Today Picture

सिर झुकाकर माफी मांगी

Posted Date : 09-Aug-2018

जापान में टोक्यिो मेडिकल यूनिवर्सिटी ने वर्ष 2000 से लेकर लगातार अब तक मेडिकल डिग्री कोर्स में दाखिले की परीक्षा के नतीजों में छेडख़ानी की, ताकि कम लड़कियां पास हो सकें। विश्वविद्यालय अधिकारियों का यह मानना था कि लड़कियां डॉक्टर बनने के बाद जब मां बनती हैं तो वे छुट्टियां लेती हैं, और ऐसे में डॉक्टर के रूप में उनकी उत्पादकता कम रहती है, इसलिए उनको अधिक संख्या में मेेडिकल कोर्स में न आने दिया जाए। वहां वकीलों की एक जांच रिपोर्ट में यह पाया गया है कि विश्वविद्यालय वर्ष 2000 से तो यह छेडख़ानी कर ही रहा है, और इसके पहले से भी हो सकता है कि उसने ऐसा किया हो। इस खुलासे के बाद यूनिवर्सिटी के प्रमुख और उपप्रमुख ने एक पे्रस कांफे्रंस में मीडिया के सामने इस तरह सिर झुकाकर माफी मांगी। जांच टीम न यह पाया है कि विश्वविद्यालय दाखिला परीक्षा में सभी के नंबर 20 फीसदी घटा देता था, और फिर लड़कों के रिजल्ट में 20 फीसदी जोड़ देता था। इस पर माफी मांगते हुए विश्वविद्यालय के मुखिया ने कहा-हम दाखिला परीक्षाओं में इस तरह का गलत काम करने के लिए दिल से माफी मांगते हैं। उसने कहा कि उसे पहले नंबरों में हेरफेर की जानकारी नहीं थी लेकिन उसे शक है कि ऐसा करने वाले लोग लड़कियों के प्रति संवेदनाशून्य थे।


Related Post

Comments