छत्तीसगढ़ » कोरिया

Date : 13-Aug-2019

समता मंच द्वारा सावन मेला आयोजित

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
मनेन्द्रगढ़, 13 अगस्त।
महिला समता मंच के द्वारा स्थानीय राजस्थान भवन में सावन मेला का आयोजन किया गया। मेला के प्रमुख आकर्षण विभिन्न प्रकार के स्टॉल रहे।
प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी समता मंच के द्वारा सावन के पवित्र महीने में सावन मेला का आयोजन किया गया। नपाध्यक्ष राजकुमार केशरवानी के द्वारा फीता काटकर मेला का शुभारंभ किया गया। मेला की रौनक विभिन्न स्टॉल रहे जिसमें कपड़ा, पूजा सामग्री, महिलाओं से संबंधित श्रृंगार सामग्री की दुकानें रहीं। वहीं बच्चों के द्वारा लगाया गया गेम स्टॉल भी आकर्षण का केंद्र रहा। इसके अलावा खाने-पीने की वस्तुओं के स्टॉल में भी लोगों की जमकर भीड़ रही। इस अवसर पर मंच की अध्यक्ष निशा अरोरा, संरक्षिका रीता सेन, कोषाध्यक्ष गीता अग्रवाल, सचिव डॉली अग्रवाल, शालू अरोरा, सुचित्रा दास, मालिनी अग्रवाल, चम्पा शाह, भारती छत्तानी, परमजीत, शकुंतला, रूचि, भावना, शर्मिला, रानी अग्रवाल आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन वीरांगना श्रीवास्तव ने किया।


Date : 13-Aug-2019

हिन्दू सेना ने भव्य कांवर यात्रा निकाली, पदाधिकारियों सहित सैकड़ों भक्त भी शामिल

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
चिरमिरी, 13 अगस्त।
कोरिया जिला के चिरमिरी में हिन्दू सेना ने भव्य कांवर यात्रा निकाली, जिसमें हिन्दू सेना के पदाधिकारियों सहित सैकड़ों भक्त भी शामिल हुए।सावन के अंतिम सोमवार को हिन्दू सेना के छत्तीसगढ़ प्रदेश महामंत्री अविनाश विश्वकर्मा के नेतृत्व में कोरिया जिले के चिरमिरी क्षेत्र में हिन्दू सेना के द्वारा भव्य कांवर यात्रा का आयोजन किया गया। कांवर यात्रा की शुरूआत क्षेत्र के शांतिकुंज क्रीड़ा स्थल से की गई जो  नगर का भ्रमण करते हुए गोदरीपारा पहुंची। तत्पश्चात वहां स्थित हनुमान मंदिर प्रांगण में स्थापित महाकाल भोलेनाथ के शिवलिंग का समस्त लोगों के द्वारा जयकारे के साथ जलाभिषेक किया गया। इसके बाद भोग भंडारा प्रसाद का वितरण किया गया।


Date : 13-Aug-2019

मेंड्रा को पर्यटन से जोड़ा जाएगा, महंत ने हसदो उद्गम को संवारने दिए निर्देश
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 13 अगस्त।
प्रदेश की प्रमुख नदियों मे से एक हसदो नदी है जिनका उद्गम कोरिया जिले के सोनहत विकासखंड मुख्यालय से लगभग पॉच किमी की दूरी पर वनांचल ग्राम मेंड्रा में स्थित है, अब उसे राज्य में पर्यटन से जोड़ा जाएगा। 12 अगस्त को सावन के अंतिम व चौथे सोमवार को पहुंचें प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने कलेक्टर को उद्गम स्थल को सुव्यवस्थित ढंग संवारने के निर्देश दिए है। इस अवसर पर उनके साथ उनकी पत्नी कोरबा सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत भी मौजूद थी। 

जानकारी के अनुसार हसदों नदी उद्गम स्थल पहुंचे डॉ महंत ने स्थल को पहचान दिलाने के लिए क्षेत्र को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने के निर्देूश कलेक्टर कोरिया को दिये। उन्होंने युवा नेता राजन पांडेय के साथ उद्गम स्थल का निरीक्षण किया, श्री पांडेय ने उन्हें बताया कि उद्गम स्थल पर रेत के ज्यादा आने से इस पर खतरा मंडरा रहा है, रेत की आवक रोकने यहां एक स्टापडेम बनाया जाना जरूरी है। जिसके बाद उन्होंने कलेक्टर को निर्देशित किया कि वे हसदो नदी उदगम स्थल को योजना बनाकर पर्यटन स्थल के रूप में संवारे जाने और स्टापडेम निर्माण करें। जिससे कि इसकी पहचान जिले ही नही बल्कि प्रदेश स्तर पर हो सके। अभी इसकी पहचान केवल जिले तक ही सीमटी है। यदि पर्यटन स्थल के रूप में इस स्थल को विकसीत कर दिया जाता है तो इसकी प्रसिद्धि दूर दूर तक फैलेगी। गौरतलब है कि हसदों उद्गम स्थल के पास ही शिव मंदिर का निर्माण डॉ महंत के प्रयासों से ही किया गया है। जहॉ महाशिवरात्रि के अवसर पर मेले का आयोजन किया जाता है यहॉ पर दूर दूर से श्रद्धालु पूजा अर्चना करने के लिए पहुंॅचते हंै। 

वनों से घिरा क्षेत्र में है हसदो उद्गम स्थल 
कोरिया जिले के सोनहत जनपद मुख्यालय से कुछ ही किमी की दूरी पर चारों ओर से वनां से घिरे क्षेत्र में प्रदेश की प्रमुख नदियों में से एक हसदों नदी का उद्गम स्थल है यह वनांचल मेंड्रा ग्राम में स्थित है।  यहॉ पर पर्यटन की असीम संभावनाएॅ है। हसदों उद्गम स्थल से कुछ ही किमी की दूरी पर क्षेत्र.फल की दृष्टी से प्रदेश का सबसे बडा गुरू घासीदास राष्ट्रीय उद्यान की सीमा प्रारंभ होती हैं। जिला प्रशासन द्वारा यदि योजना बनाकर हसदो  उद्गम स्थल को पर्यटन क्षेत्र में विकसीत किया जाता है तो गुमनामी में चल रहे इस स्थल की पहचान विस्तृत हो जायेगी और हर समय यहॉ पर सैलानियों की भीड जुटती रहेगी।  

