Today Picture

Posted Date : 25-Oct-2017
  • सैलानियों में लोकप्रिय बहामास में अभी एक ऐसे टूरिस्ट रिसॉर्ट पर टीवी डॉक्यूमेंटरी बनी जिसे बहुत अधिक वजन वाले सैलानियों के लिए खासतौर पर बनाया गया है। इस डॉक्यूमेंटरी के लिए 8 ब्रिटिश सैलानियों ने अपनी छुट्टी मनाने पर यह फिल्म बनाने की इजाजत दी। ये सारे के सारे मेडिकल परिभाषा में ओबीज दर्जे में आते हैं। लेकिन कई लोगों ने इस डॉक्यूमेंटरी को देखकर इसे इस मायने में खतरनाक बताया कि यह भयानक मोटापे को भी सामान्य बताने का एक खतरनाक काम कर रही है।

     

    ...
  •  


Posted Date : 25-Oct-2017
  • अभी ब्रिटेन से एक लेखिका छुट्टी मनाने ग्रीस के एक शहर के लिए रवाना हुई तो 4 घंटे की उड़ान के लिए उसकी टिकट 4 हजार रुपये से कम की थी। यह मौसम सैलानियों के लौटने का था, न कि जाने का। फिर भी जब वह एयरपोर्ट के एयरलाइंस-काउंटर पर पहुंची तो उसने उत्सुकता से पूछा कि कितने मुसाफिर हैं? उससे अंदाज लगाने को कहा गया तो उसने 10 कहा। फिर उससे इसे घटाने को कहा गया तो धीरे-धीरे नीचे आते-आते उसे पता लगा कि कुल 3 टिकटें बुक हैं। लेकिन जब वह विमान पर पहुंची तो उसे पता लगा कि वह इस जेट विमान पर सफर करने वाली अकेली मुसाफिर है। पूरे रास्ते उसकी जमकर खातिर हुई, और पायलट से लेकर तमाम एयर होस्टेस तक उसकी दोस्त बन गईं।

    ...
  •  


Posted Date : 24-Oct-2017
  • अमरीकी अंतरिक्ष संस्था नासा के एक यान को अभी एक दिलचस्प तस्वीर मिली। वह 19 अक्टूबर को सूरज की तस्वीर ले रहा था कि अचानक चांद उसके सामने आ गया, और करीब 45 मिनट तक वह सूरज को कम या अधिक ढांकते रहा। उसने इस तस्वीर के वक्त सूरज को करीब 26 फीसदी ढांक लिया था। धरती पर ऐसा दिखता तो इसे ग्रहण कहा जाता, लेकिन यह आसमान में  अंतरिक्ष यान को ही दिखा नजारा है। नासा ने यह दिलचस्प तस्वीर जारी की है जो कि अपने किस्म की अनोखी खूबसूरत तस्वीर है।

    ...
  •  


Posted Date : 23-Oct-2017
  • दुनिया में अब पीठ और रीढ़ के दर्द से परेशान लोगों की संख्या बढ़ते ही जा रही है। कुर्सी पर देर तक बैठना, और देर तक कार चलाना, इसकी  वजह से रीढ़ की हड्डी परेशान करती है। अब ऐसे कई तरह के घरेलू सामान आ रहे हैं जिनका इस्तेमाल करके लोग ऐसे दर्द का खतरा घटा सकते हैं। ऐसा ही एक स्टूल आया है जिससे लोगों को फायदा पता लगा है। यह फिलहाल ब्रिटेन में करीब 18 हजार रूपए का है, लेकिन इसकी चीनी नकल इससे चौथाई दाम में आने में देर नहीं लगेगी।

    ...
  •  


Posted Date : 23-Oct-2017
  • बीबीसी की एक फिल्म के लिए जब सेशल्स के समंदर में शूटिंग चल रही थी तो एक विशालकाय मछली पानी में से निकली, हवा में उछली, और नीचे उड़ रहे एक पंछी को एक झपट्टे में दबोच लिया, और खा लिया। समुद्री प्राणियों के जानकारों और फोटोग्राफरों का यह मानना है कि ऐसा पहली बार फिल्माया गया है और यह नाटकीय दृश्य बीबीसी की इस सिरीज का एक चर्चित दृश्य बनेगा। यह मछली पानी के भीतर से इस पंछी की उड़ान पर नजर रख रही थी, और जैसे ही पंछी पानी के एकदम करीब पहुंचा, मछली ने छलांग लगाई, और पलक झपकते वह पंछी उसके मुंह में गायब हो गई। 

     

