छत्तीसगढ़

  • पहले पति ने घर से निकाला, फिर बैंक ने, आत्महत्या की
    पहले पति ने घर से निकाला, फिर बैंक ने, आत्महत्या की

    कुछ महीने पहले इस महिला ने अपने बच्चे के साथ राज्य महिला आयोग के दफतर के बाहर धरना भी दिया था। तस्वीर / छत्तीसगढ़

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    धमतरी, 22 जून। पुलिस अफसर से संबंध को लेकर पति से प्रताडि़त और बैंक की कार्रवाई से पीडि़त सविता खंडेलवाल ने आज जहर खुदकुशी कर ली। मृतिका का 11 साल को बेटा भी है जिसे हाल ही में अनाथालय भेज दिया गया।  बहरहाल पुलिस ने मामला दर्ज मामले की जांच में जुट गई है।
    मृतका सविता खंडेलवाल धमतरी के अमलतासपुरम् कालोनी स्थित बी 1 बंगले में रहा करती थी। हाल में ही ओरियन्टल बैंक आफ कॉमर्स ने सरफेसी एक्ट 2002 के तहत कार्रवाई करते हुए उनके बंगले को सील कर दिया था जिसके बाद महिला मानसिक रूप से परेशान रह रही थी।
    वहीं घर सील होने के बाद कालोनी के ही एक मंदिर में रह रही थी, जिसके चलते उसने अलसुबह जहर सेवन कर लिया। उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां  उसकी मौत हो गई।
    मृतका का अपने पति अखिलेश खंडेलवाल से तलाक का मामला कोर्ट में चल रहा था। महिला का आरोप था कि उसका पति उनका नाम आईजी हिमांशु गुप्ता के साथ जोड़ते थे और प्रताडि़त करते थे। इस मामले को लेकर वह अपने बच्चे के साथ राज्य महिला आयोग के दफतर के बाहर धरना भी दिया था।

     

     

Daily Chhattisgarh News

 

Daily Chhattisgarh News

Daily Chhattisgarh News

राजनीति

  • छग, मप्र, राजस्थान में एक तिहाई भाजपा विधायकों के टिकट कटने वाले हैं?

    नई दिल्ली, 22 जून । छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान जैसे राज्यों में अपनी सत्ता बचाए रखना भारतीय जनता पार्टी के लिए चुनौती साबित हो सकता है। सूत्रों की मानें तो इन राज्यों में पार्टी अगर पुराने चेहरों के साथ ही चुनाव में उतरती है तो उसकी संभावनाओं को चोट पहुंच सकती है। लिहाजा खबर है कि इन राज्यों में पार्टी अपने 30 फीसद मौजूदा विधायकों का टिकट काट सकती है। संख्या इससे ज्यादा भी हो सकती है।
    आरएसएस ने अपने जमीनी अध्ययन/आकलन के आधार पर भाजपा को मशविरा दिया है कि इस बार तीनों राज्यों में ज्यादा से ज्यादा तादाद में नए चेहरों को चुनाव में उतारा जाए। बताया जाता है कि इसके बाद पार्टी नेतृत्व ने दोनों ही राज्यों की इकाइयों से कमजोर विधायकों की पहचान करने को कह दिया है। यह प्रक्रिया भी शुरू की जा चुकी है। इसके साथ ही जीत की संभावना वाले नए चेहरे भी तलाशे जा रहे हैं।
    बताया जाता है कि नए उम्मीदवारों के तौर पर उन लोगों को तवज्जो दी जा सकती है जिन्होंने पिछले कुछ वर्षों में पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए पूरे समर्पण के साथ काम किया है। यह प्रक्रिया काफी कुछ वैसी ही है जैसी पिछले साल गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान आजमाई गई थी। खबर है कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने तीनों राज्यों के हर मतदान केंद्र से रिपोर्ट मंगाई है। इसी रिपोर्ट के आधार पर विधायकों के प्रदर्शन का आकलन किया जाएगा।
    मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भाजपा लगातार तीन चुनाव से जीतती आ रही है। मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान 13 और छत्तीसगढ़ में रमन सिंह 15 वर्षों से मुख्यमंत्री हैं। इसीलिए इन राज्यों में सत्ताविरोधी रुझान की चिंता भाजपा को सबसे ज्यादा है। राजस्थान में भी वसुंधरा राजे दूसरी बार मुख्यमंत्री बनी हैं। उनकी कार्यशैली के प्रति भाजपा और आरएसएस संगठन में ही जब-तब असंतोष के सुर उभरते रहते हैं। यह भी पार्टी की एक अन्य परेशानी है।(इंडियन एक्सप्रेस)

