इतिहास

इतिहास में आज 7 जनवरी
इतिहास में आज 7 जनवरी
Date : 07-Jan-2020

भारत की जनता ने तीन साल तक सत्ता से दूर रखने के बाद कांग्रेस पार्टी की सबसे शक्तिशाली नेता इंदिरा गांधी को वापस चुना. गांधी ने देश में इमरजेंसी लागू करने की भारी कीमत 1977 में अपनी चुनावी हार से चुकाई थी. 1980 के चुनावों में उन्होंने संसद के निचले सदन लोकसभा में कुल 525 सीटों में से 351 जीतीं. इसी के साथ उनकी दो विरोधी पार्टियों जनता दल और लोक दल को करारी हार का मुंह देखना पड़ा. ये दोनों ही पार्टियां संसद में आधिकारिक विपक्षी दल बनने के लिए जरूरी न्यूनतम 54 सीटें भी नहीं जीत सकीं. इन चुनावों में इंदिरा गांधी के पुत्र संजय गांधी भी विजयी रहे. संजय को ही देश में इमरजेंसी के दौरान कई तरह की ज्यादतियों के लिए जिम्मेदार माना जाता है.
इंदिरा गांधी 1977 तक भारत की प्रधानमंत्री के रूप में 11 सालों कर शासन कर चुकी थीं. 1980 के चुनाव में इंदिरा ने अपने "गरीबी हटाओ" के नारे और देश में कानून-व्यवस्था बहाल करने के वादे के साथ सत्ता में फिर वापसी की. 62 साल की उम्र में लड़े इन चुनावों में उन्होंने खुद 384 लोकसभा क्षेत्रों का दौरा किया और भारी जन समर्थन हासिल किया. भारी बहुमत से चुन कर आने के बावजूद भारत में 19 महीनों तक लागू किए आपातकाल के साये ने पूरी तरह उनका पीछा नहीं छोड़ा. इस दौरान देश में लोकतांत्रिक व्यवस्था को स्थगित कर दिया गया था और ज्यादातर राजनीतिक विरोधियों को उन्होंने जेल में डाल दिया था. इसके अलावा इस दौरान चलाए गए अनिवार्य नसबंदी कार्यक्रम के लिए भी उनकी खूब आलोचना हुई.
इससे पहले 1978 में जब वे एक उपचुनाव में अपनी सीट जीत कर संसद में आईं तो उन्हें आपातकाल के दौरान ज्यादतियों के आरोप में संसद से निष्कासित कर दिया गया. भारत के लोकतांत्रिक इतिहास में यह अपनी तरह की एकमात्र घटना है जब किसी पूर्व प्रधानमंत्री को संसद से निकाला गया हो. 1984 में उन्होंने पंजाब के स्वर्ण मंदिर में छिपे सिख उग्रवादियों को निकालने के लिए सैनिक कार्यवाई के आदेश दे दिए. इसके दो ही महीने बाद इंदिरा गांधी के इस कदम से नाखुश एक सिख बॉडीगार्ड ने उनकी हत्या कर दी.

  • 1859 - सिपाही विद्रोह में संलिप्तता के मामले में मुग़ल सम्राट बहादुरशाह जफ़र (द्वितीय) के खि़लाफ सुनवाई शुरू।
  • 1913 -अशुद्ध कच्चे तेल के ऊष्मीय भंजन के लिए विलियम मेरियम बर्टेन को एक पेटेन्ट जारी किया गया।
  • 1927-पहली व्यावसायिक टेलिफोन सेवा (रेडियो सहित) न्यूयॉर्क और लंदन के बीच में शुरू हुई।
  • 1989 - जापान के सम्राट हिरोहितो का देहावसान, आकिहितो नये सम्राट घोषित।
  • 1999 - अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के विरुद्ध महाभियोग की कार्रवाही शुरू।
  • 2000 - जकार्ता (इंडोनेशिया) में 10 हज़ार मुसलमानों ने मोलुकस द्वीप समूह में ईसाईयों के विरुद्ध जेहाद की घोषणा की।
  • 2003 - जापान ने विकास कार्यों में मदद के लिए भारत को 90 करोड़ डालर की मदद की घोषणा की।
  • 2009 - आई टी कम्पनी सत्यम के चेयरमैन रामालेंगम राजू ने अपेन पद से इस्तीफ़ा दिया।
  • 2010 - जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर के ऐतिहासिक लाल चौक पर एक होटल में छिपे आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच लगभग 22 घंटे लंबी मुठभेड़ दो आतंकवादियों के मारे जाने के साथ ख़त्म हो गयी। 
  • 1947 - भारतीय लेखका शोभा डे का जन्म हुआ। 
  • 1950 -  हिन्दी फि़ल्मों के हास्य अभिनेता जॉनी लीवर  का जन्म हुआ। 
  • 1957 - हिन्दी फि़ल्मों की अभिनेत्री रीना रॉय का जन्म हुआ। 
  • 1966 - फि़ल्म निर्माता निर्देशक  बिमल रॉय का निधन हुआ। 
  • 1745 - डेनमार्क के कीटविज्ञानी जोहान क्रिश्चियन फैब्रीशियस का जन्म हुआ, जो अ_ारहवीं शताब्दी के महानतम कीट वैज्ञानिकों में से एक थे। स्वीडिश प्रकृतिविद लीनियस के साथ पढऩे के बाद फैब्रिशियस यूरोप में कीट संग्रह देखने के लिए जगह-जगह गए और जितनी प्रजातियां उन्होंने देखीं, उनका विवरण उन्होंने प्रकाशित किया। उन्होंने कीटों की करीब 10 हजार प्रजातियों का नामकरण और वर्गीकरण किया।  (निधन-3 मार्च 1808) 
  • 1925 -ब्रिटेन के संरक्षण जीवविज्ञानी तथा लेखक गेरॉल्ड मैल्कम डरेल का जन्म हुआ, जिन्होंने अपना जीवन लुप्तप्राय: प्रजातियों के संरक्षण में बिताया। उन्होंने अपनी युवावस्था में यूनान के ऊपोष्ण द्वीपों में अपनी पुस्तक माई फैमिली ऐन्ड अदर ऐनिमल्स के लिए बहुत सामग्री एकत्र की। (निधन- 30 जनवरी 1995)
  • 1943-सर्बियाई-अमेरिकी आविष्कारक और अनुसंधानकर्ता निकोला टेस्ला का निधन हुआ, जिन्होंने 1883 में पहली प्रत्यावर्ती धारा-प्रेरित मोटर की रूपरेखा तैयार की तथा उसका निर्माण किया। (जन्म 9-जुलाई 1856)
  • 1893-ऑस्ट्रिया के भौतिकशास्त्री जोजफ़ स्टेफेन का निधन हुआ, जिन्होंने 1879 में विकिरण का नियम दिया जिसके अनुसार किसी कृष्णिका से प्रति सेकेन्ड विकिरित ऊर्जा की मात्रा उसके परम ताप के चौथे घात के समानुपाती होती है। ( जन्म-24 मार्च 1835)
     

Related Post

Comments