छत्तीसगढ़ » रायपुर

Posted Date : 18-May-2019
  • कविता में समाएं रिश्ते 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 18 मई।
    हिंदी साहित्य मंडल रायपुर द्वारा विगत दिवस काव्य गोष्ठी आयोजित की गई। काव्य गोष्ठी में शामिल कवियों ने अपनी कविताओं का पाठ किया। गोष्ठी का संचालन सुनील पांडेय ने किया।  सरस्वती वंदना के बाद लतिका भावे ने ग्रीष्म पर केंद्रित रचना का पाठ किया। इस अवसर पर कवि, गजलकार संजीव ठाकुर ने रिश्ते अपने रिश्तों से दूर होने लगे हैं, क्यों लोग इस कदर मजबूर होने लगे हैं रचना का पाठ किया।  

    इनके अलावा काव्य गोष्ठी में तेजपाल सोनी तथा डॉ. सीमा श्रीवास्तव,  शिवानी मैत्रा, डॉ.अर्चना पाठक, शीलकान्त पाठक, कुमार जगदलवी, मो. हुसैन, शोभा शर्मा, शोभा मोहन श्रीवास्तव, मोहन श्रीवास्तव ने रचनाओ का पाठ किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में रसिक स्रोता उपस्थित रहे। 

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • बुद्ध पर केंद्रित अखिल भारतीय प्रदर्शनी 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 18 मई।
    बुद्ध पूणिमा के अवसर पर लायंस क्लब रायपुर फ्रेंड्स के सहयोग से महाकौशल कला परिषद के द्वारा कल्याण प्रसाद शर्मा की स्मृति में 45वीं अखिल भारतीय चित्र, मुखौटा, मूर्ति, ग्राफिक्स, कोलाज, रेखांकन कला प्रदर्शनी का आयोजन महाकौशल कला वीथिका में शनिवार को किया जाएगा। इसका उद्घाटन मुख्य अतिथि डॉ. दिनेश मिश्रा के द्वारा किया जाएगा। 

    प्रदर्शनी में गौतमबुद्ध के जीवन चरित्र को रेखांकित करती देश के ख्यातनाम 50 कलाकारों की चित्र, मूर्ति, ग्राफिक्स, फोटोग्राफी, मुखौटा, डाईग रेखांकन, कोलाज रचनाएं प्रदर्शित की जाएगी। प्रदर्शनी दर्शकों के अवलोकन हेतु महाकौशल कला वीथिका में 19 मई प्रात: 9 बजे से 11 बजे तक खुली रहेगी। 

    प्रदर्शनी में जयश्री भगवनानी, अजय तिवारी, मनीष महानंद, रमेश थोराट, पांडूरंगाराव, दवे जलेंन्दु कुमार, अभिजीत भट्टाचार्या, विजय बकले,  संगीता सिंह, कल्याण प्रसाद शर्मा, श्याम निनोरिया, डॉ प्रवीण शर्मा, अवतार सिंह भंगल, अरविंद यदु, डॉ . शर्मा, असीम प्रताप हिरवानी, सहित अन्य कलाकारों की कलाकृतियां प्रदर्शित की जाएंगी। 

     इस प्रदर्शनी में बुद्ध का पत्नी से संवाद, बुद्धत्व की प्राप्ति, गौतमबुद्ध का वनगमन, धर्म की स्थापना के लिए प्रवचन, बुद्ध का योग दर्शन,  वन्यप्राणियों से वात्सल्य जैसे विषयों को कैनवास पर उतारा गया है।

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • ओडिशा में अभाविप दल ने राहत कार्य में दिया योगदान
    रायपुर, 18 मई।
    अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के आव्हान पर हाल ही में आये फोनी नामक चक्रवाती तूफान से ओडिशा के प्रभावित शैक्षणिक संस्थानों एवं राज्य की व्यवस्था को बहाल करने के लिए छत्तीसगढ़ प्रान्त के विभिन्न स्थानों से 110 विद्यार्थियों का दल इन दिनों भुवनेश्वर और पुरी में आपदा राहत कार्य में जुटा हुआ है। उक्त आशय की जानकारी देते हुए अभाविप के राष्ट्रीय मन्त्री भूपेन्द्र नाग ने बताया कि अभाविप ने राष्ट्रीय स्तर पर विद्यार्थियों से आव्हान किया था कि वे 13 से 17 मई तक बड़ी से बड़ी संख्या में ओडिशा पहुंचकर इस विपदा से उबरने में राज्यवासियों का साथ दें। यह प्रसन्नता की बात है कि भारत का युवा विद्यार्थी वर्ग अपने इन दायित्वों के प्रति केवल सजग ही नहीं अपितु इनका निर्वहन करने हेतु तत्पर भी हैं। 

