छत्तीसगढ़

  • लक्ष्मीबाई जयंती पर बोले रमन सिंह- शिक्षा और विद्या का शस्त्र लेकर हमारी  बेटियां दुनिया जीतने निकल पड़ीं
    लक्ष्मीबाई जयंती पर बोले रमन सिंह- शिक्षा और विद्या का शस्त्र लेकर हमारी बेटियां दुनिया जीतने निकल पड़ीं

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 18 नवंबर। वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई की जयंती के अवसर पर राज्य महिला आयोग द्वारा महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से शनिवार को वीरांगना रैली निकाली गई। लक्ष्मीबाई की वेशभूषा में घोड़े, बग्घी में सवार सैकड़ों छात्राओं की इस रैली को मरीन ड्राइव से मुख्यमंत्री रमन सिंह ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 
    इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में रानी लक्ष्मीबाई के योगदान को याद करते हुए कहा कि हमारी बेटियां रानी लक्ष्मीबाई का प्रतीक है। जिनके बारे में हमने सुना है कि बुंदेले हरबोलों के मुख हमने सुनी कहानी है, खूब लड़ी मर्दानी वो तो झाँसी वाली रानी है। डॉ. सिंह ने कहा कि शिक्षा और विद्या का शस्त्र लेकर हमारी बेटियां दुनिया जीतने के लिए निकल पड़ी हैं। आज वही आगे बढ़ता है जो शिक्षित होता है। हमारी बेटियों को आगे बढऩे से कोई नहीं रोक सकता।
     इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू, विधायक श्रीचंद सुंदरानी, राष्ट्र्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा , राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पांडेय, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष  धरमलाल कौशिक सहित आयोग की अनेक सदस्यों की सहभागिता रही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने राज्य महिला आयोग द्वारा बेटियों और महिलाओं के अधिकारों पर केंद्रित हल्बी और गोंडी भाषा में पहली बार प्रकाशित पुस्तकों का विमोचन भी किया गया। 
    रानी लक्ष्मीबाई की वेशभूषा में शामिल सैकड़ों छात्राओं के जयघोष से वातावरण ओजमय बना रहा। बरछी, कटार संग वीरांगना रूप में घोड़े पर सवार इन छात्राओं के संग सैकड़ों छात्राओं के जयघोष से वातावरण देशभक्ति से पूरी तरह से रच बस गया। शहर के विभिन्न स्थलों में देशभक्ति का संचार करते हुए वीरांगना रैली इंडोर स्टेडियम में संपन्न हुई।
    रानी लक्ष्मीबाई जंयति के अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग द्वारा इंडोर स्टेडियम में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर उत्कृष्ठ कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया। 
    छग महिला आयोग द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान विभिन्न क्षेत्र में उत्कृष्ठ योगदान के लिए ग्राम सुकूल से पद्मश्री फूलबासन, पद्मश्री शमशाद बेगम, महिला कमांडो की सक्रिय सदस्य जस्सी फिलिप, राधा देशमुख को सम्मानित किया गया। इनके अलावा लक्ष्मी स्वसहायता समूह, वन स्टाप सेंटर दुर्ग, रायपुर, बिलासपुर, सूरजपुर को सम्मानित किया गया। भारत माता वाहिनी समूह ग्राम पंचायत कठौली कुरूद की तामेश्वरी साहू को सम्मानित किया गया।

     

Daily Chhattisgarh News

 