हसदों उद्गम स्थल को बचाने की जरूरत
हसदों उद्गम स्थल  को बचाने की जरूरत है। इसकी देख रेख नही किये जाने के कारण रेत से उद्गम स्थल भरता जा रहा है। यह अभी प्राकृतिक रूप से है जहॉ निरंतर पानी की धारा भूमि से निकलती रहती है जिसे सहेजने की जरूरत है। यदि ऐसा किया जाता है तो आने वाले समय में इस स्थल को वर्षो तक सहेजा जा सकता है। 

जानकारी के अनुसार एक पुराने सूखे पेड की ठूॅठ ही उद्गम स्थल पर बची है बताया जाता है कि पहले वहॉ पर विशाल पेड था जिसके जड़ के हिस्से से पानी का रिसाव होता चला आ रहा है। पर्यटन के रूप में इस स्थल को विकसित करने से उद्गम स्थल सुरक्षित बना रहेगा। 

 


Date : 13-Aug-2019

धारा 370 हटने से एक राष्ट्र, एक संविधान की विचारधारा कायम- पूर्व विधायक जायसवाल

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 13 अगस्त।
कोरिया जिला भाजपा ने जम्मू कश्मीर से धारा 370 और 35 ए हटाए जाने को फैलाई जा रही भांतियों को लेकर भाजपा कार्यालय में प्रेस वार्ता कर बताया कि इस धारा के हटने से एक राष्ट्र एक संविधान की विचारधारा कायम हुई है। 

प्रेस वार्ता के दौरान पूर्व विधायक श्याम बिहारी जायसवाल ने बताया कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने ऐसा करके जम्मू कश्मीर को अलगाववाद, परिवारवाद और आंतरवाद को जवाब दिया है, इससे पूरे देश में खुशी का माहौल है। इस पर जो भी भा्रतियां फैलाई जा रही है वो झूठी और बेबुनियाद है। वहीं जिला अध्यक्ष तीरथ गुप्ता ने कहा कि विधानसभा चुनाव की हार का मुख्य कारण कांग्रेस का लोकलुभावन मेनिफेस्टों था, परन्तु बीते 6 माह मे जनता सब समझ गयी है। 

उन्होने कहा कि धारा 370 और 35 ए से भाजपा द्वारा चलाए जा रहे सदस्यता अभियान में युवाओं का अच्छा झुकाव देखा जा रहा है, इस बार सदस्यता अभियान ऑनलाइन किया जा रहा है जिसमें कही कोई गडबडी की गुलाइंश नहीं है।

 उन्होंने कहा कि आने वाले नगरीय और त्रिस्तरीय चुनाव में भाजपा सभी सीटों पर भारी बहुमत से जीतेगी, विपक्ष की चुप्पी के सवाल पर श्री गुप्ता ने कहा कि विधानसभा के बाद लोकसभा चुनाव और फिर सदस्यता अभियान में पार्टी लगी हुई है, इसके समाप्त होते ही वे जनता के बीच जाएगें और कांग्रेस सरकार के वादा खिलाफी के खिलाफ पुरजोर आवाज बुलंद की जाएगी। इस अवसर पर पूर्व संसदीय सचिव चंपा देवी पावले, रामधनी गुप्ता, शैलेष शिवहरे, बसंत राय, पंकज गुप्ता, अरशद खान, सहित कई पदाधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित थे। 

 


Date : 12-Aug-2019

महंत ने सपत्नीक किया रूद्राभिषेक

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 12 अगस्त।
छग विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत उनकी पत्नी कोरबा सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत के द्वारा सोमवार 12 अगस्त को कोरिया जिले के सोनहत विकासखंड मुख्यालय से करीब पॉच किमी की दूरी पर स्थित हसदो नदी उद्गम स्थल ग्राम मेंडा स्थित शिव मंदिर में सपत्नीक शिवलिंग का रूद्राभिंषेक किया गया। इस अवसर पर सांसद प्रतिनिधि प्रदीप गुप्ता, राजन पांडेय, पुष्पेन्द्र राजवाडे, कृष्णा राजवाडे सहित काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। ज्ञात हो कि डॉ चरण दास महंत के द्वारा मेंडा के शिव मंदिर में प्रत्येक वर्ष पूजा अर्चना के लिए पहुुंचते है उक्त मंदिर के स्थापना के दौरान भी उन्होने भूमिपूजन किया था।सावन के अंतिम सोमवार को अपने तय निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार विधान सभा अध्यक्ष डॉ चरण दास महंत व उनकी सांसद पत्नी श्रीमती ज्योत्सना महंत मेंडा के शिव मंदिर पहुॅच जहां उन्होने विधि विधान के साथ पूजा अर्चना की गयी। पूजा अर्चना पश्चात क्षेत्र के उन्होने लोगों से मुलाकात की। उल्लेखीय है कि कोरिया जिले व प्रदेश की प्रमुख नदियो में से एक हसदों नदी का उद्गम स्थल मेंडा है जहॉ पर मंदिर की स्थापना में डॉ महंत का प्रमुख योगदान रहा है। यहां पर शिवरात्रि के दौरान भारी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है। जिससे कि इस स्थल की पहचान जिले भर में स्थापित हो चुकी है।


Date : 12-Aug-2019

रामानुज मिनी स्टेडियम में स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारियां जोरों से

