छत्तीसगढ़ » रायपुर

Date : 06-Dec-2019

इलाज में लापरवाही से मरीज की मौत, परिजनों ने अस्पताल में हंगामा मचाया
छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 दिसंबर।
समता कॉलोनी के एक निजी नर्सिंग होम में महिला की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा मचाया। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर ने एक्सपायरी डेट की इंजेक्शन लगाई जिसके कारण मरीज की मौत हो गई।

मृतका के परिजनों की नर्सिंग होम के स्टॉफ के साथ बहस भी हुई। इस दौरान उन्होंने तोडफ़ोड़ भी की। पुलिस के पहुंचने तक विवाद जारी था। घटना गोयल नर्सिंग होम की है। मोमिनपारा निवासी रौशन बानो नामक महिला का इलाज चल रहा था।

परिजनों के मुताबिक मृतका पिछले कई सालों से हार्ट की समस्या से जूझ रहीं थी। इसके बाद डॉक्टर गोयल के द्वारा लिखी गई इंजेक्शन लगाई गई और फिर कुछ देर बाद महिला की मौत हो गई। परिजनों ने  देखा तो एक्सपायरी डेट वाला इंजेक्शन लगा था। इसके बाद परिजनों ने  अस्पताल में जमकर हंगामा किया। परिजनों ने लापरवाही से मौत का आरोप लगाया, लेकिन डॉक्टर इंकार करते रहे। अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया गया। चिकित्सक एसोसिएशन भी इसको लेकर लामबंद हो गया है। कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डॉ. राकेश गुप्ता ने प्रकरण की जांच की मांग की है। 

 


Date : 06-Dec-2019

तात्यापारा वार्ड की समस्या रही उपेक्षित, पार्षद का नाता सेवा से नहीं मेवा से
छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 दिसंबर।
तात्यापारा वार्ड के लिए भाजपा प्रत्याशी प्रफुल्ल विश्वकर्मा के नाम की घोषणा के बाद शुक्रवार को कांग्रेस की ओर से रितेश त्रिपाठी के नाम की घोषणा कर दी गई। वार्ड वासियों का मानना है कि पार्षद किसी भी पार्टी का हो उसका वास्ता वार्ड से कम कुर्सी से ज्यादा रहता है और यही कारण है कि वार्ड में सफाई, पानी जैसी समस्या वर्तमान है। 
तात्यापारा वार्ड निवासियों का कहना है कि जिस तरह पार्षद पद के लिए प्रत्याशी घर-घर जाकर वोट मांगते हैं उसी तरह अगर पार्षद बनने के बाद प्रत्याशी घर-घर जाकर निवासियों की समस्या की सुध लें तो वार्ड समस्या मुक्त हो जाता। 

गृहिणी निशा राहटगांवकर कहती हैं चुनाव गए आए लेकिन वार्ड की समस्या ज्यों की त्यों है। ड्रेनेज सिस्टम खराब है। घरों में साफ पानी नहीं आता। आए दिन वार्डवासी बीमारी से घिरे रहते हैं। आवारा मवेशियों का जमघट लगा रहता है। प्रत्याशी वोट मांगने आते हैं और जीतने के बाद वार्ड को भुला देते हैं। प्रफुल्ल विश्वकर्मा तो फिर सभापति हैं भला वह क्यों घूमेंगे? शिवाजी की प्रतिमा स्थल का सौंदर्यीकरण तक नहीं कराया गया। 

महेश बंजारी कहते हैं प्रफुल्ल विश्वकर्मा वर्षों से पार्षद हैं। सबको लेकर चलते हैं वार्डवासियों के लिए प्रत्याशी की व्यक्तिगत छवि और पार्टी दोनों ही माएने रखती है। वयोवृद्ध अशोक राहटगांवकर का मानना है कि सारी लड़ाई कुर्सी की है। सेवा से किसी का वास्ता नहीं है। सब मेवा खाना चाहते हैं। अशोक रहाटगांवकर कहते हैं चुनाव के नाम पर बेइंतहा खर्च पर रोक लगाकर पक्ष विपक्ष को 5-5 साल के लिए पार्षद की जिम्मेदारी सौंप देनी चाहिए। नियम होना चाहिए कि कोई पार्षद रिपीट न हो। 

 


Date : 06-Dec-2019

कांग्रेस-भाजपा में कई बागी, मान मनौव्वल की कोशिश, पार्टी दफ्तर में  टिकट कटने से नाराज एक प्रत्याशी और उनके समर्थकों ने जमकर हंगामा किया

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 6 दिसंबर। नामांकन दाखिले के आखिरी दिन टिकट वितरण से नाराज कांग्रेस और भाजपा के कई नेताओं ने बागी होकर नामांकन दाखिल कर दिया। भाजपा में तो तनावपूर्ण माहौल रहा। पार्टी दफ्तर में  टिकट कटने से नाराज एक प्रत्याशी और उनके समर्थकों ने जमकर हंगामा किया। बाद में उन्हें सूचना दी गई कि उन्हे टिकट दी जा रही तब कहीं जाकर धरना खत्म किया।

एकात्म परिसर में शुक्रवार को पार्षद प्रत्याशी गोपेश साहू अपने समर्थकों के साथ सुबह से ही धरने पर बैठ गए। पहले गोपेश का नाम तय किया गया था, लेकिन उनकी जगह अपील समिति ने अशोक सिन्हा को प्रत्याशी बना दिया। गोपेश के साथ बड़ी संख्या में महिलाएं भी धरने पर बैठी थी। घंटों नारेबाजी चलती रही इसके बाद सूचना आई कि उन्हें टिकट मिल गई है। इसके बाद गोपेश साहू के समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ पड़ी और फिर नाचते गाते नामांकन दाखिले के लिए निकल पड़े।

यही नहीं, ब्राम्हणपारा वार्ड से सरिता आकाश दुबे को टिकट देने के खिलाफ सोनकर समाज के लोगों ने पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल को ज्ञापन भी भेजा है। समाज के लोगों ने भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ काम करने की बात कही है। दूसरी तरफ, महापौर प्रमोद दुबे को भी भगवती चरण शुक्ल वार्ड में विरोध का सामना करना पड़ा है। व्यवसायी अर्जुन वासवानी ने निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रमोद दुबे विगत 50 वर्षों से ब्राम्हण पारा में निवासरत रहे है। पिछला चुनाव भी उन्होंने वही से लड़ा। परंतु पार्टी की संपूर्ण नियमों को अनदेखा कर जिस तरह से प्रमोद दुबे का चयन वार्ड क्रमांक 57 भगवती चरण शुक्ल वार्ड से किया गया है। दीनदयाल उपाध्याय नगर, स्वामी आत्मानंद वार्ड और कई अन्य जगहों से दोनों ही दलों से बागियों के चुनाव मैदान में उतरने की खबर है। नाम वापसी के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। दोनों ही दलों के नेता अपने यहां विरोध को शांत करने की कोशिश में लगे हैं।