    ...
  •  


Posted Date : 23-Oct-2017
  • लंदन में 25 बरस की जोसेफिन लियांग ने यह तय किया कि वो कम से कम खाना खरीदेंगी, या खाना पकाने का सामान भी कम से कम लेंगी। उन्होंने ऐसे एप्लीकेशन का इस्तेमाल शुरू किया जिसमें रेस्तरां या लोग पोस्ट करते हैं कि वे खाने लायक कौन सा सामान फेंकने जा रहे हैं। उसने इन जगहों से खाना पाना शुरू किया, और खाने लायक फेंक दिया सामान भी छांट-छांटकर लाना शुरू कर दिया। कई रेस्तरां और बेकरी दिन के आखिर में बहुत सा सामान मिट्टी के मोल बेच देते हैं, या बाहर रख देते हैं। ऐसा कई तरह का खाना उसने मुफ्त पाया।

    ...
  •  


Posted Date : 22-Oct-2017
  • इंटरनेट पर दो महीने की एक बच्ची का वीडियो तैर रहा है जो कि  जन्म से बिल्कुल नहीं सुन पाती है। अभी जब उसे कान में सुनने की मशीन लगाई गई, और उसने पहली बार अपनी मां की आवाज सुनी, तो उसके चेहरे पर भावनाओं का उतार-चढ़ाव देखते ही बनता है।

    ...
  •  


Posted Date : 22-Oct-2017
  • बांग्लादेश के एक शरणार्थी शिविर में रोहिंग्या शरणार्थी महिला के एक बच्चे का जन्म कुछ इस तरह कैमरे में कैद हुआ

     

    ...
  •  


Posted Date : 17-Oct-2017
  • धनतेरस पर फूलों और आकर्षक साज-सज्जा से युक्त सदरबाजार सराफा बाजार में खासी रौनक रही। शीर्ष ज्वेलर्स सहित सदर बाजार की सभी दुकानों में सुबह से ही ग्राहकी बनी रही। धनतेरस के मौके पर सराफा बाजार की किसी दुल्हन की तरह साज-सज्जा की गई है। एटी ज्वेलर्स का मुख्य द्वार की अनूठी साज-सज्जा आकर्षण का केंद्र बनी रही। फूलों से सजी मोर आकृति, सोने से दमकते पत्तों से की गई आकर्षक सज्जा से सराफा बाजार दमकता प्रतीत होता रहा। तस्वीर  /छत्तीसगढ़

    ...
  •  


Posted Date : 17-Oct-2017
  • दीवाली के अवसर पर किए जाने वाले पारंपरिक सुआ नृत्य का अस्तित्व आज भी कायम है। बदलते समय के साथ यद्यपि शहर में इसका चलन धीरे-धीरे कम होता जा रहा है। लेकिन गांव से लगे शहरी इलाकों में आज भी ढलती सांझ में टोकरी में सुआ थामे महिलाओं, बच्चों की टोली सुआ गीत संग नजर आ जाती है। तस्वीर  /छत्तीसगढ़

    ...
  •  


Posted Date : 16-Oct-2017
  • दीपावली के लिए आस-पास गांव के किसान धान की झालर बेचने राजधानी आ पहुंचे हैं। दीवाली में यद्यपि मोतियों सहित तरह-तरह के तोरण बाजार में उपलब्ध हैं लेकिन धान में निहित लक्ष्मी की मान्यता और लक्ष्मी पूजा के समय धान के झालर की पूजा के विधान के कारण धान के झालर की खास मांग रहती है। इस मांग की आपूर्ति ग्रामीण क्षेत्र के किसानों द्वारा होती है। ये ग्रामीण 100 रुपए जोड़ी के भाव से धान की झालर बेच रहे हैं। तस्वीर / छत्तीसगढ़

    ...
  •  


Posted Date : 15-Oct-2017
  • बेलारूस में जब क्रैनबेरी पककर तैयार हो जाती है, तो उसे बीनने के बजाय किसान अपने पूरे खेत में पानी भर देते हैं, और उस पर क्रैनबेरी तैरने लगती है, और फिर किसान आसानी से उन्हें मशीनों से इकट्ठा कर लेते हैं। ऐसे ही एक खेत में क्रैनबेरी इकट्ठा करते हुए किसान।

    ...
  •  


Posted Date : 14-Oct-2017
  • रायपुर। शहर के बाजारों में छत्तीसगढ़ के कुम्हारों की मिट्टी की बनाई लक्ष्मी, ग्वालिन की मूर्तियों की बिक्री तेजी के साथ जारी है। लोग चाइना बाजार की अत्याधुनिक मूर्तियों की खरीदी के बजाय मिट्टी की मूर्तियों को ज्यादा पसंद कर रहे हैं। इस तरह मिट्टी की पारंपरिक मूर्तियों को चीनी बाजार भी नहीं हटा पाया। मिट्टी की मूर्तियां 25 से 200 रुपये तक बेची जा रही है। तस्वीर/छत्तीसगढ़

