छत्तीसगढ़ » रायपुर

24-Oct-2020 7:20 PM 24

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 24 अक्टूबर।
राजधानी रायपुर के अलग-अलग जगहों से  चोरी की 2 बुलेट बरामद की गई है। इस मामले में 2 आरोपी पकड़े गए। पुलिस पूछताछ जारी है। 

पुलिस के मुताबिक 10-11 अक्टूबर की रात कोई अज्ञात चोर विकास रंजन प्रधान के घर के बाजू पार्किंग में खड़े एक बुलेट को उठाकर ले गया, जिसकी कीमत करीब 80 हजार मानी गई थी।  खम्हारडीह पुलिस ने सीसी टीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की तलाश की, इस दौरान रोहित कुमार राणा (24) गढ़वाल उत्तराखंड पकड़ा गया। वह यहां बैरनबाजार में किराए के घर में रहता था। उसकी निशानदेही पर चोरी मोटर सायकल तथा घटना में प्रयुक्त मोटर सायकल,  जो आरोपी गणेश्वर सूना (26) महावीर नगर के नाम से आरटीओ में पंजीकृत है। उसे आरोपी गणेश्वर की निशानदेही पर जब्त की गई। दोनों आरोपियों को आज कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया। 

बताया गया कि आरोपी रोहित कुमार राणा की निशानदेही पर एक बुलेट मोटर सायकल जब्त की गई है, जिसकी कीमत डेढ़ लाख रूपए आंकी गई है। इस मामले में रोहित के खिलाफ अलग से और मामला दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। वहीं बुलेट मालिक का पता लगाया जा रहा है।
 


24-Oct-2020 7:19 PM 25

रायपुर, 24 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा विभिन्न प्राकृतिक आपदा से पीडि़तों को जिला कलेक्टर के माध्यम से आरबीसी 6-4 के तहत आर्थिक सहायता स्वीकृत की जाती है। राज्य के विभिन्न जिलों में ऐसे ही पांच प्रकरणों में 24 लाख रूपए की आर्थिक सहायता अनुदान स्वीकृत की गयी है।राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत जांजगीर-चांपा जिले की पामगढ़ तहसील के ग्राम खरगहनी की गेन्दबाई केवट की और तहसील सक्ती के ग्राम अमलडीहा के बरमसिंह की मृत्यु सर्पदंश से होने पर, तहसील जांजगीर की कुमारी सोनम पानी में डूबने से चांपा तहसील के ग्राम कुरदा की टिकैतीन बाई की मृत्यु तथा तहसील बलौदा के ग्राम बुडग़हन की देवकुमारी की मृत्यु आग में जलने से हो जाने पर मृतकों के पीडि़त परिजनों को चार-चार लाख रूपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है।

इसी तहर से नारायणपुर जिले के तहसील नारायणपुर के ग्राम मडग़ड़ा निवासी मजनूराम की मृत्यु पानी में डूबने से होने पर मृतक के पीडि़त परिजनों को चार लाख रूपए की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है।
 


24-Oct-2020 7:18 PM 29

डेढ़ लाख लोग दे चुके हैं कोरोना को मात

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 24 अक्टूबर।
छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों की रिकवरी दर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। विभिन्न कोविड अस्पतालों, आइसोलेशन सेंटरों और होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। 

प्रदेश में पिछले एक सप्ताह (16 अक्टूबर से 22 अक्टूबर) में 16 हजार 649 लोगों ने कोरोना को मात दी है। प्रदेश में अब तक कुल एक लाख 43 हजार 212 मरीज ठीक हो चुके हैं। कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए रोजाना औसतन 22 हजार के करीब सैंपलों की जांच की जा रही है। कोविड-19 की पुष्टि के लिए प्रदेश में अब तक कुल साढ़े 16 लाख से अधिक सैंपलों की जांच की गई है। पिछले एक सप्ताह में ही एक लाख 51 हजार 392 व्यक्तियों की जांच की गई है।

प्रदेश में कोरोना पर विजय प्राप्त करने वाले कुल एक लाख 43 हजार 212 मरीजों में से 71 हजार 021 विभिन्न कोविड अस्पतालों व कोविड केयर सेंटरों से तथा 72 हजार 191 मरीज होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज हुए हैं। बीते एक हफ्ते में स्वस्थ हुए 16 हजार 649 में से 2928 ने कोविड अस्पतालों व आइसोलेशन सेंटरों में एवं 13 हजार 721 मरीजों ने होम आइसोलेशन में अपना इलाज कराया है। तेजी से स्वस्थ हो रहे मरीजों के कारण प्रदेश की रिकवरी दर भी लगातार बढ़ रही है। वर्तमान में यहां रिकवरी दर 84.18 प्रतिशत हो गई है, जबकि मृत्यु दर 0.99 प्रतिशत है। रिकवरी एवं मृत्यु दर का राष्ट्रीय औसत क्रमश: 89.53 प्रतिशत और 1.51 प्रतिशत है। प्रदेश में पिछले एक सप्ताह के दौरान 16 अक्टूबर को 2539, 17 अक्टूबर को 2732, 18 अक्टूबर को 2077, 19 अक्टूबर को 2439, 20 अक्टूबर को 2288, 21 अक्टूबर को 1852 और 22 अक्टूबर को 2722 मरीज कोरोना से ठीक हुए हैं।
 


24-Oct-2020 7:18 PM 33

रायपुर, 24 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा निर्णय लिया गया है कि होम असाइनमेंट के प्राप्तांकों के आधार पर मंडल की मुख्य परीक्षा 2020-21 में प्रत्येक विषय में 30 प्रतिशत अंक आंतरिक मूल्यांकन के रूप में मान्य किए जाएंगे।