 

 


Date : 06-Dec-2019

एनकाउंटर के दौरान आरोपियों को मारे जाने की घटना अपराधियों के लिए स्ट्रांग मैसेज है, जिन्होंने ऐसा घृणित काम किया उनके अधिकार का सवाल ही नहीं उठता है, शिक्षा की कमी अपराध की जड़ है, अपराधियों को कानून का ज्ञान नहीं है- छात्र अनुभव पटेरिया

छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 दिसंबर।
हैदराबाद गैंगरेप के आरोपियों के एनकाउंटर की खबर शुक्रवार को युवाओं की चर्चा का केंद्र बिन्दु रही। रविवि के कुछ  विद्यार्थियों ने हैदराबाद की घटना से लेकर एनकाउंटर पर गहन चर्चा करते हुए हैदराबाद जैसी घटना के लिए अशिक्षा और मां बाप द्वारा बच्चों के पालन-पोषण को जिम्मेदार बताया। 

छत्तीसगढ़ से बातचीत के दौरान छात्र अनुभव पटेरिया ने कहा एनकाउंटर के दौरान आरोपियों को मारे जाने की घटना अपराधियों के लिए स्ट्रांग मैसेज है। जिन्होंने ऐसा घृणित काम किया उनके अधिकार का सवाल ही नहीं उठता है। अनुभव कहते हैं शिक्षा की कमी अपराध की जड़ है। अपराधियों को कानून का ज्ञान नहीं है। 

शालिनी बोस कहती हैं इस तरह के मामले में मानव अधिकार के नाम कई लोग झंडे बुलंद करते हैं, लेकिन ये सही नहीं है। हैदराबाद कांड के आरोपियों को एनकांउटर के दौरान मार दिया गया। ये ठीक है, लेकिन इस बात का ध्यान रखना जरूरी है एनकाउंटर का दुरुपयोग न हो। 

आयुषी शर्मा इस तरह के अपराध की जड़ अशिक्षा और पैरेटिंग को मानती हैं। आयुषी कहती हैं वर्तमान में ज्यादातर पेरेन्ट्स नौकरीपेशा हंै। बच्चों के हाथ में मोबाइल है। वह क्या सर्च करते हैं, क्या देखते हैं, क्या विश्लेषण करते हैं और किससे इन सारी बातों को साझा करते हैं? इससे माता-पिता का वास्ता नहीं रहता है। बच्चों में इन्हीं कारणों से डिप्रेशन है, गुस्सा है उत्तेजना है। संयुक्त परिवार टूट गए हैं। मानवीय रिश्तों की जगह तकनीक मकडज़ाल से बच्चे घिरे हुए हैं। ऐसे में अपराध पनप रहे हैं। अंकित शर्मा का कहना है कि हैदराबाद जैसे कांड के विरोध में कैंडल मार्च बेमानी है। 

 

 


Date : 06-Dec-2019

निकाय चुनाव में भाजपा का हाल विस चुनाव की तरह होगा- ठाकुर, धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार के 11 महीने के कार्यकाल के जन हितेषी कार्यों को मिल रहे जनसमर्थन के बाद भाजपा नगरीय निकाय चुनाव में मुद्दाविहीन हो चुकी है

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 6 दिसंबर। भाजपा का विधानसभा चुनाव में जो हाल हुआ है वही स्थिति नगरीय निकाय चुनाव में भी होंगे। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार के 11 महीने के कार्यकाल के जन हितेषी कार्यों को मिल रहे जनसमर्थन के बाद भाजपा नगरीय निकाय चुनाव में मुद्दाविहीन हो चुकी है। ढाई करोड़ जनता ने डॉ रमन सिंह के 15 साल के शासनकाल के बाद विधानसभा चुनाव में भाजपा की जो हालात किए हैं, वही स्थिति फिर भाजपा की नगरीय निकाय चुनाव में होगी।

कांग्रेस द्वारा टिकट वितरण में अपनाई गई, लोकतांत्रिक प्रक्रिया पारदर्शिता एवं तेरा मेरा के भावना से हटकर कार्यकर्ताओं के पक्ष में लिए गए निर्णय से कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह है। कांग्रेस के टिकट वितरण की सराहना आम जनता भी कर रही है। आम कार्यकर्ता एवं जनता के बीच निरंतर बने रहने वाले कार्यकर्ताओं को वार्ड के प्रत्याशी बनाए जाने से कार्यकर्ताओं में भारी उत्साह है, इसका लाभ कांग्रेस को नगरीय निकाय चुनाव के परिणाम में मिलेंगे। कांग्रेस अपने पिछले नगरीय निकाय चुनाव के रिकॉर्ड को इस बार तोडक़र ऐतिहासिक जीत दर्ज कराएगी। नगरीय निकाय चुनाव में छत्तीसगढ़ की जनता भाजपा को सबक सिखाएगी। किसानों के धान खरीदने में केंद्र सरकार के द्वारा बार-बार लगाई जा रही अड़ंगा से छत्तीसगढ़ का किसान परिवार भाजपा से नाराज एवं आक्रोशित है। छत्तीसगढ़ भाजपा नेताओं के किसान विरोधी चेहरा छत्तीसगढ़ की जनता ने देख लिया है नगरीय निकाय चुनाव के भाजपा को छत्तीसगढ़ के हित का विरोध करने का परिणाम भोगना पड़ेगा।

प्रदेश प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व वाली सरकार ने 11 महीने में नगरीय निकाय क्षेत्रों में कोई नया कर जनता के ऊपर नहीं लादा। विकास कार्यों के नाम से किसी गरीब के मकान दुकान को नहीं तोड़ा। बिजली बिल हाफ से जनता आर्थिक राहत महसूस कर रही है। किसानों के कर्ज माफी, धान के 2500 रू. प्रति क्विंटल की दर से खरीदी, जाति प्रमाण पत्र के सरलीकरण, नगरीय निकाय क्षेत्रों को टेंकर मुक्त करना एवं घर-घर में नि:शुल्क नल पहुंचाने की योजना से कांग्रेस सरकार के प्रति आम जनता का विश्वास मजबूत हुआ है।