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 12 अगस्त।
कोरिया जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर के रामानुज मिनी स्टेडियम में जिला स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारियॉ कई दिनों से चल रही है। रामानुज मिनी स्टेडियम में विभिन्न स्कूलों के छात्र छात्राओं के साथ एनसीसी कैडेट, स्काउट गाईड, होम गार्ड, पुलिस जवानों के द्वारा परेड का पूवाभ्यास किया जाता रहा है। जानकारी के अनुसार उक्त स्टेडियम स्थल पर आज 13 अगस्त को परेड का फाईनल पूर्वाभ्यास किया जायेगा। इसके एक दिन बाद स्वतंत्रता दिवस आयोजित है। यही कारण है कि गत 12 अगस्त अवकाश के बावजूद छात्र छात्राओं व पुलिस के जवानों के द्वारा परेड के पूर्वाभ्यास के लिए जुटे। आज 13 अगस्त को परेड के अंतिम पूर्वाभ्यास में कलेक्टर एसपी की उपस्थिति में  परेड की सलामी व मार्च पास्ट किया जायेगा। जिसके बाद स्वतंत्रता दिवस  के दिन जिला  स्तरीय मुख्य समारोह यहॉ आयोजित होगा। इसके अलावा जिले के प्रत्येक स्कूलो में स्वतंत्रता दिवस धूम धाम के साथ मनाये जाने की तैयारियॉ चल रही है। विद्यालयो में छात्र छा़त्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की तैयारियां भी जोर शोर से चल रही है। आगामी  15 अगस्त को सभी विद्यालयों में ध्वजारोहण किया जायेगा। वही कोरिया जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर के रामानुज मिनी स्टेडियम में मुख्य अतिथि द्वारा ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली जायेगी तथा मार्च पास्ट होगा। इसके पश्चात मिनी स्टेडियम में विभिन्न विद्यालयों के छा़त्र छात्राओं द्वारा रंगा रंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुती प्रदान की जायेगी। जिसके लिए विद्यालयों में जोर शोर से तैयारी चल रही है। 

प्रशासन की तैयारियां अंतिम चरण में 
कोरिया जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर के रामानुज मिनी स्टेडियम  में स्वतंत्रता दिवस के जिला स्तरीय समारोह के लिए जिला प्रशासन के द्वारा आवश्यक तैयारियॉ अंतिम चरण में है। बरसात केा देखते हुए वाटरप्रुफ पंडाल लगाये जा रहे है वही भव्य प्रवेश द्वार बनाने का कार्य अंतिम चरण में है। इसके अलावा समस्त प्रकार की आवश्यक व्यवस्था बनाने के लिए मेहनत की जा रही है। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न विभागों के अधिकारियों केा दायित्व सौंपा गया है।

 


Date : 12-Aug-2019

सावन के अंतिम व चौथे सोमवार शिवालयों में उमड़े श्रद्धालु

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 12 अगस्त।
सावन के अंतिम व चौथे सोमवार  12 अगस्त को बरसाते पानी के बीच में जिले के विभिन्न शिव मंदिरों में  श्रद्धालुओं की भीड  जुटती रही। इस बार सावन माह में चार सोमवार पडे।  शहर के प्रेमाबाग स्थित प्राचीन शिव मंदिर, एसईसीएल कॉलोनी स्थित नागेश्वर मंदिर, पुलिस लाईन के शिव मंदिर, झुमका तट पर स्थित शिव मंदिरों के साथ आस पास के कई शिव मंदिरों में भक्तों के द्वारा सावन के अंतिम व चौथे सोमवार को  जुटते रहे। इस दौरान मंदिरों में सबसे ज्यादा महिला श्रद्धालुओं की भीड दिखाई दे रही थी। इस दिन हल्की बारिश की झडी लगने के बाद भी श्रद्धालुओं द्वारा पूजा की थाल सजाकर मंदिरों में पूजा अर्चना के लिए जुटते रहे।  

प्रेमाबाग में पार्थिक शिवलिंग की पूजा अर्चना
शहर के प्राचीन शिव मंदिर प्रेमाबाग मंदिर परिसर में देवराहा बाबा सेवा समिति के तत्वाधान में सावन के अंतिम सोमवार को सुबह 9 बजे पार्थिव शिवलिंग का निर्माण कर विधि विधान के साथ जलाभिषेक व पूजन कार्य श्रद्धाजुओं द्वारा किया गया इस अवसर पर पं. सुरेशानंद महाराज के द्वारा पार्थिव शिवलिंग की स्थापना कर पूजा अर्चना कराई गयी।  इस अवसर पर देवरहा बाबा सत्संग समिति के प्रमुख शैलेष शिवहरे, अरविंद सिह, अन्नु दुबे, रवि सिंह सहित  बरसते पानी के बीच में भारी संख्या में श्रद्धालुगण जुटे जिनके द्वारा पार्थिव शिवलिंग की पूजा अर्चना की गयी। इस अवसर पर प्रेमाबाग मंदिर परिसर में भक्तों की भारी भीड उमडी थी। उपस्थित सभी श्रद्धालुओं के द्वारा विधि विधान के साथ पार्थिव शिवलिंग की पूजा अर्चना की। मान्यता के अनुसार पार्थिव शिवलिंग की आराधना करना शुभ फलदायक होता है। देवराहा बाबा सेवा समिति के द्वारा यह आयोजन प्रतिवर्ष सावन माह में किया जाता है।

 


Date : 12-Aug-2019

कोरिया जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर के रामानुज मिनी स्टेडियम में स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारियां
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 12 अगस्त।
कोरिया जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर के रामानुज मिनी स्टेडियम में जिला स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारियॉ कई दिनों से चल रही है। रामानुज मिनी स्टेडियम में विभिन्न स्कूलों के छात्र छात्राओं के साथ एनसीसी कैडेट, स्काउट गाईड, होम गार्ड, पुलिस जवानों के द्वारा परेड का पूवाभ्यास किया जाता रहा है। जानकारी के अनुसार उक्त स्टेडियम स्थल पर आज 13 अगस्त को परेड का फाईनल पूर्वाभ्यास किया जायेगा। इसके एक दिन बाद स्वतंत्रता दिवस आयोजित है। यही कारण है कि गत 12 अगस्त अवकाश के बावजूद छात्र छात्राओं व पुलिस के जवानों के द्वारा परेड के पूर्वाभ्यास के लिए जुटे। आज 13 अगस्त को परेड के अंतिम पूर्वाभ्यास में कलेक्टर एसपी की उपस्थिति में  परेड की सलामी व मार्च पास्ट किया जायेगा। जिसके बाद स्वतंत्रता दिवस  के दिन जिला  स्तरीय मुख्य समारोह यहॉ आयोजित होगा। इसके अलावा जिले के प्रत्येक स्कूलो में स्वतंत्रता दिवस धूम धाम के साथ मनाये जाने की तैयारियॉ चल रही है। विद्यालयो में छात्र छा़त्राओं द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की तैयारियां भी जोर शोर से चल रही है। आगामी  15 अगस्त को सभी विद्यालयों में ध्वजारोहण किया जायेगा। वही कोरिया जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर के रामानुज मिनी स्टेडियम में मुख्य अतिथि द्वारा ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली जायेगी तथा मार्च पास्ट होगा। इसके पश्चात मिनी स्टेडियम में विभिन्न विद्यालयों के छा़त्र छात्राओं द्वारा रंगा रंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुती प्रदान की जायेगी। जिसके लिए विद्यालयों में जोर शोर से तैयारी चल रही है। 

