसे अन्य शासकीय एवं अद्र्धशासकीय कर्मचारियों को शासन द्वारा दिया जा रहा है। साथ ही अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि प्रदान किया जाए। इसके अलावा सुरक्षा संसाधन पीपीई किट उपलब्ध कराई जाए एवं सेवानिवृत्त होने वाले कार्यकर्ता-सहायिकाओं को संघ द्वारा पूर्व में सुझाव के अनुसार एकमुश्त राशि प्रतिमाह पेंशन निर्धारित किया जाए।
 


27-May-2020

शिव मानवाधिकार प्रदेशाध्यक्ष, तरुण कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भिलाई नगर, 27 मई।
हिन्द सेना समाजसेवी संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मंगेश वैद्य साहू ने मुख्य संस्थापक सदस्य राजेश मिश्रा को युवा ब्रिगेड राष्ट्रीय महामंत्री एवं प्रभारी मध्यप्रदेश और राजस्थान, आदिवासी समाज के नेता विष्णु देव सिंह को आदिवासी सेना का प्रदेश अध्यक्ष, अधिवक्ता शिवकुमार बघेल को मानवाधिकार सेल का प्रदेश अध्यक्ष, तरुण नाथ योगी को कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष, पूर्व पार्षद लक्ष्मी चौहान को प्रदेश प्रतिनिधि, रूपेंद्र कोर्राम एवं इंद्रेश घनघोरकर को प्रदेश महामंत्री, जगन्नाथ राव, उमेश देवांगन, इंद्रजीत यादव को दुर्ग जिला महामंत्री पद पर नियुक्त किया है। 

श्री वैद्य ने पदाधिकारियों को देशहित में समाजसेवा के क्षेत्र में अग्रसर रहने के निर्देश दिए। पदाधिकारियों ने नियुक्ति के लिए अध्यक्ष मंगेश वैद्य साहू, राष्ट्रीय संयोजक अधिवक्ता उच्च न्यायालय ज्ञान प्रकाश दांडेकर, राष्ट्रीय संयोजक पूर्व न्यायाधीश रविशंकर साय का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि हिन्द सेना सामाजिक क्रांति की मशाल से मानव एकता की मिसाल कायम कर देश के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचने कटिबद्ध है। 

नवनियुक्त पदाधिकारियों को राष्ट्रीय पदाधिकारी लक्ष्मण सिंह, योगेश वैद्य, गुरदीप सिंह भाटिया, प्रीतम सिंह, मनीष सेन, भास्कर येवले, डॉ.एसके साहू, डॉ. सुनील जैन, डॉ.राहुल पांडेय, संतोष महानंद, दिनेश राय, ए खान, उषा विश्वकर्मा, प्रदेशाध्यक्ष अधिवक्ता नितिन ठक्कर, कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष तरुण योगी, अधिवक्ता रूबी नाज़ खान, महिला ब्रिगेड प्रदेशाध्यक्ष अधिवक्ता आयशा कुरैशी, युवा ब्रिगेड प्रदेशाध्यक्ष वीर बहादुर थापा, कार्यकारी  प्रदेशाध्यक्ष हर्ष रामटेके, छात्र ब्रिगेड प्रदेशाध्यक्ष दक्ष वैद्य साहू, प्रदेश उपाध्यक्ष गोविन्द  यादव, महेश वर्मा, लक्ष्मीनारायण जैन, प्रदेश महामंत्री जसप्रीत कौर,  सहित हिन्द सेना के कार्यकर्ताओ ने बधाई दी है।
 