 


Date : 06-Dec-2019

समाज शास्त्र द्वारा 21 सदी में गांधी के विचारों की प्रासंगिकता विषय पर सेमीनार का शुभारंभ

रायपुर, 6 दिसंबर। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के समाज शास्त्र एवं समाज कार्य अध्ययन शाला द्वारा 21 सदी में गांधी के विचारों की प्रासंगिकता विषय पर केंद्रित राष्ट्रीय सेमीनार का शुक्रवार को शुभारंभ हुआ। सेमीनार का उद्घाटन कुलपति प्रोफेसर केसरी लाल वर्मा द्वारा किया गया।  6 से 8 दिसंबर तक आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी में सामाजिक आर्थिक विकास और महात्मा गांधी वैश्विक परिप्रेक्ष्य में गांधी, भारतीय संस्कृति एवं गांधी दर्शन, दलितोद्धार और गांधी दर्शन, महात्मा गांधी और सर्वोदय, महात्मा गांधी और स्वालंबन, छत्तीसगढ़ में गांधी साहित्य जैसे संदर्भों को शामिल किया जा रहा है। राष्ट्रीय संगोष्ठी में प्रो. नृपेंद्र मोदी, डॉ. अनिल दत्त मिश्रा, प्रो. आईएस चौहान, प्रो. जयप्रकाश, एम.त्रिवेदी, प्रो. अरविंद जोशी, प्रो. सी.एस. ठाकुर, प्रो. बी.के स्वॉइन की भागीदारी रहेगी। 

 

 

 


Date : 06-Dec-2019

विप्र कला वाणिज्य एवं शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय में वार्षिक खेल उत्सव आयोजित, दौड़, गोला फेंक का रोमांच, बोरी दौड़ में मीनल झा विजेता रहीं

छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 दिसंबर।
विप्र कला वाणिज्य एवं शारीरिक शिक्षा महाविद्यालय में आयोजित वार्षिक खेल उत्सव के तहत शुक्रवार को दौड़, लंबी कूद, गोला फेंक, लेमन रेस, स्लो साइकिल रेस और बोरी दौड़ प्रतियोगिता आयोजित की गई। 

विप्र कॉलेज के मैदान में वार्षिक खेल उत्सव के तहत छात्रा वर्ग में 100 मीटर रेस में आंचल ठाकुर विजेता रही। छात्र वर्ग में कृष्णा देवांगन, गोला फेंक 12 किलो में छात्रा वर्ग में राधिका विजेता रहीं। गोला फेंक छात्र वर्ग में विकास साहू, 200 मीटर रेस छात्रा वर्ग में अंजली गिरी, छात्र वर्ग में विनय प्रजापति, स्लो साइकिल रेस में मृणाल विजेता रही।  लेमन रेस में मीणा और विजय साहू और बोरी दौड़ में मीनल झा विजेता रहीं। 


Date : 06-Dec-2019

प्रमिला​ गोकुलदास डागा कन्या महाविद्यालय में फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता आयोजित, 30 छात्राओं ने लिया भाग, स्पर्धा की विजेता अपेक्षा बिसेन रहीं

छत्तीसगढ़ संवाददाता
रायपुर, 6 दिसंबर।
प्रमिला गोकुलदास डागा कन्या महाविद्यालय में वार्षिक सांस्कृतिक कार्यक्रम की श्रृंखला में शुक्रवार को फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें 30 छात्राओं ने भाग लिया। छात्राओं ने राधा-कृष्ण देवी मां सहित विविध रूप धारण किया। 

स्पर्धा की विजेता अपेक्षा बिसेन रहीं। दूसरा स्थान पूनम पांडेय और आरती शुक्ला ने प्राप्त किया। खुशबू यादव तीसरे स्थान पर रही तथा पुष्पा पांडेय और आयुषी को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। बतौर निर्णायक अन्नु वर्मा और चंचलबाला साहू की सहभागिता रही। इस अवसर पर प्राचार्य डॉ. संगीता घई, डॉ. पदमा शर्मा, छात्र संघ प्रभारी डॉ. स्मृति अग्रवाल, सांस्कृतिक प्रभारी डॉ. रेणुका बक्शी, गायत्री शर्मा तथा डॉ. प्रिया चंद्राकर मौजूद रही। 

 


Date : 06-Dec-2019

नगरीय निकाय चुनाव : आखिरी पल तक तनाव के बीच बाजे-गाजे के साथ दावेदारों ने वार्ड चुनाव नामांकन भरे

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 6 दिसंबर। नगरीय निकाय चुनाव के नामांकन दाखिले के आखिरी दिन कांग्रेस-भाजपा और अन्य दलों के प्रत्याशियों ने बाजे-गाजे के साथ नामांकन दाखिल किया। इस मौके पर कलेक्टोरेट के आसपास टै्रफिक जाम रहा। तनाव और आपाधापी के बीच 3 सौ से अधिक प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किए।

कांग्रेस ने नगर निगम वार्ड पार्षदों की सूची शुक्रवार की सुबह जारी की। इसके बाद सभी 70 वार्डों के प्रत्याशी नामांकन पत्र दाखिल करने पहुंचे। हालांकि सूची सुबह जरूर जारी की गई थी, लेकिन ज्यादातर को पहले ही संकेत दे दिए गए थे, ताकि वे नामांकन से जुड़ी तैयारियां कर सके। कुछ इसी तरह का नजारा भाजपा में भी देखने को मिला। पार्टी दफ्तर एकात्म परिसर में टिकट कटने से नाराज दावेदार और उनके समर्थकों की भीड़ जमा थी, तो दूसरी तरफ प्रत्याशी और उनके समर्थक भी पहुंचे थे। यहां तनावपूर्ण स्थिति पैदा हो गई थी। 

