इतिहास

इतिहास में 10 जून
10-Jun-2019 3
इतिहास में 10 जून

ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड और कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के बीच हर साल नावों की दौड़ होती है. बोट रेस के नाम से विख्यात रेस टेम्स में 6.8 किलोमीटर लंबी धारा पर होती है और बड़ा जलसा होता है. पहली बोट रेस आज के दिन 1829 में हुई थी.
1856 के बाद से यह रेस हर साल हो रही है बस दोनों विश्व युद्धों को छोड़ कर. दोनों टीमें बड़ी तैयारी के साथ रेस में आती हैं और पारंपरिक रूप से सदस्यों को ब्लूज और रेस में शामिल बोट को ब्लू बोट कहा जाता है. इनमें से कैम्ब्रिज की बोट हल्की नीली और ऑक्सफोर्ड की बोट गहरी नीली होती है. अब तक 81 बार यह रेस कैम्ब्रिज की टीम ने जीती है जबकि ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के हिस्से 77 जीत आई हैं.

  • 110 -ईरान और रोम के बीच 50 वर्षों की शांति के बाद रोम के नरेश ट्रोजान के आदेश पर इस देश की सेना ने पश्चिमोत्तरी ईरान के अरमीनिया भाग पर जो अब अलग देश है आक्रमण किया। ईरानी सेना ने दो वर्षों तक प्रतिरोध किया किंतु बाद में वो अरमीनिया से पीछे हटने पर विवश हो गयी। किंतु अशकानी शासक ख़ुसरो ने अरमीनिया में ईरान के समर्थकों को उकसा कर अरमीनिया को रोम की सेना के नियंत्रण से छुड़ाने की भूमिका प्रशस्त की अंतत: यह क्षेत्र स्वतंत्र होकर पुन: ईरान का भाग बन गया।
  • 1246 - नसीरुद्दीन मुहम्मद शाह दिल्ली की गद्दी पर आसीन हुआ।
  • 1790 - ब्रिटेन के सैनिको ने मलेशिया पर आक्रमण किया। उस समय इस देश पर हॉलैंड का अधिकार था और वह इसके स्रोतों को लूट रहा था। किंतु मलेशिया में ब्रिटिश सैनिकों के आगमन के बाद हॉलैंड को इस देश से पीछे हटना पड़ा। वर्ष 1824 ईसवी में हॉलैंड इस पर राज़ी हुआ कि वह मलेशिया में अपनी विशिष्टताओं को हाथ से जाने देगा किंतु इस शर्त के साथ कि ब्रिटेन की सेना मलेशिया से बाहर निकल जाए। इस साम्राज्यवादी सौदे के परिणाम स्वरुप ब्रिटेन और हॉलैंड ने एक दूसरे की ओर से निश्चिंत होकर मलेशिया के स्रोतों को लूटना आरंभ कर दिया। मलेशिया को 1957 में स्वतंत्रता मिली।
  • 1972 - मुम्बई के मडगांव बंदरगाह से पूर्ण वातानुकुलित पोत हर्षवर्धन का जलावतरण हुआ।
  • 1983 - ब्रिटेन में मार्गरेट थैचर पुन: प्रधानमंत्री बनीं।
  • 1999 - इंडोनेशियाई स्वतंत्रता समर्थक नेता जोस रामोस होर्ता द्वारा 23 वर्ष बाद स्वदेश लौटने की घोषणा, जेनेवा में अंतर्राष्ट्रीय श्रम सम्मेलन की शुरुआत।
  • 2000 -सीरिया के राष्ट्रपति हाफिज़़ असद एक लम्बी बीमारी के बाद चल बसे। वे सन 1930 ईसवी में जन्में थे। उन्होंने सन 1964 में वायु सेना प्रमुख का पद संभाला और तीन वर्ष सीरिया के रक्षा मंत्री बने रहे। 1970 में एक विद्रोह करके उन्होंने देश का नेतृत्व अपने हाथ में ले लिया और फिर बास पार्टी के प्रमुख बने इसके एक वर्ष बाद देश में जनमत संग्रह द्वारा वे राष्टष्ट्रति चुने गये और फिर अपनी आयु के अंतिम दिन तक वे सीरिया के राष्ट्रपति रहे।  
  • 2001 - नेपाल नरेश हत्याकांड की जांच अवधि चार दिन के लिए बढ़ाई गई, बरलुस्कोनी इटली के प्रधानमंत्री नियुक्त।
  • 2002 - संयुक्त राष्ट्र विश्व खाद्य सम्मेलन रोम में सम्पन्न, पाकिस्तान ने विश्व की दूसरी सबसे ऊंची चोटी के-2 का नाम बदलकर  चोगोरी  अथवा  शाहगोरी कर दिया।
  • 2005 - भारत और श्रीलंका में शिक्षा व सामुदायिक विकास से सम्बद्ध दो समझौतों पर हस्ताक्षर।
  • 2008 -  केन्द्र सरकार ने तीनों सेनाओं के लिए एकीकृत स्पेस सेल की घोषणा की।

अन्य पोस्ट

Comments