छत्तीसगढ़ » कोरिया

23-Oct-2020 6:27 PM 27

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर, 23 अक्टूबर।
कोरिया का प्रमुख कोयलांचल नगरी चरचा कॉलरी में जंगल से भटक कर एक भालू शहर की मुख्य सडक़ों पर घूमते हुए सीसीटीव्ही कैमरे में कैद हो गया। जिसके बाद खबर सोशल मीडिया में वायरल हो गयी और लोग सतर्क हो गये। 

जानकारी के अनुसार पास के जंगल क्षेत्र से भटक कर एक भालू चरचा कॉलरी के सुभाष नगर क्षेत्र में सडक़ पर घूमते हुए सीसीटीव्ही कैमरे में कैद किया गया है। इस क्षेत्र से भालू विचरण करते हुए नेपाल गेट की ओर गया इसके बाद बी टाईप कालोनी में पहुंच गया। इसके पश्चावत फिर भालू नेपाल गेट, महाराणा प्रताप कॉलोनी, विवेकानंद कालोनी की ओर गया। इस दौरान सोशल मीडिया में लोगों को सतर्क रहने की खबर वायरल हुई जिसके बाद लोगों में दहशत भर गया। हालांकि रात्रि के समय भालू के विचरण करने से किसी तरह की अप्रिय खबर नहीं मिली है। 

इधर, भालू के चरचा कॉलरी में पहुंचने की खबर वन विभाग को भी दे दी गयी है। चरचा कॉलरी में भालू दो दिनों तक दिखाई दिया। अभी यह स्पष्ट नहीं है कि भालू रात में तो दिखाई देता है लेकिन दिन में वह किसी को दिखाई नहीं दिया। कही झाडिय़ों में तो नहीं छिप जाता है इस तरह की चर्चाएं लोगों के बीच चलती रही। यही कारण है कि शाम ढलने के बाद लोगों में भालू का डर बैठ गया है। 

यह दुर्गोत्सव का समय है और चरचा कॉलरी सहित आस पास के ग्रामीण क्षेत्र के लोग दुर्गोत्सव देखने के लिए चरचा कॉलरी में पहुंचते हैं जिनमें से कई पैदल भी आते हैं। ऐसे में लेागों को रात्रि में सतर्क होकर चलने की जरूरत है अन्यथा कोई घटना घट सकती है।

उल्लेखनीय है कि चरचा कॉलरी सीमा जंगल व पहाड़ से लगा हुआ है जिस कारण इस क्षेत्र से जंगली जानवर पहुंचते रहते हैं। इससे पहले जिले में एकमात्र नगर निगम क्षेत्र चिरमिरी में भी कुछ वर्ष पूर्व भालू शहर में घुस आया था। दिन दहाड़े शहर में भालू आने की खबर से लोगों में भय हो गया था और बाद में वन विभाग द्वारा भालू को सुरक्षित बाहर किया गया। चिरमिरी के कुछ क्षेत्रों में अक्सर भालू दिखाई देने की खबर सामने आती रहती है।  

बंदरों की टोली का रोज आना जाना
अधिकतर चरचा कॉलरी में लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी निकट के जंगल से बंदरों की टोली आने से होती है। प्रतिदिन चरचा कॉलरी में निकट के जंगल पहाड से दर्जनो की संख्या में बंदरों की टोली पहुंचती है जो विभिन्न कॉलोनियो, सडक़ों आदि क्षेत्र में विचरण करती है साथ ही बंदलों की टोली कई बार तो खुले घर के दरवाजे से घर के अंदर भी घुस जाते है। वही बंदरों के प्रतिदिन किसी न किसी क्षेत्र में दशहत बना ही रहता है खासकर बच्चे व महिलाएॅ  बंदरों से ज्यादा आतंकित रहती है। घरों की छतों पर तो प्रतिदिन बंदरों का आना आम बात हो गयी है। हालंाकि जब तक उन्हे किसी प्रकार का छेड छाड न करे तेा हमें नुकसान नही पहुंचाते। वही चरचा कॉलरी के हनुमान मंदिर में हमेशा ही बंदरों की टोली को देखा जा सकता है।

भालू हमले के प्रतिवर्ष दर्जनों मामले
कोरिया जिले में प्रतिवर्ष भालू हमले के दर्जनों मामले सामने आते है जिनमें ज्यादातर मामले ग्रामीण अंचल से आते हैं। जानकारी के अनुसार जिले के लगभग सभी विकासखंडों में भालुओं का आतंक है। बरसात के बाद जब मक्का का सीजन आता है तब भालू जंगलों से निकलकर गांव क्षेत्र में मक्का खाने के लिए पहुंचता है। इसी तरह कटहल के सीजन में भी भालू गांव में पहुंचता है। महुआ के सीजन में भालू हमले की घटनाएं सबसे ज्यादा प्रकाश में आती है इस दौरान ग्रामीण जंगल क्षेत्र में महुआ चुनने के लिए पहुंचते हैं और भालुओं से अचानक सामना हो जाने से हमले का शिकार हो जाता है इसके अलावा चरवाहे जंगल में मवेशी चराने के दौरान सबसे ज्यादा भालू हमले का शिकार होते है। इस तरह प्रतिवर्ष कोरिया जिले में भालू हमले के प्रतिवर्ष दर्जनों मामले सामने आते है। 
 


21-Oct-2020 9:54 PM 16

 

बैकुंठपुर, 21 अक्टूबर। कर्तव्य का निर्वहन करते हुए अपने प्राणों की आहुति देने वाले पुलिस के अमर शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए पुलिस शहीद दिवस कार्यक्रम का आयोजन पुलिस परेड ग्राउंड बैकुंठपुर में किया गया। 

  21 अक्टूबर को कोरिया जिला मुख्यालय स्थित पुलिस ग्राउंड में एसपी चंद्रमोहन सिंह ने देश में पिछले 1 वर्ष में  कुल 264 शहीद हुए अधिकारी कर्मचारियों के नाम का वाचन किया, वहीं परेड कमांडर ने सलामी शस्त्र, शोक शास्त्र व पुन: सलामी शस्त्र की कार्यवाही कराई, तत्पश्चात कार्यक्रम में रीथ चढ़ाने की कार्रवाई शुरू की गई। 