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा होम असाइनमेंट के संबंध में यह भी निर्णय लिया गया है कि मंडल की मुख्य परीक्षा 2020-21 में केवल उन्हीं विद्यार्थियों को सम्मिलित किया जाएगा, जिन्होंने कम से कम 70 प्रतिशत होम असाइनमेंट किए होंगे। होम असाइनमेंट माह-सितम्बर 2020 से माह फरवरी 2021 तक विद्यार्थियों को दिए जाएंगे। इस प्रकार प्रत्येक विषय में छह असाइनमेंट होंगे, जिसमें 70 प्रतिशत के मान से प्रत्येक विषय में 4 असाइनमेंट विद्यार्थियों के द्वारा पूरा किया जाना आवश्यक होगा, अन्यथा उन्हें मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होने से वंचित कर दिया जाएगा। 

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव प्रो. व्ही.के. गोयल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि वर्तमान परिस्थितियों में कोविड-19 संक्रमण के कारण अभी तक स्कूल नहीं खुल पाए हैं। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने इस कारण मुख्य विषयों के पाठ्यक्रम में 30 से 40 प्रतिशत की कमी की है। पाठ्यक्रमों को माह सितम्बर 2020 से माह फरवरी 2021 तक छह महीनों में विभाजित किया है। प्रत्येक माह विद्यार्थियों के लिए होम असाइनमेंट जारी किया जा रहा है।
 


24-Oct-2020 7:17 PM 31

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
रायपुर, 24 अक्टूबर।
माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने धमतरी जिले के नगरी विकासखंड के ग्राम दुगली के आश्रित ग्राम दिनकरपुर में वन ग्राम समिति और इस पंचायत के सरपंच, सचिव की अगुआई में 20 आदिवासी परिवारों के घरों को तोडऩे, आग लगाने, उनकी फसल को जानवरों से चराने और इन परिवारों का सामाजिक बहिष्कार करने के कृत्य की कड़ी निंदा करते हुए अपराधियों को तुरंत गिरफ्तार करने, आदिवासियों को हुए नुकसान की सरकार द्वारा पूरी भरपाई करने तथा पीडि़त आदिवासी परिवारों को वन भूमि का पट्टा देने की मांग की है।

आदिवासी परिवारों के घरों में कई गई आगजनी की तस्वीरों को जारी करते हुए आज यहां जारी एक बयान में माकपा राज्य सचिव संजय पराते ने कहा है कि 13 अक्टूबर को प्रशासन द्वारा उन्हें उजाड़े जाने के बाद पीडि़त आदिवासी परिवार पिछले पांच दिनों से बाल-बच्चों सहित धमतरी में अनिश्चितकालीन धरना पर बैठे हुए हैं, लेकिन प्रशासन चुप है। माकपा जिला सचिव समीर कुरैशी के नेतृत्व में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल पीडि़त आदिवासियों से मिला।

 पीडि़तों के अनुसार वे 1993-94 से वन कक्ष क्रमांक 266 की वन भूमि पर काबिज है और खेती कर रहे हैं। साढ़े तीन साल पहले भी इस पंचायत के ताकतवर लोगों ने उन लोगों पर हमला करके उनकी झोपडिय़ों को नष्ट कर दिया गया था। तब यदि हमलावरों के खिलाफ कार्यवाही होती, तो अब दुबारा हमला नहीं होता। उन्होंने बताया कि उनके वनाधिकार के दावों को भी बिना कोई कारण बताए निरस्त कर दिया गया है। 

अपने बयान में माकपा नेता ने उन पीडि़त परिवारों के नामों का भी उल्लेख किया है, जिनके घरों को तोडक़र आग के हवाले किया गया है। इसमें पंचायत के एक पूर्व सरपंच राकेश परते और एक वर्तमान पंच गीताबाई कोर्राम की झोपड़ी भी शामिल है। अन्य नाम इस प्रकार है : बीरबल सोनवानी, प्रताप सिंह मंडावी, रमुला बाई चक्रधारी, राधिका सोनवानी, कीर्तन मरकाम, बालेन्द्र नेताम, राम सोरी, सुनीता बाई, प्रेम बाई, चमेली बाई, हरीश कुमार, मताबाई, भिखारी राम, दिनेश, भीखम सिंह आदि। 

उल्लेखनीय है कि इस दुगली गांव में 14 जुलाई 1985 को तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी सपरिवार सोनिया-राहुल समेत पहुंचे थे। कमारों के आतिथ्य का कड़ू कांदा, मडिय़ा पेज, कुल्थी दाल और चरोटा भाजी का स्वाद ग्रहण करते हुए इस गांव को गोद लेने की घोषणा की थी। 

चुनाव जीतने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी दिवंगत राजीव की प्रतिमा के अनावरण के लिए पिछले साल 20 अगस्त को फिर दुगली पहुंचे थे और 150 करोड़ रुपयों के विकास कार्यों की घोषणा के साथ ही सभी आदिवासियों को वन भूमि का पट्टा देने की भी घोषणा की थी।

माकपा नेता ने आरोप लगाया कि पूरे राज्य में किसानों और आदिवासियों को उनकी काबिज भूमि से बेदखल करने का खेल चल रहा है और पूरा प्रशासन इस काम मे भूमि माफिया का साथ दे रहा है। उन्होंने कहा कि वनाधिकार कानून में कहीं भी कब्जाधारियों की बेदखली का प्रावधान नहीं है और इसी आधार पर सुप्रीम कोर्ट ने अपने खुद के निर्णय पर स्टे दिया है। इसलिए इन आदिवासियों को उनकी वन भूमि से बेदखल करने का कोई अधिकार पंचायत और वन ग्राम समिति के पास नहीं है। 