Daily Chhattisgarh News

Daily Chhattisgarh News

राजनीति

  • टिकट न मिलने से नाराज नेताओं के इस्तीफे, शाह ने संभाला मोर्चा

    नई दिल्ली, 18 नवम्बर । गुजरात चुनाव अपने चरम पर हैं। ऐसे में पार्टियों में गठबंधन, सहयोग और जोड़-तोड़ के बीच उम्मीदवारों के नाम की भी घोषणा की जा रही है। शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी ने उम्मीवारों की पहली लिस्ट जारी की। लेकिन ये लिस्ट जारी होते ही पार्टी में कई लोग नाराज हो गए हैं। कई नेता टिकट न मिलने से बेहद खफा हो गए हैं।
    नाराजगी इस हद तक बढ़ गई की उन्होंने पार्टी प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघानी को तत्काल प्रभाव से अपने इस्तीफे तक सौंप दिए। लेकिन इसी के तुरंत बाद नाराज पार्टी नेताओं को मनाने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मोर्चा संभाल लिया। अमित शाह शुक्रवार देर रात गुजरात भाजपा के दफ्तर में डैमेज कंट्रोल की हर मुमिकन कोशिश करते रहे। हालांकि उनकी कोशि किस हद तक सफल हुई है इस बारे में अभी जानकारी नहीं है। पहली सूची आने के बाद शाम तक ही पार्टी में इस्तीफे का सिलसिला शुरू हो गया था। इनमें अंकलेश्वर विधानसभा सीट पर भाई ने ही अपने भाई के टिकट का विरोध किया।
    टिकट का ऐलान होने के बाद भरुच जिला पंचायत के सदस्य वल्लभ पटेल ने पार्टी से इस्तीफा दिया। इस्तीफा देने वाले वल्लभ पटेल, ईश्वर पटेल के सगे भाई हैं। अंकलेश्वर सीट से वल्लभ पटेल ने भी टिकट की मांग की थी। दशरथ पुवार ने जिला भाजपा के महामंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। वडोदरा में भी दिनेश पटेल को टिकट दिए जाने से पार्टी में बगावत होने लगी। पादरी जिला पंचायत और तहसील पंचायत के नेता कमलेश पटेल ने इस्तीफा दिया है। वहीं वडोदरा जिला महामंत्री चैतन्य सिंह झाला ने भी पार्टी को इस्तीफा दे दिया।
    हाल ही में कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हुए भोलाभाई गोहिल भी नाराज हैं और वो इस बारे में आज जीतु वाघानी से मुलाकात करेंगे। उन्होंने जसदण सीट से टिकट मांगा था, लेकिन उन्हें टिकट नहीं दिया गया। जबकि वो इस सीट से कांग्रेस के विधायक रह चुके हैं। इतना ही नहीं गोहिल ने राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग की थी, लेकिन इस सीट से भरत बोगरा को टिकट दिया गया।(पंजाब केसरी)

     

मनोरंजन

  • टीवी पर धमाकेदार वापसी को तैयार कपिल

    नई दिल्ली, 18 नवम्बर । खत्म हुआ इंतजार! टीवी पर दर्शकों को दोबारा लोटपोट करने कपिल शर्मा आ रहे हैं। जी हां, कॉमेडियन कपिल शर्मा जल्द ही अपने लोकप्रिय टीवी शो द कपिल शर्मा शो के साथ छोटे पर्दे पर जोरदार तरीके से वापसी करेंगे। चैनल के अधिकारियों ने इसकी पुष्टि की। सोनी एंटरटेनमेंट के कार्यकारी उपाध्यक्ष और बिजनेस हेड दानिश खान ने बताया कि कपिल जल्द वापसी करेंगे।
    कपिल इन दिनों अपनी आगामी बॉलीवुड फिल्म फिरंगी के प्रमोशन में व्यस्त हैं। खान के मुताबिक कि उनकी फिल्म फिरंगी 24 नवंबर को रिलीज हुई। हम कपिल के प्रशंसक हैं। यहां तक कि हम प्रचार के लिए अलग से शो भी कर रहे हैं। उन्होंने अच्छी फिल्म बनाई है और यह सफल होगी। इसके बाद कपिल सोनी पर जोरदार तरीके से वापसी करेंगे।
    चैनल ने अगस्त में कपिल और उनके शो को कुछ समय के लिए 

    विराम देने की घोषणा की थी। चैनल के एक प्रवक्ता ने कहा था कि कपिल ने आपसी सहमति से ब्रेक लिया और स्वास्थ्य पूरी तरह ठीक होने के बाद वह दोबारा शूटिंग शुरू करेंगे।

     

स्थायी स्तंभ

खेल

  • IND vs SL Test Live: टीम इंडिया की पहली पारी 172 रन पर सिमटी, पुजारा ने बनाया अर्धशतक