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • बुद्ध वंदना, ध्यान संग मनाई बुद्ध जयंती 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 18 मई।
    बुद्ध इंटरनेशनल मल्टीपरपज फाउंडेशन तथा भारतीय बौद्ध महापरिषद द्वारा गांधी उद्यान में शनिवार को बुध जयंती मनाई गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बौद्ध धम्म गुरू भदन्त डॉ. बुद्धशरण संबोधि द्वारा बुद्धवंदना (परित्राण पाठ), एवं ध्यान किया गया। कार्यक्रम उपरांत उपासकों को खीर वितरित की गई।  इस कार्यक्रम में धम्मचारीगण बौद्ध उपासक, सूर्या इंडियन, प्रज्ञा मेश्राम, पूजा टेम्भूरकर, एलपी बैनर्जी, संजय बोरकर, मिथुन बंजारे, धनीराम गायकवाड़, नेहा वासनीक तथा पंचशिल बुद्ध विहार के महिला मंडल, बौद्ध उपासक, उपासिकाएं तथा रायपुर शहर के बौद्ध समुदाय के लोग उपस्थित रहे। 

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • चित्रकला स्पर्धा, बच्चों ने पर्यावरण
     और धरती बचाओ का संदेश दिया
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 18 मई।
    शालेय छात्र छात्राओं ने आज रंग और कूंची के माध्यम से पर्यावरण पर जारी हमलों और धरती पर बढ़ते खतरों का दर्द बखूबी उकेरा। उनकी कलाकृतियों ने यह स्पष्ट संदेश दिया, कि धरती बचाओ वरना हम सब नष्ट हो जाएंगे। 
    वक्ता मंच द्वारा डीपी आर्ट सेंटर गुढिय़ारी में शनिवार को स्कूली विद्यार्थियों की चित्रकला स्पर्धा आयोजित की गई। स्पर्धा में नर्सरी से लेकर 12वीं तक के 75 से अधिक बच्चों ने भाग लिया। मंच के अध्यक्ष राजेश पराते व संयोजक शुभम साहू की उपस्थिति में हुई स्पर्धा में बच्चों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। स्पर्धा में प्राथमिक स्तर पर प्रथम-फागुनी चौहान आदर्श विद्यालय, द्वितीय -अनबरासु प्रधान होलीक्रास, तृतीय -वैदेही चापैकर नेशनल स्कूल एवं चतुर्थ-अनुश्री साहू केंद्रीय विद्यालय रहीं। 

    पूर्व माध्यमिक स्तर पर प्रथम-भार्गवी पाध्ये देशबन्धु स्कूल, द्वितीय-प्रीतम बिस्वास केपीएस, तृतीय -एंजल आनंद सेंट ज़ेवियर, चतुर्थ-जयश्री वर्मा केंद्रीय विद्यालय रहे। हाईस्कूल स्तर पर विनय महिपाल-जेएन पांडे विद्यालय को विशेष पुरस्कार प्राप्त हुआ। समस्त विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कार एवं प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।

    स्पर्धा के निर्णायक देवदत्त पाध्ये ने कहा कि छोटे छोटे बच्चो ने प्रकृति की सुंदरता एवं धरती माता की पीड़ा को बेहतर रूप से अपने चित्रों के माध्यम से उकेरा है। वक्ता मंच के आज के इस आयोजन से न केवल शालेय चित्रकारों की प्रतिभा को प्रोत्साहन मिलेगा, वरन पृथ्वी पर बढ़ते खतरों के प्रति भी जागरूकता आएगी। 

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • नशा-शौक पूरा करने वाहनों की चोरी दो हिरासत में
    चार बाइक भी जब्त
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 18 मई।
    शहर अलग - अलग थाना क्षेत्रों से 4 दोपहिया चोरी करने के आरोप में दो लोग पकड़े गए। इसमेें एक आरोपी नाबालिग है। एक आरोपी पूर्व में भी वाहन चोरी में जेल जा चुका है। दोनों से चोरी की जो बाइक बरामद की गई है, उसमें दो एक्टिवा, स्प्लेंडर, पैशन प्रो शामिल है, और उसकी कीमत करीब डेढ़ लाख रुपये आंकी गई है। दोनों आरोपी नशे की लत एवं अन्य शौक पूरा करने वाहनों की चोरी करते थे। 

    पुलिस के मुताबिक नाबालिग के विरूद्ध 1 वाहन चोरी का मामला मौदहापारा पुलिस में दर्ज है। बाकी तीन वाहन चोरी का मामला पंकज यादव (34) हनुमान नगर टिकरापारा रायपुर के नाम पुलिस में है। बताया गया कि सायबर सेल की टीम को मुखबीर से सूचना मिली थी कि संजय नगर टिकरापारा निवासी एक लड़का एवं हनुमान नगर टिकरापारा निवासी पंकज यादव विगत कुछ दिनों से  अलग - अलग दोपहिया वाहनों में सवारी कर रहे हैं। सायबर सेल की 2 अलग - अलग टीम द्वारा एमजी रोड पास अपचारी बालक को एवं रजबंधा मैदान पास पंकज यादव को पकड़कर पूछताछ की। शुरू में दोनों गोलमोल जवाब देकर टीम को लगातार गुमराह करने का प्रयास करते रहे। वाहनों संबंध में कोई वैध दस्तावेज नहीं मिलने पर कड़ाई से पूछताछ की। तभी दोनों ने अलग - अलग स्थानों से बाइक चोरी करना स्वीकार किया। उन दोनों के बताए ठिकानों से वाहन भी जब्त किए गए, पूछताछ जारी है। 