उन्होंने आरोप लगाया है कि इन पीडि़त आदिवासियों को बेदखल करने के लिए ही उनके वनाधिकार के आवेदन पत्र गैरकानूनी तरीके से निरस्त किये गए हैं।

माकपा ने कहा है कि यदि प्रशासन पीडि़त आदिवासियों के पक्ष में सक्रिय होता, तो अपराधी जेल में होते और उन्हें न्याय पाने के लिए धरना पर नहीं बैठना पड़ता। आदिवासियों के संघर्ष को समर्थन देते हुए पराते ने बताया है कि 26-27 अक्टूबर को माकपा जिला सचिव समीर कुरैशी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल दुगली का दौरा करेगा और इस उत्पीडऩ पर अपनी रिपोर्ट तैयार करेगा।
 


24-Oct-2020 6:27 PM 27

रायपुर, 24 अक्टूबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को दशहरा पर्व की बधाई और शुभकामनाएं दी है। श्री बघेल ने अपने बधाई संदेश में कहा है कि विजयादशमी का पर्व बुराई पर अच्छाई और अन्याय पर न्याय की जीत का प्रतीक है। दशहरा पर्व हमें सत्य के मार्ग पर चलने की हिम्मत और साहस देता है, हमें विश्वास दिलाता है कि सत्य के मार्ग में कितनी भी परेशानियां और कठिनाईयां क्यों न हो, विजय सदा सत्य की होती है।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि आज पूरे विश्व के समक्ष कोरोना संकट की चुनौती है, इस संकट पर विजय पाने के लिए हमें अपने दैनिक जीवन में कोरोना से बचाव की गाइड लाइन का स्वयं पालन करने और दूसरों को इसके लिए प्रेरित करने की जरूरत है। मास्क लगाने, फिजिकल

डिस्टेंटिग और साबुन या सेनेटाइजर से बार-बार हाथ धोने जैसे उपायों से ही कोरोना संक्रमण से सुरक्षित रहा जा सकता है और इस महामारी पर विजय प्राप्त की जा सकेगी।


24-Oct-2020 6:27 PM 53

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 24 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ किसान मोर्चा से जुड़े किसान प्रतिनिधियों की आज यहां गढक़लेवा में एक बैठक हुई। बैठक में धान खरीदी से लेकर किसानों की अलग-अलग समस्याओं को लेकर चर्चा की गई। इसके बाद इन सभी ने कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे से मिलकर उन्हें अपनी समस्याएं बताई। वहीं प्रदेश में धान खरीदी एक नवम्बर से शुरू करने की मांग की।

किसान नेता डॉ. संकेत ठाकुर ने बताया कि प्रदेश में कम अवधि वाली धान फसल की कटाई शुरू हो गई है और कई किसान औने-पौने दाम पर बाजार में उसकी बिक्री कर रहे हैं। इससे उन्हें काफी नुकसान हो रहा है। त्यौहारी सीजन में घर खर्च निकालने धान की बिक्री उनकी मजबूरी रही है। सोसाइटियों में खरीदी शुरू हो जाए, तो वे सभी ज्यादा नुकसान से बच जाएंगे। उनकी इस संबंध में कृषि मंत्री से चर्चा हुई है, और उन्होंने उनकी इस मांग पर जल्द विचार करने का आश्वासन दिया है।

उन्होंने प्रदेश में किसानों के हित में नए कृषि विधेयक का स्वागत करते हुए कहा कि इससे किसानों की हालत में और सुधार आएगा। उन्होंने बताया कि कृषि मंत्री से चर्चा में किसानों की अलग-अलग समस्याओं को रखते हुए कुछ सुझाव भी दिए हैं और मंत्री से उनके सुझाव पर विचार करने का आग्रह किया। मंत्री ने उनकी सभी बातों को गंभीरता से सुनते हुए उनकी समस्याएं और सुझावों पर सीएम से चर्चा का आश्वासन दिया है।


24-Oct-2020 6:26 PM 63

हाईकोर्ट ने जवाब मांगा

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर/बिलासपुर, 24 अक्टूबर। पीडब्ल्यूडी के अनुसूचित जनजाति वर्ग के एक चीफ इंजीनियर ने पात्र होने के बावजूद प्रमुख अभियंता (ईएनसी) के पद पर पदोन्नति नहीं देने पर हाईकोर्ट में याचिका दायर की। कोर्ट ने इस पूरे मामले राज्य सरकार के तीन हफ्ते के भीतर जवाब मांगा है।

याचिकाकर्ता पीडी साय बस्तर में चीफ इंजीनियर के पद पर पदस्थ हैं। उन्होंने प्रशासनिक प्रताडऩा की वजह से प्रमुख अभियंता नहीं बन पा रहे हैं। उनके जूनियर अफसर उन्हें पदोन्नति से रोक रहे हैं। यह भी बताया कि श्री साय को डीपीसी में योग्य पाया गया। उन्हें अपग्रेड नहीं किया गया, तो उन्होंने हाईकोर्ट में याचिका दायर की। सरकार की तरफ से जवाब नहीं दिया गया।