    कोलकाता, 18 नवंबर : श्रीलंका के खिलाफ पहले टेस्‍ट में भारतीय की पहली पारी महज 172 रन पर सिमट गई है. मैच के तीसरे दिन भारतीय टीम ने आज पांच विकेट पर 74 रन से आगे खेलना शुरू किया और पूरी टीम 59.3 ओवर में 172 रन बनाकर आउट हो गई. मैच के पहले दो दिन बारिश के कारण बुरी तरह प्रभावित रहे थे और केवल 31.5 ओवर का खेल ही संभव हो पाया था. मददगार विकेट पर श्रीलंका के तेज गेंदबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और लगातार भारत के विकेट झटके. भारतीय पारी में चेतेश्‍वर पुजारा ने सर्वाधिक 52 रन बनाए. विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा ने 29 रन का योगदान दिया. श्रीलंका के लिए सुरंगा लकमल ने सर्वाधिक चार विकेट लिए. भारतीय पारी खत्‍म होते ही लंच ब्रेक घोषित कर दिया गया.

    तीसरे दिन भारत ने पांच विकेट पर 74 रन से आगे खेलना शुरू किया. चेतेश्‍वर पुजारा ने स्पिन गेंदबाज रंगना हेराथ की गेंद पर चौका जमाकर अपना 16वां अर्धशतक पूरा किया. इस दौरान उन्‍होंने 108 गेंदों का सामना करते हुए 10 चौके जमाए. चेतेश्‍वर पुजारा (52 रन, 117 गेंद, 10 चौके) अर्धशतक पूरा करने के बाद ज्‍यादा देर नहीं टिके. उन्‍हें गमागे ने बोल्‍ड किया. उनके आउट होने से टीम इंडिया के सम्‍मानजनक स्‍कोर तक पहुंचने के अभियान को बड़ा झटका लगा. पुजारा के आउट होने के बाद रवींद्र जडेजा बैटिंग के लिए आए, उन्‍होंने कुछ देर खामोश रहने के बाद स्पिनर दिलरुवान परेरा की गेंद पर बेहतरीन छक्‍का जमाया. साहा भी अपनी पारी को आगे बढ़ाते जा रहे थे. इस दौरान साहा को जीवनदान भी मिला जब दिलरुवान परेरा की गेंद पर विकेटकीपर निरोशन डिकवेला स्‍टंपिंग चूक गए. साहा का स्‍कोर इस समय 25 रन था.

    पारी का 52वां ओवर श्रीलंका के लिए दो सफलताएं लेकर आया. इस ओवर में रवींद्र जडेजा (22 रन, 37 गेंद, दो चौके, एक छक्‍का) और ऋद्धिमान साहा (29 रन, 83 गेंद, छह चौके) के विकेट लिए. ये दोनों विकेट स्पिन गेंदबाज दिलरुवान परेरा के खाते में गए. मजे की बात यह रही कि दोनों ही फैसले तीसरे अम्‍पायर ने दिए. भारतीय टीम का नौवां विकेट भुवनेश्‍वर कुमार (13रन, 17 गेंद, एक चौका) के रूप में गिरा जिन्‍हें तेज गेंदबाज लकमल ने विकेटकीपर डिकवेला से कैच कराया. नौ विकेट गिरने के बाद मो. शमी और उमेश यादव ने आक्रामक शॉट लगाते हुए भारतीय स्‍कोर को 150 रन के पार पहुंचाया. टीम इंडिया का आखिरी विकेट मो. शमी (24रन, तीन चौके) के रूप में गमागे के खाते में गया. उमेश यादव छह रन बनाकर नाबाद रहे. श्रीलंका के लकमल ने चार विकेट लिए. लाहिरु गमागे, दासुन शनाका और दिलरुवान परेरा के खाते में दो-दो विकेट आए.