27-May-2020

दुर्ग, नांदगांव, कवर्धा, बेमेतरा, बालोद के मजदूर पहुंचे
क्वॉरंटीन सेंटरों में बस से पहुंचाया 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 27 मई।
प्रवासी मजदूरों को लेकर प्रतिदिन श्रमिक स्पेशल ट्रेनें दुर्ग पहुंच रही हंै। कुछ ही ट्रेनों को छोडक़र ज्यादातर ट्रेनें घंटों देरी से चल रही हैं। मंगलवार को त्रिवेन्द्रम से बिलासपुर जाने वाली तथा दरभंगा से दुर्ग आने वाली ट्रेनें स्टेशन पर पहुंची। इन दोनों स्पेशल ट्रेन से कुल 153 श्रमिक व अन्य लोग दुर्ग पहुंचे। ये सभी लोग दुर्ग सहित अन्य जिलों के ग्रामवासी होने के कारण गृहग्राम में बनाए गए क्वॉरंटीन सेंटरों में बस द्वारा पहुंचाया गया। सुबह से ही जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग की टीम, आरपीएफ  व जीआरपी के जवान स्टेशन पर मौजूद थे।

प्रवासी श्रमिकों को दूसरे प्रदेश से लेकर छत्तीसगढ़ में लाने का कार्य तेजी  से हो रहा है। स्पेशल ट्रेनों में फंसे श्रमिकों व अन्य लोगों की वापसी हो रही है। मंगलवार को सुबह 4.50 बजे त्रिवेन्द्रम से बिलासपुर जाने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेन दुर्ग पहुंची। इस ट्रेन से उतरने वाले लोगों को डिस्टेंसिंग रखकर एवं हाथ साफ  करवाकर उनकी स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुख्य गेट पर प्रभारी डॉ. अनिल शुक्ला के नेतृत्व में तैनात टीम द्वारा थर्मल स्क्रीनिंग की गई।

इस ट्रेन से कुल 83 लोग पहुंचे। इसमें दुर्ग जिले के 2 श्रमिक व 15 अन्य लोग, बालोद के 5 श्रमिक व 3 अन्य, कवर्धा जिले के 5 श्रमिक, राजनांदगांव के 50 श्रमिक व 1 अन्य, बेमेतरा के 1 श्रमिक व 1 अन्य लोग आए थे। इसी तरह ट्रेन क्रमांक 05514 दरभंगा से दुर्ग आने वाली श्रमिक दुर्ग सुबह 7.10 बजे स्टेशन पर पहुंची. इसमें दुर्ग जिले के 22 श्रमिक, 19 अन्य लोग, बालोद के 10 श्रमिक 4 अन्य, कवर्धा जिला के 3 श्रमिक 3 अन्य, राजनांदगांव के 7 श्रमिक व 2 अन्य लोग पहुंचे। 

डॉ. अनिल शुक्ला ने बताया कि ट्रेन से आए सभी लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है और कोई भी संभावित मरीज नहीं मिला है। सभी लोगों के लिए जिला प्रशासन द्वारा बसों एवं भोजन की व्यवस्था की गई थी। जांच के बाद बस द्वारा उनके गृहग्राम में बने क्वॉरंटीन  सेंटरों में भेज दिया गया है।
 


27-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
भिलाई नगर, 27 मई।
नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्र अंतर्गत स्व सहायता समूह की महिलाएं जरूरतमंदों की मदद के लिए हर कार्य में बढ़-चढक़र हिस्सा ले रही हैं और प्रवासी मजदूरों तक खाना व सूखा नाश्ता पहुंचाने का कार्य कर रही है। 

निगम के सहायक परियोजना अधिकारी फणींद्र बोस ने बताया कि ओम साईं राम एरिया लेवल फेडरेशन खुर्सीपार की महिलाएं आपस में पैसा एकत्रित कर उन पैसों से खाद्य सामग्री खरीद कर मजदूरों के लिए भोजन/सूखा नाश्ता तैयार कर रही हैं और स्वयं पहुंचकर ऐसे लोगों को भोजन व नाश्ता का पैकेट वितरण कर रही हैं। इस कार्य में ओम साईं राम की महिला सदस्य जानकी, सत्यवती, गौरी, कलावती, यशोदा, सरोजिनी, मंजू, सावित्री एवं पार्वती अपनी जिम्मेदारी निभा रही हैं। 