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • पाइप लाइन से पानी खींचते 9 पंप जब्त
    निगम की कार्रवाई 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 18 मई।
    निगम की टीम ने शहर में पानी चोरी की शिकायत के चलते शनिवार को शहर के अलग-अलग इलाकों में छापेमारी की। इस दौरान  नलों से पानी खींचते 9 पंप जब्त किए गए। 

    जोन एक की निगरानी टीम सुबह वहां के अलग-अलग क्षेत्रों में जाकर निगरानी करती रही। इस दौरान पाइप लाइन से पंप को जोड़कर पानी खींचने की शिकायत मिली। जोन कमिश्नर दिनेश कोसरिया, कार्यपालन अभियंता लोकेश चंद्रवंशी के साथ जल कार्य विभाग की टीम ने गंगानगर के लच्छीराम साहू, गोपीबाई, सुभाष नगर के हरिलाल पाल, मो.जलालुद्दीन, कृष्णानगर के भानुप्रताप, सरिता शर्मा, देवमुनि, कमलाबाई और भनपुरी के यशवंत राव मटाले को अवैध तरीके से पंप से पानी खींचते पाया। निगम अफसरों ने हिदायत देते हुए कहा है कि पंप या अन्य तरीकों से पानी खींचकर सार्वजनिक जल वितरण व्यवस्था को प्रभावित न करें। अवैध तरीके से पानी खींचते पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • दस्तावेज पूरे थे, जांच-पड़ताल के बाद ही ऋण मंजूर किए गए- अग्रवाल

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 18 मई। डीकेएस अस्पताल को पंजाब नेशनल बैंक से जारी 64 करोड़ लोन की भी जांच तेज हो गई है। एसआईटी लोन से बैंक से जब्त 32 पेज की बारीकी से जांच में जुटी है। 
    दूसरी तरफ, बैंक के तत्कालीन एजीएम सुनील अग्रवाल कल 20 मई को रायपुर कोर्ट में पेश होंगे, जहां से उन्हें रिमांड पर लेने की तैयारी है। मामले की जांच में जुटे पुलिस अफसरों का कहना है कि पहली नजर में दस्तावेज लोन देने लायक ही नहीं है, इसके बाद भी बैंक ने लोन जारी किया है। इसकी बारीकी से जांच की जा रही है। 

    पंजाब नेशनल बैंक के एजीएम सुनील अग्रवाल ने मीडिया से चर्चा में दावा किया कि पुख्ता दस्तावेज के बाद ही डीकेएस अस्पताल के लिए ऋण स्वीकृत किए गए। उन्होंने यह भी कहा कि दस्तावेजों में कमी नहीं थी। राज्य सरकार ने खुद गारंटी ली है। लोन भी किसी व्यक्ति को न देकर सरकारी अस्पताल ट्रस्ट को जारी किया गया। 

    उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली से बैंक की टीम ने रिकॉर्ड का परीक्षण किया था इसके बाद ही लोन जारी किए गए। अग्रवाल ने खुद को निर्दोष बताया है। साथ ही साथ पुलिस की जांच में पूरा सहयोग करना चाहते हैं। 
    अग्रवाल ने कहा कि वे अदालत में अपना पक्ष रखेंगे। दूसरी तरफ, पुलिस के आला अफसर ने ‘छत्तीसगढ़’ से चर्चा में कहा कि पुलिस के पास पर्याप्त सबूत हंै। जिसके आधार पर कहा जा सकता है कि लोन स्वीकृत करने में गड़बड़ी हुई है। 

    बताया गया कि बैंक लोन की फाइल में 30 पन्ने बेहद महत्वपूर्ण हैं। उसका अध्ययन किया जा रहा है। दस्तावेजों के प्रारंभिक परीक्षण से संकेत मिल रहे हैं कि कर्ज देने के लिए कई निर्धारित मापदंडों का पालन नहीं किया गया। कई दस्तावेज अधूरे हैं, उसके बाद भी बैंक ने इतनी बड़ी रकम का लोन स्वीकृत कर दिया। बैंक की व्यवस्था का परीक्षण करने के बाद ऐसे तथ्य मिले हैं, जिससे अधूरे दस्तावेजों के आधार पर लोन स्वीकृत करने में पूर्व एजीएम अग्रवाल की मुख्य भूमिका सामने आ रही है। अफसरों का कहना है अभी अग्रवाल से पूछताछ नहीं हो पाई।