मनोरंजन

  • एक्टिंग के जुनून से मिली धु्रवादित्य को पहचान

    वेब सीरीज-डैमेज में नजर आएंगे
    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    रायपुर, 23 जून। 'हंगामा' की वेब सीरीज 'डैमेज' में क्राइम ब्रांच इंस्पेक्टर की भूमिका निभाने वाले शहर के धु्रवादित्य भगवानानी का मानना है कि जिस युवक में एक्टर बनने का जज्बा और जुनून है उसे ही मुंबई की ओर रूख करना चाहिए। वेब सीरीज 'डैमेज' के अलावा धु्रवादित्य हिंदी फिल्म 'कर्मा कैफे' और 'फ्लाइट' में महत्वपूर्ण किरदार में नजर आएंगे। 
    बैरनबाजार निवासी अधीर-जयश्री भगवानानी के बेटे धु्रवादित्य कहते हैं मायानगरी की चकाचौंध युवाओं को लुभाती है लेकिन इसकी हकीकत चुनौतीपूर्ण होती है। मैंने कम से कम 600 आडीशन दिए और सैकड़ों रिजेक्शन झेले। कई बार तो हम जैसे कलाकारों को गेट से ही लौटा दिया जाता है या फिर 'फिर आ गए' जैसे उलाहना का सामना करना पड़ता है। जाहिर सी बात है कि ऐसे रिजेक्शन से लोग डिप्रेशन में चले जाते हैं। लेकिन मैं सौभाग्यशाली हूं कि मुझे परीक्षा की ऐसी घड़ी में मेरे माता-पिता की ओर से मानसिक संबल मिलता रहा और उनके संबल की बदौलत ही मैं अपने सपनों को साकार कर पाया। हंगामा की वेब सीरीज 'डैमेज' में मैं क्राइम ब्रांच इंस्पेक्टर की भूमिका निभा रहा हूं। साइको थ्रिलर, मर्डर मिस्ट्री 'डैमेजÓ में राजी फेम अमृत खनविलकर तथा रेड फेम अमित सियाल की केंद्रीय भूमिका है। 
    धु्रवादित्य कहते हैं सैकड़ों ऑडीशन से मिले रिजेक्शन के बावजूद एक्टर बनने का मेरा जुनून कायम रहा। ढर्रे पर ढलकर मैंने इंजीनियरिंग जरूर किया था लेकिन अभिनय की दुनिया में कुछ करने की धुन थी जिसके कारण मैंने मायानगरी मुंबई की ओर रूख किया। वहां रहते हुए अनुपम खेर के एक्टर प्रिपेयर्स में 3 माह की ट्रेनिंग ली और इसके बाद मेरा संघर्ष शुरू हुआ। इस दौरान रेडियो मिर्ची में रेडियो जॉकी का मेरा अनुभव भी काम आया। कुछ शार्ट फिल्मों में काम का मौका मिला लेकिन बात नहीं बनी। एकाध फिल्म अधूरी ही रह गई। 
    सात सालों के स्ट्रगल के बाद वेब सीरीज 'डैमेज' में निभाए गए किरदार से मुझे पहचान मिल रही हैं। 6 जून को ऑन लाइन ये रिलीज हो चुकी है। इसके प्रोमो को यूट्यूब पर एक करोड़ व्यूज मिल चुके हैं। रामलीला, जैसी फिल्म के असिस्टेंट डायरेक्टर रह चुके डायरेक्टर आरंभ मोहन सिंग ने मुझे किरदार निभाने में काफी सपोर्ट किया। इन दिनों देश में वेब सीरीज का क्रेज बढ़ा है।
     धु्रवादित्य आने वाली फिल्म कर्मा कैफे जो कि रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है में बेस्ट फ्रेंड तथा 'फ्लाइट' में चीफ एयर ट्रैफिक कंट्रोलर की भूमिका निभा रहे हैं। 

स्थायी स्तंभ

  • छत्तीसगढ़ की धड़कन और हलचल पर दैनिक कॉलम : राजपथ-जनपथ : कंवर आए भी, और गए भी...