समूह की महिलाओं ने बताया कि लगातार तीन-चार दिनों से प्रवासी मजदूरों को भोजन पैकेट वितरण करने का वो कार्य कर रही हैं। इस संगठन में खुर्सीपार की 15 महिलाएं सम्मिलित हैं, इनमें 2 हजार महिला सदस्य हैं, जिनके द्वारा आपस में पैसा एकत्रित कर भोजन व नाश्ता तैयार किया जाता है। संगठन की ललिता सिंह ने प्रवासी मजदूरों को नेहरू नगर क्षेत्र में आज फल वितरित किया। 

गौरतलब है कि आश्रय स्थल एवं राहत शिविर में ठहरे हुए लोगों के लिए भी स्व सहायता समूह की महिलाओं ने नाश्ता सहित दो समय के लिए भोजन की बेहतर व्यवस्था महापौर एवं निगम आयुक्त के मार्गदर्शन में की थी तथा कुछ महिलाओं ने अपने घर में रहकर मास्क बनाने का भी कार्य किया है। निगम की स्व सहायता समूह की महिलाएं लॉक डाउन में भी जरूरतमंद लोगों की मदद करने पर बढ़-चढक़र हिस्सा ले रही हैं।
 


27-May-2020

रोजगार सहायकों का नहीं हुआ बीमा, नाराजगी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 27 मई।
कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच रोजगार सहायकों ने पहले आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं के साथ घर-घर जाकर सर्वे किया। अब रोजगार सहायक मनरेगा के कार्यों का जमीनी स्तर पर बखूबी संचालन कर रहे हैं, जहां उन्हें मजदूरों के संपर्क में आना पड़ता है। इसके बावजूद भी इन रोजगार सहायकों का बीमा नहीं किया गया है और न ही उनके मानदेय में कोई वृद्धि की गई है। इसे लेकर रोजगार सहायकों में नाराजगी है। उन्होंने बीमा किए जाने की मांग की है।

रोजगार सहायक संघ के प्रांत अध्यक्ष संतोष सोनवानी का कहना है कि मनरेगा योजना लगभग विगत 10-12 साल से चल रही हैं। वर्तमान में अधिकांश काम बंद है, ऐसे समय में लाखों मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराता मनरेगा सभी वर्गों के लिए वरदान साबित हुआ। कोविड-19 (कोरोना) महामारी अभी पूरे विश्व में फैली हुई है। इसके बीच आज रोजगार सहायक पूरी जिम्मेदारी से शासन की इस महत्वकांक्षी योजना का संचालन कर रहे हैं और भविष्य में भी करते रहेंगे, मगर आज विषम परिस्थितियों में भी रोजगार सहायकों की तरफ  शासन ध्यान नहीं दे रही है, न ही उनकी पीड़ा को समझ रहे हैं।  उन्होंने कहा कि ऐसे में हम सब कहां और किसके पास अपनी समस्या को रखें। आज रोजगार सहायक सुरक्षित नहीं है। आये दिन हजारों मजदूरों के सम्पर्क में आने के बाद भी अभी तक उनका न तो बीमा हुआ है और न ही मानदेय की राशि बढ़ाई गई है।  श्री सोनवानी ने बताया कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और मितानिनों के साथ मिलकर हमारे सभी रोजगार सहायक साथियों ने घर-घर जाकर सर्वे कार्य किया था। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और मितानिनों का बीमा हो गया है, सिर्फ  रोजगार सहायकों का बीमा नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि शासन के सभी योजनाओं को संचालित करने व मजदूरों को रोजगार प्रदान कर अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे रोजगार सहायकों की जिन्दगी आज दांव पर लगी हुई है, परन्तु अपनी जान की भी परवाह न करते हुए शासन के हर आदेशों का वे पालन कर रहे हैं।

 


27-May-2020

चार साथियों का लिया सैंपल, सभी क्वॉरंटीन
मुंबई से पश्चिम बंगाल जा रहा था

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 27 मई।
मृत प्रवासी मजदूर की कल देर रात प्राप्त कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है। रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही स्वास्थ्य अमला हरकत में आया, उसके चार अन्य साथियों का भी सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। चारों साथियों को क्वॉरंटीन भी कर दिया गया है।