    बताया गया कि डीकेएस अस्पताल में रिनोवेशन, उपकरण-मशीन खरीदी, प्लेसमेंट कर्मियों की भर्ती, दुकानों के टेंडर आदि में 50 करोड़ की गड़बड़ी की जांच जारी है। पुलिस अब दान की जमीन पर 64 करोड़ बैंक लोन की भी जांच कर रही है। जांच के लिए गठित टीम के अफसरों ने कल पीएनबी मुख्यालय में दबिश देकर वहां के दस्तावेजों की जानकारी ली। इस दौरान डीकेएस के लिए जारी बैंक लोन से संबंधित दस्तावेज जब्त किए गए हैं। 

    घोटाले की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) ने शुक्रवार दोपहर पंजाब नेशनल बैंक(पीएनबी)मुख्यालय से लोन की फाइल जब्त कर ली है। डीकेएस के लोन की 105 पन्नों की फाइल को खंगालने करीब दो घंटे तक कई दस्तावेजों का परीक्षण किया गया। पीएनबी के पूर्व एजीएम सुनील अग्रवाल के दिल्ली में ट्रांजिट जमानत में लेने के बाद पुलिस ने कार्रवाई तेज कर दी। एजीएम अग्रवाल 20 मई को रायपुर कोर्ट में उपस्थित होंगे। उसी समय कोर्ट से उनकी रिमांड लेने की तैयारी है। प्रकरण के मुख्य आरोपी डॉ. पुनीत गुप्ता दोबार बयान देने के लिए थाने हाजिर हो चुके हैं, लेकिन उन्होंने कुछ भी नहीं बताया है। उन्हें अग्रिम जमानत मिली हुई है। 

     

     

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • तालाब गहरीकरण, भुगतान 6-8 महीने में

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 18 मई। मंदिरहसौद के एक तालाब में पिछले कुछ दिनों से गहरीकरण का काम जारी है। वहां मनरेगा के तहत करीब सौ मजदूर काम कर रहे हैं। उनका कहना है कि मजदूरी के 6-8 महीने बाद उन्हें भुगतान हो पाता है। जरूरत के समय उन्हें पैसा नहीं मिल पाता। ऐसे में कई मजदूर बीच में काम छोडक़र कहीं दूसरी जगह काम पर चले जाते हैं, जहां उन्हें तुरंत पैसा मिलता है। 

    गर्मी के दिनों में गांव-देहात के कई तालाब सूख जाते हैं। ऐसे समय में सरकार तालाबों का गहरीकरण शुरू कराती है, ताकि गांवों में खाली बैठे लोगों को वहीं काम मिल जाए। मंदिरहसौद में भी यह काम पिछले कुछ दिनों से चल रहा है और गांव के लोग वहां सुबह से काम पर लग रहे हैं, लेकिन उनकी दिक्कत सिर्फ भुगतान को लेकर बनी हुई है। भीषण गर्मी में काम के बाद भी उन्हें समय पर भुगतान नहीं मिल पाता। मजदूरों का कहना है कि उनके गांव-आसपास के सैकड़ों लोग रायपुर व अन्य शहरों में काम पर चले जाते हैं। जिन मजदूरों के पास साधन सुविधा नहीं है वे सभी गांव में मनरेगा के तहत काम पर लग रहे हैं। उनका कहना है कि सामने खरीफ फसल की बोआई होनी है और इसमें उन्हें ज्यादा खर्च आना है। दूसरी ओर बच्चों की पढ़ाई-लिखाई में भी कुछ खर्च होना है। मजदूरी समय पर मिल जाए तो उनका यह सब काम आसानी से पूरा हो जाएगा, लेकिन मजदूरी 6-8 महीने में मिलने से उनकी दिक्कतें बढ़ जाती है। उन्हें कई बार सेठ-साहूकारों से कर्ज भी लेना पड़ता है। उनकी मांग है कि मनरेगा का भुगतान समय पर किया जाए। 

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • ओडिशा में अभाविप दल ने राहत कार्य में दिया योगदान

    रायपुर, 18 मई। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के आव्हान पर हाल ही में आये फोनी नामक चक्रवाती तूफान से ओडिशा के प्रभावित शैक्षणिक संस्थानों एवं राज्य की व्यवस्था को बहाल करने के लिए छत्तीसगढ़ प्रान्त के विभिन्न स्थानों से 110 विद्यार्थियों का दल इन दिनों भुवनेश्वर और पुरी में आपदा राहत कार्य में जुटा हुआ है। उक्त आशय की जानकारी देते हुए अभाविप के राष्ट्रीय मन्त्री भूपेन्द्र नाग ने बताया कि अभाविप ने राष्ट्रीय स्तर पर विद्यार्थियों से आव्हान किया था कि वे 13 से 17 मई तक बड़ी से बड़ी संख्या में ओडिशा पहुंचकर इस विपदा से उबरने में राज्यवासियों का साथ दें। यह प्रसन्नता की बात है कि भारत का युवा विद्यार्थी वर्ग अपने इन दायित्वों के प्रति केवल सजग ही नहीं अपितु इनका निर्वहन करने हेतु तत्पर भी हैं। 

     

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • बुद्ध पूर्णिमा पर सीएम ने प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं

    रायपुर, 18 मई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने कहा कि महात्मा बुद्ध के विचार तत्कालीन समय में क्रांतिकारी थे और वर्तमान समय में भी उनके विचार एक बेहतर समाज और राष्ट्र निर्माण के लिए प्रासंगिक हैं। 

    महात्मा बुद्ध ने लोगों को समानता और बंधुत्व का संदेश दिया। उन्होंने मानव मात्र की महत्ता को स्थापित किया, इससे समाज के सभी वर्गों में जागृति आयी और लोगों में एक नई आशा और विश्वास का संचार हुआ। 

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • छत्तीसगढ़ी चावल के खरीददारों की लगी भीड़

    रायपुर, 18 मई। छत्तीसगढ़ भवन नई दिल्ली में 15 से 20 मई तक चलने वाले, छत्तीसगढ़ के एरोमेटिक चावल मेले में आगंतुकों ने तीसरे दिन भी चावल के साथ-साथ छत्तीसगढ़ के हेंडीक्राफ्ट के आइटम की भी जमकर खरीदारी की। इस दौरान यहाँ आने वाले लोगो ने खरीदारी करने के बाद, भवन की कैंटीन में लजीज व्यंजनों के स्वाद का भी मजा लिया। 

    छत्तीसगढ़ के चावल की डिमांड दिल्ली के अलावा गुडग़ांव, फरीदाबाद, नोएडा से भी काफी मात्रा में आयी है। लोग इस चावल को पकाने के बाद इसकी एडवांस बुकिंग कर रहे है। एम्बेसी, नेवी, एयरफोर्स, आर्मी और खेल जगत से जुड़े लोगों ने भी छत्तीसगढ़ के चावल और हस्तशिल्प-हथकरघा के उत्पादों में काफी दिलचस्पी दिखाई है। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी की छात्रा रही नविता ने कहा कि वे छत्तीसगढ़ के एरोमेटिक चावल पर एक बुक लिखना चाहती है। 

    इस मेले में निर्धारित दिन में यहाँ आकर मनपसंद छत्तीसगढ़ के एरोमेटिक चावल खरीद सकते है। ये चावल ऑर्गैनिक के साथ-साथ सेहत के लिए भी बेहद लाभकारी है। इस मेले में फ्रेश देसी छत्तीसगढ़ी स्नैक्स और हस्तशिल्प और हथकरघा के विभिन्न आइटम आम लोगों के लिए बिक्री हेतु उपलब्ध है। 

     

     

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • स्वास्थ के लिए एयर कंडिशनर को रखे 26 डिग्री पर 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 18 मई। छत्तीसगढ़ में इन दिनों भीषण गर्मी पड़ रही है। प्रदेष के कई जिलों में तापमान 45 डिग्री तक पहुंच गया है। बढ़ती गर्मी के साथ-साथ घरों, कार्यालयों एवं अन्य स्थानों पर एयर कंडिषनर एवं कूलर-पंखों का उपयोग अधिकाधिक में हो रहा है। इन बिजली उपकरणों के अधिक उपयोग से बिजली खपत में वृद्धि के साथ बिजली बिल भी अधिक आता है। हम इन उपकरणों का उचित इस्तेमाल कर घरेलू बिजली के बचत में वृद्धि के साथ-साथ अपने स्वास्थ को भी सही रख सकते हैं। इसे दृष्टिगत रखते हुए पॉवर कंपनीज अध्यक्ष  शैलेन्द्र शुक्ला ने ए.सी. को 26 डिग्री पर चलाने का संदेष आमजनों के नाम प्रसारित किया है। 

      उन्होंने कहा कि सामान्यत: देखने में आया है कि ए.सी. का उपयोग करने वाले अधिकांशजन ए.सी. का टेम्प्रेचर 20 - 22 पर रखते है और अधिक ठंड महसूस होने पर चादर का उपयोग करने लगते है। इससे दो तरह की हानियों का आंकलन किया गया है। पहला इससे बिजली की अधिक खपत होती है दूसरा षरीर के रोगग्रस्त होने की संभावना बढ़ जाती है। 
     विद्युत क्षेत्र के विशेषज्ञों का मानना है कि ए.सी. को अत्यंत कम तापमान में रखने पर कम्प्रेशर अपने पूरी क्षमता के अनुरूप काम करने लगता है भले ही वह 5 स्टार का क्यों न हो ? इससे बिजली की खपत काफी ज्यादा होती है, अत: स्वाभाविक है कि बिजली के बिल में भी वृद्धि होगी। विद्युत विशेषज्ञों के आकलन के मुताबिक ए.सी. के तापमान को 26 से 28 डिग्री पर रखना ही उचित होता है। 

     यह भी उल्लेखनीय है कि प्राय: लोग तुरन्त ठंडकता पाने के वहम में 20 या 21 डिग्री पर ए.सी. चलाते है जो कि अनेक दृष्टि से नुकसानदायक है, अत: ए.सी. को 26 डिग्री पर रखकर चलाने के साथ ही पंखे को भी धीमी गति से चलाना ज्यादा श्रेयस्कर है। इससे बिजली की कम खपत के साथ षरीर भी रोगमुक्त व स्वस्थ रहता है। साथ ही साथ वैश्विक तापमान में भी काफी कमी आती है। बताई गई प्रक्रिया के पालन करने पर प्रतिदिन प्रति ए.सी. पर यदि पांच यूनिट की भी बचत होती है तो राष्ट्रीय स्तर पर करोड़ों यूनिट बिजली की बचत की जा सकती है।  