     

    मोहन भागवत की मौजूदगी में पिछले दिनों आदिवासियों की समस्याओं पर चिंतन के लिए निमोरा ट्रेनिंग सेंटर में आरएसएस की सहयोगी संस्था वनवासी कल्याण आश्रम की बैठक हुई। बैठक में केंद्र और राज्य सरकार के आदिवासी मंत्री भी मौजूद थे। साथ ही अजजा आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंदकुमार साय भी बैठक में शामिल हुए। 
    चूंकि बैठक में पत्थरगड़ी पर विशेष रूप से चिंतन होना था। इसलिए पूर्व मंत्री गणेशराम भगत को भी बैठक में बुलाया गया था। भगत भाजपा से निष्कासित हैं, लेकिन वनवासी कल्याण आश्रम के कार्यों में सक्रिय हैं। वे पत्थरगड़ी के खिलाफ मुखर रहे हैं और उन्होंने इसके खिलाफ रैली भी निकाली थी। दिग्गज आदिवासी नेता पूर्व मंत्री ननकीराम कंवर को बैठक में आमंत्रित नहीं किया गया था, बावजूद वे मोहन भागवत से मिलने पहुंचे थे। बताते हैं कि व्यवस्था में जुटे कार्यकर्ता उन्हें मुलाकात कराने का भरोसा दिलाते रहे। तीन घंटे इंतजार करने के बाद भी जब भागवत से मुलाकात नहीं हो पाई, तो कंवर पैर पटकते चले गए। प्रदेश भाजपा के कई प्रमुख नेता-विधायक, भागवत से मिलने की कोशिश में लगे रहे, लेकिन किसी से उनकी मुलाकात नहीं हो पाई। दरअसल ननकीराम कंवर लगातार सरकार के खिलाफ, मंत्रियों और मुख्यमंत्री के खिलाफ, अफसरों के खिलाफ सार्वजनिक अभियान चलाते आए हैं, और उनके इसी मिजाज के चलते वे पार्टी के भीतर हाशिए पर चले गए हैं। भागवत के प्रवास के दौरान सिर्फ  अजय चंद्राकर ही ऐसे थे, जो कि भागवत से अलग से मुलाकात करने में सफल रहे। वैसे, कार्यक्रम स्थल पंचायत ग्रामीण विकास विभाग का था। ऐसे में मेहमान से मेजबान की मुलाकात होना स्वाभाविक था। 

    मुख्य सचिव का मिजाज
    मुख्य सचिव अजय सिंह के काम को करीब से देख रहे लोगों का कहना है कि उन्होंने उनके बारे में चली आ रही कई धारणाओं को ध्वस्त कर दिया है। उनके बारे में यह बात फैलाई गई थी कि वे काम बहुत धीमे करते हैं। लेकिन अभी मुख्य सचिव बनने के बाद उन्होंने एक-एक फाईल को लेकर सचिवों के सामने यह स्पष्ट कर दिया है कि जहां मंत्री के दस्तखत की जरूरत हो, उसे लेकर ही फाईल मुख्य सचिव तक भेजी जाए। कई मामलों में सचिव ऐसी आजादी लेते आए थे और मंत्रियों का महत्व कम हो गया था। अजय सिंह ने कड़ाई से बिजनेस रूल्स को लागू करवाया है। इसके अलावा वे हर फाईल को इतने बारीकी से देखने लगे हैं कि अफसरों को पहले पन्ने से परे भी फाईल ठीक रखनी पड़ती है। राज्य के प्रशासन में न तो उनको पसंदीदा है, और न ही कोई उन्हें खास पसंद है, इसलिए वे तटस्थ भाव से काम कर रहे हैं।(rajpathjanpath@gmail.com)