प्रशासन की तैयारियां अंतिम चरण में 
कोरिया जिला मुख्यालय बैकुण्ठपुर के रामानुज मिनी स्टेडियम  में स्वतंत्रता दिवस के जिला स्तरीय समारोह के लिए जिला प्रशासन के द्वारा आवश्यक तैयारियॉ अंतिम चरण में है। बरसात केा देखते हुए वाटरप्रुफ पंडाल लगाये जा रहे है वही भव्य प्रवेश द्वार बनाने का कार्य अंतिम चरण में है। इसके अलावा समस्त प्रकार की आवश्यक व्यवस्था बनाने के लिए मेहनत की जा रही है। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न विभागों के अधिकारियों केा दायित्व सौंपा गया है।

 


Date : 12-Aug-2019

सावन के अंतिम व चौथे सोमवार को शिवालयों में उमड़े श्रद्धालु
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 12 अगस्त।
सावन के अंतिम व चौथे सोमवार  12 अगस्त को बरसाते पानी के बीच में जिले के विभिन्न शिव मंदिरों में  श्रद्धालुओं की भीड  जुटती रही। इस बार सावन माह में चार सोमवार पडे।  शहर के प्रेमाबाग स्थित प्राचीन शिव मंदिर, एसईसीएल कॉलोनी स्थित नागेश्वर मंदिर, पुलिस लाईन के शिव मंदिर, झुमका तट पर स्थित शिव मंदिरों के साथ आस पास के कई शिव मंदिरों में भक्तों के द्वारा सावन के अंतिम व चौथे सोमवार को  जुटते रहे। इस दौरान मंदिरों में सबसे ज्यादा महिला श्रद्धालुओं की भीड दिखाई दे रही थी। इस दिन हल्की बारिश की झडी लगने के बाद भी श्रद्धालुओं द्वारा पूजा की थाल सजाकर मंदिरों में पूजा अर्चना के लिए जुटते रहे।  

प्रेमाबाग में पार्थिक शिवलिंग की पूजा अर्चना
शहर के प्राचीन शिव मंदिर प्रेमाबाग मंदिर परिसर में देवराहा बाबा सेवा समिति के तत्वाधान में सावन के अंतिम सोमवार को सुबह 9 बजे पार्थिव शिवलिंग का निर्माण कर विधि विधान के साथ जलाभिषेक व पूजन कार्य श्रद्धाजुओं द्वारा किया गया इस अवसर पर पं. सुरेशानंद महाराज के द्वारा पार्थिव शिवलिंग की स्थापना कर पूजा अर्चना कराई गयी।  इस अवसर पर देवरहा बाबा सत्संग समिति के प्रमुख शैलेष शिवहरे, अरविंद सिह, अन्नु दुबे, रवि सिंह सहित  बरसते पानी के बीच में भारी संख्या में श्रद्धालुगण जुटे जिनके द्वारा पार्थिव शिवलिंग की पूजा अर्चना की गयी। इस अवसर पर प्रेमाबाग मंदिर परिसर में भक्तों की भारी भीड उमडी थी। उपस्थित सभी श्रद्धालुओं के द्वारा विधि विधान के साथ पार्थिव शिवलिंग की पूजा अर्चना की। मान्यता के अनुसार पार्थिव शिवलिंग की आराधना करना शुभ फलदायक होता है। देवराहा बाबा सेवा समिति के द्वारा यह आयोजन प्रतिवर्ष सावन माह में किया जाता है।

 


Date : 12-Aug-2019

शिव मंदिर में महंत ने सपत्नीक किया रूद्राभिषेक

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 12 अगस्त।
छग विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत उनकी पत्नी कोरबा सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत के द्वारा सोमवार 12 अगस्त को कोरिया जिले के सोनहत विकासखंड मुख्यालय से करीब पॉच किमी की दूरी पर स्थित हसदो नदी उद्गम स्थल ग्राम मेंडा स्थित शिव मंदिर में सपत्नीक शिवलिंग का रूद्राभिंषेक किया गया। इस अवसर पर सांसद प्रतिनिधि प्रदीप गुप्ता, राजन पांडेय, पुष्पेन्द्र राजवाडे, कृष्णा राजवाडे सहित काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। ज्ञात हो कि डॉ चरण दास महंत के द्वारा मेंडा के शिव मंदिर में प्रत्येक वर्ष पूजा अर्चना के लिए पहुुंचते है उक्त मंदिर के स्थापना के दौरान भी उन्होने भूमिपूजन किया था।सावन के अंतिम सोमवार को अपने तय निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार विधान सभा अध्यक्ष डॉ चरण दास महंत व उनकी सांसद पत्नी श्रीमती ज्योत्सना महंत मेंडा के शिव मंदिर पहुॅच जहां उन्होने विधि विधान के साथ पूजा अर्चना की गयी। पूजा अर्चना पश्चात क्षेत्र के उन्होने लोगों से मुलाकात की। उल्लेखीय है कि कोरिया जिले व प्रदेश की प्रमुख नदियो में से एक हसदों नदी का उद्गम स्थल मेंडा है जहॉ पर मंदिर की स्थापना में डॉ महंत का प्रमुख योगदान रहा है। यहां पर शिवरात्रि के दौरान भारी संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है। जिससे कि इस स्थल की पहचान जिले भर में स्थापित हो चुकी है।