सर्वप्रथम पुलिस अधीक्षक ने शहीद स्मारक पर रीथ चढ़ा कर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद कलेक्टर एस एन राठौर, सेनानी 18वीं वाहिनी सुरजन राम भगत, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरिया डॉ. पंकज शुक्ला, उप पुलिस अधीक्षक धीरेंद्र पटेल, कर्ण कुमार उके, जिला सेनानी नगर सेना शेखर नारायण बोरवड़ कर, अमर शहीदों के परिवार जन शहीद संतोष एक्का की पत्नी रंजीता एक्का, शहीद हसनैन अंसारी के पिता शमशीर अंसारी, शहीद बृजभूषण लाल श्रीवास्तव की पत्नी सरोज श्रीवास्तव, शहीद राजेश पटेल के भांजा एवं भांजी प्रियांशु व पीयूष ने शहीद स्मारक पर रीथ चढ़ा कर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।  

कार्यक्रम में उपस्थित गणमान्य जन विभिन्न थाना क्षेत्रों से आए थाना प्रभारी व उनके स्टाफ यातायात प्रभारी व स्टाफ के साथ रक्षित निरीक्षक व उनकी पूरी टीम के साथ रक्षित केंद्र बैकुंठपुर में निवासरत पुलिस परिवार के नन्हे-मुन्ने बच्चों ने भी शहीद स्मारक पर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। श्रद्धांजलि अर्पित करने के पश्चात कलेक्टर एवं एसपी के द्वारा शहीदों के परिवार जनों को शाल व श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया गया। 

       कार्यक्रम को सफल बनाने में रक्षित निरीक्षक हेमंत टोप्पो, परेड कमांडर पीसी श्री तिवारी जी, आरक्षक पंकज तिवारी का महत्वपूर्ण योगदान रहा । कार्यक्रम का सफल संचालन यातायात सैनिक महेश मिश्रा द्वारा किया गया जिन्होंने शहीदों को समर्पित निशा माथुर की कविता का सुंदर वाचन भी किया।

गौरतलब है कि आज से 61 वर्ष पहले अक्टूबर 1959 में लद्दाख के दुर्गम क्षेत्र में भारतीय पुलिस की एक छोटी टुकड़ी के जवानों ने मातृभूमि की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्योछावर कर दिए थे, तभी से प्रतिवर्ष 21 अक्टूबर को देश के कोने-कोने में दिवंगत सुर वीरों की स्मृति में पुलिस शहीद दिवस परेड का आयोजन किया जाता है।

--

 


21-Oct-2020 9:12 PM 21

बैकुंठपुर, 21 अक्टूबर। कर्तव्य का निर्वहन करते हुए अपने प्राणों की आहुति देने वाले पुलिस के अमर शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए पुलिस शहीद दिवस कार्यक्रम का आयोजन पुलिस परेड ग्राउंड बैकुंठपुर में किया गया। 

  21 अक्टूबर को कोरिया जिला मुख्यालय स्थित पुलिस ग्राउंड में एसपी चंद्रमोहन सिंह ने देश में पिछले 1 वर्ष में  कुल 264 शहीद हुए अधिकारी कर्मचारियों के नाम का वाचन किया, वहीं परेड कमांडर ने सलामी शस्त्र, शोक शास्त्र व पुन: सलामी शस्त्र की कार्यवाही कराई, तत्पश्चात कार्यक्रम में रीथ चढ़ाने की कार्रवाई शुरू की गई। 
सर्वप्रथम पुलिस अधीक्षक ने शहीद स्मारक पर रीथ चढ़ा कर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद कलेक्टर एस एन राठौर, सेनानी 18वीं वाहिनी सुरजन राम भगत, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरिया डॉ. पंकज शुक्ला, उप पुलिस अधीक्षक धीरेंद्र पटेल, कर्ण कुमार उके, जिला सेनानी नगर सेना शेखर नारायण बोरवड़ कर, अमर शहीदों के परिवार जन शहीद संतोष एक्का की पत्नी रंजीता एक्का, शहीद हसनैन अंसारी के पिता शमशीर अंसारी, शहीद बृजभूषण लाल श्रीवास्तव की पत्नी सरोज श्रीवास्तव, शहीद राजेश पटेल के भांजा एवं भांजी प्रियांशु व पीयूष ने शहीद स्मारक पर रीथ चढ़ा कर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की।  

कार्यक्रम में उपस्थित गणमान्य जन विभिन्न थाना क्षेत्रों से आए थाना प्रभारी व उनके स्टाफ यातायात प्रभारी व स्टाफ के साथ रक्षित निरीक्षक व उनकी पूरी टीम के साथ रक्षित केंद्र बैकुंठपुर में निवासरत पुलिस परिवार के नन्हे-मुन्ने बच्चों ने भी शहीद स्मारक पर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। श्रद्धांजलि अर्पित करने के पश्चात कलेक्टर एवं एसपी के द्वारा शहीदों के परिवार जनों को शाल व श्रीफल भेंट कर सम्मानित किया गया। 

       कार्यक्रम को सफल बनाने में रक्षित निरीक्षक हेमंत टोप्पो, परेड कमांडर पीसी श्री तिवारी जी, आरक्षक पंकज तिवारी का महत्वपूर्ण योगदान रहा । कार्यक्रम का सफल संचालन यातायात सैनिक महेश मिश्रा द्वारा किया गया जिन्होंने शहीदों को समर्पित निशा माथुर की कविता का सुंदर वाचन भी किया।
गौरतलब है कि आज से 61 वर्ष पहले अक्टूबर 1959 में लद्दाख के दुर्गम क्षेत्र में भारतीय पुलिस की एक छोटी टुकड़ी के जवानों ने मातृभूमि की रक्षा करते हुए अपने प्राण न्योछावर कर दिए थे, तभी से प्रतिवर्ष 21 अक्टूबर को देश के कोने-कोने में दिवंगत सुर वीरों की स्मृति में पुलिस शहीद दिवस परेड का आयोजन किया जाता है।
 


20-Oct-2020 5:56 PM 23

फुटपाथ पर दुकान लगाने वालों को छाते वितरित 

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 20 अक्टूबर।
लायनेस क्लब मनेंद्रगढ़ समर्पण द्वारा सेवा सप्ताह के अंतर्गत सतत जारी सेवा कार्यों को करते हुए फुटपाथ पर अपनी रोजी-रोटी के लिए कार्य करने वाले चर्मकारों एवं चाय दुकान लगाने वालों, चना-मुर्रा तथा सब्जी बेचने वालों को बड़े छाते वितरित किए गए ताकि धूप और बारिश से उनका बचाव हो सके।

लायनेस क्लब मनेंद्रगढ़ समर्पण की अध्यक्ष पम्मी अरोड़ा ने बताया कि सेवा कार्यों के अगले चरण में हमारे क्लब द्वारा सफाई कर्मचारियों का सम्मान किया जाएगा तथा पर्यावरणीय संरक्षण हेतु ट्री गार्ड लगाकर पौधों को सुरक्षित करने का कार्य भी होगा। वर्तमान विषम परिस्थितियों में भी लायनेस सदस्यों ने कार्यक्रम को सफल बनाने में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। 