खेल

  • मेसी का निराश कट्टर प्रशंसक सुसाइड नोट छोड़ गायब

    कोट्टयम, 23 जून। अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर लियोनेल मेसी फीफा विश्व कप में अब तक कुछ खास नहीं कर सके हैं। उनकी टीम लगातार हार रही है और मेसी का जादू फीका पड़ता जा रहा है। इसका असर उनके फैंस पर भी पड़ा है। केरल के कोट्टयम में मेसी का एक कट्टर समर्थक अपने घर से गायब है। बताया जा रहा है कि गुरुवार को अर्जेंटीना और क्रोएशिया के बीच हुए फुटबॉल मैच में अर्जेंटीना की करारी शिकस्त के बाद से ही वह गायब है। पुलिस ने उसके कमरे से एक सुसाइड नोट बरामद दिया है। इसके बाद उसकी तलाश तेज कर दी गई है। 
    30 वर्षीय डिनू एलेक्स एक प्राइवेट कंपनी में अकाउंटेंट हैं। एलेक्स के एक रिश्तेदार ने बताया, वह बहुत ही शांत रहने वाला इंसान है। उसके दोस्त भी बेहद कम हैं। हालांकि वह फुटबॉल का बहुत बड़ा प्रशंसक है और मेसी का सबसे बड़ा फैन है।
    मेसी के प्रति दीवानगी का सबूत एलेक्स की एक किताब में मिला है। इसमें एलेक्स ने लिखा है, मेसी मेरी जिंदगी सिर्फ आपके लिए है। मैं आपको जीत के बाद यह विश्व कप हाथ में उठाते हुए देखना चाहता हूं।  बताया जाता है कि गुरुवार को अर्जेंटीना और क्रोएशिया के बीच मैच से पहले उसने अपने सहकर्मियों से दावा किया था कि मेसी के गोल के साथ आज अर्जेंटीना की जीत तय है। यही नहीं वह अर्जेंटीना की जर्सी खरीदकर घर लौटे थे। इसके बाद वह पहुंचकर पूरा मैच देखे। मैच के बाद एलेक्स के कुछ दोस्तों ने फोन पर बात करने की कोशिश की लेकिन फोन स्विच ऑफ था। 
    मिली जानकारी के मुताबिक सुबह करीब 4.30 बजे एलेक्स की मां जगीं तो उन्होंने एलेक्स को कमरे से गायब पाया। इसके बाद उन्होंने अपने पति को सूचना दी। उन्होंने सुसाइट नोट देखकर पुलिस को सूचना दी। नोट में लिखा है, मेरे लिए अब इस दुनिया में देखने के लिए कुछ नहीं बचा है। मैं जा रहा हूं...मेरी मौत के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है।
    पुलिस को सुसाइड नोट के अलावा अर्जेंटीना समर्थक जर्सी और मेसी की तस्वीर वाली कवर के साथ एक मोबाइल फोन मिला है। पिता ने बताया कि उनका बेटा कहता है कि अर्जेंटीना टीम की हर हार के बाद वह किसी के भी सामने आने पर शर्मिंदा महसूस करता है। तलाशी के दौरान टीम के साथ गए खोजी कुत्ते ने घर के पीछे नदी तट की तरफ दौड़ लगाई। इसके बाद पुलिस वहां नदी में सर्च ऑपरेशन में जुट गई है। फिलहाल एलेक्स की तलाश जारी है।  पुलिस ने बताया कि सभी बिंदुओं पर जांच जारी है।  (टाईम्स ऑफ इंडिया)

     

कारोबार

  • एनपीए को लेकर 11 सरकारी बैंक वित्तीय मामलों की स्थायी समिति के सामने तलब

    नई दिल्ली, 23 जून। फंसे हुए कर्ज (एनपीए) को लेकर एक संसदीय समिति ने 11 सरकारी बैंकों को तलब किया है। इन बैंकों में आईडीबीआई, यूको बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया और इंडियन ओवरसीज बैंक शामिल हैं। वित्तीय मामलों की स्थायी समिति ने संकट से जूझ रहे इन बैंकों को 26 जून को बुलाया है। बताया जाता है कि इन बैंकों से इनकी वित्तीय स्थिति खराब होने की वजह पूछी जाएगी। साथ ही, उनसे खराब हालत पर आ रही चुनौतियों और उससे निपटने के रोडमैप की भी जानकारी ली जाएगी। इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने इन बैंकों पर नई शाखाएं खोलने, स्टाफ की भर्ती और क्षमता विस्तार आदि की रोक लगा दी है। (हिंदुस्तान टाईम्स)

सेहत/फिटनेस

  • आपको डिप्रेशन में धकेल रही हैं सबसे आम दवाइयां?