कोर्ट ने पीडब्ल्यूडी को अवमानना नोटिस जारी कर तीन सप्ताह के भीतर जवाब मांगा गया। बावजूद इसके जवाब पेश नहीं किया गया। पीएससी को फिर से डीपीसी करने के लिए पत्र लिखा गया। पीएससी ने साय को उपयुक्त पाया, लेकिन प्रमोशन नहीं दिया गया। इसके बाद चीफ इंजीनियर ने हाईकोर्ट में अपना अधिवक्ता संदीप दुबे और शांतम अवस्थी के जरिए याचिका लगाई, और राज्य सरकार व पीएससी को रिट की कापी दी। उसके बाद उच्चाधिकारी ने 19 अक्टूबर को डीपीसी आयोजित करवाई और पीएससी ने साय को पदोन्नति के उपयुक्त माना है। फिर भी पदोन्नति से वंचित रखा गया है। इस पूरे मामले में जस्टिस गौतम भादुड़ी की एकल पीठ ने तीन हफ्ते के भीतर सरकार से जवाब मांगा है।


24-Oct-2020 6:25 PM 37

कोरोना मौत के आंकड़े बढक़र 1738 हो गए

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 24 अक्टूबर। प्रदेश में कोरोना से कल 8 मरीजों की मौत हुई। इसमें रायपुर के 1 मरीज शामिल हैं, जिनका अलग-अलग जगहों पर इलाज चल रहा था। इनके संपर्क में आने वालों की जांच-पहचान जारी है। दूसरी तरफ, इन मौतों को मिलाकर प्रदेश में कोरोना मौत के आंकड़े बढक़र 1738 हो गए हैं।

बुलेटिन के मुताबिक राजधानी और आसपास जिन मरीजों की मौत दर्ज की गई है, इसमें रोहणीपुरम रायपुर का 67 वर्षीय पुरूष, कोसरंगी आरंग की 72 वर्षीय महिला, कबीरधाम की 54 वर्षीय महिला, बाल्को कोरबा का 36 वर्षीय पुरूष, खरसिया का 70 वर्षीय पुरूष, रायगढ़ की 70 वर्षीय महिला, लखनपुर सरगुजा का 48 वर्षीय पुरूष, रामानुजनगर सूरजपुर का 45 वर्षीय पुरूष शामिल हैं।

इन सभी मरीजों का इलाज एम्स समेत प्रदेश के अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा था। इसमें से 1 की मौत कोरोना से हुई है। बाकी मौतें गंभीर बीमारियों के साथ कोरोना से दर्ज की गई है।


24-Oct-2020 6:24 PM 23

मौतें-535, एक्टिव-7589, डिस्चार्ज-31992

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 24 अक्टूबर। राजधानी रायपुर समेत जिले में कोरोना मरीज 40 हजार पार हो गए हैं। बीती रात मिले 202 नए पॉजिटिव के साथ इनकी संख्या बढक़र 40 हजार 116 हो गई है। दूसरी तरफ, इन सभी मरीजों में से 535 की मौत हो चुकी है। 7 हजार 589 एक्टिव हैं, जिनका अलग-अलग जगहों पर इलाज जारी है। 31 हजार 992 मरीज ठीक होकर अपने घर लौट गए हैं।

राजधानी रायपुर समेत जिले में कोरोना संक्रमण जारी है और कई जगहों पर नए पॉजिटिव  सामने आ रहे हैं। हालांकि इनकी संख्या पहले से काफी कम हैं। सितंबर में ये पॉजिटिव हजार पार कर चुके थे। डॉक्टरों का मानना है कि नियमों का पालन करते हुए सतर्कता बरती जाए, तो संक्रमण में और कमी आ सकती है।

 स्वास्थ्य अफसरों का कहना है कि राजधानी रायपुर समेत प्रदेश में कोरोना जांच जारी है। सरकारी-निजी अस्पतालों में कई भर्ती मरीजों की भी जांच की जा रही है। कई निजी संस्थाओं में भी कोरोना जांच की जा रही है। इन जगहों पर कहीं-कहीं नए पॉजिटिव मिल रहे हैं। इसमें से अधिकांश होम आइसोलेशन में रहकर अपना इलाज करा रहे हैं। आने वाले दिनों में संक्रमण कम हो सकते हैं।


24-Oct-2020 6:24 PM 39

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 24 अक्टूबर। मरवाही का चुनावी माहौल गरमा रहा है। इसी कड़ी में स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव 29 तारीख को प्रचार के लिए मरवाही जा रहे हैं। वे आधा दर्जन सभाओं को संबोधित करेंगे। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी संभवत: प्रचार के आखिरी दिन एक नवम्बर को मरवाही में रोड शो करेंगे।

मरवाही में कांग्रेस और भाजपा ने अपनी ताकत झोंक दी है। कांग्रेस का प्रचार तेजी से चल रहा है। राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. केके ध्रुव का चुनाव संचालन कर रहे हैं। साथ ही पूरे विधानसभा को चार सेक्टरों में बांटकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। भाजपा भी प्रचार में पीछे नहीं है। यहां पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल और भूपेन्द्र सवन्नी भाजपा प्रत्याशी डॉ. गंभीर सिंह ठाकुर के पक्ष में माहौल बना रहे  हैं।

जोगी पार्टी चुनाव नहीं लड़ रही है, लेकिन पूर्व विधायक अमित जोगी और उनकी मां रेणु जोगी लोगों से मेल-मुलाकात कर रहे हैं। वे जोगी की आत्मकथा की किताब भी बांट रहे हैं। वैसे तो वे किसी के लिए वोट नहीं मांग रहे, लेकिन सरकार की जिस तरह आलोचना कर रहे हैं उससे अप्रत्यक्ष रूप से भाजपा को फायदे की उम्मीद है। पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह, राज्यसभा के पूर्व सदस्य नंदकुमार साय सहित कई बड़े नेता भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार कर चुके हैं। इससे मुकाबला कड़ा होता दिख रहा है।