पार्टी ने पहले ही तय कर दिया था कि एक साथ जुलूस की शक्ल में  नामांकन दाखिल करने जाएंगे। ऐसे में सांसद सुनील सोनी, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, श्रीचंद सुंदरानी के साथ शहर जिला भाजपा अध्यक्ष राजीव अग्रवाल और अन्य प्रत्याशी बैंड-बाजा और नंगाड़े के साथ कलेक्टोरेट परिसर पहुंचे। साथ ही नामांकन दाखिल किया। न सिर्फ कांग्रेस-भाजपा बल्कि दोनों ही दलों के कई बागियों ने भी नामांकन दाखिल किया है। कांग्रेस से नामांकन दाखिल करने वालों में मौजूदा महापौर प्रमोद दुबे के अलावा महापौर पद के दावेदार श्री कुमार मेनन, ज्ञानेश शर्मा, अनवर हुसैन, एजाज ढेबर, सतनाम सिंह पनाग, नागभूषण राव सहित अन्य थे।

दूसरी तरफ, भाजपा से खुद शहर जिलाध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने संत वाल्मिकी वार्ड, संजय श्रीवास्तव कालीमाता वार्ड, सुभाष तिवारी अरविंद दीक्षित वार्ड, प्रफुल्ल विश्वकर्मा, तात्यापारा वार्ड से संजूनारायण सिंह ठाकुर पुरानी बस्ती वार्ड के अलावा अशोक पाण्डेय, मीनल चौबे, सचिन मेघानी सहित अन्य ने नामांकन दाखिल किया। उल्लेखनीय है कि रायपुर नगर निगम में इससे पहले तक 199 लोगों ने नामांकन दाखिल किया था, लेकिन आज आखिरी दिन समाचार लिखे जाने तक 3 सौ से अधिक लोगों ने नामांकन दाखिल किया। एक निर्दलीय प्रत्याशी शंकरलाल प्याज की माला पहनकर कलेक्टोरेट पहुंचा था। मीडियाकर्मियों की निगाह उन पर पड़ी और आसपास काफी भीड़ जमा हो गई।

शंकरलाल ने धक्का मुक्की के बीच नामांकन दाखिल किया। उनके साथ धक्का मुक्की भी हो गई थी। जिसके बाद उन्होंने पुलिस से मदद मांगी। इसके बाद उनकी सुरक्षा के लिए दो जवान प्रदान किया गया। बता दें कि देश में इस समय प्याज की कीमतें आसमान छू रही है। इसके विरोध को लेकर शंकरलाल ने प्याज का ही माला पहन लिया। लोगों के बीच शंकरलाल का यह अंदाज चर्चा का विषय रहा।

 नगरीय निकाय के चुनाव में पार्षद का चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों को समस्त खर्चों के दिन-प्रतिदिन का लेखा का मूल रजिस्टर, चुनाव व्यय का सार विवरण तथा प्रत्याशी का शपथ पत्र देना जरूरी है। चूंकि पार्षद के चुनाव के लिए व्यय सीमा निर्धारित है इसलिए चुनाव के दौरान प्रत्याशियों व्दारा की जाने वाली आमसभा, रैली, जलुसू आदि के व्यय लेखा निरीक्षण हेतु प्रत्याशियों की निगरानी दलों के समक्ष प्रस्तुत किया जायेगा। उसका मिलान निगरानी करने वाले अधिकारी के प्रतिवेदन से किया जाएगा। इसके लिए जिला निर्वाचन अधिकारी व्दारा निगरानी दल गठित किया जाएगा, जो व्यय लेखा हेतु निर्वाचन व्यय संपरीक्षक को समय समपय पर प्रत्याशियों व्दारा किए गए खर्चों की जानकारी देंगे।


Date : 06-Dec-2019

बटरेल के आंगनबाड़ी केंद्र हुए कुपोषण मुक्त, मुख्यमंत्री ने कार्यकर्ता और सहायिका को किया सम्मानित

छत्तीसगढ़ संवाददाता  
रायपुर, 6 दिसंबर। 
प्रदेश को कुपोषण मुक्त करने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा चलाये जा रहे मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के जमीनी नतीजे मिलने लगे हैं। जहां अच्छा कार्य हो रहा है उसकी प्रशंसा स्वयं मुख्यमंत्री द्वारा की जा रही है। दुर्ग जिले के बटरेल आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक 1 और 4 के पूरी तरह कुपोषण मुक्ति के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए मुख्यमंत्री ने केन्द्र की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं को सम्मानित किया है। 

बटरेल आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक 1 और 4 में सतत मेहनत और मानिटरिंग कर तीन बच्चों को कुपोषण के दायरे से बाहर निकाला गया है। इसके लिए मुख्यमंत्री ने बटरेल में आयोजित कार्यक्रम में बटरेल क्रमांक 1 की कार्यकर्ता कौशल्या शर्मा एवं सहायिका डोमेश्वरी साहू तथा बटरेल क्रमांक 4 की कार्यकर्ता शैलबाला कौशिक एवं सहायिका दीपिका साहू को सम्मानित किया। इन कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं ने सुपोषण अभियान के अंतर्गत बहुत अच्छा काम किया। उन्होंने न केवल कुपोषित बच्चों के पोषण का ध्यान रखा बल्कि नियमित गृहभेंट आदि के माध्यम से अभिभावकों को भी जागरूक किया ताकि वे घर में भी बच्चों का उचित ख्याल रख सके।

जिला कार्यक्रम अधिकारी  विपिन जैन ने बताया कि मुख्यमंत्री सुपोषण मिशन के अंतर्गत बच्चों को एक्सट्रा सप्लीमेंट दिये जा रहे हैं। कुपोषित बच्चों को गुड़ और मूंगफली से बनी चिक्की प्रदान किया जा रहा है। 0 से 3 साल तक के बच्चों को चिन्हांकित कर इन्हें विशेष रूप से भोजन कराया जा रहा है। इसके लिए व्यापक जनभागीदारी के साथ काम किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि व्हाटसएप के माध्यम से नियमित रूप से अधिकारियों द्वारा सुपोषण अभियान की मानिटरिंग की जा रही है। मुख्यमंत्री बाल संदर्भ योजना के माध्यम से भी स्वास्थ्य परीक्षण शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। इससे जमीनी नतीजे बेहतर हो रहे हैं।

 


Date : 06-Dec-2019

2 हफ्ते में महिला सुरक्षा इंटीग्रेटेड प्लान बनाने सीएम के निर्देश, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि किसी भी समाज की प्रगति एवं विकास महिलाओं की भागीदारी के बिना संभव नही है