इस अवसर पर माइक्रो मेंबर लायनेस बेबी माखीजा, चेयर पर्सन लायनेस कमलेश अरोड़ा, सचिव लायनेस प्रतिभा अग्रवाल, लायनेस ज्योति मजूमदार, लायनेस श्वेता पोद्दार, लायनेस कविता सेठी आदि उपस्थित रहीं।


20-Oct-2020 5:52 PM 26

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 20 अक्टूबर।
मंगलवार को नेशनल फेडरेशन ऑफ इंडियन रेलवे मेन के महामंत्री डॉ. एम. राघवय्या एवं दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मजदूर कांग्रेस के महामंत्री केएस मूर्ती के निर्देशानुसार मांगों को लेकर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे मजदूर कांग्रेस शाखा मनेंद्रगढ़ द्वारा बाइक रैली निकाली गई।

रेल कर्मचारियों ने अपनी प्रमुख मांगों को सामने रखते हुए कहा कि रेल कर्मचारियों के डीए जिसे सरकार ने फ्रीज कर दिया है, उसे तत्काल लागू किया जाए, रात्रिकालीन ड्यूटी को सरकार के द्वारा देने से इंकार कर दिया गया है, उसे भी तत्काल लागू किया जाए। 

वहीं रेल कर्मचारियों को हर साल दुर्गा पूजा तक उत्पादकता से जुड़ा बोनस (प्रोडक्टिविटी लिंक्ड बोनस) का पैसा मिल जाता था, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होने से कर्मचारी नाराज हैं। उक्त बोनस का पैसा भी शीघ्र दिए जाने की मांग की गई। 

मंगलवार को पूरे भारत में समस्त ट्रेड यूनियन एसोसिएशन के संयुक्त आह्वान पर धरना प्रदर्शन एवं रैली का आयोजन किया गया। इसके बाद भी मांगें नहीं मानी गई तो भविष्य में रेल का चक्काजाम भी किया जाएगा।
 


19-Oct-2020 6:48 PM 23

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 19 अक्टूबर।
सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष भरतपुर-सोनहत विधायक गुलाब कमरो ने रविवार को अपने विधानसभा क्षेत्र में विभिन्न विकास कार्यों की आधारशिला रख कर भूमिपूजन कर 9 करोड़ 13 लाख रुपए की सौगात दी है।

भरतपुर-सोनहत विधायक गुलाब कमरो ने 9 करोड़ 13 लाख के विकास कार्यों का भूमिपूजन किया, जिसमें बडक़ाबहरा से केल्हारी मार्ग स्थित खटम्बर नदी में उच्च स्तरीय पुल व पहुंच मार्ग हेतु 4 करोड़ 54 लाख रुपये, ग्राम पंचायत पहाड़हसवाही के सेमरमथानी स्थित बडक़ाघाघी व्यपवर्तन योजना अंतर्गत नहर निर्माण कार्य हेतु 2 करोड़ 63 लाख 70 हजार रुपये, केल्हारी से बिछियाटोला बीटी सतह नवीनीकरण कार्य हेतु 40 लाख 65 हजार रुपये, डुगला से सेमरिया बीटी सतह नवीनीकरण कार्य हेतु 44 लाख 57 हजार रुपये, बिहारपुर से बैरागी बीटी सतह नवीनीकरण कार्य हेतु 1 करोड़ 3 लाख 27 हजार रुपये, ग्राम पंचायत चनवारीडाँड़ में सीसी सडक़ निर्माण कार्य हेतु 5 लाख रुपये, ग्राम पंचायत डुगला में 1 लाख 50 हजार की लागत से बनने वाले यात्री प्रतीक्षालय निर्माण कार्य का भूमिपूजन कर क्षेत्रवासियों को बड़ी सौगात दी है। 

कार्यक्रम में जनपद पंचायत अध्यक्ष डॉ. विनय शंकर सिंह, जनपद उपाध्यक्ष राजेश साहू, जनपद सदस्य लक्ष्मी सिंह, अनिता सिंह, मकसूद आलम, जिला महामंत्री रामनरेश पटेल, सरपंच धर्मजीत सिंह, जुगड़ी बाई, गम्भीर सिंह ,विमल हितकर, संदीप द्विवेदी, उपेंद्र द्विवेदी, शुभकरण सिंह, सुनील राय, आनंद राय, बीरभान सिंह, नगीना साहू, विधायक जिला प्रतिनिधि रंजीत सिंह सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।
 


19-Oct-2020 6:06 PM 9

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 19 अक्टूबर।
अंचल की साहित्यिक सामाजिक एवं पर्यावरणीय कार्यों के लिए चर्चित संस्था संबोधन साहित्य एवं कला विकास संस्थान ने अपना 43वां स्थापना दिवस वैश्विक महामारी कोविड-19 को देखते हुए नियमों का पालन करते हुए अत्यंत सादगी के साथ विजय इंग्लिश मीडियम स्कूल में मनाया। इस अवसर पर आंचलिक काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें अंचल के साहित्यकारों, रचनाकारों एवं बुद्धिजीवियों तथा गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति रही। 

सर्वप्रथम मां सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित करते हुए दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। आयोजन के दौरान ही संस्था द्वारा सुप्रसिद्ध रचनाकार वरिष्ठ साहित्यकार अमर लाल सोनी एवं ख्याति प्राप्त व्यंग्यकार एवं राष्ट्रीय स्तर पर चर्चित कार्टूनिस्ट जगदीश पाठक का शॉल एवं श्रीफल भेंटकर सम्मान किया गया। आयोजित काव्य गोष्ठी में एक से बढक़र एक कविताएं, गजल, गीतों की शानदार प्रस्तुति देखने को मिली। सुप्रसिद्ध गायक कलाकार नरोत्तम शर्मा, सतीश द्विवेदी, वेद पांडेय ने अपने गीतों की प्रस्तुति से मंत्रमुग्ध कर दिया।

वरिष्ठ साहित्यकार वीरेंद्र श्रीवास्तव ने संस्था की  विगत 43 वर्ष की  जारी विकास गाथा का सारगर्भित परिचय दिया तथा विभिन्न उपलब्धियों की जानकारी भी दी। संस्था अध्यक्ष विनोद तिवारी ने अपने उद्बोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ में मात्र दो ही संस्थाएं हैं, जो इतने वर्षों से कार्य करती चली आ रही है. इनमें हमारी संबोधन संस्था भी एक है। संस्था का आज  43वां स्थापना दिवस है यह हमारे लिए अत्यंत गौरव की बात है। 