कांग्रेस के चुनाव संचालकों में से एक अर्जुन तिवारी का दावा है कि कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. केके ध्रुव को रिकॉर्ड वोटों से जीत हासिल होगी। उनका तर्क है कि मरवाही में 1967 से कांग्रेस के उम्मीदवार जीतते रहे हैं। राज्य बनने के बाद अजीत जोगी और अमित जोगी ने कांग्रेस प्रत्याशी की हैसियत से यहां से चुनाव जीता था। पिछले चुनाव में जोगी जरूर कांग्रेस से अलग होकर जीते थे, लेकिन तब परिस्थितियां अलग थी।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. केके ध्रुव क्षेत्र में काफी लोकप्रिय हैं, और खुद अजीत जोगी और अमित उनका समर्थन मांगने आते रहे हैं। जिला बनने से भी फायदा मिल रहा है। दूसरी तरफ, मुख्यमंत्री श्री बघेल प्रचार खत्म होने के आखिरी दिन चुनावी सभा को संबोधित करेंगे। गौरेला-पेंड्रा में रोड शो कर सकते हैं। इससे परे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव 29 तारीख को कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार के लिए जा रहे हैं। वे आधा दर्जन सभाओं को संबोधित करेंगे। बहरहाल, आने वाले दिनों में चुनावी माहौल और गरमाने के आसार हैं।

 

 


24-Oct-2020 6:22 PM 13

रायपुर, 24 अक्टूबर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लोकवाणी में इस बार बालक-बालिकाओं की पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य आदि विषय पर प्रदेशवासियों से बात करेंगे।

इस संबंध में 16 वर्ष से कम आयु के बालक-बालिकाएं आकाशवाणी रायपुर के दूरभाष नंबर 0771-2430501, 2430502, 2430503 पर 28, 29 एवं 30 अक्तूबर को अपरान्ह 3 से 4 बजे के बीच फोन करके अपने सवाल रिकॉर्ड करा सकते हैं। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल की मासिक रेडियो वार्ता लोकवाणी की 12वीं कड़ी का प्रसारण 8 नवंबर को होगा। लोकवाणी का प्रसारण छत्तीसगढ़ स्थित आकाशवाणी के सभी केंद्रों,एफएम रेडियो और क्षेत्रीय समाचार चैनलों से सुबह 10.30 से 11 बजे तक होगा।


24-Oct-2020 6:22 PM 25

रायपुर, 24 अक्टूबर। स्कूली छात्रों के लिए ओलंपियाड परीक्षाओं के सबसे बड़े आयोजक साइंस ओलंपियाड फाउंडेशन ( एसओएफ)  ने घोषणा की है कि ओलंपियाड परीक्षाएं वर्तमान शैक्षणिक वर्ष के दौरान ऑनलाइन आयोजित की जाएंगी। छात्रों की सुरक्षा और स्वास्थ्य संबंधी चिंता को सर्वोपरि मानते हुए, सभी छात्र अपने घरों से एसओएफ ओलंपियाड परीक्षा में उपस्थित हो सकेंगे।  हर साल भारत और अन्य देशो के लाखो  छात्र एसओएफ ओलंपियाड परीक्षाओं में शामिल होते है। पिछले साल, रायपुर से लगभग 59000  छात्रों ने कक्षा एक से बारह तक ओलंपियाड परीक्षा दी थी ।

एसओएफ इस साल चार ओलंपियाड परीक्षा आयोजित करेगा, जिसमें एसओएफ इंटरनेशनल जनरल नॉलेज ओलंपियाड, एसओएफ इंटरनेशनल इंग्लिश ओलंपियाड, एसओएफ नेशनल साइंस ओलंपियाड और एसओएफ इंटरनेशनल गणित ओलंपियाड शामिल हैं। पंजीकरण खुले हैं और छात्र प्रत्येक तिथि से 15 दिन पहले तक एसओएफ की वेबसाइट पर पंजीकरण कर सकते हैं । परीक्षाएं नवंबर से शुरू हो जाएंगी।

साइंस ओलंपियाड फाउंडेशन के संस्थापक निदेशक  महाबीर सिंह ने कहा  कि एसओएफ ने  ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने के लिए एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय संगठन से भागीदारी की है।

उन्होंने कहा की परीक्षा की अखंडता को सुनिश्चित करने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, रिमोट प्रॉक्टरिंग, परीक्षा की वीडियो रिकॉर्डिंग और अन्य विभिन्न उपकरणों का व्यापक उपयोग किया जाएगा । उन्होंने यह भी बताया कि 2019-20 के दौरान, 6 ओलंपियाड परीक्षा के लिए पंजीकृत 32 देशों के 56000 से अधिक स्कूलों और लाखों छात्रों ने उनमें भाग लिया। एसओएफ की तरफ से  अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विजेता स्कूलों और छात्रों को पुरस्कार,  और  छात्रवृत्ति दी जाती है।

 


24-Oct-2020 5:34 PM 19

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अभनपुर, 24 अक्टूबर।
शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने पर अभनपुर के शिक्षक हेमन्त कुमार साहू शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय अभनपुर जिला रायपुर का चयन छत्तीसगढ़ रत्न सम्मान के लिए हुआ है।