Date : 12-Aug-2019

कोरिया: पर्याप्त बारिश नहीं, बोनी-रोपा बुरी तरह प्रभावित

चंद्रकांत पारगीर

बैकुंठपुर, 12 अगस्त (छत्तीसगढ़)। कोरिय जिले में इस बार मानसून जिस तरह से झमाझम बारिश के साथ शुरू हुई लेकिन बाद में इसकी रफतार धीमी पड गयी। हालत यह रहा है कि आषाढ के महीने मे न ही सावन के महीने में जमकर बारिश हुई। दोनों माह में कुछ दिनों को छोड दिया जाये तो आषाढ व सावन माह में उम्मीद के अनुरूप जमकर बारिश नही हुई। आषाढ़ का ज्यादातर दिन सूखे ही बीते जब सावन की बारी आयी तो सावन में भी जमकर बारिश नही हुइ्र। केवल बीच बीच में कुछ दिन ही बारिश हुई और अधिकांश दिन सावन के भी सूखे बीते। पहला पखवाड़े के बाद दूसरे पखवाडे में भी सावन का सूखा ही अधिकतर समय बीता। इस दौरान हल्की बारिश हुई जो पर्याप्त नही है। अब सावन माह को समाप्त होने में तीन दिन का समय बचा है तब जिले में गत 12 अगस्त को सुबह के समय जिले के कई क्षेत्रों में हल्की बारिश की शुरूआत हुई जो दिन में रूक रूक कर होती रहीै जबकि इस मौसम में अभी झमाझम बारिश होने चाहिए लेकिन ऐसा नहीं हुआ।   प्रदेश के उत्तरी  क्षेत्र कोरिया जिले में बारिश की स्थिति चिंता जनक अब तक बनी हुई है। अब तक जिले में पर्याप्त बारिश नही होने के कारण धान की बोनी के साथ रोपाई कार्य बुरी तरह से प्रभावित हुई है। अभी तक आधे खेतों में भी रोपाई कार्य पूरा नही हो पाया है जिससे कि किसानों की चिंता इस बात को लेकर सता रही है कि कही इस बार भी उन्हे सूखे का सामना न करना पड जाये इसके पूर्व लगातार दो वर्षो तक सूखे की स्थिति रही है। 

इस वर्ष अब तक पानी के अभाव के कारण धान रोपाई का कार्य जिले में पिछड़ गया है। आषाढ़ व सावन माह में बीच बीच में हुई तेज बारिश के बाद धान की रोपाई तेजी से हुई्र थी,लेकिन बीच में बरसात ठीक से नही होने के कारण धान की रोपाई कार्य प्रभावित हुआ। हालत यह है कि अभी तक जिले में करीब 60 प्रतिशत ही धान की रोपा कार्य पूरा किया जा सका है। कई किसानों द्वारा अपने खेतों तक पानी की व्यवस्था कर रोपाई कार्य को पूरा किये लेकिन जिन किसानों के खेतों तक पानी की सुविधा नही है उन खेतों में अब तक रोपाई कार्य पूरा नही हो पाया है। बडे किसानों के द्वारा मजदूर लगाकर पानी मिलने पर तेजी से रोपा कार्य को पूरा कर लिया गया लेकिन छोटै किसान जिनके द्वारा अपने परिवार के सदस्यों के सहारे ही रोपा लगाना था उनका रोपा अभी तक पूरा नही हो पाया है आधे आधुरे खेतों में ही रोपा कार्य पूरा हो पाया है।  

वर्तमान दौर में ज्यादातर किसानों द्वारा हाईब्रिड धान बीजों का उपयोग किया जाता है। बड़े किसानों के द्वारा खेती कार्य के लिए समितियों से कर्ज लिये जाते है। लेकिन इस वर्ष भी पर्याप्त बारिश नही होने के कारण किसानों को अपनी फसल को लेकर चिंता सताने लगी है। क्योंकि फसल उत्पादन के लिए कई किसानों ने कर्ज लिये है तथा कई अपनी जमा पूंजी लगाकर खेती किसानी का कार्य कर रहे है। पानी पर्याप्त नही होने के कारण किसानों को फसल उत्पादन को लेकर चिंता सता रही है कि कही फिर इस बार भी सूखे की मार न  सहना पडृे। अब  सावन के अंतिम समय मे गत 12 अगस्त से जिले के अधिकांश क्षेत्रों में हल्की बारिश की शुरूआत हुई है मौसम को देखते हुए ऐसा लग रहा है कि इसी तरह की बारिश और होगी। इतना भी बारिश होती है तो खेतों में रोपाई  में तेजी आयेगी। 

 


Date : 11-Aug-2019

नाबालिग गर्भपात, पुलिस के हाथ खाली, फरार आरोपी डॉक्टर को अब तक ढूंढ नहीं सकी  

छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर, 11 अगस्त।
कोरिया जिले की एक आदिवासी नाबालिक बालिका का नियम विरूद्ध तरीके से गर्भपात करने वाले शहर के एक निजी अस्पताल के चिकित्सक और रेप और गर्भवती मामले में सह आरोपी महिला की अग्रिम जमानत के लिए हाई कोर्ट ने केस डायरी मंगाई है। वहीं पीडि़त आदिवासी बालिका ने चिकित्सक समेत समस्त स्टाफ को पहचान चुकी है।  अब तक आरोपी डाक्टर को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

जानकारी के अनुसार आदिवासी नाबालिक बालिका के साथ एक कॉलरी कर्मी अंबिकेश्वर सिंह के द्वारा बालिका को बंधक बनाकर दुष्कर्म फिर जबरन गर्भपात कराने के आरोप है जिसके आरोपी व एक महिला सह आरोपी के विरूद्ध पुलिस ने अपराध दर्ज कर जेल भेज दिया तथा मामले की जांच के लिए जुलाई माह के अंत में गर्भपात जिस अस्पताल में कराया गया।  अस्पताल में जांच करने के लिए सीएसपी चिरमिरी के साथ सिटी कोतवाली बैकुंठपुर की टीम पहुंची, उनके साथ पीडि़ता ने चिकित्सक समेत स्टाफ की पहचान भी की। साथ ही आवश्यक दस्तावेजों की जांच की गयी।