    आपके जेहन में त्वचा पर लाल दाने, सिरदर्द या उल्टी जैसी चीजें आती होंगी। लेकिन अमरीका के एक नए अध्ययन में दावा किया गया है कि सबसे ज्यादा इस्तेमाल में आने वाली दवाइयों से अवसाद यानी डिप्रेशन का खतरा बढ़ सकता है।
    अध्ययन के मुताबिक, दिल की बीमारियों के लिए दी जाने वाली दवाईयां, गर्भनिरोधक दवाइयां और कुछ दर्दनिवारक दवाइयों के साइड-इफेक्ट से अवसाद हो सकता है। अध्ययन में भाग लेने वाले 26,000 लोगों में से एक तिहाई में अवसाद के लक्षण पाए गए।
    अमरीकन मेडिकल एसोसिएशन की स्टडी में अमरीका के 18 या उससे ज्यादा उम्र के लोगों से बात की गई। इन लोगों ने 2005 से 2014 के बीच कम से कम एक तरह की डॉक्टर की लिखी दवाई ली थी। पाया गया कि डॉक्टर की लिखी इन दवाइयों में से 37 फीसदी में अवसाद को संभावित साइड इफेक्ट बताया गया है। अध्ययन के दौरान इन लोगों में अवसाद की दर ज्यादा पाई गई-
    एक तरह की दवाई लेने वाले 7 फीसदी लोग, दो तरह की दवाई लेने वाले 9 फीसदी लोग, तीन या उससे ज्यादा दवाइयां लेने वाले 15 फीसदी लोग, अमरीका में करीब 5 फीसदी लोग अवसाद से पीडि़त हैं।
    स्टडी की मुख्य लेखक डिमा काटो ने कहा कि कई लोगों को हैरानी होगी कि उनकी दवाइयों का भले ही मूड, घबराहट या डिप्रेशन से कोई लेना देना ना हो। लेकिन फिर भी उन्हें दवाइयों की वजह से अवसाद के लक्षण महसूस हो सकते हैं और अवसाद भी हो सकता है। हालांकि ये साफ नहीं है कि क्या दवाइयां खराब मूड की वजह हो सकती हैं।
    किसी भी कारण से बीमार होने पर आपको उदास महसूस हो सकता है। यह भी हो सकता है कि अध्ययन में भाग लेने वाले लोग पहले कभी डिप्रेशन का शिकार रहे हों। विशेषज्ञों ने आगाह किया है कि अध्ययन में दवाइयों और अवसाद के खतरे की बात कही गई है, लेकिन इसके कारण और असर का जिक्र नहीं है।
    रॉयल कॉलेज ऑफ साइकैट्रिस्ट के प्रोफेसर डेविड बाल्डविन कहते हैं कि जब किसी को कोई शारीरिक बीमारी होती है तो दिमागी तनाव होना आम है। ऐसे में ये कोई हैरानी की बात नहीं है कि दिल और गुर्दे की बीमारी के लिए ली जाने वाली दवाइयों को अवसाद के खतरे से जोड़कर देखा जाए। हालांकि अमरीका में हुए इस अध्ययन के सारे पहलू दुनिया के बाकी हिस्सों पर लागू नहीं होते।
    गर्भनिरोधक दवाइयों से अवसाद एक आम साइड-इफेक्ट हो सकता है। लेकिन दूसरी दवाइयों के साथ यह इतना आम नहीं है। दस में से एक व्यक्ति को आमतौर पर साइड-इफेक्ट होता है, जबकि दस हजार में से एक को कभी-कभार साइड-इफेक्ट हो जाता है।
    इसकी जानकारी दवाई के पैकेट के अंदर दिए जाने वाले कागज पर लिखी होती है और ऑनलाइन सर्च करके भी इस बारे में जानकारी जुटाई जा सकती है। रॉयल फार्मास्युटिकल सोसायटी के प्रोफेसर डेविड टेलर कहते हैं कि ये भी ध्यान दिया जाना चाहिए कि क्या दवाई की वजह से अवसाद होने का कोई व्यावहारिक स्पष्टीकरण दिया गया है।
    उद्हारण के लिए गर्भनिरोधक गोली का हार्मोन लेवल और मूड से सीधा संबंध है। लेकिन दिल की बीमारी जैसी दवाइयों के मामले में ये पता लगाना मुश्किल है कि अवसाद का कारण दवाई है या कोई दूसरी स्थिति।
    प्रो.टेलर कहते हैं कि अभी हम इस बारे में पता लगाने में इतने अच्छे नहीं है। हम नहीं बता सकते कि अवसाद का कारण दवाई है या कोर्स के समय की कोई और वजह जिसका दवाई से कोई लेना देना नहीं है। प्रो. टेलर सलाह देते हैं कि अगर आप फिलहाल इनमें से कोई भी दवाई ले रहे हैं और आप में अवसाद का कोई लक्षण नहीं है तो घबराने की जरूरत नहीं। लेकिन जिन लोगों को दवाई लेने के बाद अवसाद के लक्षण महसूस हुए हैं, उन्हें डॉक्टर से मिलकर अपनी समस्या के बारे में बताना चाहिए। विशेषज्ञ डॉक्टर ही आपको इस पर सही सलाह दे सकते हैं। (बीबीसी)