ज्ञात हो कि शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यो के लिए गत वर्ष इस शिक्षक को प्राइड ऑफ इंडिया अवार्ड, छत्तीसगढ़ गौरव अवार्ड, अक्षय शिक्षा अलंकरण ,उत्कृष्ट शिक्षक सम्मान,नेशन्स प्राइड बुक ऑफ रिकार्ड्स 2020,नेशन्स बिल्डर अवार्ड जैसे अनेक सम्मान से सम्मानित हो चुके हैं। साथ ही कोरोना महामारी के कारण स्कूल बंद होने के बाद भी विभिन्न तरीके जैसे- पढ़ाई तुंहर दुवार के अंतर्गत ऑनलाइन पढ़ाई,एवं विभिन्न नवाचारी तरीके से बच्चों को शिक्षा दे रहे हैं। 

वहीं पीएलसी अभनपुर के द्वारा मिस कॉल गुरुजी कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसमें बच्चे के किसी भी विषय से संबंधित समस्याओं के लिए शिक्षकों के पास मिसकाल करके समस्या का समाधान प्राप्त कर रहे हैं। 

शिक्षक की इस उपलब्धि पर विकासखंड शिक्षा अधिकारी मोहम्मद इकबाल, विकासखंड स्रोत समन्वयक भागीरथी बघेल , प्राचार्य आर.के.साहू समस्त स्टाफ कन्या अभनपुर, पीएलसी सदस्य दीपक ध्रुवंशी, बसंत दीवान,सोमा बनिक ,ऋषि पांडेय सहित अन्य शिक्षकों ने बधाई दी है।


24-Oct-2020 5:29 PM 15

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अभनपुर, 24 अक्टूबर।
ग्राम पंचायत कोलर में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार हस्ताक्षर अभियान का आयोजन जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष उधो वर्मा के मुख्य आतिथ्य, संजय ठाकुर मीडिया समन्वयक की अध्यक्षत तथा जनपद उपाध्यक्ष राजू बारले के विशेष आतिथ्य में सम्पन्न हुआ।

इस दौरान उधो वर्मा ने कहा कि कृषि बिल के विरोध में अभियान चलाकर ग्राम कोलर में किसानों व मजदूरों से हस्ताक्षर करवाने का मुख्य उद्देश्य इन काले कानून को वापस लेना है। इस बिल से किसानों को कोई फायदा नहीं बल्कि नुकसान ही होगा। जिस तरह  केंद्र सरकार नवरत्न कंपनियों को बेच रही है आज किसानों के जमीन को भी बेचने का षड्यंत्र कर रही है। यदि किसान का हित चाहते हैं एक राष्ट्र, एक बाजार कहते हैं तो एक दाम भी होना चाहिए। छ ग की भूपेश बघेल की सरकार नए कृषि कानून बनाकर किसानों की रक्षा के लिए संकल्पित है।हम केंद्र के  काले कानून को वापस लेने की मांग करते हैं।

संजय ठाकुर ने कहा कि केन्द्र की सरकार किसानों की आमदनी दुगुना करने की बात करते थे,परंतु आय दुगुनी की बजाय उनको लूटने की रणनीति बनाई जा रही है। किसानों की आय तो नहीं बढ़ी परन्तु पूंजी पतियों की आय में बढ़ोतरी हो गई। सभा को टिकेन्द्र बघेल(अध्यक्ष) ब्लॉक कांग्रेस कमेटी, राति राम साहू उपाध्यक्ष जिला कांग्रेस कमेटी, दानी राम साहू पूर्व जिला पंचायत सदस्य, राजू बारले जनपद उपाध्यक्ष ने भी संबोधित किया।

कार्यक्रम का संचालन मेलाराम डांडे ने और आभार प्रदर्शन सरपंच कोलार अन्नू तारक ने किया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से महामंत्री श्री फतीस साहू,जनपद सदस्य लीलाधर तिवारी व दुर्गा सिन्हा,अनु.जाति प्रकोष्ठ कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष धनेश्वरी डांडे,लोकमणी कोशले,सेवादल मुख्य संगठक हीराचंद रात्रे ,जोन प्रभारी परदेश साहू, सेक्टर प्रभारी कृष्णा निषाद,मनमोहन कुर्रे,राजू तरवानी,गिरधर पटेल,दिलीप बारले,संजय सहित कार्यकर्ता उपस्थित रहे।
 


24-Oct-2020 5:27 PM 14

क्षतिपूर्ति राशि दिलाने का अनुरोध

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता
अभनपुर, 24 अक्टूबर।
किसानों के प्रतिनिधि मंडल ने पूर्व सरपंच बिहारीलाल साहू के नेतृत्व में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अशोक बजाज को अपनी समस्या से अवगत कराया तथा क्षतिपूर्ति राशि के लिए उचित पहल करने का अनुरोध किया। प्रतिनिधिमंडल में बिहारीलाल साहू के अलावा राजेश साहू, नरेंद्र साहू एवं संतुलाल साहू शामिल थे। प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि कृषि विभाग के अधिकारियों ने किसानों की शिकायत पर 8 सितंबर को फसल का निरीक्षण कर शिकायत को प्रमाणित पाया है।  