 सूत्र बताते है कि उस दौरान पुलिस आरोपी चिकित्सक के साथ बैठकर चर्चा भी की लेकिन उसे गिरफ्तार नहीं किया गया था, तब से आरोपी फरार बताया जा रहा है। पुलिस का कहना था कि पीडि़ता के पास कोई दस्तावेजी सबूत नहीं होने के कारण चिकित्सक को पकड़ा नहीं जा सकता है, जबकि ऐसे संगीन मामले में पीडि़ता का बयान ही काफी बताया जाता है।  पीडि़ता ने अपने बयान में स्पष्ट तौर पर कहा कि बैकुण्ठपुर शहर के निजी चिकित्सालय के संचालक डॉक्टर द्वारा उसका गर्भपात किया।   वर्तमान में आरोपी चिकित्सक पुलिस पकड से बाहर है। 

हाईकोर्ट ने मंगाई केस डायरी
अवैध तरीके से नाबालिग बालिका का गर्भपात करने वाले चिकित्सक को अस्पताल पहुॅच कर जॉच करने के दौरान गिरफ्तारी नहीं की गयी। अब मिली जानकारी के अनुसार  आरोपी चिकित्सक हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए पहुंच गये है। सूत्रों के अनुसार हाईकोर्ट ने मामले की केस डायरी पुलिस से प्रस्तुत करने के निर्देश दिये थे और 5 दिन पूर्व की केस डायरी हाई कोर्ट पहुंच चुकी है।

पुलिस टीम खाली हाथ
नियम विरूद्ध तरीके से आदिवासी नाबालिक बालिका का  गर्भपात करने वाले चिकित्सक को पकडने के लिए पुलिस मुख्यालय रायपुर के निर्देश पर चिकित्सक की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम गठित की गयी है  पर उसके हाथ कुछ हासिल नहीं हो सका है।  

 


Date : 11-Aug-2019

शिवपुर चरचा नपा में एल्डरमेन की नियुक्ति पर सोशल मीडिया में घमासान 

 छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 11 अगस्त।
कोरिया जिले के शिवपुर चरचा नगर पालिका में हुई एल्डरमेन की नियुक्ति को लेकर सोशल मीडिया में घमासान मचा हुआ है तो ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेन्द्र यादव ने काम करने वालों को दरकिनार अपने चहेतों को एल्डरमेन बनाए जाने को लेकर विरोध किया है। उन्होने ऐसे में आने वाले चुनाव कांग्रेस को नुकसान होने की संभावना से इंकार नहीं किया है। 

श्री यादव ने प्रेसविज्ञप्ति जारी कर कहा है कि नगर पालिका चरचा शिवपुर में हुई एल्डरमेन की नियुक्ति में पार्टी के नियमों की अनदेखी कर मनमानी करते हुए पैसे और पहुंच वालों को पद दिया गया है। ऐसे में कर्तव्यनिष्ठ कांग्रेसियों को हासिए पर रखा गया है। जिससे बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओ में नाराजगी है। उन्होने कहा कि इसके चयन मे चरचा के वरिष्ठ कांग्रेसियों से किसी भी प्रकार के सुझाव नहीं लिए गए, पूरा चयन कुछ चंद लोगो के इशारे पर किया गया है, जो लोग चरचा के विकास और संघर्ष के समय नजर नहीं आए। ऐसे लोग अपनी कुटिल मंशा के अनुरूप चरचा में कांग्रेस का जड से खत्म कर देना चाहते है। अपरिपक्व लोगो के एल्डरमेन बनाने से नगर पालिका चरचा का कभी भला नहीं होगा। पालिका क्षेत्रातंर्गत ग्राम सरडी, शिवपुर,खरवत में रहने वाले लगभग 1.0 हजार लोगों में से किसी को प्रतिनिधित्व नहीं दिया गया है। अब ऐसे में इन क्षेत्रो में कांग्रेस का झंडा कौन उठाएगा, क्षेत्र के हजारों दलित और पिछडा वर्ग के लोगो को भी मौका नहीं दिया गया हैै जबकि इन लोगो को विधानसभा और लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए पूरे समर्पण के साथ काम किया है। उन्होने एल्डरमेन नियुक्ति में हुई तानाशही और मनमानी की शिकायत प्रदेश अध्यक्ष और प्रभारी मंत्री को कर मामले में कार्यवाही की मांग किए जाने की बात कही है।

 

 


Date : 11-Aug-2019

हल्की बारिश में टूटा रामपुर बांध

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 11 अगस्त।
कोरिया जिले के जनपद पंचायत बैकुंठपुर अंतर्गत ग्राम पंचायत रामपुर प में पंचायत के द्वारा पूर्व में गॉव के एक नाला पर पंचायत द्वारा बनाया छोटा बांध हल्की बारिश में एक तरफ से टूट गया, जिसके बाद किसानों ने खुद श्रमदान कर उसके पानी को रोका, किसान बताते है कि इस छोटे बांध से 100 एकड से ज्यादा खेतों की सिचाई होती है कई बार प्रशासन को इस पर पक्का बांध बनाए जाने की मांग की गई है, परन्तु कोई सुनने वाला नही है। 

जानकारी के अनुसार रामपुर पंचायत (प) के द्वारा कुछ वर्ष पूर्व साहूपारा के सरईघाट नाला पर मिटटी भरकर बांध बनाया गया था जो वर्तमान की हल्की बरसात से उसका एक हिस्सा टूट गया। जिसके बाद से लगातार बांध का जमा पानी बह रहा था, जिसके बाद प्रभावित किसानों द्वारा एकजुट होकर बहते पानी को रोका गया। किसानों ने बताया कि कच्चे बांध को मजबूत बनाने के लिए पक्का एनीकट निर्माण कराने की मांग उनके द्वारा कई बार की गयी थी लेकिन इस दिशा में ध्यान नही दिया जा रहा था। सरईनाला में बरसात के दौरान पानी का तेज बहाव होता है, इसके ग्राम पंचायत ने मिट्टी के सहारे बांध रखा है। जिस पर ध्यान नही दिये जाने के कारण मिट्टी का कटाव होकर इस बार पूरी तरह से बांध की मिट्टी बह गयी। किसानों का कहना है कि सरईनाला बांध से आधा गांव के करीब 100 एकड खेतों को पानी मिलता है। यदि बांध के पानी को नही रोका गया तो जरूरत के समय खेतों को पानी नही मिल सकेगा इसी बात को ध्यान में रखकर ग्रामीणों के द्वारा मिलकर टूटे बांध को जोडने में सहयोग प्रदान किया गया। 