संस्था सचिव तथा प्रचार प्रसार विभागाध्यक्ष नरेंद्र अरोड़ा ने समस्त साहित्यकारों, रचनाकारों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन संस्था सदस्य अधिवक्ता कल्याण केसरी ने किया। 
 


19-Oct-2020 6:01 PM 14

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 19 अक्टूबर।
एकेडमिक हाइट्स पब्लिक स्कूल तेंदूडांड मनेंद्रगढ़ के छात्रों ने सातवें एएचपीएस मेगा कॉम्पटीशन में पूरे देश में प्रथम स्थान हासिल कर क्षेत्र व नगर का नाम रौशन किया है। गत 29 सितंबर से लेकर 3 अक्टूबर तक चले इस वर्चुअल कंपटीशन में एकेडमिक हाइट्स मनेंद्रगढ़ के छात्रों ने हिस्सा लिया व राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली इस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान भी अर्जित किया है।

प्रतिवर्ष यह प्रतियोगिता देश की राजधानी दिल्ली में आयोजित की जाती थी, लेकिन इस वर्ष कोविड-19 महामारी के कारण यह प्रतियोगिता वर्चुअल मोड पर आयोजित की गई। कल 18 अक्टूबर को वर्चुअल मोड पर इस प्रतियोगिता के परिणाम घोषित किए गए। प्रतियोगिता में एकेडमिक हाइट्स मनेंद्रगढ़ के 59 छात्रों ने भाग लिया जिसमें से 29 छात्रों ने फाइनल में अपनी जगह बनाई व ऑनलाइन मोड पर अपनी कला का प्रदर्शन किया जिसमें से 13 छात्रों ने जीत हासिल की। 

भाषण प्रतियोगिता हिंदी मिडिल कैटेगरी में कक्षा 6वीं की केया मुखर्जी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार दोहा गायन प्रतियोगिता मिडिल कैटेगरी में सुहानी अग्रवाल 6वीं प्रथम, वाद विवाद प्रतियोगिता सेकेंडरी कैटेगरी में कक्षा 10वीं की एंजेल शुक्ला प्रथम और अर्पिता पाठक ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। चित्रकला प्रतियोगिता प्राइमरी कैटेगरी में समीर ओरम कक्षा चौथी प्रथम, चित्रकला प्रतियोगिता सेकेंडरी कैटेगरी में खुशी सिंदवानी कक्षा 10वीं प्रथम स्थान व हितैषी जैन 10वीं ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। गायन प्रतियोगिता मिडिल कैटेगरी में कक्षा 6वीं की ओजस्वी श्रीवास्तव प्रथम व साना पोद्दार ने द्वितीय, गायन प्रतियोगिता सेकेंडरी कैटेगरी में अंशिका दुबे कक्षा 9वीं ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट प्राइमरी कैटेगरी में रान्या अग्रवाल कक्षा 5वीं प्रथम, सोलो डांस प्रतियोगिता सेकेंडरी कैटेगरी में परमीत सलूजा कक्षा 9वीं तृतीय स्थान प्राप्त किया। प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान अर्जित करने वाले छात्रों को स्वर्ण, रजत व कांस्य पदक, प्रमाण पत्र के साथ ही एकल ट्रॉफी से सम्मानित किया गया एवं प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी छात्रों को सम्मान प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा। इसके साथ ही एकेडमिक हाइट्स पब्लिक स्कूल मनेंद्रगढ़ को चैंपियंस ट्रॉफी से भी सम्मानित किया गया। ज्ञात हो कि राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली इस प्रतियोगिता में पूरे देश से 100 से भी अधिक एकेडमिक हाइट्स पब्लिक स्कूल की शाखाओं के बच्चों ने भाग लिया था, जिसमें से एकेडमिक हाइट्स पब्लिक स्कूल मनेंद्रगढ़ के छात्रों द्वारा सर्वाधिक मेडल्स अर्जित करने पर उसे चैंपियंस ट्रॉफी से सम्मानित किया गया। 

प्रतियोगिता में छात्रों के श्रेष्ठ प्रदर्शन को लेकर संचालक संजीव ताम्रकार, आशीष कक्कड़ व प्राचार्य पी. रविशंकर को बचपन व एकेडमिक हाइट्स पब्लिक स्कूल नई दिल्ली के प्रमुख अजय गुप्ता ने बधाई दी व विद्यालय के कार्यों की प्रशंसा की।  
 


18-Oct-2020 10:40 PM 6

'छत्तीसगढ़' संवाददाता

मनेन्द्रगढ़, 18 अक्टूबर। स्थानीय राजस्थान भवन में शारदीय नवरात्र पर जसमन म्यूजिक ऑफिसिल की तरफ से मनेंद्रगढ़ की उभरती हुई भजन गायिका जसमीत कौर एवं साथियों द्वारा निर्मित आ गई भवानी वीडियो एल्बम लांचिंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के अतिथि संसदीय सचिव एवं बैकुंठपुर विधायक अंबिका सिंहदेव एवं विशिष्ट अतिथि सविप्रा उपाध्यक्ष गुलाब कमरो, नपाध्यक्ष प्रभा पटेल, नगर पालिका चरचा अध्यक्ष अजीत लकड़ा एवं कांग्रेस जिला महामंत्री अधिवक्ता रामनरेश पटेल रहे।

सर्वप्रथम अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलित कर एवं गायिका जसमीत को चुनरी ओढ़ाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। नवरात्रि की पूर्व संध्या पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित जनों ने देवी माँ के एक से बढ़कर धार्मिक गीतों एवं भजनों से पिराए वीडियो एल्बम को देखकर उसकी सराहना की। अतिथियों ने भविष्य में इस प्रकार के धार्मिक गीत संगीत से सजे भजनों को तैयार करने में गायिका जसमीत कौर को शासन की ओर से हरसंभव मदद उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

ज्ञात हो कि इससे पूर्व सावन के पवित्र महीने में गायिका जसमीत ने मेरा भोला है भंडारी का वीडियो एल्बम लांच किया था, जिसे काफी सराहा गया था। एलबम की पूरी शूटिंग कोरिया जिले के प्रमुख धार्मिक स्थलों में जसमीत कौर और उनकी टीम के द्वारा की गई है।

 इस अवसर पर पार्षद नागेंद्र जायसवाल, श्यामसुंदर पोद्दार, अजय जायसवाल, बलवीर सिंह अरोरा, मधु पोद्दार, रघुनाथ पोद्दार, किशोर अग्रवाल, व्यंकटेश सिंह, सांसद प्रतिनिधि सुरेंद्र पाल सिंह माखीजा, अरविंद श्रीवास्तव, एल्डरमेन गिरधर जायसवाल, आशीष राय सहित बड़ी संख्या में शहर के गणमान्य नागरिक एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।