जिला पंचायत के पूर्व अध्यक्ष अशोक बजाज ने आरोप लगाया कि कृषि विभाग द्वारा प्रदर्शन के नाम पर ग्राम पलौद (अभनपुर) के 108 किसानों को सुप्रिया टीएनआरएच 174 बीज प्रदान किया गया। विभाग ने 140-150 दिनों में पकने वाली धान बताकर किसानों को बीज आबंटित किया। किसानों ने लगभग 100 एकड़ में इस धान का रोपा लगा दिया लेकिन यह धान मात्र 90 दिनों में पक कर तैयार हो गया। उन्होंने कहा कि परंपरागत रूप से माई धान बोये जाने वाले खेतों में हरहुना धान बोने से अब काटने की समस्या उत्पन्न हो गई है। खेतों में पानी भरा है। अत: कटाई हो नहीं सकती। खेतों तक टै्रक्टर, बैलगाड़ी और हार्वेस्टर ले जाने की गुंजाइश ही नहीं है। फसल भी अपेक्षाकृत कमजोर है। 

श्री बजाज ने कहा कि सरकार इसे सज्ञान में लेकर किसानों को तत्काल क्षतिपूर्ति राशि प्रदान करे तथा दोषी अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करे। सरकार इस बात की भी चिंता करे कि भविष्य में इस प्रकार की घटना की पुनरावृति ना हो। 
 


23-Oct-2020 7:34 PM 34

स्थायी पूंजी निवेश अनुदान अब लघु और मध्यम श्रेणी के लिए भी

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 23 अक्टूबर। छत्तीसगढ़ राज्य के औद्योगिक विकास को गति देने समावेशी विकास के लक्ष्य को हासिल करने और परिपक्व अर्थव्यवस्था का निर्माण करने के लिए नवीन औद्योगिक नीति में 2019-24 में कुल 21 बिन्दुओं पर संशोधन अधिसूचित किए गए हैं। इसमें प्रमुख रूप से लघु उद्योगों को कैपिटल सबसिडी में नगद या जी.एस.टी की पूर्ति का विकल्प होगा। अभी तक यह नगद अनुदान की सूक्ष्म उद्योगों के लिए पात्रता थी। शासन ने विभिन्न औद्योगिक संगठनों की मांगों को स्वीकार करते हुए लघु एवं मध्यम श्रेणी के उद्योगों को नगद या जीएसटी में अनुदान देने का निर्णय लिया है। अनूसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति श्रेणी के उद्यमियों के लिए विशेष औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की गयी है। इसके तहत पिछली औद्योगिक नीतियों से अधिक लाभ दिया जाएगा। पुराने उद्योगों के विस्तार पर भी नए उद्योगों की तरह सरकार प्रोत्साहन देगी। उद्योगों को अब राज्य से अन्य देशों से निर्यात करने के लिए परिवहन में पैसा लगता था। उसमें सरकार परिवहन लागत में अनुदान देगी। इसके तहत प्रतिवर्ष 20 लाख रूपए का अनुदान सरकार देगी।

 नई औद्योगिक नीति में राज्य शासन द्वारा एमएसएमई को पृथक रूप से परिभाषित किया गया है तथा वृहद सेवा उद्यम की परिभाषा भी जारी की गई। निवेशकों की मांग अनुसार स्थायी पूंजी निवेश अनुदान को सूक्ष्म उद्योगों तक सीमित न कर लघु व मध्यम श्रेणी के उद्योगों के लिए भी प्रावधानित किया गया। विद्यमान उद्योगों के विस्तार करने पर स्थायी पूंजी निवेश की गणना अवधि को भी बढ़ा दिया गया है। राज्य के उद्योगों की रीढ़ इस्पात क्षेत्र को बढ़ावा देने मेगा, अल्ट्रामेगा उद्योगों के लिए ठम ैचवाम च्वसपबल के तहत विशेष प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की गई है। ये वो इकाईयां होगी जो राज्य शासन के साथ एम.ओ.यू. निष्पादित करेंगे।

उद्योगों में नवीन विचारधारा को समहित करने तथा नव रोजगार सृजित करने छत्तीसगढ़ राज्य स्टार्ट-अप पैकेज को नीति में स्थान दिया गया है। इन स्टार्ट-अप्स को अन्य उद्योगों से अधिक सुविधाएं कम औपचारिकता के साथ प्रदान की जाएगी।    समावेशी विकास को बढ़ावा देने के लिए अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के उद्यमियों के लिए विशेष औद्योगिक निवेश प्रोत्साहन पैकेज जारी किया गया है। इसके तहत अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के उद्यमियों को पूर्व की सुविधाओं से अधिक लाभ प्राप्त होगा।

कोर सेक्टर के माध्यम, वृहद, मेगा, अल्ट्रामेगा उद्योगों को अब किसी भी श्रेणी के स्थान में उद्योग स्थापित करने पर विद्युत शुल्क में पूर्ण छूट प्रदान की जाएगी। अब परिवहन अनुदान हेतु इकाई का शत्-प्रतिशत निर्यातक होना आवश्यक नहीं रह गया है।   

सामान्य वर्ग के उद्यमियों द्वारा स्थापित किए जाने वाले पात्र सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को उद्योग विभाग/सीएसआईडीसी के औद्योगिक क्षेत्रों में भू-आबंटन पर भू-प्रीमियन प्रदान किया जाएगा। उद्यमियों द्वारा बहुप्रतीक्षित भूमि हस्तांतरण शुल्क में कमी कर दी गयी है। साथ ही उत्पादन प्रारंभ करने की अधिकतम सीमा में भी वृद्धि की गई है।