सामान्य ज्ञान

  • हर दिन, हॉट सीट 23 जून 2018

    1. संयुक्त राष्टï्र संघ का बजट कौन पारित करता है?
    (अ)महासचिव (ब) महासभा (स)न्यास परिषद (द)विश्व व्यापार संघ
    2.  संयुक्त राष्टï्र संघ के निम्र में से किस अंग की सदस्यता में वृद्घि की मांग की जा रही है?
    (अ) महासभा (ब) सुरक्षा परिषद (स) न्यास परिषद (द)अंतर्राष्टï्रीय न्यायालय
    3. संयुक्त राष्टï्र संघ के प्रमुख अंगों की संख्या कितनी है?
    (अ) 3 (ब)4 (स)5 (द)6
    4. वह कौन सा देश  है, जो संयुक्त राष्टï्र का सदस्य नहीं है?
    (अ) चीन (ब)इराक  (स)ब्राजील (द)ताइवान
    5. संयुक्त राष्टï्र संघ कब अस्तित्व में आया?
    (अ) 1 जनवरी, 1942 (ब) 26 जून, 1945 (स)1 जून, 1945   (द) 24 अक्टूबर, 1945
    6. संयुक्त राष्टï्र संघ का महासचिव किसके  द्वारा नियुक्त किया जाता है?
    (अ)सुरक्षा परिषद द्वारा (ब)महासभा द्वारा (स)सुरक्षा परिषद की सिफारिश पर महासभा द्वारा (द)महासभा की सिफारिश पर सुरक्षा परिषद द्वारा
    7. संयुक्त राष्टï्र संघ महासभा के अध्यक्ष, रजाली इस्माइल की अध्यक्षता वाले कार्यदल ने सुरक्षा परिषद की सदस्यता बढ़ाकर कितनी करने का सुझाव दिया था?
    (अ) 18 (ब)20  (स)15 (द)24
    8. संयुक्त राष्टï्र संघ आर्थिक और सामाजिक परिषद के कुल कितने सदस्य हैं?
    (अ) 15 (ब)18 (स)54 (द)27
    9. अंतर्राष्टï्रीय न्यायालय में कितने न्यायाधीश होते हैं?
    (अ) 27 (ब)18 (स)15 (द)10
    10. दोषी राष्टï्र के विरूद्घ आर्थिक प्रतिबंध लगाने का निर्णय करने वाला संयुक्त राष्टï्र अभिकरण है-
    (अ) महासभा (ब) सुरक्षा परिषद (स)अंतर्राष्टï्रीय न्यायालय (द)महासचिव
    11. उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों की संख्या में वृद्घि करने की शक्ति किसके पास है?
    (अ) संसद (ब) राष्टï्रपति (स) प्रधानमंत्री (द) विधि मंत्रालय
    12. फेडरेशन कप, मर्डेका कप तथा रोवर्स कप किस खेल में विजेता टीम को दिए जाते हैं?
    (अ) हॉकी में (ब) टेनिस में (स) फुटबाल में (द) उपर्युक्त सभी में
    13. बंगाल के विभाजन, 1905 को समाप्त कर दिया गया था?
    (अ) इंडियन काउंसिल एक्ट, 1909 के द्वारा (ब) चेम्सफोर्ड मॉटेग्यू रिपोर्ट द्वारा (स) 1911 की दिल्ली दरबार घोषणा द्वारा (द) गवर्नमेंट ऑफ इंडिया अधिनियम, 1935 द्वारा
    14. किसने तर्क दिया कि अन-औद्योगीकरण का सिद्घांत एक मिथक था?
    (अ) अमियो बागची (ब) डेनियल थार्नर (स) मारिस डी मारिस (द) तोरु मतसुई
    15. भारत में पहला औद्योगिक आयोग का गठन कब किया गया था?
    (अ) 1916 (ब) 1936 (स) 1947 (द) 1950
    16. उन्नीसवीं शताब्दी के उत्तराद्र्घ में ब्रिटिश पूंजी का मुख्यत: निवेश किया गया?
    (अ) लोहा और इस्पात में (ब) कपड़ा उद्योग में (स) पौधा रोपड़ उद्योग में (द) रेलवे में