गौरतलब हो कि ट्रक में लिफ्ट लेकर प्रवासी मजदूर मुंबई से पश्चिम बंगाल जा रहा था। गत 25 मई की शाम को दुर्ग जिले से गुजरते हुए कुम्हारी टोल प्लाजा के पास ट्रक में ही उसकी तबीयत खराब हो गई थी जिसे शासकीय अस्पताल  लाल बहादुर शास्त्री सुपेला लाया गया था, जहां उसकी मौत हो गई थी। दुर्ग में उनका कोरोना सैंपल लिया गया था। कल देर रात प्राप्त रिपोर्ट में पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया। 

जिला स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर ने बताया कि मजदूर के चार अन्य साथियों का भी कोरोना वायरस टेस्ट के लिए सैंपल लिया गया और चारों को ही क्वॉरंटीन में रख दिया गया है। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग की ओर से अन्य संपर्क में आने वाले कर्मचारियों का भी कोरोना टेस्ट किया जाएगा।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रोहित झा ने बताया कि पुलिस विभाग की ओर से कोई भी कर्मचारी द्वारा मृत मजदूर के साथ किसी भी प्रकार का संपर्क नहीं बना था, इसलिए पुलिस कर्मचारियों का टेस्ट नहीं कराया जा रहा है। मृत मजदूर का अंतिम संस्कार आज किया जाएगा।
 


27-May-2020

दुर्ग, 27 मई। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण दुर्ग द्वारा जिला न्यायालय परिसर में प्रवेश द्वार पर ऑटोमेटिक सेनिटाइजर टर्नल मशीन लगाई गई। इसका उद्घाटन जिला एवं सत्र न्यायाधीश गोविंद कुमार मिश्रा द्वारा किया गया। आटोमेटिक सेनिटाइजर मशीन को मुख्य गेट पर लगाया गया है। जिससे गुजरने वाले न्यायाधीशगण, अधिवक्तागण, कर्मचारी एवं पक्षकारों के सारे अंग पर सेनिटाइजर का छिडक़ाव हो सके। न्यायालय में प्रवेश से पहले ही मशीन से वह व्यक्ति सैनिटाइज हो जाएगा। इस मशीन के उद्घाटन अवसर पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, समस्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश दुर्ग, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण राहुल शर्मा, पैरा मेडिकल वालेंटियर्स, जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष गुलाब सिंह पटेल आदि मौजूद थे।
 


27-May-2020

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
दुर्ग, 27 मई।
महापौर धीरज बकलीवाल द्वारा आज जलगृह विभाग और अमृत मिशन योजना की बैठक लेकर मिशन के सभी कार्यो ंको जल्द पूरा करने कड़े निर्देश दिये। उन्होंने अमृत मिशन के कार्यो में हो रहे विलंब के लिए नाराजगी व्यक्त कर कहा लेबर की कमी और सामान की आपूर्ति एडवांस में रखें । यदि कोई समस्या हो तो मुझे सीधे बतायें। आपकी लापरवाही का खामियाजा आम जनता नहीं भुगतेगी। बैठक में निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन, संजय कोहले, सुशील बाबर कार्यपालन अभियंता, उपअभिंयंता भीमराव, जलकार्य निरीक्षक नारायण ठाकुर, एवं अमृत मिशन के मनोज सिंग, एवं कपिश व अन्य उपस्थित थे।  

