राजपथ - जनपथ

छत्तीसगढ़ की धड़कन और हलचल पर दैनिक कॉलम : राजपथ-जनपथ : विधायकों ने दिखाया दम
छत्तीसगढ़ की धड़कन और हलचल पर दैनिक कॉलम : राजपथ-जनपथ : विधायकों ने दिखाया दम
Date : 10-Dec-2019

विधायकों ने दिखाया दम 
कांग्रेस के एक-दो को छोड़कर सभी विधायक अपने निकायों से पसंदीदा उम्मीदवार तय कराने में कामयाब रहे। वैसे तो दिखावे के लिए वार्ड और जिले में प्रत्याशी के नामों पर विचार के लिए कमेटी भी बनाई गई थी, लेकिन हुआ वही जो विधायकों ने चाहा। सबसे ज्यादा झंझट राजनांदगांव नगर निगम के वार्डों को लेकर हुआ। 

सुनते हैं कि राजनांदगांव में जिलाध्यक्ष कुलबीर छाबड़ा के साथ-साथ पुराने कांग्रेस नेताओं और पूर्व सांसद करूणा शुक्ला ने अपनी अलग सूची तैयार कर रखी थी। इस वजह से यहां काफी खींचतान हुई। इससे परे विधायकों की राय के विपरीत कुछ वार्डों में सीएम ने हस्तक्षेप कर टिकट दिलाई। नागभूषण राव, अजीत कुकरेजा और बिलासपुर नगर निगम के वार्ड से बसंत शर्मा, ऐसे हैं जिनके लिए स्थानीय विधायक सहमत नहीं थे। मगर सीएम की दखल के बाद उन्हें टिकट दी गई। 

दुर्ग नगर निगम के वार्ड प्रत्याशियों के चयन में स्थानीय विधायक अरूण वोरा की एकतरफा चली। चर्चा है कि वार्ड प्रत्याशी मदन जैन के नाम पर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू को आपत्ति थी, लेकिन जैसे ही उन्हें बताया गया कि मदन जैन के लिए मोतीलाल वोरा ने सिफारिश की है, वे खामोश हो गए। 

फिलहाल दुर्ग में एक ऐसा ऑडियो तैर रहा है जिसमें अरूण वोरा के बेटे को एक कांग्रेसी धमका रहा है, और बातचीत में धमकी और गाली-गलौज भी चल रही है कि उसका टिकट कटवा दिया गया। टिकट को लेकर यह टेलीफोन कॉल यह भी बताती है कि अब मोतीलाल वोरा की अगली की अगली पीढ़ी भी कांग्रेस की राजनीति में दखल रखने लगी है। इसके साथ-साथ लोगों के लिए यह सबक भी है कि टेलीफोन पर बातचीत अब सुरक्षित नहीं है क्योंकि इस कॉल पर यह बहस भी चल रही है कि फोन की बातचीत रिकॉर्ड करके फैलाने का काम किया जा रहा है, उसके बाद भी गर्मागर्म बातचीत जारी भी है। 

विकास उपाध्याय को फटकार
रायपुर नगर निगम के वार्ड प्रत्याशियों के चयन के दौरान विधायक विकास उपाध्याय ने एक वार्ड प्रत्याशी के नाम का विरोध करते हुए कहा कि उन्हें पिछली बार मैंने ही टिकट दिलाई थी। इस पर सीएम ने उन्हें फटकार लगाई और कहा कि टिकट आपने नहीं, कांग्रेस ने दी थी। इसके बाद विकास खामोश हो गए। हालांकि उनके अपने विधानसभा क्षेत्र में उन्हीं की पसंद से ही प्रत्याशी तय किए गए। सुनते हैं कि रायपुर शहर जिलाध्यक्ष गिरीश दुबे को तीनों विधायकों ने अपनी पसंद बता दी थी। इसलिए गिरीश दुबे ने वही नाम रखे, जो विधायकों को पसंद थे। रायपुर दक्षिण में प्रमोद दुबे और सत्यनारायण शर्मा की राय पर प्रत्याशी तय किए गए।  (rajpathjanpath@gmail.com)

Related Post

Comments