    विकेट पतन: 0-1 (राहुल, 0.1), 13-2 (धवन, 6.2), 17-3 (विराट, 10.1), 30-4 (रहाणे, 17.2), 50-5 (अश्विन, 25.6), 79-6 (पुजारा, 37.2), 127-7 (जडेजा, 51.2), 128-8 (साहा, 51.5), 146-9 (भुवनेश्‍वर, 56.2), 172-10 (शमी, 59.3)

    मैच के दूसरे दिन टीम इंडिया ने तीन विकेट पर 17 रन से आगे खेलना प्रारंभ किया था. अजिंक्‍य रहाणे ज्‍यादा देर नहीं टिके और केवल चार रन बनाने के बाद आउट हो गए. उनका कैच मध्‍यम गति के गेंदबाज दासुन शनाका की गेंद पर विकेटकीपर डिकवेला ने लपका. चार स्‍थापित बल्‍लेबाजों के आउट होने के बाद भारतीय टीम को सम्‍मानजनक स्थिति में पहुंचाने का सारा दबाव चेतेश्‍वर पुजारा पर आ गया था. भारतीय टीम का पांचवां विकेट रविचंद्रन अश्विन (4 रन, 29 गेंद) के रूप में गिरा, जिन्‍हें शनाका ने करुणारत्‍ने के हाथों कैच कराया.

    इससे पहले, मैच में पहले दिन बल्‍लेबाजी करते हुए भारत की शुरुआत निराशाजनक रही थी और पहली ही गेंद पर केएल राहुल (0) आउट हो गए थे. उन्‍हें सुरंगा लकमल की गेंद पर विकेटकीपर डिकेवला ने कैच किया. भारतीय टीम को जल्‍द ही शिखर धवन के रूप में दूसरा विकेट गंवाना पड़ा. धवन (8 रन, 11 गेंद, एक चौका) को लकमल ने बोल्‍ड किया.पारी के 11वें ओवर में कोहली (0 रन, 11 गेंद) को सुरंगा लकमल ने एलबीडब्‍ल्‍यू कर दिया. अम्‍पायर के निर्णय पर कोहली ने डीआरएस का भी सहारा लिया लेकिन फैसला उनके खिलाफ रहा.

    मैच में टीम इंडिया फिलहाल मुश्किल में फंसी नजर आ रही है. वैसे, तीन टेस्‍ट की सीरीज में टीम इंडिया को जीत का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. इस के पीछे कारण भी हैं. टीम इंडिया ने इस साल जुलाई-अगस्त में श्रीलंका को तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 3-0 के एकतरफा अंतर से हराया था. रिकॉर्ड भी भारतीय टीम के पक्ष में है. भारतीय टीम ने अब तक श्रीलंका से अपनी सरजमीं पर एक भी टेस्ट मैच नहीं गंवाया है. एक बार पहले भी भारत, श्रीलंका के खिलाफ स्वदेश में क्लीन स्वीप (1993-94 में) कर चुका है. 

    वैसे, भारत अगर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में श्रीलंका का सूपड़ा साफ करने में सफल रहता है तो उसकी घरेलू सरजमीं पर जीत की संख्या 100 पर पहुंच जाएगी और यह उपलब्धि हासिल करने वाला वह ऑस्ट्रेलिया (234) और इंग्लैंड (212) के बाद केवल तीसरा देश होगा. भारत ने अब तक अपनी सरजमीं पर 261 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से 97 में उसे जीत और 52 में हार मिली है जबकि 111 मैच ड्रॉ और एक टाई रहा है. अभी स्वदेश में सर्वाधिक जीत के रिकॉर्ड के मामले में भारत चौथे स्थान पर है. दक्षिण अफ्रीका ने अपनी सरजमीं पर 98 जीत दर्ज की हैं लेकिन उसे दिसंबर के आखिरी सप्ताह तक अपनी धरती पर कोई टेस्ट मैच नहीं खेलना है.

    भारतीय टीम : विराट कोहली (कप्‍तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, चेतेश्‍वर पुजारा, अजिंक्‍य रहाणे, रविचंद्रन अश्विन, ऋद्धिमान साहा, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्‍वर कुमार, उमेश यादव और मो. शमी.