    17. वर्ष 1917 में अहमदाबाद मिल मजदूरों की हड़ताल में गांधी जी के हस्तक्षेप के कारण मजदूरी में वृद्घि हो गई?
    (अ) 10 प्रतिशत (ब) 15 प्रतिशत (स) 25 प्रतिशत (द) 35 प्रतिशत
    18. प्रांतीय सरकार में द्वैध शासन की शासन की गई थी?
    (अ) 1892 के अधिनियम द्वारा (ब) 1909 के अधिनियम द्वारा (स) 1919 के अधिनियम द्वारा (द) 1935 के अधिनियम द्वारा
    19. चम्पारन के सत्याग्रह, 1917 में कृषकों का मुख्य असंतोष किस बारे में था?
    (अ) अबवाबों या गैर-कानूनी मांग के विरूद्घ (ब) भूस्वामियों के उत्पीडऩ पर (स) तिनकठिया व्यवस्था पर (द) भूराजस्व की मांग पर
    20. रेशमी रुमाल तहरीक षडय़ंत्र की योजना बनाई थी?
    (अ) मौलाना अब्दुल बारी और मौलाना मुहम्मद अली ने (ब) मौलाना उबैदुल्ला सिंधी और मौलाना बरकतउल्ला ने (स) मौलाना अबुल कलाम आजाद और मौलाना मुहमूद हसन ने (द) राजा महेंद्रप्रताप और वॉन हेन्टिग ने
    21. पुनर्जागरण काल में ग्रीको रोमन क्लासिकों के अध्ययन को जाना जाता है?
    (अ) व्यक्तिवाद (ब) सुखवाद (स) मानववाद  (द) पांडित्यवाद 
    22. किसने कहा कि वाणिज्य एक लगातार युद्घ है, चातुर्य और क्षमता के लिए सभी राष्टï्रों के बीच में?
    (अ) जां बोदां (ब) जां बैपतिस्ट कोलबेयर (स) थॉमस मन (द) थॉमस हाब्स
    23. श्री अरबिन्दो आश्रम स्थित है?
    (अ) तमिलनाडु में (ब) कर्नाटक में (स) रामेश्वरम् में (द) पाण्डिचेरी में
    24. भारत में प्रसिद्ध सूर्य मंदिर कहां स्थापित किया गया है?
    (अ) पुरी में (ब) खजुराहो में (स) कोणार्क में (द) गया में
    25. किस जलडमरू-मध्य से होकर अंतर्राष्टï्रीय तिथि रेखा गुजरती है?
    (अ) पाक जलडमरू-मध्य (ब) फ्लोरिडा जलडमरू- मध्य (स)बेरिंग जलडमरू-मध्य (द) जिब्राल्टर जलडमरू-मध्य
    26. धु्रवों पर दिन कितने समय का होता है?
    (अ) 12 घंटे (ब) 24 घंटे (स) 1 माह (द) 6 माह
    27. कौन सा राज्य कर्क रेखा से दो भागों में नहीं बंटता है?
    (अ) गुजरात (ब) उड़ीसा (स) पश्चिम बंगाल (द) राजस्थान
    28. पृथ्वी पर किस जगह दिन और रात बराबर होते हैं?
    (अ)  धु्रव (ब)  भूमध्य रेखा (स) कर्क रेखा (द) प्रधान मध्याह्नï रेखा
    --
    सही जवाब-1.(ब) महासभा, 2.(ब) सुरक्षा परिषद 3.(द)6, 4.द)ताइवान, 5.(द) 24 अक्टूबर, 1945, 6.(स)सुरक्षा परिषद की सिफारिश पर महासभा द्वारा, 7.(द)24, 8.(स)54, 9.(स)15, 10.(ब) सुरक्षा परिषद, 11.(अ) संसद , 12.(स) फुटबॉल में,13.(स) 1911 की दिल्ली दरबार घोषणा द्वारा, 14.(स) मारिस डी मारिस, 15.(अ) 1916, 16.(द) रेलवे में, 17.(द) 35 प्रतिशत, 18.(स) 1919 के अधिनियम द्वारा, 19.(अ) अबवाबों या गैर-कानूनी मांग के विरूद्घ, 20.(ब) मौलाना उबैदुल्ला सिंधी और मौलाना बरकतउल्ला ने, 21.(स) मानववाद, 22.(अ) जां बोदां, 23.(द) पाण्डिचेरी में, 24.(स) कोणार्क में। 25.(ब) फ्लोरिडा जलडमरू- मध्य, 26.(द) 6 माह, 27.(ब) उड़ीसा 28.(ब)  भूमध्य रेखा।