शहर में अमृत मिशन योजना के अंतर्गत पाइप लाइन विस्तार एवं कनेक्शन जोडऩे का कार्य निरंतर किया जा रहा है। परन्तु कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए जारी लॉकडाउन के कारण लेबर नहीं आ पा रहे हैं, जिससे कार्य की प्रगति धीमी हो गई है। इससे आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में महापौर श्री बाकलीवाल ने विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर अमृत मिशन के कार्यो की जानकारी ली। उन्होनें खोदे गये गड्डों को जल्द से जल्द समतलीकरण करने तथा लीकेज आदि के कार्य को तत्काल करने निर्देश दिये। उन्होनें जलगृह विभाग और मिशन के अधिकारियों से कार्यो की समस्या की जानकारी ली। विभाग और मिशन के अध्किारियों ने महापौर को बताया कि कोरोना काल के कारण लेबर क्वारेंटाइन में रुके हुये हैं । उन्हें आने की इजाजत नहीं मिल रहा है कार्य को जल्द पूरा करने 100 अधिक लेबर की आवश्यकता है, ताकि कार्य प्रभावित ना हो। उन्होनें बताये अमृत मिशन कार्य के साथ ही पुराना पाइप लाईन लीकेज के कार्य का सामान ना होने से कार्य करने में विलंब हो रहा है। महापौर ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कार्य ना रुके आने वाले समय में बारिश चालू हो जाएगा काम करने में काफी परेशानी होगी। अत: मिशन का कार्य करने लेबर की आपूर्ति जल्द किया जावे और वे सामान की भी व्यवस्था बना कर रखें। उन्होनें कहा सबसे पहले जहॉ खुदाई की गई है वहॉ पानी डालकर जल्द समतलीकरण करें। इंदिरा मार्केट,हटरी बाजार आदि क्षेत्रों में पाइप लाइन डालकर खुदाई कर छोड़ दिया गया है जिससे आम जनता काफी परेशान है। उन्होनें कहा लेबरों की व्यवस्था जल्द कर पहले बाजार क्षेत्र के गड्डों को भर कर कार्य पूरा करें । उन्होनें कहा अमृत मिशन के कार्यो को पूरा करने जलगृह विभाग और मिशन के अधिकारी आपस में सामान्यजस्य बनाकर रखें । उन्होनें कहा कनेक्शन टूटने पर और लीकेज होने पर तत्काल उसका मरम्मत अवश्य किया जावें। उन्होने कहा जिस वार्ड में कार्य किया जाता है वहॉ के पार्षद और आम नागरिकों से संपर्क बनाकर रखें। 


27-May-2020

ज्ञापन सौंप लगाई गुहार, प्रदर्शन की चेतावनी 

छत्तीसगढ़ संवाददाता
भिलाई नगर, 27 मई।
रसमड़ा स्थित टॉप वर्थ कम्पनी के मुख्य द्वार पर कल शाम सैकड़ों मजदूरों ने जमकर हंगामा किया। इनका आरोप है कि कम्पनी प्रबंधन ने मार्च में लॉकडाउन के समय प्लांट बंद किया और फरवरी से किसी श्रमिक को वेतन भुगतान नहीं किया। कटौती के बावजूद इनके पीएफ के रूपये जमा नहीं किए गए हैं। अब तक प्लांट बंद रखने और पुराना भुगतान न दिए जाने की वजह से श्रमिकों को भारी आर्थिक दिक्कतों से जूझना पड़ रहा है। आज सुबह श्रमिकों के एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री, गृह मंत्री तथा कलेक्टर को ज्ञापन सौंप जल्द उन्हें राहत दिलाने की गुहार लगाते हुए 1 जून को पुन: प्रदर्शन की चेतावनी दी है। मजदूरों का आरोप है कि बकाया वेतन का लगभग डेढ़ करोड़ रूपये मैनेजमेंट नहीं दे रहा और न ही प्लांट शुरू किया जा रहा है।

गौरतलब हो कि पिछले वित्तीय वर्ष में टॉप वर्थ का काफी बकाया होने की वजह से एक बड़े हिस्से को बैंक द्वारा सील कर दिया गया था। इसके बाद प्रबंधन ने कम्पनी कैम्पस में ही स्पार्टक्स नाम से गुपचुप तरीके से काम चालू रखा। तीन महीने पहले अचानक कैम्पस में जब सीजीएसटी का छापा पड़ा तो स्पार्टक्स का पूरा काम पकड़ में आया था। कम्पनी के एकाउंट हेड गुंजन पोद्दार से टीम ने समस्त दस्तावेज जब्त किए और अग्रिम कार्रवाई लंबित है। 