    श्रीलंका टीम: दिनेश चंदीमल (कप्‍तान), दिमुथ करुणारत्‍ने, सदीरा समरविक्रमा, लाहिर तिरुमाने, एंजेलो मैथ्‍यूज, निराशन डिकवेला, दासुन शनाका, दिलरुवान परेरा, रंगना हेराथ, सुरंगा लकमल और लाहिरु गमागे. (एनडीटीवी)

कारोबार

  • जीएसटी दरों में कटौती के बाद कंपनियों को नए एमआरपी स्टीकर लगाने दिसंबर तक का वक्त

    नई दिल्ली, 18 नवम्बर। जीएसटी परिषद ने हाल ही में लगभग 200 उत्पादों की जीएसटी दरों में बदलाव किया था, जिसके बाद सरकार ने कंपनियों को पैकेट वाले उत्पादों पर न्यूनतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) के मूल्य स्टीकर लगाने के लिए दिसंबर तक का समय दिया है। 
    केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने पिछले दिनों कहा था कि जीएसटी परिषद द्वारा 10 नवंबर को 200 सामानों पर टैक्स की दरों में किए गए बदलाव के बाद अब उसी हिसाब ने नया अधिकतम बिक्री मूल्य छपवाना होगा। पासवान ने कहा कि ऐसा नहीं करनेवालों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि उत्पादकों को घटी हुई एमआरपी के साथ पुरानी एमआरपी को भी लगाना होगा, ताकि जीएसटी की दरों में कटौती का लाभ ग्राहकों को दिया जा सके।
    1 जुलाई, 2017 से माल और सेवाकर (जीएसटी) के कार्यान्वयन के बाद पैकेट वाली कुछ वस्तुओं के खुदरा मूल्य में बदलाव की जरूरत महसूस हुई थी। उपभोक्ता मामलों, खाद्य व सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने निर्माताओं सहित अन्य संबद्ध इकाइयों को पैकेट-बंद वस्तुओं पर एमआरपी स्टीकर लगाने के लिए पहले 30 सितंबर तक का समय दिया था, जिसे अब बढ़ाकर 31 दिसंबर, 2017 कर दिया गया है।
    इसके अनुसार जीएसटी की दरों में संशोधन को देखते हुए पासवान ने वैधानिक माप-तोल (डिब्बा-बंद वस्तुएं) नियम 2011 के नियम 6 के उपनियम (3) के तहत अतिरिक्त स्टीकर या मोहर या ऑनलाइन प्रिंटिंग के जरिए पैकेजिंग पूर्व वस्तुओं के घटे खुदरा मूल्य को घोषित करने की अनुमति दे दी है।  (भाषा)

     

सेहत/फिटनेस

  • ये उपाय रखेंगे आपको मानसिक तनाव से दूर

    कभी ना कभी हर किसी के जीवन में ऐसा समय जरूर आता है जब व्यक्ति ना चाहते हुए भी मानसिक तनाव का शिकार हो जाता है.हालांकि अपने तनाव की वजहों को रोकना तो हर किसी के बस में नहीं होता है. लेकिन उन वजहों से खुद को कम से कम परेशान करना आप पर जरूर निर्भर करता है. जिसके लिए सबसे पहले आपको यह बात समझने की जरूरत है कि आप अपने जीवन में किस चीज को कितनी अहमियत देते हो, या कोई चीज आपको कितना ज्यादा इफेक्ट कर सकती है.

    १. सीधे होकर चलें:एक शोध में यह बात साबित हो चुकी है कि अपने सिर को ऊंचा रखकर सीधे चलने से मूड अच्छा होता है.साथ ही कंधों को झुका कर चलने से व्यक्ति के अंदर नेगेटिव विचार आते हैं. इसलिए जितना हो सके सीधे होकर ही चलें.

    २. एक्सरसाइज करें:एक नए शोध के अनुसार हफ्ते में कम से कम ३ बार एक्सरसाइज करने से मानसिक तनाव १९ फीसदी तक कम होता है. शोधकर्ताओं की मानें तो एक्सरसाइज करने वालों को कम तनाव होता है, जबकि बहुत तनाव में रहने वाले लोग वो होते हैं जो एक्सरसाइज ही नहीं करते.