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 6 दिसंबर। प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा के लिए कारगर इंटीग्रेटेड प्लान तैयार किया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुख्य सचिव को महिलाओं की सुरक्षा के लिए दो सप्ताह के भीतर इंटीग्रेटेड प्लान तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि किसी भी समाज की प्रगति एवं विकास महिलाओं की भागीदारी के बिना संभव नही है। छत्तीसगढ़ राज्य के विकास में भी महिलाओं की महती भागीदारी है। समाज में महिलाओं को सुरक्षित एवं सकारात्मक माहौल उपलब्ध कराना सरकार का अहम दायित्व है, जिसके लिए छत्तीसगढ़ राज्य सरकार भी कृत संकल्पित है।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि हाल के दिनों में महिलाओं के साथ लगातार घटित घटनाओं के कारण सरकार की चिंता उनकी सुरक्षा के लिए प्रभावी कदम उठाने की है। पुलिस प्रशासन तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के स्तर पर महिलाओं के कल्याण एवं सुरक्षा के संबंध में अलग-अलग योजनाएं संचालित हो रही है। जिसे समन्वित रूप से एक साथ संचालित करने की आवश्यकता है।

श्री बघेल ने कहा है कि गृह विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग महिलाओं की सुरक्षा के संबंध में दो सप्ताह के भीतर इंटीग्रेटेड प्लान तैयार करेंगे। मुख्यमंत्री ने डायल 112 की व्यवस्था को व्यवहारिक एवं प्रभावी बनाने के निर्देश दिए है ताकि डायल 112 से सहायता मांगने की स्थिति में पुलिस न केवल प्रभावित या पीडि़त तक तत्काल पहुंचे बल्कि आवश्यकता पडऩे पर उसे पुलिस वाहन में उसके गंतव्य तक सुरक्षित पहुंचना भी सुनिश्चित किया जा सके।

 मुख्यमंत्री ने कहा है कि महिलाओं की सहायता एवं कल्याण के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित योजनाओं को पुलिस के साथ एकीकृत ढंग से संचालित करने की योजनाए बनायी जाए। महिलाओं को सहायता उपलब्ध कराने में आधुनिक टेक्नालॉजी का बेहतर इस्तेमाल सुनिश्चित करते हुए मोबाईल आधारित मल्टीपल एप की व्यवस्था भी शीघ्र सुनिश्चित की जाए।


Date : 06-Dec-2019

नामांकन दाखिले के आखिरी दिन कांग्रेस की रायपुर, दुर्ग और बिलासपुर व नांदगांव के वार्ड प्रत्याशियों की सूची जारी

प्रमोद दुबे को भगवती चरण वार्ड से प्रत्याशी, दर्जनभर से अधिक पार्षदों को भी टिकट

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 6 दिसंबर। आखिरकार नामांकन दाखिले के आखिरी दिन रायपुर, दुर्ग और बिलासपुर व राजनांदगांव नगर निगमों के वार्ड प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी है। बताया गया कि रायपुर नगर निगम के महापौर प्रमोद दुबे को भगवती चरण वार्ड से प्रत्याशी बनाया गया है। न सिर्फ दुबे बल्कि आधा दर्जन से अधिक मौजूदा पार्षद फिर से प्रत्याशी बनाए गए हैं।

चुनाव समिति की बैठक और बाहर टिकट को लेकर काफी माथापच्ची होती रही। रायपुर के अलावा दुर्ग, बिलासपुर और राजनांदगांव की सूची पर भी मुहर लगाई गई। रायपुर से प्रमोद दुबे के अलावा मौजूदा पार्षद एजाज ढेबर, अजीत कुकरेजा, राजेश ठाकुर, अनवर हुसैन अमित दास, सतनाम सिंह पनाग, समीर अख्तर, श्रीकुमार मेनन को भी टिकट मिल गई।

वार्ड प्रत्याशियों की सूची इस प्रकार है-वीर सावरकर वार्ड- दीपा साहू, जवाहरलाल नेहरू-घनश्याम क्षत्री, संत कबीरदास-मोहित घृतलहरे, यति यतनलाल वार्ड- गायत्री जीत सिंह, बंजारी माता वार्ड -नागभूषण राव यादव, वीरांगना अवंति बाई-अंजनी विभार, कुशाभाऊ ठाकरे वार्ड-राजेश्वरी माधव प्रसाद साहू, मोतीलाल नेहरू-वीरेंद्र टण्डन (अब्बी), डॉ. भीमराव अंबेडकर-द्रौपती पटेल, रानी लक्ष्मीबाई-गोसिया अमजद सुल्ताना, कालीमाता- अमितेष भारद्वाज, महात्मा गांधी-रमेश यादव, राजीव गांधी-जग्गू सिंह ठाकुर, रमण मंदिर-अरूण जंघेल, कन्हैयालाल बाजारी-राजेश जैन, वीर शिवाजी-अन्नु दाउलाल साहू,  ठक्कर बापा-दिलेश्वरी अन्नु राम साहू, बाल गंगाधर तिलक-पदमा श्रीनिवास, डॉ. एपीजे अब्दुल-मंजु वारेण साहू, रामकृष्ण परमहंस-श्री श्रीकुमार मेनन, शहीद भगत सिंह-सोहन लाल शर्मा, ईश्वरी चरण शुक्ल-प्रेम सिंह ठाकुर, मनमोहन सिंह बख्शी-प्रकाश जगत, सरदार वल्लभ भाई पटेल-मणीराम साहू, संत रामदास भोला-तरूण श्रीवास, दानवीर भामाशाह-सुन्दर जोगी, इंदिरा गांधी-सुरेश चन्नावार, शहीद हेमु कालाणी-हरदीप सिंह होरा (बंटी), गुरु गोविंद सिंह-पुरूषोत्तम बेहरा, शंकरनगर-भाविका मनोज मसंद, सुभाषचंद्र बोस वार्ड-राकेश कुमार धोतरे, महर्षि वाल्मीकि-प्रमोद मिश्रा, शहीद वीर नारायण सिंह-प्रभा चौबे, लाल बहादुर शास्त्री-कामराज अंसारी, पं. रविशंकर शुक्ल-आकाश तिवारी, अब्दुल हमीद वार्ड-अनवर हुसैन, तात्यापारा-रितेश त्रिपाठी, शहीद चूड़ामणि नायक-बजरंग कुमार यादव, स्वामी आत्मानंद-विकास अग्रवाल, ठाकुर प्यारेलाल-ज्ञानेश शर्मा, पं. दीनदयाल उपाध्याय-आरती उपाध्याय, पं. सुंदरलाल शर्मा-संदीप तिवारी, महंत लक्ष्मीनारायण दास-राजेश ठाकुर, ब्राह्मणपारा-रेखा विकास तिवारी, स्वामी विवेकानंद -दीपा नवीन चंद्राकर , मौलाना अब्दुल रउफ-एजाज ढेबर, सिविल लाइन-नीलम नीलकंठ जगत, मदर टेरेसा-अजीत कुकरेजा, गुरू घासीदास-शीतल कुलदीप, रानी दुर्गावती-सहदेव व्यवहार, पं. विद्याचरण शुक्ल-धनेश बंजारे (राजा), डॉ. राजेंद्र प्रसाद-अर्चना राजू दुबे, बाबू जगजीवन प्रसाद-सीमा बारले, सुधीर मुखर्जी-पुष्पा बाई (पुष्पलता मोहन)साहू, रविंद्र नाथ टैगोर-मान सिंग धु्रव, अरविंद दीक्षित-आकाशदीप शर्मा, पं. भगवतीचरण शुक्ल -प्रमोद दुबे, शहीद पंकज विक्रम-निशा देवेंद्र यादव, मोरेश्वर राव गद्रे- अमित दास, चंद्रशेखर आजाद-संध्या चक्रधर, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी-सतनाम सिंह पनाग, शहीद राजीव पांडे-समीर अख्तर, शहीद ब्रिगेडियर-पार्वती साहू, डॉ. विपिन बिहारी सूर-नोहर साहू, महामाया मंदिर-जयश्री नायक, वामनराव लाखे- कुष्णा सोनकर (बब्बी), भक्त माता कर्मा -उत्त्तम कुमार साहू, डॉ. खूबचंद बघेल -तुषार पांडेय, माधव राव सप्रे -विनोद कश्यप, संत रविदास-अशोक सिंह ठाकुर शामिल हैं।