18-Oct-2020 9:51 PM 8

जागो ने किया बुजुर्गों व नशे का त्याग करने वालों का सम्मान

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 18 अक्टूबर।
जागो सेवा संस्था बंजी-बुंदेली के द्वारा नगर पंचायत लेदरी के वार्ड 12 में वृद्धजनों एवं नशे का त्याग करने वालों का सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया गया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कन्हैया लाल यादव, अध्यक्ष परमेश्वर सिंह मरकाम एवं विशिष्ट अतिथि अमोल चंद्र झा, सुखदेव सिंह, कंचन सिंह व राजमणी ने नशे का त्याग करने वाले अशोक कुमार, हाकिम सिंह, कन्हैया लाल यादव, लक्ष्मण व रामप्रताप को संस्था की ओर से शॉल व श्रीफल देकर सम्मानित किया गया। वहीं वृद्धजनों में 90 वर्षीया ननकी बाई, बुट्टू बाई, 88 वर्षीया सोनमती व 65 वर्षीया शुकवरिया का भी शॉल व श्रीफल से सम्मान किया गया। 

परमेश्वर सिंह मरकाम ने समाज में फैले कुरीतियों पर प्रकाश डालते हुए उपस्थित जनों से नशे का त्याग कर अपने कुल, परिवार और समाज को विकास की राह पर आगे लाने की अपील की। अन्य अतिथियों ने भी अपने विचार रखे।

सम्मान कार्यक्रम के उपरांत जोगनी छत्तीसगढ़ी लोककला मंच बंजी के कलाकार राम नारायण पुरी, जानकी पुरी, मोहन दास, बालकुमार, प्राण सिंह, जवाहर सिंह, गांधी चौहान, कन्हैया लाल, सुखदेव सिंह, रामप्रताप सिंह, गोपाल सिंह, गोंदा, प्रीति एवं सुनीता ने छत्तीसगढ़ी गीत व नृत्य की मोहक प्रस्तुति से उपस्थित जनों को भावविभोर कर दिया। 

इस अवसर पर जागो सेवा संस्था के अध्यक्ष परमेश्वर सिंह मरकाम, सचिव नभाग सिंह, सदस्य प्राण सिंह, ब्रह्मा, सुखदेव सिंह, मूलचंद झा, कन्हैया लाल, नगर पंचायत खोंगापानी के पार्षद नकुल यादव, बाल्मिक, सुरेश कुमार, केशकली, अमृतिया सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण जन उपस्थित रहे।

 


18-Oct-2020 9:45 PM 12

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 18 अक्टूबर।
सविप्रा उपाध्यक्ष विधायक गुलाब कमरो अपने विधानसभा क्षेत्र में लगातार एक-एक कर विकास कार्यों की सौगात दे रहे हैं। 

इसी कड़ी में विधायक ने भरतपुर-सोनहत विधानसभा क्षेत्र में 6 शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के निर्माण के लिए 48 लाख की सौगात दी है। स्वीकृति राशि से 8 लाख की लागत से ग्राम ग्राम पंचायत च्यूल में उचित मूल्य दुकान का निर्माण कार्य कराया जाएगा। इसी प्रकार 8-8 लाख की लागत से ग्राम पंचायत मैनपुर, पूंजी, जनकपुर, पसौरी व घाघरा में भी उचित मूल्य दुकान का निर्माण कार्य कराया जाएगा।


18-Oct-2020 6:34 PM 9

भीषण गर्मी में भी नहीं सूखती धार

चंद्रकांत पारगीर

बैकुंठपुर, 18 अक्टूबर (छत्तीसगढ़)। जल जीवन के लिए महत्वपूर्ण है लेकिन इस दौरान कई क्षेत्र में जमकर जल का दोहन किया जा रहा है। जिस कारण भू जल स्तर तेजी से नीचे जा रहा है जिस कारण गर्मी की शुरूआत होने के साथ ही कई क्षेत्रों में पेयजल संकट का सामना करना पड़ता है।

 वहीं जिले में कई जगह ऐसी हैं जहां पूरे साल अविरल जलधारा तुर्रे के माध्यम से अनवरत बहती रहती है। ऐसा ही एक गांव है जहां पर दो तुर्रा सालों से बह रहे हैं। वह भी पूरे वर्ष भर। गांव में दो तुर्रा के लगातार बहने के कारण गांव का नाम ही तुर्रापारा रख दिया गया है।

जानकारी के अनुसार जिले के खडग़वां जनपद पंचायत क्षेत्र के देवाडांड पंचायत क्षेत्र में एक ग्राम तुर्रापारा है। यहां पानी की कोई कमी नहीं है। वर्ष भर यहां पर दो तुर्रे के माध्यम सेलगातार जलधारा बहती रहत है ऐसा सालों से चला आ रहा है। इस गांव में पानी की कोई समस्या नहीं है लोग नहाने व अपने दैनिक उपयोग के लिए भी तुर्रे का पानी का उपयोग करते हैं। साथ ही साथ पशुओं के लिए भी हर मौसम में पानी की उपलब्धता बनी रहती है। पानी के मामले में तुर्रापारा समृद्ध है।

बताया गया कि 1936 से लकड़ी के सहारे पानी का उपयोग ग्राम तुर्रापारा में बह रहे अलग अलगस्थान पर दो तुर्रे के पानी का ग्रामीण पूरा उपयोग कर रहे हैं। ग्रामीणों की मानें तो वर्ष 1936 में दोनों तुर्रे में विशाल सरई लकड़ी को काटकर नहरनुमा बनाकर तुर्रा के पानी को सुविधाजनक स्थान तक लाकर ग्रामीण तुर्रे के पानी का उपयोग कई पीढिय़ों से करते आ रहे हंै। गांव के ज्यातर लोग स्नान करने के लिए तुर्रा पर पहुंचते हैं। साथ ही आस पास तुर्रे के पानी से खेती कार्य में भी उपयोग किया जाता है।

आज तक कभी नहीं सूखे दोनों तुर्रे

तुर्रापारा गांव के दो स्थानों में स्थित प्राकृतिक जल स्रोत जिसे ग्रामीण तुर्रा कहते हैं। दोनों तुर्रो से अवरिल जलधारा लगातार बहती रहती है। जिससे कि गांव में पानी की कमी आज तक नहीं हुई। ग्रामीण बताते हंै कि अब तक कितनी गर्मी का मौसम पार हो गया लेकिन यहां के दोनों तुर्रे आज तक कभी नहीं सूखे। बल्कि गर्मी के दिनों में तो गांव के अधिकांश लोग तुर्रे के शीतल जल में स्नान करने के लिए पहुंचते हंै। यदि प्रशासनिक पहल की जाये तो दोनों तुर्रे के पानी का उपयेाग गांव के ग्रामीणों की प्यास बुझाने के लिए किया जा सकता है। 