    ...
  •  


Posted Date : 13-Oct-2017
  • एक जंगली प्राणी, साही, अपने नुकीले कांटों के लिए जाना जाता है। अब इस प्रजाति में ब्रिटेन में एक ऐसी मादा साही मिली जिसके बदन पर एक भी कांटा नहीं है। अब इसे इसकी जाति के दूसरे प्राणियों के साथ छोडऩा खतरनाक होगा क्योंकि उनके नुकीले कांटे इसे जिंदा नहीं रहने देंगे। इसलिए एक सरकारी वन्य प्राणी सेंक्चुअरी में इसे अलग से रखा गया है। तीन बरस की उम्र में भी वह अपने दूसरे प्राणियों के साथ नहीं रह सकती। 

    ...
  •  


Posted Date : 12-Oct-2017
  • जापान की एक कंपनी ने लोगों के मानसिक तनाव के उपचार के लिए एक ऐसा रोबो बनाया है जो कि पालतू बिल्ली सरीखा लगता है और इसे प्यार करने पर यह अपनी दुम हिलाकर प्रतिक्रिया भी जाहिर करता है। जापान मशीनों के साथ जीते-जीते बहुत किस्म के सामाजिक और निजी तनाव झेलता है, और वहां राहत देने के लिए ऐसे कई रोबो बाजार में हैं। वहां पर पालतू रोबो-पंछी भी रहते हैं जो कि असली पंछियों की तरह समय पर खाना-पानी मांगते हैं, न मिलने पर चीखते हैं, और बीमार पड़ जाते हैं, और लंबी अनदेखी से मर भी जाते हैं।

    ...
  •  


Posted Date : 12-Oct-2017
  • कुछ लोग स्मार्टफोन को एक लत मानने लगे हैं, और अब ऐसी बातें होने लगी हैं कि लोग दिन के कुछ घंटे या हफ्ते के कुछ दिन स्मार्टफोन के बिना रहें, और सिर्फ कॉल करने वाले छोटे से फोन का इस्तेमाल करें। लेकिन अभी कुछ शोधकर्ताओं ने यह देखा कि स्मार्टफोन का भरपूर इस्तेमाल करने वाले लोग अगर इसका इस्तेमाल न करें, तो उन्हें अपने रोज के कामकाज के लिए 50 दूसरे सामानों की जरूरत पड़ेगी जो कि करीब 34 किलो वजन के होंगे, और उन्हें ढोने के लिए दो बैक पैक लेकर चलना पड़ेगा। आज स्मार्टफोन की वजह से लोगों के हजारों किस्म के काम उनकी एक हथेली पर ही हो जाते हैं।

    ...
  •  


Posted Date : 11-Oct-2017
  • ब्रिटेन की रॉयल सोसायटी ऑफ बायोलॉजी में अभी जीवों की फोटोग्राफी का एक मुकाबला किया, और उसकी चुनिंदा तस्वीरों में एक यह भी है जिसमें दो टिड्डे एक पत्ते के पीछे से जासूस की तरह झांकते हुए दिख रहे हैं। इस तस्वीर को एक महिला फोटोग्राफर, मियाओ यॉंग, ने चीन में खींचा। 

    ...
  •  


Posted Date : 11-Oct-2017
  • छत्तीसगढ़ से अमरीका जाकर बसीं प्रेरणा चितलांगिया बंग को वहां 2017 का मिसेज इंडिया यूएसए टेक्सास का खिताब दिया गया है। ह्यूस्टन में कल हुए एक कार्यक्रम में पूरे टेक्सास प्रदेश से भारतवंशी महिलाएं शामिल हुई थीं। आखिर में 4 फाइनलिस्टो में से पे्ररणा को चुना गया। इसके बाद अब वे एक-दो महीनों में मिसेज इंडिया अमरीका के मुकाबले में शामिल होंगी। पे्ररणा जगदलपुर में पैदा हुईं, और राजनांदगांव-दुर्ग में बड़ी हुई हैं। वे फिजियो थेरेपिस्ट हैं और 2008 से ह्यूस्टन में बसी हुई हैं।

    ...
  •  


Posted Date : 11-Oct-2017
  • ब्रिटेन की रॉयल सोसायटी ऑफ बायोलॉजी में अभी जीवों की फोटोग्राफी का एक मुकाबला किया, और उसकी चुनिंदा तस्वीरों में एक यह भी है जिसमें एक मेंढक का पांच मिलीमीटर आकार का यह अंडा दिख रहा है। बुश फ्रॉग कहे जाने वाले मेंढक का यह अंडा फोटोग्राफर अनूप देवधर को मुंबई के करीब दिखा। इसके भीतर मेंढक का बच्चा पूरी तरह से विकसित होते दिख रहा है क्योंकि अंडे का खोल पारदर्शी है। ये इतने छोटे अंडे हैं कि सामने रहने पर भी इन पर नजर नहीं जाती है। 

    ...
  •  


Posted Date : 11-Oct-2017
  • फ्रांस में वहां के भेड़ पालने वाले लोग भेड़ों की रेवड़ों पर बढ़ते हुए भेडिय़ों के हमलों के खिलाफ सड़क पर इस तरह प्रदर्शन कर रहे हैं। 

    ...
  •