Date : 06-Dec-2019

कलेक्टर और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने विजय तिवारी के परिजनों से मुलाकात की, शासन-प्रशासन ने हर संभव सहयोग की बात कही

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 6 दिसंबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर शुक्रवार की सुबह कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन और पुलिस अधीक्षक मोहम्मद आरिफ एच. शेख ने रायपुर निवासी एवं जहाज के चीफ मैक्निकल इंजीनियर विजय तिवारी के भनपुरी स्थित घर पहुंचकर उनके छोटे भाई पवन तिवारी तथा दीनदयाल उपाध्याय कॉलोनी पहुंचकर विजय तिवारी की पत्नी अंजु तिवारी के भाई एसपी उपाध्याय से मुलाकात कर उन्हें शासन से हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया।

कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने नाइजीरिया के बोन्नी आफशोर टर्मिनल के पास से एंग्लों ईस्टर्न शिप मैनेजमेंट कंपनी के जहाज में सवार 19 लोगों को अगवा किए जाने की घटना पर संवेदना व्यक्त किया और कहा कि शासन-प्रशासन उनके परिवार के इस कठिनाई के समय में उनके साथ है और राज्य शासन द्वारा जो भी सहयोग या मदद की जरूरत होगी वह किया जाएगा।

कलेक्टर ने बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश के मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव (गृह) को इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए है और राज्य शासन इस संबंध में भारतीय दूतावास के साथ-साथ भारत सरकार के गृह एवं अन्य संबंधित विभागों के संपर्क में है।

कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक से बातचीत करते हुए तिवारी दंपत्ति के परिजनों ने बताया कि उन्हें इस घटना की जानकारी परसो मुम्बई के अंधेरी स्थित कंपनी के माध्यम से मिली। अपहरणकत्र्ताओं ने जहाज के इस दम्पत्ति सहित 19 लोगों को बंधक बनाया है लेकिन जहाज को छोड़ दिया है।

 

 


Date : 06-Dec-2019

राजभवन में ब्रेन स्ट्रोक से बचने के लिए हुआ जागरूकता कार्यक्रम, ब्रेन स्ट्रोक आने पर यथाशीघ्र सिटी स्केन कराने और साढ़े चार घण्टे के अन्दर आवश्यक इलाज कराने की सलाह दिया

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 6 दिसंबर। ब्रेन स्ट्रोक जागरूकता अभियान के तहत कल राजभवन के दरबार हॉल में ब्रेन स्ट्रोक से बचने के लिए एम.एम.आई. नारायणा मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने जहां कुछ एहतियाती उपाय बताए, वहीं ब्रेन स्ट्रोक आने पर यथाशीघ्र सिटी स्केन कराने और साढ़े चार घण्टे के अन्दर आवश्यक इलाज कराने की सलाह दिया।

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके ने कहा कि एम.एम.आई. नारायणा मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल द्वारा ब्रेन स्ट्रोक जागरूकता अभियान काफी सराहनीय है। आज भागमभाग की जिंदगी में तनावयुक्त जीवन हो गया है, जिसके कारण ब्रेन स्ट्रोक जैसी समस्या सामने आ रही है। ऐसे जागरूकता प्रोग्राम से हम ब्रेन स्ट्रोक आने से पहले ही निजात पाया जा सकता है।

एम.एम.आई. नारायणा मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल डॉ. एच. पी. सिन्हा ने कहा कि नियमित सैर एवं व्यायाम करने, बी.पी. एवं शुगर को कंट्रोल रखने और स्ट्रेस फ्री रहकर काफी हद तक ब्रेन स्ट्रोक बचा जा सकता है। उन्होंने स्ट्रोक के लक्षणों के बारे में बताते हुए कहा कि सीधे खड़े रहने में परेशानी होना, आंख से धुंधला या दो-दो दिखाई देना, चेहरा, बाजू, टांग में शून्यता एवं कमजोरी आ जाना, बोलने एवं समझने में कठिनाई होना है। डॉ. सिन्हा ने कहा कि उक्त लक्षण दिखने पर तत्काल इलाज के लिए अस्पताल ले जाएं। उन्होंने दिनचर्या में हल्दी और लहसुन के उपयोग को ब्रेन स्ट्रोक रोकने में लाभकारी बताया। इस अवसर पर डॉ. सिन्हा ने राज्यपाल सुश्री उइके को स्मृति चिन्ह भेंट किया।


Date : 06-Dec-2019

राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस  सुकमा जिले के चार बाल वैज्ञानिक जाएंगे तिरूवनन्तपुरम, मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री ने दी बधाई और शुभकामनाएं