 


17-Oct-2020 9:45 PM 7

चंद्रकांत पारगीर

बैकुंठपुर, 17 अक्टूबर (‘छत्तीसगढ़’)। जिले के खडग़वां जनपद क्षेत्र अंतर्गत ग्राम मंगौड़ा में प्राचीन समय के ऐतिहासिक महत्व के मंदिर के अवशेष पड़े हुए हैं। मंदिर ढह गया है और उसके अवशेष आस पास में बिखरे पड़े हैं। क्षेत्र के ग्रामीणों द्वारा आस्था के केंद्र के रूप में इस स्थल की पूजा अर्चना की जाती है। पंचायत के द्वारा पास में ही सांस्कृतिक शेड का निर्माण कराया गया है साथ ही क्षेत्र के श्रद्धालुओं के सहयोग से मंदिर निर्माण कार्य हेतु प्रयास जारी है।

कोटेश्वरनाथ मंदिर के नाम से प्रसिद्ध खडग़वां जनपद अंतर्गत ग्राम मंगोड़ा में स्थित बिखरी हुई मंदिरों के अवशेष व मूर्तियों को ग्रामीणों के द्वारा सहेजा गया है तथा स्थल को कोटेश्वरनाथ मंदिर के नाम से प्रसिद्धी मिली है। स्थलपर कई देवी देवताओं की मूर्तियां दिखाई देती है। क्षेत्रीय ग्रामीण भी यहां पर त्रिशूल गाड़ दिये हैं। विभिन्न अवसरों पर यहां आस पास क्षेत्र के श्रद्धालुओं की भीड़ पूजा अर्चना करने के लिए जुटती रहती है।

ग्रामीण बताते हंै कि प्राचीन मंदिर कितनापुराना है उन्हें भी नहीं मालूम लेकिन बड़े बुजुर्गों के अनुसार काफी पुराना मंदिर है जो कि ढह गया है। इसके अवशेष परिसर में ही यहां-वहां बिखरे है। ग्रामीणों के अनुसार यहां पर दूर दूर से लोग अपनी मन्नत लेकर आते है और पूर्जा करते है।इसके अलावा रामनवमी के अवसर पर यहां भारी संख्या में दूर दूर के श्रद्धालुगण पहुंचते हैं।

15वीं, 16वीं शताब्दी का मंदिर होने का अनुमान

ग्राम पंचायत देवाडांड के एक जागरूक ग्रामीण रामबरन साहू ने कोटेश्वरनाथ मंदिर के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि यह मंदिर 15वीं 16वीं शताब्दी के हैं। माना जाता है कि यहां उस दौरान केराजाओं ने यहां मंदिर का निर्माण इस दौरान कराया था। चारों ओर से नदियोंसे घिरे होने के कारण इसे सुरक्षित स्थल माना गया। उन्होंने बताया कि मंदिर स्थलकी खुदाई करायी जाती है तो और भी अवशेष मिल सकते है।

उन्होंने बताया कि मंदिर तक पहुंचने के लिए सडक़ की सुविधा नहीं है यदि सडक़ की सुविधा दे दी जातीहै तो श्रद्धालुओं को मंदिर तक पहुंच आसान हो जायेगी। इस दिशा में सरकार व प्रशासन को ध्यान देकर मंदिर स्थल क्षेत्र का विकास करने की जरूरत है। जिससे कि अधिक से अधिक श्रद्धालुगण पहुंच कर मनोकामना पूर्ति हेतु पहुंच सके। 100 मीटर के दायरे मेें बिखरेहै अवशेष खडग़वां जनपद पंचायत के ग्रामपंचायत देवाडांड से लगभग दो किमी की दूरी पर स्थित ग्राम मंगौरा का प्राचीन मंदिर जिसके अब भग्नावशेष ही बचे हुए हंै। स्थल पर मंदिर की मूर्तियां व पत्थरकरीब  100 मीटर के दायरे में बिखरे हुए हैं। इस ऐतिहासिक महत्व के स्थल की मूर्तियों व पत्थरों को सहेज कर सुरक्षित करने की जरूरत है। बिखरे पड़े मंदिरों के अवशेष के पत्थर बड़े-बड़े हैं जो कई बड़ी-बड़ी झाडिय़ों में दब गये हैं।

खास बात यह है कि सभी पत्थरों में आकर्षक नक्काशी की गयी है तथा कई पत्थरों में देवी देवताओं की आकृति उकेरी गई है। यहां पर कई छोटे तो कई बड़े पत्थर यहां वहां बिखरे हुए हंै। जो पुरातत्ववेत्ताओं के लिए शोध का विषय है जिसके आदमंदिर के संबंध में और भी नये तथ्यों का खुलासा हो सकेगा। कई देवी देवताओं की है मूर्तियां कोटेश्वरनाथ मंदिर स्थल पर मंदिर तो नहीं हैं लेकिन ग्रामीणों द्वारा इसे कोटेश्रनाथ मंदिर कहा जाता है। ग्रामीणों के द्वारा मंदिर निर्माण की कोशिश की गयी लेकिन यह अधूरा ही है। यहां पर कईदेवी देवताओं की मूर्तियां इधर उधर बिखरी है। जिनमें से कई मूर्तियों को तोग्रामीणों ने ही एक स्थान पर रखकर पूजा अर्चना करते आ रहे है।

ग्रामीणों ने की सडक़ निर्माण की मांग

आस्था के प्रमुख केंद्र केाटेश्वरनाथ मंदिर स्थल तक पहुंचने के लिए अब तक सडक़ सुविधा नहीं मिल सकी है परेशानियों के बीच श्रद्धालु विभिन्न अवसरों पर मंदिर तक पूजा अर्चना व दर्शन के लिए पहुंचते हैं। जानकारी के अनुसार देवाडांड पंचायत से लगभग दो किमी की दूरी परऐतिहासिक महत्व का स्थल है जहॉ श्रद्धालुओं की भीड विभिन्न अवसरों पर जुटती हैलेकिन आज तक क्षेत्र का विकास करने के लिए एक सडक का निर्माण भी नही हो सका है। क्षेत्रीय ग्रामीणों ने प्रशासन से मांग की है कि कम से कम मंदिर स्थल तक पहुंचने के लिए सडक़ निर्माण करा दे। साथ ही बिखरी हुई ऐतिहासिक महत्व के स्थल को भी सहेजने की दिशा में कार्य किये जाने की मांग की।


17-Oct-2020 8:09 PM 6

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 17 अक्टूबर।
सविप्रा उपाध्यक्ष विधायक गुलाब कमरो ने भरतपुर-सोनहत विधानसभा क्षेत्र के दूरस्थ वनांचल आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र की छात्राओं को बड़ी सौगात दी है।