     

     

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • बुद्ध पर केंद्रित अखिल भारतीय प्रदर्शनी 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 18 मई। बुद्ध पूणिमा के अवसर पर लायंस क्लब रायपुर फ्रेंड्स के सहयोग से महाकौशल कला परिषद के द्वारा कल्याण प्रसाद शर्मा की स्मृति में 45वीं अखिल भारतीय चित्र, मुखौटा, मूर्ति, ग्राफिक्स, कोलाज, रेखांकन कला प्रदर्शनी का आयोजन महाकौशल कला वीथिका में शनिवार को किया जाएगा। इसका उद्घाटन मुख्य अतिथि डॉ. दिनेश मिश्रा के द्वारा किया जाएगा। 

    प्रदर्शनी में गौतमबुद्ध के जीवन चरित्र को रेखांकित करती देश के ख्यातनाम 50 कलाकारों की चित्र, मूर्ति, ग्राफिक्स, फोटोग्राफी, मुखौटा, डाईग रेखांकन, कोलाज रचनाएं प्रदर्शित की जाएगी। प्रदर्शनी दर्शकों के अवलोकन हेतु महाकौशल कला वीथिका में 19 मई प्रात: 9 बजे से 11 बजे तक खुली रहेगी। 

    प्रदर्शनी में जयश्री भगवनानी, अजय तिवारी, मनीष महानंद, रमेश थोराट, पांडूरंगाराव, दवे जलेंन्दु कुमार, अभिजीत भट्टाचार्या, विजय बकले,  संगीता सिंह, कल्याण प्रसाद शर्मा, श्याम निनोरिया, डॉ प्रवीण शर्मा, अवतार सिंह भंगल, अरविंद यदु, डॉ . शर्मा, असीम प्रताप हिरवानी, सहित अन्य कलाकारों की कलाकृतियां प्रदर्शित की जाएंगी। 
     इस प्रदर्शनी में बुद्ध का पत्नी से संवाद, बुद्धत्व की प्राप्ति, गौतमबुद्ध का वनगमन, धर्म की स्थापना के लिए प्रवचन, बुद्ध का योग दर्शन,  वन्यप्राणियों से वात्सल्य जैसे विषयों को कैनवास पर उतारा गया है।

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • मृणालिका ओझा-राजेंद्र ओझा सम्मानित

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 18 मई। डॉ. मृणालिका ओझा को उनके लेखकीय योगदान विशेष रूप से उनके शोध ग्रंथ लोक कथा में लोक और लालित्य हेतु भिवानी (हरियाणा) की शिक्षा, साहित्य एवं जनसेवा को समर्पित एक अग्रणी संस्था गुगनराम एजुकेशनल एण्ड सोशल वैलफेयर सोसाइटी के द्वारा विगत दिनों प्यारी देवी घासीराम सिहाग साहित्य सम्मान से सम्मानित किया गया। 

    इस अवसर पर राजेन्द्र ओझा को सरस्वती देवी गिरधारीलाल सिहाग साहित्य सम्मान से सम्मानित किया गया। विदित हो कि राजेन्द्र ओझा तीन दशक से भी ज्यादा समय से साहित्यिक, सांस्कृतिक क्षेत्र में लगातार सक्रिय हैं तथा वर्तमान में चरामेति फाउंडेशन के महासचिव हैं। 

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • विधिक शिविर में बच्चों की सुरक्षा पर किया गया मंथन 

    छत्तीसगढ़ संवाददाता

    रायपुर, 18 मई। महिला अध्ययन केंद्र पं. रवि शंकर विश्वविद्यालय, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं बचपन बचाओ आंदोलन के संयुक्त तत्वावधान में रविवि मेें विगत दिवस बच्चों की सुरक्षा एवं संरक्षण पर एक दिवसीय विधिक शिविर का आयोजन किया गया। 

    कुलपति प्रो. केशरी लाल वर्मा के मुख्य आतिथ्य में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में जिला सेवा प्राधिकरण सचिव उमेश उपाध्याय, योगेंद्र प्रताप सिंह अध्यक्ष वोलेंटरी एक्सन, प्रो. रीता वेणु गोपाल संचालक महिला अध्ययन केंद्र शामिल रहे। 

    कार्यक्रम में डॉ. सोमा नायर राज्य समन्वयक बाल सरंक्षण (बचपन बचाओ आंदोलन) ने नोबल शांति पुरस्कार कैलाश सत्यार्थी के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर बी संदीप राव राज्य समन्वयक बचपन बचाओ आंदोलन में साइबर क्राइम के बारे में जानकारी दी। इनके अलावा प्रो. केशरी लाल वर्मा एवं योगेंद्र प्रताप सिंह बच्चों की सुरक्षा एवं सरंक्षण पर विचार व्यक्त किए। उमेश उपाध्याय ने इस अवसर पर कानून की जानकारी देते हुए दायित्व निर्वहन की बात कही। उन्होंने कहा कि स्कूल न जाकर अगर कोई बच्चा काम करता दिखे तो उससे प्रश्न जरूर करें कि क्या वह स्कूल जाता है।

