इतिहास

 आज का इतिहास 17 मई
आज का इतिहास 17 मई
17-May-2019

16 मई 2013 को अमेरिकी वैज्ञानिकों ने पहली बार क्लोन किए गए इंसानी भ्रूण से स्टेम सेल यानि मूल कोशिका निकालने में सफलता पाई. पिछले एक दशक से भी ज्यादा समय से वैज्ञानिक मानव के क्लोन किए गए भ्रूण से स्टेम सेल निकालने की कोशिश कर रहे थे. पहले माना जा रहा था कि इलाज के लिए बनाए जाने वाले कृत्रिम भ्रूण का विकास कोशिकाएं बनने की प्रक्रिया शुरू होने से पहले ही रुक जाता है. मूल कोशिकाएं यानि स्टेम सेल खुद को शरीर की किसी भी कोशिका में ढाल सकते हैं.
वैज्ञानिक काफी समय से कोशिश कर रहे हैं कि पार्किंसन, मल्टीपल स्क्लेरोसिस, रीढ़ में चोट और आंखों में रोशनी के इलाज में इनका इस्तेमाल हो सके. चूंकि प्रत्यारोपण में शरीर के बाहरी अंग को स्वीकार नहीं करने की आशंका बहुत ज्यादा होती है, इसलिए वैज्ञानिकों ने मरीज के खुद के डीएनए क्लोनिंग करके स्टेम सेल बनाने का फैसला किया. इस प्रक्रिया के तहत सोमेटिक सेल न्यूक्लियर ट्रांसफर तकनीक के जरिए मरीज का डीएनए खाली अंडाणु में डाला जाता है. 1996 में इसी तकनीक का डॉली भेड़ का क्लोन बनाने के लिए इस्तेमाल किया गया था. डॉली पहली स्तनपायी प्राणी थी, जिसे क्लोन करके बनाया गया था.

  • 1769- ईस्ट इंडिया कंपनी ने बंगाल के कपड़ा उद्योग को बर्बाद करने के लिए बुनकरों पर कई तरह के प्रतिबंध लगाए।
  • 1890-कॉमिक कट्स नाम का पहला साप्ताहिक कॉमिक पत्र ब्रिटेन में अल्फ्रेड नॉर्थक्लिफ द्वारा छापा गया।
  • 1955 -परमाणु रिएक्टर को फर्मी तथा जि़लार्ड ने पेटेन्ट कराया।
  • 1975 - जापानी महिला श्रीमती जुनको तैबेई माउंट एवरेस्ट पर चढऩे वाली प्रथम महिला बनी।
  • 1987 - सुनील गावस्कर ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया।
  • 2000 - रूसी संसद के ऊपरी सदन फ़ेडरलिस्ट्स ने परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि की मंजूरी प्रदान की।
  • 2010 - भारतीय बॉक्सरों ने कॉमनवेल्थ बॉक्सिंग चैंपियनशिप के सभी छह स्वर्ण पदक जीत लिए।  देश के सबसे पुराने पारंपरिक खेल कबड्डी को बढ़ावा देते हुए पंजाब सरकार ने अगले महीने कबड्डी विश्वकप का आयोजन करने की घोषणा की। भारतीय सेना ने  अग्नि-2 प्रक्षेपास्त्र का परीक्षण किया।   
  • 1836 - ब्रिटेन के खगोलशास्त्री सर जोजफ़ नॉर्मन लॉक्यर का जन्म हुआ,  जिन्होंने 1868 में पृथ्वी पर खोजे जाने से पहले ही सूर्य में हीलियम तत्व की खोज की और उसका नामकरण भी किया। इसके अलावा उन्होंने सूर्य की बाहरी परत का नाम क्रोमोस्फेयर दिया। (निधन-16 अगस्त 1920)
  • 1749 -अंग्रेज़ सर्जन  ऐडवर्ड जेनर का जन्म हुआ, जिन्होंने चेचक के टीके की खोज की। उस समय गांवों में प्रचलित था कि चेचक की ही तरह की गाय की एक हानिरहित बीमारी जिसे हो जाए, उसे बाद में चेचक की बीमारी नहीं होती। 14 मई 1796 को उन्होंने डेयरी में काम करने वाली लडक़ी से उस बीमारी का द्रव लिया और उसे एक आठ वर्षीय लडक़े के शरीर में प्रविष्ट करा दिया। इससे लडक़े को गौचेचक हो गया, फिर छह महीने बाद उन्होंने उसे चेचक से संक्रमित किया तो पाया कि लडक़ा बिलकुल ठीक था।  (निधन-26 जनवरी 1823) 
  • 1991 -इंग्लैण्ड में जन्मे अमेरिकी जीवविज्ञानी जॉर्ज इवेलिन हचिन्सन का निधन हुआ, जो स्वच्छ पानी की झीलों का पारिस्थितिक अध्ययन करने के कारण आधुनिक झील विज्ञान के जनक माने जाते हैं। (जन्म-30 जनवरी 1903)
  • 1916-रूसी भौतिक शास्त्री  बॉरिस बॉरिसोविक गॉलिट्सिन का निधन हुआ, जो भूकम्प विज्ञान पर काम करने के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने भूकंपमापी यंत्र के निर्माण में मदद की। (जन्म-2 मार्च 1862) 
  • महत्वपूर्ण दिवस-  विश्व दूर संचार दिवस 

अन्य खबरें

Comments