विधायक कमरो की मांग पर सोनहत एवं कटगोड़ी में छात्रावास निर्माण हेतु छत्तीसगढ़ शासन आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विभाग ने 3 करोड़ 83 लाख रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान कर दी है। यह शिक्षा के प्रति विधायक की संवेदनशील एवं खासकर बालिका शिक्षा के प्रति उनकी दूरगामी सोच को दर्शाता है। स्वीकृत राशि से 1 करोड़ 91 लाख 51 हजार की लागत से सोनहत में प्री-मैट्रिक आदिवासी कन्या छात्रावास एवं कटगोड़ी में भी 1 करोड़ 91 लाख 51 हजार की लागत से प्री-मैट्रिक आदिवासी कन्या छात्रावास का निर्माण कराया जाएगा। वनांचल क्षेत्र में छात्रावास का निर्माण होने से जरूरतमंद छात्राओं को कस्बे में ही रहकर शिक्षा हासिल करने में सहूलियत मिलेगी। वहीं अध्ययन के लिए दूर-दराज ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाली छात्राओं को छात्रावास में रहकर पढ़ाई करने की सुविधा मिलेगी। बता दें कि विधायक गुलाब कमरो के प्रयास से दो दिन पहले ही भरतपुर-सोनहत विधानसभा क्षेत्र के 42 ग्राम पंचायतों में स्कूलों के मरम्मत कार्य हेतु 48 लाख रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति मिली है वहीं अब कन्या छात्रावास के लिए एक बड़ी राशि मंजूर होने पर शिक्षकों, अभिभावकों एवं छात्र-छात्राओं ने विधायक के प्रति आभार जताया है।


17-Oct-2020 8:03 PM 7

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
बैकुंठपुर 17 अक्टूबर।
शारदेयनवरात्र की शुरूआत आज से शुभ मुहूर्त में घट स्थापना के साथ हो गयी। इसके साथ ही विभिन्न स्थानों पर सार्वजनिक दुर्गा पूजा समितियों द्वारा माता दुर्गाव अन्य देवी देवताओं की मूर्तियों की स्थापना कर पूजा अर्चना शुरू कर दिये हंै। आगामी नौ दिनों तक शक्ति की भक्ति में लोग डूबे रहेंगे। 

इस वर्ष कोरोना संक्रमण को देखते हुए पूजा पर्व के लिए प्रशासन ने सख्त गाईड लाईन जारी किये है जिसके चलते इसवर्ष सादगी के साथ ही मां दुर्गा की विधि विधान के साथ पूजा कार्य संपन्न किया जायेगा। प्रशासन के दिशा निर्देश के कारण ही सभी सार्वजनिक दुर्गा पूजासमितियों के द्वारा इस वर्ष न तो भव्य पंडाल बनाये गये हैं और न ही आकर्षक साज सज्जा की गयी है। इसके एक दिन पूर्व कई पूजा समितियों द्वारा मूर्तियों को सजाने का कार्य करते देखे गये वहीं कई समितियों द्वारा आज ही मूर्तियां लाकर विधि विधानके साथ स्थापित किए। शहर के दर्जन भर स्थानों पर पहले मूर्तियां स्थापित की जाती थी लेकिन इस बार सीमित जगहों पर मूर्ति स्थापित की गयी है। जहां पर साज सज्जा ज्यादा नहीं की गयी है पूरी तरह सादगी के साथ इस बार माता का दर्शन व पूजा अर्चना कीजायेगी। इसके अलावा पूजा स्थल पर भण्डारा का आयोजन करने पर भी रोक लगा दी गयी है साथ ही किसी तरह का धार्मिक आयोजन भी नही किये जायेंगे। आने वाले सभी श्रद्धालुओं का रिकार्ड रखनं के भी निर्देश समितियों के लिए जारी किये गये है। इस बार विसर्जन की झांकी भी आयोजित नहीं की जायेगी। 
इधर नवरात्र को देखते हुए विभिनन फलों की मांग अचानक बढऩे से दाम में भी उछाल आ गया। फिर भी श्रद्धालु पूजा सामग्री के साथ फलों की खरीदी कर रहे है। कई श्रद्धालुओं द्वारा उपवास के चलते तथा चढ़ावा के लिए फलों की जमकर खरीदी करते है। 
 


17-Oct-2020 8:01 PM 5

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 17 अक्टूबर।
स्थानीय पुलिस ने चोरी के मामले में 3 नाबालिग बालकों को हिरासत में लिया है जबकि एक फरार है। आरोपियों के पास से पुलिस ने 40 हजार रूपए नगद, 7 नग मोबाइल व 3 कटर मशीन बरामद किया है।

पुलिस के अनुसार जायसवाल डेली नीड्स के संचालक सुमित जायसवाल ने 10 अक्टूबर को मनेंद्रगढ़ पुलिस थाने में सुबह 4.46 बजे दुकान का शटर खोलकर नगदी रकम 1 लाख 90 हजार रूपए अज्ञात आरोपी द्वारा चोरी कर ले जाने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।  थाना प्रभारी सचिन सिंह के नेतृत्व में अलग-अलग टीम बनाकर चोरों की पतासाजी शुरू की गई। इस दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि कुछ नाबालिग बच्चे काफी पैसे खर्च कर रहे हैं। सूचना पर संदेही बच्चों को तलब कर पूछताछ करने पर सुमित जायसवाल के यहां दुकान से चोरी गए नगदी रकम को 4 लडक़ों द्वारा मिलकर चोरी करना बताया। उसमें से 1 लाख 55 हजार रूपए एक साथी द्वारा लेकर चले जाने तथा 15-15 हजार रूपए मिलकर हिस्सा बंटवारा करना जिसमें से कुछ रकम खर्च होना बताया। पुलिस द्वारा नाबालिगों से 40 हजार रूपए बरामद किया गया है। पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपी नाबालिगों के द्वारा थाना मनेंद्रगढ़ व झगराखांड क्षेत्रांतर्गत और भी नगदी रकम एवं मोबाइल चोरी करना बताया गया। सब्जी मंडी मनेंद्रगढ़ स्थित एक घर से चोरी गया मोबाइल एवं थाना झगराखांड से चोरी गए कुल 7 नग मोबाइल बरामद किए गए हैं। नाबालिगों के पास से 3 नग कटर मशीन भी बरामद किया गया है। वहीं और भी कई मोबाइल फरार आरोपियों के पास से होना बताया गया। पुलिस द्वारा आरोपी तीनों किशोरों को शुक्रवार को किशोर न्यायालय बोर्ड बैकुंठपुर में रिमांड पर भेजा गया।
 