सीमेंट से बांध दिया जाये तो स्थाई हल
ग्राम पंचायत रामपुर (प) के साहूपारा के सरईनाला में बरसात के समय जल का अच्छा बहाव रहता है। जिस पर मिट्टी के बांध की जगह पर पक्की बांध बना दिया जाता है तो इस बांध के पानी को गर्मी के दिनों तक संरक्षित करके रखा जा सकता है जिससे कि ग्रामीणों केा रबी फसलों के साथ गर्मी के सीजन में भी उपयोग के लिए पानी मिल सकेगा तथा बांध को पक्की बनाने से ग्रामीणों को साल भर इस बांध का लाभ मिल सकेगा। 

यही कारण है कि ग्रामीण बांध में पानी के बहाव को देखते हुए पक्की बांध बनाने के लिए कई बार आवेदन दिये लेकिन उनकी कोई सुन नही रहा है। जबकि जल संरक्षण की दिशा में यह आवश्यक है। 

 


Date : 11-Aug-2019

विभिन्न विभागों के तबादला सूची जारी होने के बाद कर्मियों में नाराजगी, 10 की जगह 15 फीसदी किए गए

छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 11 अगस्त।
कोरिया जिले में बीते दिनों हुए विभिन्न विभागों के तबादला सूची जारी होने के बाद कुछ शासकीय कर्मियों में नाराजगी है। तबादला सूची में भारी गड़बड़ी है, सरकार की स्थानांतरण नीति जिसमें 10 प्रतिशत स्थानांतरण करना था प्रशासन ने 15 प्रतिशत कर डाले। इस तरह नियम विरूद्ध तरीके से कईयों के तबादले कर दिये गये जो कर्मचारियों के नाराजगी का कारण बन गया है। दूसरी ओर नाराज कर्मचारियों को सूचना के अधिकार से जानकारी भी नहीं दी जा रही है। 

जानकारी के अनुसार कोरिया जिला प्रशासन ने 15 जुलाई को आदेश जारी 246 कर्मचारियों का स्थानांतरण कर दिया। इसके पूर्व नीति बनाये जाने के बाद स्थांतरण के लिए बैन खोला गया और स्थानांतरण के लिए शासकीय कर्मचारियों से आवेदन मंगाये गये। इसके बाद जिले के प्रभारी मंत्री के अनुसंसा पर ही कलेक्टर द्वारा तबादला सूची जारी कर दी गई। शिकायतों के अनुसार कलेक्टर कार्यालय में राजस्व स्थापना शाखा अंतर्गत जहां 10 प्रतिशत स्थानांतरण करना था वहां 15 प्रतिशत कर्मियों का स्थानंातरण कर दिया गया। बताया जा रहा है कि जो सूची प्रभारी मंत्री द्वारा भेजी गई उसमेेंं रातोंरात फेरबदल कर दिया गया। जिसे लेकर बीते कई दिनों से बवाल मचा हुआ है। 

नहीं मिल रही जानकारी
नियम विरूद्ध तरीके से हुए स्थानांतरण या फिर अपने स्थानंातरण से क्षुब्ध शासकीय कर्मियों के द्वारा स्थानांतरण सूची जारी होने के बाद आदेश संसोधन करने की मांग संबंधी आवेदन दिये लेकिन उनके आवेदकों पर किसी तरह का विचार नहीं किया गया। जिसे लेकर जिला मुख्यालय से राजधानी तक कई चक्कर काट रहे है वही कुछ स्थानांतरित कर्मचारी ऐसे भी है जो अपने स्थानांतरण को हाईकोर्ट में चुनौती दे चुके हैं तथा कई अन्य अभी कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं लेकिन उन्हें संबंधित विभाग के द्वारा सूचना के अधिकार से जानकारी मॉगे जाने पर भी उपलब्ध नहीं करायी जा रही है।  

हमारे पैसे वापस दो
जिले में स्थानांतरण में जमकर पैसों के लेन देन को लेकर शिकायतें सामने आईं हैं। जिन शासकीय कर्मियों के द्वारा मनचाहा स्थान पर स्थानांतरण कराने के लिए पैसे दिये गये थे  लेकिन नहीं किया गया, जिससे कि वे क्षुब्ध हंै।   अब उनसे ऐसे लोग पैसे मांग रहे है। ऐसी जानकारी सोनहत, भरतपुर, मनेन्द्रगढ और बैकुंठपुर में काफी देखी जा रही है। वही मंत्रियों विधायकों तक पहुंच वाले लोग अब उन्हें यह कह टाल रहे है कि समय दीजिए राज्य स्तर होने वाले तबादलों में उनका मनचाहे जगह तबादला करा देंगे। लेकिन   वसूले गये पैसों को नहीं लौटाया जा रहा है। जिससे कि शासकीय कर्मी अपने आप को ठगा महसूस कर रहा है।  

 

 

 


Date : 10-Aug-2019

कोरिया कृषि विज्ञान केन्द्र में असिल नस्ल की मुर्गियों का संर्वधन-प्रजनन 
छत्तीसगढ़ संवाददाता
बैकुंठपुर, 10 अगस्त।
कोरिया स्थित कृषि विज्ञान केन्द्र ने प्रायोगिक तौर पर असिल नस्ल की मुर्गियों के संर्वघन और प्रजनन का कार्य शुरू किया है, आंध्र प्रदेश और बस्तर मे बहुतायत में पाई जाने इस मुर्गी को वायएसआर हार्टीकल्चर युनिवर्सिटी वेकेटरमनागुडंम राजसुन्दरी से लाया गया है। 