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 6 दिसम्बर। केरल की राजधानी तिरूवनन्तपुरम में आयोजित होने वाले 27वीं राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस 2019 में सुकमा जिले के चार प्रतिभागी हिस्सा लेंगे। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने प्रतिभागियों को बधाई और शुभकमानाएं दीं है। उल्लेखनीय है कि सुकमा जिले के इन प्रतिभागियों द्वारा ‘जापानी इंसेफेलाइटिस ए मेजर प्रॉब्लम ऑफ छत्तीसगढ़ सुकमा‘ और ‘कचरे से समृद्धि‘ विषय पर बनाई गई मॉडल का चयन राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस के लिए हुआ है।

सुकमा जिले के चयनित प्रतिभागी केरल के तिरूवनन्तपुरम में 27 से 31 दिसम्बर को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व करेंगे। इन प्रतिभागियों को सुकमा जिले के कलेक्टर श्री चंदन कुमार ने भी सम्मानित कर उनका उत्साहवर्धन किया। हाल ही में रायपुर में आयोजित राज्य बाल विज्ञान कांग्रेस में सुकमा जिले के बाल वैज्ञानिक कुमारी श्रेया श्रीवास ने अपने शिक्षक याबेश राजा के मार्गदर्शन में ‘जापानी इंसेफेलाइटिस ए मेजर प्रॉब्लम ऑफ छत्तीसगढ़ सुकमा‘ विषय पर परियोजना का निर्माण किया, वहीं कुमारी निशा नाग ने शिक्षक नागेश दास के मार्गदर्शन में ‘कचरे से समृद्धि‘ उप कथानक पर ‘पूजन के पश्चात निकलने वाले पूजन सामग्रियों का उचित प्रबंधन कर नदियों को प्रदूषण मुक्त करना‘ परियोजना का प्रस्तुतीकरण किया।

उल्लेखनीय है कि राजधानी रायपुर में आयोजित राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस में कुल 123 परियोजनाओं के मॉडल प्रस्तुत किए गए। छत्तीसगढ़ राज्य से राष्ट्रीय स्तर विज्ञान कांग्रेस में भाग लेने के लिए वरिष्ठ वर्ग में 10 परियोजना का चयन किया गया। सुकमा जिले से आईएमएसटी अंग्रेजी माध्यम उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सुकमा की छात्रा कुमारी श्रेया श्रीवास, सहयोगी कुमारी जयंती कुन्डु और शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सुकमा की छात्रा कुमारी निशा नाग, सहयोगी कुमारी तनु कश्यप का चयन हुआ है।

 


Date : 06-Dec-2019

मुख्य सचिव ने नवा रायपुर में किया निर्माण कार्यों का निरीक्षण, अधिकारियों को निर्माण पूरी गुणवत्ता के साथ, एक वर्ष के भीतर पूर्ण करने हेतु निर्देशित किया

रायपुर, 6 दिसम्बर। प्रदेश के मुख्य सचिव आर पी मंडल ने आज नवा रायपुर में हो रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया। जिसमें नवा रायपुर के सेक्टर 24 में निर्माणाधीन राजभवन, मुख्यमंत्री निवास एवं मंत्री गणों हेतु आवास तथा सेक्टर 18 में वरिष्ठ अधिकारियों हेतु निर्माणाधीन आवास का निरीक्षण लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के साथ किया गया।

श्री मंडल ने निर्माण के नक्शे का निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को निर्माण पूरी गुणवत्ता के साथ, एक वर्ष के भीतर पूर्ण करने हेतु निर्देशित किया। इस अवसर पर विशेष सचिव अनिल राय, प्रमुख अभियंता डी.के. अग्रवाल, मुख्य अभियंता एस के शर्मा सहित विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 


Date : 06-Dec-2019

राष्ट्रीय अविष्कार अभियान : विज्ञान की पढ़ाई बनेगी रोचक बस्तर, महासमुंद, दुर्ग, बिलासपुर और सूरजपुर में बनेगा थीम आधारित केन्द्र

रायपुर, 6 दिसम्बर। विज्ञान की पढ़ाई को रोचक बनाने और लोगों में विज्ञान के प्रति जागरूकता लाने के लिए राष्ट्रीय अविष्कार अभियान के अंतर्गत इस वर्ष पांच जिलों बस्तर, महासमुंद, दुर्ग, बिलासपुर और सूरजपुर का चयन किया गया है। इन जिलों में स्कूली छात्रों और शिक्षकों के साथ विषय-विशेषज्ञों का दल गठित कर प्रदर्शन केन्द्र बनाए जाएंगे। इन प्रदर्शन केन्द्रों में रोचक ढंग से विज्ञान के विभिन्न सिद्धांतों और नियमों को प्रस्तुत किया जाएगा। इससे बच्चों को विज्ञान पढऩे में आसानी होगी। साथ ही आम लोगों में भी विज्ञान के प्रति रूचि बढ़ेगी।

राष्ट्रीय अविष्कार अभियान के तहत जिला बस्तर में स्थानीय परंपराओं में निहित विज्ञान पर आधारित म्यूजियम, महासमुंद में विज्ञान शिक्षण को रोचक बनाने विभिन्न सहायक शिक्षण सामग्री, उपकरण, दुर्ग में खेल-खिलौने का उपयोग कर विज्ञान एवं गणित की समझ विकसित करना, बिलासपुर में गणित एवं विज्ञान से संबंधित विभिन्न प्रतियोगिताओं के लिए तैयारी, सूरजपुर जिले में विभिन्न प्रकार के अंधविश्वासों को दूर करने गतिविधियों का स्टाक की थीम के आधार पर विशेषज्ञ दल का गठन कर केन्द्र को विकसित करते हुए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं और संसाधन सुलभ करवाना है।

प्रबंध संचालक समग्र शिक्षा पी. दयानंद ने चयनित पांचों जिलों के कलेक्टरों को यथाशीघ्र केन्द्र विकसित किए जाने और विभिन्न जिलों में थीम पर आधारित कार्यों में सहयोग देने के इच्छुक शिक्षकों की सूची बनाकर तैयार रखने के निर्देश दिए हैं, ताकि केन्द्र तैयार होते ही इन केन्द्रों की एक्सपोजर भ्रमण एवं संसाधन सहयोग के लिए भेजा जा सके। इन केन्द्रों को विकसित करने वहां के चयनित लर्निंग कम्युनिटी के शिक्षक राज्य के बाहर या भीतर अध्ययन हेतु जाने का प्रस्ताव भी दे सकते हैं, ताकि बेहतर मॉडल तैयार किए जा सके।