16-Oct-2020 6:10 PM 6

मनेन्द्रगढ़, 16 अक्टूबर। संत गहिरा गुरू विश्वविद्यालय सरगुजा अंबिकापुर के निर्देशानुसार चौथे फेज में स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश के लिए पोर्टल पुन: खोला गया है। ऐसे छात्र जिन्होंने अपना प्रवेश सुनिश्चित नहीं किया है वे 18 अक्टूबर 2020 तक पंजीयन कराकर संबंधित महाविद्यालय में प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं। शासकीय विवेकानंद स्नातकोत्तर महाविद्यालय मनेंद्रगढ़ की प्राचार्या डॉ. आनंदा गुप्ता ने बताया कि स्नातक प्रथम वर्ष अंतर्गत बीए में 173, बीकॉम में 46, बीएससी में 31, गणित में 27, बायो में 4 एवं बीसीए में 28 सीट्स रिक्त है। उन्होंने इच्छुक छात्र-छात्राओं से शीघ्र पंजीयन कराने की अपील की है।
 


16-Oct-2020 6:09 PM 7

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 16 अक्टूबर।
जनकपुर पुलिस ने सबमर्सिबल पंप चोरी के जुर्म में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

जनकपुर थानांतर्गत ग्राम भगवानपुर निवासी सावित्री सिंह गोंड़ ने 14 अक्टूबर को पुलिस थाना पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसके घर के पीछे बाड़ी में 2 एचपी का सबमर्सिबल पंप बोर में लगाया गया था, जिसे 11 अगस्त 2020 को रात्रि के समय अज्ञात चोर चोरी करके ले गए हैं। उसने बताया कि चोरी गए पंप के संबंध में वह गाँव के आसपास पतासाजी कर रही थी। इस बीच 13 अक्टूबर को गांव के विजय सिंह ने उसे बताया कि प्रेमचंद व जय सिंह उर्फ बबलू दोनों उसकी बाड़ी का पंप चोरी किए हैं और उसे पंप को कहीं बिकवाने के लिए बोल रहे हैं। पुलिस द्वारा 14 अक्टूबर को भगवानपुर निवासी आरोपी 25 वर्षीय जय सिंह उर्फ बबलू  एवं 65 वर्षीय प्रेमचंद सिंह के कब्जे से 16 हजार 500 रूपए कीमत का चोरी का एक नग 2 एचपी सबमर्सिबल पंप बरामद किया गया। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जनकपुर न्यायालय में पेश किया गया।


16-Oct-2020 6:08 PM 9

मनेन्द्रगढ़, 16 अक्टूबर। शिक्षा के प्रति संवेदनशील सविप्रा उपाध्यक्ष विधायक गुलाब कमरो ने भरतपुर-सोनहत विधानसभा क्षेत्र के 8 स्कूलों में अहाता, मरम्मत एवं जीर्णोद्धार निर्माण कार्य के लिए राज्य शासन स्कूल शिक्षा विभाग से 20 लाख रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति दिलाई है।

स्वीकृत राशि से 5 लाख की लागत से प्राथमिक शाला ठकुरहथी सोनहत में अहाता निर्माण कार्य कराया जाएगा। इसी प्रकार प्राथमिक शाला साल्ही व माध्यमिक शाला पसौरी में 5-5 लाख की लागत से अहाता निर्माण, प्राथमिक शाला हर्रीटोला घुटरा, बिहारपुर, ढुलकू व प्राथमिक शाला बरहोरी में 1-1 लाख की लागत से मरम्मत कार्य तथा प्राथमिक/माध्यमिक शाा साल्ही में 1 लाख की लागत से शौचालय मरम्मत का कार्य शामिल है। 

ज्ञात हो कि विधायक गुलाब कमरो के प्रयास से एक दिन पहले ही विधानसभा क्षेत्र के 34 ग्राम पंचायतों में स्कूलों के मरम्मत कार्य हेतु 28 लाख रूपए की प्रशासकीय मंजूरी मिली थी। 
 


16-Oct-2020 6:07 PM 5

प्रदेश स्तरीय बैठक में जिले के पदाधिकारियों ने बताई पीड़ा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
मनेन्द्रगढ़, 16 अक्टूबर।
राजधानी रायपुर में आयोजित प्रदेश स्तरीय लोक कलाकार कल्याण संघ छत्तीसगढ़ की बैठक में 12 सूत्रीय मांगों को लेकर कोरिया जिले के लोक कलाकार कल्याण संघ के पदाधिकारी शामिल हुए।

प्रदेश अध्यक्ष नवल दास मानिकपुरी के नेतृत्व में रायपुर स्थित साहू सदन भवन में बैठक संपन्न हुई। बैठक में सभी जिले के कलाकार संघ के पदाधिकारी उपस्थित हुए। लोक कलाकारों का कहना है कि पिछले 9 माह से सभी कलाकार बेरोजगारी आर्थिक परेशानियों का दंश झेल रहे हैं, जिनकी सुनने व ध्यान देने वाला कोई नहीं है। 

कोरिया जिलाध्यक्ष परमेश्वर सिंह मरकाम की ओर से प्रतिनिधित्व करने वाले जिला संयोजक रामजीत भगत बाबू ने कहा कि सभी जगह शासन-प्रशासन तक हम हमारे प्रदेश अध्यक्ष के नेतृत्व में सभी मंत्रियों को 12 सूत्रीय मांगों को लेकर पत्र प्रेषित किए गए हैं।

इसी क्रम में जिला संयोजक ने कहा कि आज हम कलाकारों को आर्थिक मदद की आवश्यकता है। छत्तीसगढ़ के सभी कलाकार एकजुट हों और शासन के समक्ष हम अपनी मांगें मजबूती से रखें, ताकि हमारी मांगें पूरी हो सकें। बैठक में मुख्य रूप से प्रदेश अध्यक्ष ने भी संगठन की मांगों एवं समस्या के बारे में अपने विचार रखे और आह्वान किया कि सभी कलाकार उनके साथ आएं। उन्होंने कहा कि वे हमेशा कलाकारों के हितों के लिए संघर्षरत रहेंगे। 

बैठक में मुख्य रूप से प्रदेश अध्यक्ष नवल दास मानिकपुरी, उपाध्यक्ष महंत लीलाधर साहू, किरण भारती सहित कोरिया जिले से जिला उपाध्यक्ष कुमार ईश्वरी सिंह मरकाम, सचिव धन सिंह, कोषाध्यक्ष ईश्वर सिंह मरकाम, संयोजक राम जीत भगत एवं समस्त जिले से आए सैकड़ों गायक-गायिका लोक कलाकार उपस्थित रहे।