    ३. तनाव भरे रिश्ते से बचें:ऐसे रिश्ते में रहने से बचें जहां आपके पार्टनर को आपकी कोई फिक्र ही ना हो. जो समय- समय पर आपको बेइज्जत करे. क्योंकि ऐसा रिश्ता आपको खुश करने के बजाए तनाव में डाल सकता है.

    ४. समय पर सोएं:नींद पूरी ना होने के कारण भी व्यक्ति तनाव में आ जाता है. क्योंकि अगर आप सही नींद नहीं लेते तो आपकादिमाग ठीक से काम नहीं करता. जिस कारण आप तनाव के शिकार हो जाते हैं. इसलिए तनाव से दूर रहने के लिए जरूरी है कि आप सही नींद लें.

    ५. खुद के लिए समय निकलें:फैमिली, फ्रेंड्स और काम में लोग अकसर इतना बिजी हो जाते हैं कि वो खुद को समय ही नहीं दे पाते. जिस कारण भी लोग धीरे-धीरे तनाव में आने लग जाते हैं. इसलिए जरूरी है कि अपनी बिजी लाइफ में आप अपने लिए कुछ समय जरूर निकालें और उस समय में वो काम करें जिससे आपको खुशी महसूस होती है. 

    ६. डिजिटल डिवाइस से थोड़ी दूरी बरतें:इंटरनेट और डिजिटल डिवाइस की लोगों को इतनी ज्यादा लत लग चुकी है कि वही उनकी दुनिया बन चुके हैं. जहां इंटरनेट साइंस का एक दिया हुआ वरदान है, वहीं यह लोगों को तनाव में डालने का एक बड़ा कारण भी बन चुका है. यह बात कई शोध में भी साबित हो चुकी है.

    ७. एक समय पर एक ही काम करें:भाग दौड़ भरे जीवन में समय की बचत के लिए अकसर लोग एक समय पर कई सारे काम करने लगते हैं. एक साथ कई चीजों पर ध्यान देने की वजह से उनका कोई काम ठीक से नहीं हो पाता है. जो लोगों में तनाव का कारण बन जाता है. इसलिए जितना हो सके एक समय पर एक ही काम करें और तनाव से खुद को दूर रखें.(आजतक)

अंग्रेज़ी

  • The English Corner 18 November 2017

    Idiom
    cut a dash
    If a person cuts a dash, they make a striking impression by their appearance and attractive clothes.
    Wearing his uniform, my grandfather cut a dash on his wedding day.

    going concern
    A business or activity that is dynamic and successful is a going concern.
    They opened a coffee shop that is a going concern today.

    way or the highway
    It you say to someone 'it's my way or the highway', you are telling that person that either they accept what you propose or they leave the project.
    You don't have much choice when someone says 'it's my way or the highway'.

     Phrasal Verbs
    A phrasal verb is a verb followed by a preposition or an adverb; the combination creates a meaning different from the original verb. Below you will find a list of phrasal verbs in alphabetical order with their meaning and an example of use.
    pop in- Make a brief visit    
    He sometimes pops in for a cup of coffee.
    slow down- Decelerate    
    You're driving too fast. Slow down!

    Synonyms and Antonyms
    approve  (verb)

     Synonyms and Antonyms of approve to give official acceptance of as satisfactory as soon as the pond project was approved, the bulldozers were at the site
    Synonyms- of approve accredit, approbate, authorize, clear, confirm, finalize, formalize, homologate, OK (or okay), ratify, sanction, warrant
    Words Related- to approve accept, acknowledge, affirm certify, endorse (also indorse), validate bless, canonize, sanctify initial, rubber-stamp, sign, sign off (on) allow, enable, legalize, license (also licence), pass, permit reapprove
    Near Antonyms- of approve ban, enjoin, forbid, illegalize, interdict, prohibit, proscribe disregard, ignore, neglect, overlook rebuff, rebut, refuse, spurn
    Antonyms- of approve decline, deny, disallow, disapprove, negative, reject, turn down, veto

फोटो गैलरी


विडियो गैलरी