23-Oct-2020 7:33 PM 23

रायपुर, 23 अक्टूबर। कोरोना की गाइड लाइन के कारण शहर में इस बार बंगाली कालीबाड़ी समिति द्वारा दुर्गापूजा के अवसर पर दुर्गा मां की प्रतिमा स्थापित न करके मात्र घट स्थापना की गई है लेकिन माना में श्रदलु महिलाओं के विशेष आग्रह को देखते हुए माना बाजार दुर्गा समिति द्वारा आनन फानन में दुर्गा प्रतिमा बनवाकर दुर्गा मां को विराजित कर सादगीपूर्ण ढंग से दुर्गा पूजा मनाया जा रहा है। पूजा के दौरान समिति द्वारा कोरोना को लेकर सभी निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

माना बाजार दुर्गा पूजा समिति के सचिव अमित घोष ने बताया कि कोरोना के शासकीय निर्देश के कारण समिति दुर्गा पूजा के दौरान दुर्गा प्रतिमा की स्थापना को लेकर दुविधा में थी लेकिन माना की महिलाओं के विशेष आग्रह के कारण समिति ने दुर्गा प्रतिमा की स्थापना का निर्णय लिया और आनन फानन में दुर्गा प्रतिमा बनवाई गई। षष्ठी के दिन मां दुर्गा संग लक्ष्मी, सरस्वती, कार्तिकेय संग गणेश की प्रतिमा स्थापित की गई। दुर्गा पूजा के दौरान कोरोना से संबंधित सभी एहतियात का पालन किया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए गोले बनाए गए हैं। प्रवेश और निकास की  अलग  अलग व्यवस्था की गई है। मां दुर्गा के दर्शन के लिए आने वाले सभी श्रद्धालुओं को सैनेटाइज करने के बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है। दुर्गा पूजा के सारे पूजा विधान नियम पूर्वक किये जा रहे हैं लेकिन भोग भंडारा नहीं किया  जा रहा है। दुर्गा विसर्जन के दिन सिंदूर खेला को लेकर अब तक समिति द्वारा निर्णय नहीं लिया गया है।         


23-Oct-2020 7:32 PM 23

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 23 अक्टूबर। दशहरा और दीपावली में स्व-सहायता समूह (बिहान) की महिलाओं द्वारा गोबर से निर्मित रंग-बिरंगे आकर्षक दियों से इस दीवाली घर-घर रोशन होगा। दशहरा और दीपावली का त्यौहार बस कुछ ही दिन बाकी हैं। इन त्यौहारों की रोशनी को दुगुना करने प्रदेश की अनेक स्व-सहायता समूह की महिलाओं और गौठान समिति के माध्यम से गोबर से रंग-बिरंगे और लुभावने दिये व अन्य उत्पाद बनाए जा रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार राष्ट्रीय अजीविका मिशन (एनआरएलएम) के माध्यम से महिलाओं को जोडक़र उन्हें आत्मनिर्भर बनाने तथा महिला सशक्तिकरण की दिशा में बेहतर प्रयास कर रही हैं। इसी कड़ी में कोरिया जिले में बिहान की महिलाओं द्वारा गोबर से रंग-बिरंगे आकर्षक दीये बनाये गए हैं। इसके साथ ही मिट्टी के कलश भी बनाये जा रहे हैं। इन उत्पादों का बाजार में काफी मांग हैं। महिला समूह द्वारा निर्मित ये दिये प्राकृतिक के अनुरूप होने के साथ-साथ लुभावने और मनमोहक है। आगामी दशहरा और दीपावली त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए बनाये गये रंग-बिरंगे ये दिये सुंदर एवं किफायती हैं। राज्य सरकार बिहान की महिलाओं द्वारा वैकल्पिक और नवीन तकनीक के माध्यम से गोबर के आकर्षक दिये एवं अन्य उत्पाद बनाने के लिए प्रोत्साहित कर रही हैं। साथ ही बाजार की उपलब्धता पर भी ध्यान दिया जा रहा है।

 गोबर एवं मिट्टी से बने इन उत्पादों में दीपक, ओम, श्री, स्वास्तिक, शुभलाभ, मिट्टी फूल आरती दीया एवं मिट्टी के कलश शामिल हैं। गोबर एवं मिट्टी से बने इन उत्पादों को समूह की महिलाओं द्वारा ऑर्डर के हिसाब से होलसेल कीमत पर भी विक्रय कर मुनाफा कमा रहे हैं।

 


23-Oct-2020 7:32 PM 30

प्रदेश में कोरोना मौत के आंकड़े बढक़र 1680 हो गए

‘छत्तीसगढ़’ संवाददाता

रायपुर, 23 अक्टूबर। प्रदेश में कोरोना से कल 6 मरीजों की मौत हुई। इसमें रायपुर के 1 मरीज शामिल हैं, जिनका अलग-अलग जगहों पर इलाज चल रहा था। इनके संपर्क में आने वालों की जांच-पहचान जारी है। दूसरी तरफ, इन मौतों को मिलाकर प्रदेश में कोरोना मौत के आंकड़े बढक़र 1680 हो गए हैं।

बुलेटिन के मुताबिक राजधानी और आसपास जिन मरीजों की मौत दर्ज की गई है, इसमें गनौद रायपुर का 46 वर्षीय पुरूष, अभनपुर का 42 वर्षीय पुरूष, गुढिय़ारी रायपुर का 61 वर्षीय पुरूष, भाठागांव बलौदाबाजार का 72 वर्षीय पुरूष, हरिनगर दुर्ग का 43 वर्षीय पुरूष, बोड़ला कबीरधाम का 40 वर्षीय पुरूष शामिल हैं।

इन सभी मरीजों का इलाज एम्स समेत प्रदेश के अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा था। इसमें से 1 की मौत कोरोना से हुई है। बाकी मौतें गंभीर बीमारियों के साथ कोरोना से दर्ज की गई है।