मजदूरों का नेतृत्व कर रहे कमलेश्वर वर्मा, तेजस्वी सिंह, हरीश राव, रामदास बोपचे, रंजीत सिंह, राकेश गुप्ता, अरुण सिंह, मनोज यादव, जीवन वर्मा ने 'छत्तीसगढ़’ को बताया कि टॉप वर्थ स्टील एंड पॉवर प्राइवेट लिमिटेड और स्पार्टक्स कंपनी के नाम पर काम लेकर मैनेजमेंट ने लगभग ढाई हजार कर्मचारियों के साथ छल किया है। काम कराने के बाद फरवरी से आज तक का वेतन उन्हें नहीं मिला है। जनवरी से रकम की कटौती पश्चात भी पीएफ की राशि जमा नहीं की गई। वेतन मांगने पर प्रबंधन सीधे तौर पर कह रहा कि स्पार्टक्स का काम पकड़े जाने से सारी कमाई बैंक को चली जाएगी, ऐसेे मेंं कोई भुगतान वो नहीं करेंगे। कंपनी को जल्द से जल्द चालू कराने और बकाया भुगतान की मांग को लेकर कल दिन भर टापवर्थ के हजारों मजदूरों ने कंपनी के मुख्य द्वार पर जमकर प्रदर्शन किया। 

प्रदर्शनकारी मजदूरों ने बताया कि टॉप वर्थ स्टील एंड पॉवर प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में कार्यरत वे सभी नियमित कर्मचारी हैं, जो लगभग 15 वर्षों से कंपनी में कार्य कर रहे हैं। कंपनी प्रबंधन द्वारा उनसे कार्य करवा लेने के बाद वित्तीय अनियमितता बरतते हुए कभी भी समय पर वेतन का भुगतान नहीं किया गया। वर्तमान परिवेश में भी उनके द्वारा कंपनी में 23 मार्च 2020 तक पूरा कार्य किया गया तथा प्रबंधन द्वारा निर्देशित करने पर अन्य आवश्यक सभी कार्य मजदूरों ने पूरे किए। प्रबंधन ने फरवरी से आज तक का कोई भी वेतन कर्मचारियों को नहीं दिया है। कंपनी को 23 मार्च से बंद रखा गया है तथा शासन द्वारा आदेशित किए जाने पर रसमड़ा के सभी अन्य प्लांट एवं कंपनी में काम चालू किया जा चुका है लेकिन टॉप वर्थ अभी भी कर्मचारियों का न तो बकाया वेतन दे पाई है और न ही पुन: प्लांट में काम चालू करवाया है। 

मजदूरों ने बताया कि 22 मई को 200 से 300 कर्मचारी प्लांट में उपस्थित हुए, वहां उनकी कार्मिक एवं प्रशासनिक अधिकारी कमलेश पवार से चर्चा हुई। श्री पवार ने आईआरपी अधिकारी दुष्यंत दवे एवं प्लांट हेड जय थॉमस व गुंजन पोद्दार से बातचीत कर कंपनी कब चालू करेंगे एवं पूर्व बकाया वेतन कर्मचारियों को कब दिया जाएगा, इस संबंध में जानकारी मांगी तो कंपनी प्रबंधन ने कोई भी संतोषजनक जवाब नहीं दिया, जिससे कर्मचारियों का आक्रोश बढ़ा और वे उग्र आंदोलन की रणनीति बनाने विवश हैं। 

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि कटौती के बावजूद राशि पीएफ ऑफिस रायपुर में जमा नहीं करवाई गई है। कंपनी के कारखाना प्रबंधक जय थॉमस से जानकारी लेने पर उनके द्वारा कर्मचारियों से दुव्र्यवहार किया गया। वर्तमान परिस्थिति में सभी कर्मचारी बेहद आर्थिक परेशानी से जूझ रहे हैं।

श्रमिकों ने आज बकाया भुगतान और काम प्रारंभ कराने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कलेक्टर, लेबर कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा है। प्रदर्शनकारी श्रमिकों ने बताया कि चार दिन में शासन-प्रशासन कोई पहल नहीं करता तो भूखमरी के हालात से जूझ रहे श्रमिक 1 जून को कंपनी के मुख्य द्वार पर हड़ताल करने विवश होंगे।