इन जिलों के कलेक्टरों से कहा गया है कि जिले में थीम के आधार पर एक समिति का गठन किया जाए, जो कार्य के सफल क्रियान्वयन के लिए विभिन्न स्त्रोतों, संसाधनों की पहचान कर योजना तैयार कर सकें। समिति में स्कूल शिक्षा विभाग के साथ-साथ विश्वविद्यालय और अन्य विभागों के साथ-साथ विशिष्ठ क्षेत्र में सहायता करने के इच्छुक लोगों को अधिक से अधिक जोड़ा जाए।

प्रदर्शन स्थल का चयन स्थानीय परिस्थितियों के आधार पर किया जा सकता है। रख-रखाव और नियमित संचालन के लिए कुशल एवं इच्छुक टीम चयनित की जाए जो कौशल के साथ इस कार्य को बढ़ावा देने के लिए समय दे सकें। केन्द्र में चयनित थीम से संबंधित सामग्री की उपलब्धता के लिए विभिन्न जिलों से एक्सपोजर की व्यवस्था की जाएगी। चयनित थीम के अनुसार निरंतर विकास और स्त्रोत के कुशल और सक्रिय प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी हो, जो उस क्षेत्र में लगातार स्त्रोत कर अधिक से अधिक सामग्री उपलब्ध करवा सके। केन्द्रों में समय-समय पर संगोष्ठियां, कार्यशालाओं का आयोजन कर जानकारियों का आदान-प्रदान एवं ज्ञान का विस्तार के अवसर उपलब्ध कराया जाएं। केन्द्र में विभिन्न विशेषज्ञों को भी आमंत्रित किया जाए।

पांचों जिलों में गणित, विज्ञान से संबंधित प्रदर्शन स्थल तैयार किए जाने हैं। जिसे अन्य जिलों के शिक्षक वहां जाकर देखते हुए कुछ नई बातें सीखेंगे और अपने-अपने क्षेत्रों में इसका विस्तार करेंगे। प्रबंध संचालक समग्र शिक्षा पी. दयानंद ने इस संबंध में इन जिलों के कलेक्टरों को कार्यक्रम क्रियान्वयन के लिए एक सक्रिय विशेषज्ञ टीम का गठन कर उपयुक्त स्थल का चयन कर उसके निरंतर संचालन और विकास के लिए ठोस योजना बनाकर जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के माध्यम से शीघ्र क्रियान्वयन करवाने कहा है।


Date : 06-Dec-2019

पॉवर कंपनी में अंतरक्षेत्रीय शतरंज-कैरम स्पर्धा का आयोजन, 07 दिसम्बर तक चलने वाली इस स्पर्धा में प्रदेषभर की 10 क्षेत्रीय टीमें हिस्सा ले रही हैं

रायपुर। छत्तीसगढ़ स्टेट पावर कंपनी के मुख्यालय डंगनिया परिसर मे स्थित बैडमिंटन हाल मे अंतरक्षेत्रीय शतरंज एवं कैरम स्पर्धा का आयोजन किया गया है। 07 दिसम्बर तक चलने वाली इस स्पर्धा में प्रदेषभर की 10 क्षेत्रीय टीमें हिस्सा ले रही हैं। स्पर्धा के उद्धाटन अवसर पर कार्यपालक निदेशक वित्त एवं केन्द्रीय क्रीड़ा एवं कला के महासचिव श्री एमएस चैहान ने कहा कि खेल भावना से बेहतर प्रदर्शन करते हुये खिलाड़ीगण नेशनल टीम को लक्ष्य बनाये। इस अवसर पर कार्यपालक निदेशक सर्वश्री केएस मनोठिया, पीके गिरदौनिया, मुख्य अभियंता आरए पाठक, जीएम (एचआर) वीके साय विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन कल्याण अधिकारी श्री डीएन वर्मा ने किया।


Date : 06-Dec-2019

महाविद्यालयीन महिला क्रिकेट स्पर्धा 9 से, प्राचार्य डॉ मेघेश तिवारी ने बताया कि विप्र ट्राफी अंतर महाविद्यालयीन महिला क्रिकेट प्रतियोगिता में पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालय की टीम हिस्सा लेगी।

रायपुर, 6 दिसंबर। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय रायपुर के तत्वावधान में विप्र महाविद्यालय द्वारा विप्र ट्राफी अंतर महाविद्यालयीन महिला क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन 9 दिसंबर सोमवार से किया जा रहा है ।

उपरोक्त जानकारी देते हुए प्राचार्य डॉ मेघेश तिवारी ने बताया कि विप्र ट्राफी अंतर महाविद्यालयीन महिला क्रिकेट प्रतियोगिता में पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय से संबद्ध महाविद्यालय की टीम हिस्सा लेगी। विप्र कॉलेज में आयोजित इस प्रतियोगिता के माध्यम से पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय टीम का गठन किया जाएगा, जो अंतर विश्वविद्यालय प्रतियोगिता में हिस्सा लेने अवध प्रताप सिंह विश्वविद्यालय रीवा जाएगी।


Date : 05-Dec-2019

बिना बंडल के कैसे मिलेगा टिकट..., भाजपा नेताओं के बीच लेन-देन की बातचीत का ऑडियो वायरल

छत्तीसगढ़ संवाददाता

रायपुर, 5 दिसंबर। भाजपा टिकट के लिए कथित तौर पर लेन-देन का ऑडियो वायरल हुआ है। वायरल ऑडियो में भाजपा के एक पदाधिकारी द्वारा दावेदार से बंडल की मांग की गई और कहा गया कि  यह पर्यवेक्षक पर खर्च करना पड़ेगा।

नगरीय चुनाव के दौरान दावेदारी के लिए प्रत्याशी से बंडल की मांग का ऑडियो सोशल मीडिया पर तैर रहा है। ऑडियो में साफ तौर से दावेदार से बंडल की मांग करते हुए एक पदाधिकारी द्वारा कहा जा रहा है कि बंडल बगैर सूखा-सूखा से कैसे काम चलेगा? एकात्म परिसर में शाम को 4 बजे बैठक है। दावेदार द्वारा चुनाव के बाद बंडल देने के आश्वासन पर सामने वाला कहता है कि चुनाव से पहले बंडल देना होता है।

चुनाव के लिए पर्यवेक्षक पर भी खर्च करना पड़ता है। ‘छत्तीसगढ़’ ऑडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता है।