राजपथ - जनपथ

छत्तीसगढ़ की धड़कन और हलचल पर दैनिक कॉलम : राजपथ-जनपथ : इसलिए सेबोटेज कर रहे हैं...

Posted Date : 22-Apr-2019

महासमुंद लोकसभा सीट में जीत को लेकर कांग्रेस और भाजपा के अपने-अपने दावे हैं। इन सबके बीच कांग्रेस में कुछ जगहों पर भीतरघात की शिकायतें भी आई है। सुनते हैं कि धमतरी में एक पूर्व विधायक ने कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफ जमकर काम किया। पूर्व विधायक की नाराजगी इस बात को लेकर थी कि कांग्रेस प्रत्याशी से जुड़े लोगों ने विधानसभा चुनाव में उनके खिलाफ काम किया था। इसका बदला उन्हें लेना था, सो ले लिया। कांग्रेस प्रत्याशी अभी खामोश हैं। क्योंकि भीतरघात के बावजूद नतीजे अपने पक्ष में आने की संभावना देख रहे हैं। यदि चुनाव परिणाम पक्ष में नहीं आए, तो पार्टी में गदर मच सकता है। फिलहाल, लोग चुनाव नतीजों का इंतजार कर रहे हैं। 
चुनावी नतीजे और मंत्रिमंडल?
लोकसभा चुनाव में सरकार के मंत्रियों की भी परीक्षा होगी। सुनते हैं कि दो मंत्रियों के खुद के विधानसभा क्षेत्र में पार्टी प्रत्याशी की स्थिति अच्छी नहीं है। एक ने तो मंत्री बनने के बाद अपने विधानसभा क्षेत्र से ही दूरियां बना ली थी। उन्होंने क्षेत्र में जाना ही छोड़ दिया था। अब जब वे पार्टी प्रत्याशी के प्रचार के लिए जा रहे हैं, तो प्रमुख कार्यकर्ता उनके साथ नहीं आ रहे हैं। दूसरे मंत्री को लेकर यह बात सामने आ रही है कि वे पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में मेहनत नहीं कर रहे हैं। मेहनत क्यों नहीं कर रहे हैं, यह पार्टी के लोगों को समझ नहीं आ रहा है। जबकि प्रत्याशी भी उनकी अपनी पसंद का है। इन सब पर पार्टी हाईकमान की निगाह है। चर्चा है कि दो अन्य मंत्रियों के अपने क्षेत्र के बजाए दूसरे इलाके में ज्यादा समय देने पर पार्टी हाईकमान ने नाराजगी जताई थी। क्योंकि उनके अपने क्षेत्र में पार्टी प्रत्याशियों की स्थिति अच्छी नहीं थी। हाईकमान की फटकार के बाद उन्होंने क्षेत्र में भाग-दौड़ शुरू की है। चर्चा तो यह है कि लोकसभा चुनाव के नतीजों से आगामी मंत्रिमंडल में फेरबदल भी तय होगा। 

 


Related Post

Comments