    इस अवसर पर डॉ. प्रियम्वदा श्रीवास्तव, अध्यक्ष मनोविज्ञान अध्ययन शाला, डॉ. शैल शर्मा, प्रो. भाषा एवं साहित्य विज्ञान, प्रो. राजीव चौधरी, शारीरिक शिक्षा सहित विभिन्न अध्ययन शाल

  •  

Posted Date : 18-May-2019
  • 21 को  आतंकवाद विरोधी दिवस

    रायपुर, 18 मई। आतंकवाद के कारण आम जनता को हो रहे कष्टों, हिंसा एवं आतंक से राष्ट्रीय हितों पर प्रतिकूल प्रभाव से आम लोगों को अवगत कराने, विशेष रूप से युवाओं को आतंकवाद और हिंसा के मार्ग से दूर रखने के उद्देश्य से राज्य शासन द्वारा 21 मई को पूरे राज्य में आतंकवाद विरोधी दिवस मनाने का निर्णय लिया गया है।

    छत्तीसगढ़ शासन के सामान्य प्रशासन विभाग ने शासन के समस्त विभागों, अध्यक्ष राजस्व मण्डल, समस्त विभागाध्यक्षों, संभाग आयुक्तों और कलेक्टरों को पत्र लिखकर आतंकवाद विरोधी दिवस मनाये जाने के संबंध में दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इस दिन महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में वाद-विवाद प्रतियोगिता, चर्चाएं, सेमीनार, व्याख्यान आयोजित किए जाएंगे। पोस्टर, पॉम्पलेट, समाचार पत्रों, पत्र-पत्रिकाओं, आकाशवाणी और दूरदर्शन के माध्यम से आतंकवाद और हिंसा के विरूद्ध आम जनता को जागरूक बनाने अभियान चलाया जाएगा। स्वयंसेवी संगठनों, सामाजिक और सांस्कृतिक संस्थाओं द्वारा सांस्कृतिक समारोह के रूप में जनजागरूकता के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। सभी सरकारी कार्यालयों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और अन्य सार्वजनिक संस्थानों में आतंकवाद विरोधी शपथ ली जाएगी।

     

  •  

Posted Date : 17-May-2019
  • सफाई नहीं, वार्डों में पीलिया या अन्य संक्रामक रोग फैलने का डर
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 17 मई
    । शहर के वार्डों में पेयजल संकट और सफाई में कमी के चलते पीलिया व अन्य संक्रामक रोग फैलने का डर बना हुआ है। शक्ति नगर (शंकर नगर) समेत कहीं-कहीं पर पीलिया फैलने की खबरें भी आ रही है, लेकिन नगर निगम व जिला स्वास्थ्य विभाग ने पीलिया-मौत से इंकार किया है। 

    शहर के डीडी नगर व मोवा में पिछले वर्षों में पीलिया से कई लोगों की मौत हो चुकी है। गर्मी के दिनों में पानी की कमी और नाली-नालों की सफाई के अभाव में इस तरह की बीमारी फैलती रही है। प्रदूषित पानी पीने से शहर के ये दोनों वार्ड पीलिया की चपेट में आए थे। अब फिर से लोग इस दहशत में हैं कि समय पर पीने का पानी न मिलने, प्रदूषित पानी मिलने या सफाई व्यवस्था चुस्त न होने से यह बीमारी एक बार फिर फैल सकती है। 

    निगम स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीके मिश्रा का कहना है कि फिलहाल शहर में कहीं पीलिया या उससे मौत की कोई खबर नहीं है। अगर कहीं से ऐसी कोई खबर आएगी, तो टीम भेजकर तुरंत उसकी जांच कराई जाएगी। दूसरी ओर सीएमएचओ डॉ. केआर सोनवानी का भी कहना है कि शहर में कहीं भी पीलिया या उससे मौत की खबर नहीं मिली है। उनकी टीम अलग-अलग जगहों पर जाकर पानी वगैरह की जांच में लगी है। 

    शक्ति नगर में एक मौत की खबर 
    शहर के वार्ड नंबर 29 स्थित शक्ति नगर में पीलिया फैलने और उससे आज एक व्यक्ति की मौत की खबर सोशल मीडिया पर चलती रही। इतना ही नहीं, वार्ड में बहुत से लोगों के पीलिया की चपेट में आने की भी खबर है। वार्ड में नलों से दूषित पानी आने और नालियों की समय पर सफाई नहीं होने से यह बीमारी वार्ड में फैल रही है। जबकि वार्डवासी साफ पीने का पानी और सफाई की बार-बार मांग कर रहे हैं।

     