इस संबंध में कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रमुख और वरिष्ठ वैज्ञानिक आरएस राजपूत का कहना है कि इन मुर्गियों के लिए यहां का वातावरण अच्छा है इनमें प्रचूर प्रोटिन की मात्रा पाई जाती है और इनका वजन भी आम मुर्गियों से ज्यादा होता है, प्रायोगिक तौर पर इसकी शुरूआत की गई है, सफल होने पर वृहद स्तर पर इसका उत्पादन किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार कृषि विज्ञान केन्द्र कोरिया में असिल नस्ल के 500 चूजों को लाया गया है, केन्द्र के पशुपालन वैज्ञानिक डॉ संभूति शंकर साहू  के मुताबिक ये मुर्गियां द्विकाजी नस्ल होती हैै, इनकी पैर और गर्दन लंबी के साथ बेलनाकार होती हैं, नर असिल का वजन साढे 4 किलो से 6 किलो ओर मादा का औसत साढे 3 किलो से साढे 4 किलो तक होता है, ये औसत 80 से 90 अंडे प्रतिवर्ष देती हंै। ये मुर्गियां अपने झगड़ालूपन के लिए जानी जाती हंै, यही कारण है बस्तर में इनका उपयोग मुर्गी लड़ाई के खेल के लिए किया जाता है। इनके मांस में काफी मात्रा में प्रोटिन पाया जाता है ये मुर्गियां कई तरह की बीमारियों के लिए सहनशील है। यही कारण है दूसरे किस्म की मुर्गियों के  मुकाबले कम खर्च और सीमित साधन पर इनका उत्पादन किया जा सकता है।


Date : 10-Aug-2019

30 लाख तालाब के निर्माण में स्वीकृत, 3 माह पहले बने तालाब में दरारें
छत्तीसगढ़ संवाददाता 
बैकुंठपुर 10 अगस्त।
कोरिया जिले के मनेन्द्रगढ़ वनमंडल में अप्रैल मई  में बना  तालाब में कई जगह से  दरारें आ गयी।  पीली मिट्टी डाल कर उसे छुपाया गया जो साफ देखा जा सकता है।  काम ऐसा हुआ कि तालाब के चारों ओर की मिट्टी ढहकर नीचे जा गिरी है।

वहीं वन मंडल मनेन्द्रगढ के बहराशी रेज के प्रभारी डिप्टी रेंजर शिवानंद द्विपेदी का कहना है कि तालाब में किसी तरह की कोई खामी नहीं है, बारिश में थोड़ा बहुत मिट्टी नीचे आती ही है।

जानकारी के अनुसार मनेन्द्रगढ़ वनमंडल में कैम्पा मद से 30 लाख रू की लागत से ग्राम खमरौद के जंगल में तालाब का निर्माण करवाया गया, ग्रामीणों की माने तो विभाग ने फटाफट जेसीबी में इस तालाब का निर्माण करवाया, तालाब की मेढों पर काली मिट्टी डाली गयी, परन्तु उसे सही ढंग से दबाया नही ंगया, वही ंपत्थरों की पिंचिग का कार्य भी सही ढंग से नहीं किया गया, जिसके कारण तालाब के चारों ओर की ूिम्टटी ढह गयी, बोल्डरों की पिंचिग की जगह गोल गोल पत्थरों से पिचिंग कर दी गई है। फिलहाल तालाब के अंदर तीन तरफ पिंचिग थोडी हो पाई है। वहीं उसके चारों पेड़ के साथ घास लगाई जानी थी, ताकि मिट्टी के कटाव को रोका जा सके, वहीं भी नहीं किया गया।

 इन दिनों हल्की बारिश जारी है ऐसे में तालाब के चारों ओर पौधारोपण किया जा सकता था।
एक सप्ताह पहले तालाब के दो तरफ की मेड़ के बीचों बीच  दरार आ गयी, जिसके बाद उसे पीली मिट्टी से भरा गया जो अब साफ देखा जा सकता है। दूसरी ओर तालाब की गहराई भी ज्यादा नहीं की गई है जिसके कारण काफी कम  पानी रूक सका है। 

30 लाख पर सवाल
बताया जाता है कि मनेन्द्रगढ वनमंडल द्वारा कैम्पा मद से लगभग 30 लाख रू इस तालाब के निर्माण में स्वीकृत किए गए। परन्तु निर्माण के समय मौजूद ग्रामीण बताते है कि बहुत ही कम लागत पर इस तालाब का निर्माण कर दिया गया, हड़बड़ी में बनाए गए इस तालाब में सरकारी राशि का जमकर दुरूपयोग किया गया हैं, उन्होंने बताया कि  मजदूरी भी काफी कम दी गई है। 


Date : 10-Aug-2019

युवा कारोबारियों ने दो दिवसीय शिविर में की स्कूल बैग की नि:शुल्क मरम्मत

चिरमिरी, 10  अगस्त। युवा व्यापारियों ने शा.उ.मा.शा. हल्दीबाड़ी में दो दिवसीय शिविर में आर्थिक रूप से कमजोर स्कूली बच्चों को आवश्यक अध्ययन सामग्री का वितरण किया। शिविर में संगम बैग हाउस, हल्दीबाड़ी के संचालक शंकर प्रसाद ने स्कूली बच्चों के स्कूल बैग की नि:शुल्क मरम्मत की। संजय मोबाइल के संचालक संजय जैन व ओम प्रकाश ताम्रकर ने पहली से पांचवी तक के बच्चों को टिफिन बॉक्स का वितरण किया ।

युवा व्यापारियों ने बताया कि उन्होंने देखा कि इस स्कूल में पढऩे आने वाले कुछ बच्चे पुराने स्कूल बैग लेकर पढऩे आते हैं। बैग के कई जगह से फटे होने के कारण अक्सर किताबें व कापियां बैग से बाहर झांकती नजर आती थी। इसे देखकर उन्होंने इन स्कूली बच्चों के बैगों की नि:शुल्क मरम्मत करने हेतु स्कूल में कैंप लगाने का विचार बनाया। जब उन्होंने स्कूल प्रबंधन से बात की तो वे कैम्प के लिए सहर्ष तैयार हो गए ।  इस दो दिवसीय शिविर को सफल बनाने में मुख्य रूप से राव पैथोलेब के संचालक कृष्णा राव, शशिकान्त अग्रवाल एवं विद्यालय के प्राचार्य सहित शिक्षकों का योगदान रहा।