अंग्रेज़ी

  • The English Corner 23 June

    General Medical Experts
    There are different types of doctors who treat various medical conditions according to their specialization.
    Dental
    General Dentist ~ Looks after dental health, teeth and dental problems like cavities, bleeding gums, etc.

    Pediatric Dentist/Pedodontist ~ Looks after the dental health and oral hygiene of children.

    Periodontist ~ Treats problems related to periodontics and the supporting structures of teeth like roots, gums and bones.

    Seven Meals of the Day

    Do you know all the words for the meals that we eat during the day? Most people probably eat about three main meals every day, but here are seven words for main and other meals that we often use:
    breakfast
    The first meal of the day. Usually around 6am-9am.
    brunch
    A meal eaten in the late morning, instead of BReakfast and lUNCH. (informal)
    elevenses
    A snack (for example, biscuits and coffee). Around 11am. (BrE, informal)
    lunch
    A meal in the middle of the day. Usually around noon or 1pm.
    tea
    A light afternoon meal of sandwiches, cakes etc, with a drink of tea. Around 4pm. It is also sometimes called afternoon tea (mainly BrE). The word tea can also refer to a cooked evening meal, around 6pm (BrE).
    supper
    A light or informal evening meal. Around 6pm-7pm.
    dinner
    The main meal of the day, eaten either in the middle of the day or in the evening. Usually when people say "dinner", they mean an evening meal, around 7pm-9pm.

    An idiom a day, keeps  confusion away 

    Between the devil and the deep blue sea
    If you are caught between the devil and the deep blue sea, you are in a dilemma; a difficult choice.
    Cold light of day
    If you see things in the cold light of day, you see them as they really are, not as you might want them to be.
    Don't look a gift horse in the mouth
    This means that if you are given something, a present or a chance, you should not waste it by being too critical or examining it too closely.

    Buzz Words

    Recently-coined new words in English,  terms and expressions with their meaning. 
    Cyberchondriac : A person who imagines that he/she is suffering from an illness after reading about the symptoms on the Internet!

    PHILOSOPHICAL ISMS

    Each word with a suffix 'ism' represents a philosophical, political or moral doctrine or a belief system.
    paedobaptism    doctrine of infant baptism
    panaesthetism    theory that consciousness     may inhere generally in         matter
    pancosmism    theory that the material uni    verse is all that exists    
    panegoism    solipsism
    panentheism    belief that world is part but     not all of God's being

फोटो गैलरी


विडियो गैलरी