  •  

Posted Date : 17-May-2019
  • रामकृष्ण केयर में सीआरटी-डी का प्रत्यारोपण

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 17 मई।
    भिलाई का एक 65 वर्षीय रोगी हृदय गति रूकने से पीडि़त था और उसे सांस लेने में कठिनाई हो रही थी। वह सांस की तकलीफ के कारण सामान्य दिनचर्या जैसे स्नान करना, कुछ कदम चलना, ठीक से सो नहीं पा रहा था। उन्होंने 8 साल पहले बायपास सर्जरी करवाया था।

    रामकृष्ण केयर अस्पताल के हृदय रोग विशेषज्ञों की एक टीम ने उनकी जांच की और इस नतीजे पर पहुंची कि उनका दिल कमजोर हो गया था। हृदय की धड़कन रूक-रूक कर नहीं आ रही थी, और उनकी सांस लेने में कठिनाई के कारण हृदय संकुचित होकर खराब होने लगा था। सीआरटी-डी डिवाइस को प्रत्यारोपित करने का निर्णय लिया गया, जो उसकी धड़कन को बहाल कर सकता है और उसके दिल की सिकुडऩ में सुधार कर सकता है। 

    कार्डियक इलेक्ट्रोफिजियोलॉजिस्ट डॉ. जावेद परवेज ने पूरी कार्डियोलॉजी टीम के साथ मिलकर जटिल प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा किया। जो मरीज में तुरंत सुधार के संकेत दे रहा था। एक सप्ताह बाद रोगी को छुट्टी दे दी गई और रोगी बहुत अधिक सांस लेने में कठिनाई के बिना अस्पताल से अपने घर चला गया।

    सीआरटी-डी (कॉम्बो डिवाइस) क्या है-यह सबसे उच्च स्तर का पेसमेकर है जो 3 प्रकार से कार्य करता हैं। यह हृदय के दोनों निचले कक्षों को एक साथ अनुबंध करने का कारण बनता है जिसके परिणामस्वरूप हृदय की संकुचन शक्ति में सुधार होता है। यह दिल को एक बैकअप धड़कन देता है अगर आंतरिक धड़कन कभी-कभी विफल हो जाती है। यह दिल की खतरनाक धड़कन-धमकाने वाली धड़कन का ईलाज करने के लिए झटका देकर जीवन रक्षक उपकरण के रूप में कार्य करता है। जिसे षॉक (करंट) फंक्शन कहते हैं। जैसा कि इसके तीनों कार्य हैं, यह सबसे तकनीकी रूप से उन्नत पेसमेकर उपलब्ध है। डॉ. जावेद परवेज ने बताया कि यह विशेष मामला चुनौतीपूर्ण था क्योंकि मरीज की पहले बाईपास सर्जरी हुई थी और पिछले हार्टअटैक के कारण उसका हार्ट फंक्शन केवल 25: था। अनुभवी कार्डियोलॉजी टीम की उपस्थिति प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा करने में सक्षम है। सीआरटी-डी डिवाइस उन मरीजों के लिए कारगर व जरूरी है। 

    ोगियों जो कमजोर हृदय संकुचन और दिल की धड़कनों में गड़बड़ी के कारण ईसीजी खराब आता है, उन्हें कार्डियक इलेक्ट्रोफिजियोलॉजिस्ट से परामर्श लेना चाहिए कि क्या वे इस उपकरण के लिए उपयुक्त हैं या नहीं, क्योंकि इस सीआरटी-डी डिवाइस से उपयुक्त रोगियों में आश्चर्यचकित परिणाम हो सकते हैं।

  •  

Posted Date : 17-May-2019
  • रायपुरजिले के खिलाडिय़ों ने बटोरे 9 गोल्ड, 4 सिल्वर, 10 ब्रांज मेडल 
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 17 मई।
    रायपुर जिले के कराते खिलाडिय़ों ने विगत दिवस छत्तीसगढ़ कराते डू एसोसिएशन द्वारा भिलाई स्थित केपीएस स्कूल आयोजित राज्य स्तरीय कराते टूर्नामेंट में उत्कृष्ट प्रदर्शन करते हुए 9  गोल्ड, 4 सिल्वर तथा 10 ब्रांज मेडल पर कब्जा जमाया। 

    कोच हर्षा साहू द्वारा प्राप्त जानकारी अनुसार भिलाई में आयोजित राज्य स्तरीय सब जूनियर स्पर्धा में आदित्य राठौर ने 11 वर्ष आयु वर्ग में काता और कुमिते में दो गोल्ड मेडल तथा 12 वर्ष आयु वर्ग में अमृत ने गोल्ड हासिल किया। 

    इनके अलावा विवेक साहू, आर्यमान दास, आरना नायक, लक्की ठाकुर और ज्योत्सना ने अलग-अलग इवेंट में गोल्ड मेडल हासिल किया। 10 वर्ष आयु बालक वर्ग में सुयश ने सिल्वर मोविका साहू और रूद्र साहू ने ब्रांज मेडल प्राप्त किया। 

     

  •