राजपथ - जनपथ

छत्तीसगढ़ की धड़कन और हलचल पर दैनिक कॉलम : राजपथ-जनपथ : टमाटर के अच्छे दिन...
30-Nov-2021 6:20 PM (136)
छत्तीसगढ़ की धड़कन और हलचल पर दैनिक कॉलम : राजपथ-जनपथ : टमाटर के अच्छे दिन...

टमाटर के अच्छे दिन...

वैसे तो डीजल के भाव के कारण ठंड में भारी आवक होने के बावजूद सब्जियों के दाम घटे नहीं हैं पर टमाटर कुछ ज्यादा ही ऊपर चढ़ा हुआ है। ठीक क्वालिटी का टमाटर 60 रुपये से कम नहीं जो अमूमन दूसरे वर्षों में 10-12 रुपये में मिल जाता था। दुर्ग और सरगुजा संभाग में टमाटर की बंपर पैदावार होती है। इस बार भी हुई है। बीते साल की घटना याद होगी जब धमधा इलाके में टमाटर इसी सीजन में 1 रुपये किलो मिल रहा था, यानि लागत भी नहीं निकल रही थी। जशपुर के फरसाबहार, पत्थलगांव और लुड़ेग इलाके में खेतों और सडक़ों पर फेंके गये टमाटर की तस्वीर तो देश और देश के बाहर भी सुर्खियों में रही है। पर इस बार टमाटर उत्पादकों के अच्छे दिन हैं। यूपी, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र आदि में छत्तीसगढ़ से टमाटर बड़ी मात्रा में निर्यात हो रहे हैं। व्यापारी किसानों के पास आकर 25 से 30 रुपये में ले जा रहे हैं। सरगुजा से हर दिन लगभग 70 लाख रुपये का टमाटर यूपी जा रहा है। छत्तीसगढ़ के भी थोक विक्रेताओं को किसान 25-30 रुपये में ही बेच रहे हैं लेकिन उपभोक्ता के हाथ में आते-आते यह 60 रुपये हो जा रहा है। यानि किसान ही नहीं, थोक व्यापारी और चिल्हर विक्रेताओं को इस समय टमाटर अच्छा मुनाफा दे रहा है।

शराब के समर्थक कांग्रेसी..

रामानुजगंज विधायक बृहस्पति सिंह का कोई नया ऑडियो-वीडियो वायरल होता है तो अब कोई सनसनी महसूस नहीं होती। करीब आधे मिनट के नये वायरल वीडियो में वे शराब के समर्थन में बोल रहे हैं। वे सभा में कथित रूप से कह रहे हैं कि मैं नहीं कहता शराब मत पियो, इसमें कोई बुराई नहीं है। संपत्ति है तो पियो, मगर घर में। शाम को पियो और सुबह फिर अपने काम में लग जाओ।

अब, इसमें उन्होंने कौन सी नई बात कह दी। अक्टूबर महीने में तो महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंडिया के वायरल वीडियो में भी इसी तरह की बात थी। वे भी कह रही थीं, घर में पियो।

जिस तरह से बीच-बीच में कांग्रेस के नेता, मंत्री शराब की तरफदारी करते हुए बयान देते हैं, उससे तो शराब पीने वालों को निश्चिंत रहना चाहिये कि कभी यहां शराबबंदी भी हो पायेगी। हां, घर में पीने की सलाह जरूर चिंताजनक है। इसलिये कि घरों में पीने का अभियान चलाकर कहीं जगह-जगह चल रहे चखना सेंटर्स को बंद न करा दिये जायें। इससे चलाने वाले दुकानदारों की ही नहीं, रोजाना वसूली करने वाले आबकारी वालों की कमाई भी मारी जायेगी।

कांग्रेस का मास्टर स्ट्रोक

प्रोफेशनल कांग्रेस, जिसके राष्ट्रीय अध्यक्ष शशि थरूर हैं- में ऐसे लोगों को सदस्य बनाया जाता है जो विभिन्न क्षेत्रों में आईकॉन हो। पिछले महिने पूर्वी जोन प्रभारी ज़ारिता लेत्फलांग जब छत्तीसगढ़ आई थीं तो क्रिकेटर राजेश चौहान को उन्होंने अपनी टीम में लिया था। अब प्रख्यात पंडवानी गायिका पद्मविभूषण तीजन बाई ने सदस्यता ली है। छत्तीसगढ़ में पंडवानी को गांव-गांव में सुना जाता है। हर गांव में तीजन बाई को जाना भी जाता है और उनकी बड़ी प्रतिष्ठा है।आने वाले दिनों में यह कांग्रेस के लिये फायदेमंद साबित हो सकता है। सरकार की भी छत्तीसगढिय़ा छवि को संगठन के रास्ते से मजबूती मिल सकती है।

अन्य पोस्ट

Comments