छत्तीसगढ़

  • कांग्रेस में गृह कलह, भाजपा-भाकपा की दमदार चुनौती
    कांग्रेस में गृह कलह, भाजपा-भाकपा की दमदार चुनौती

    छत्तीसगढ़ संवाददाता
    जगदलपुर/दंतेवाड़ा, 18 अक्टूबर। दंतेवाड़ा विधानसभा क्षेत्र में इस बार मौजूदा कांग्रेस विधायक श्रीमती देवती कर्मा को घर में ही चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि उनके पुत्र छविन्द कर्मा के तेवर बागी हैं और वे निर्दलीय प्रत्याशी की हैसियत से चुनाव मैदान में उतरने के लिए तैयार हैं। इससे परे भाजपा नए चेहरे पर दांव लगाने की सोच रही है। इन सबके बीच भाकपा की दमदार मौजूदगी से मुकाबला रोचक होने के आसार हैं। 
    दंतेवाड़ा सीट से दिवंगत कांग्रेस नेता और बस्तर टाइगर के नाम से  मशहूर महेन्द्र कर्मा की पत्नी देवती कर्मा दूसरी बार विधानसभा में जाने की कोशिश कर रही है। हालांकि पार्टी ने अभी तक अधिकृत रूप से प्रत्याशी घोषित नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि पार्टी उन्हें ही प्रत्याशी बनाएगी। देवती के साथ दिक्कत यह है कि उनकी उम्मीदवारी का घर में ही विरोध हो रहा है। उनके बेटे छविन्द्र  ने निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी कर रखी है। 
    पार्टी के अध्यक्ष भूपेश बघेल और उप नेता कवासी लखमा ने उन्हें समझाइश देने की कोशिश की, पर वे अड़े हुए हैं। फिर भी पार्टी नेताओं को भरोसा है कि देर सबेर वे नाम वापस ले लेंगे। देवती कर्मा पहले राजनीति में सक्रिय नहीं रही है, लेकिन पति के गुजरने के बाद पार्टी ने उन्हें प्रत्याशी बनाया। पिछला चुनाव वे करीब 6 हजार मतों से जीती थी। पिछले चुनाव का आंकड़ा यह बताता है कि कांगे्रस प्रत्याशी देवती कर्मा को जहांं 38.23 प्रतिशत मत मिले थे जबकि निकटतम प्रतिद्वंदी भाजपा के  भीमा मंडावी को 32.70 प्रतिशत मत से संतुष्ट होना पड़ा। वांमपंथी दल के कोआसी को महज 11.96 प्रतिशत मत मिला जबकि नोटा में इस क्षेत्र में सर्वाधिक 8.18 प्रतिशत मत ही प्राप्त हुआ।  देवती कर्मा विधायक के बनने के बाद क्षेत्र में काफी सक्रिय रही हैं, लेकिन इस बार उन्हें पुराने कर्मा सर्मथकों के बिखराव के चलते नुकसान उठाना पड़ सकता है। 
    दूसरी तरफ भाजपा यहां लगातार मेहनत करती रही है। सरकारी योजनाओं के जरिए लोगों के बीच पैठ बनाने की कोशिश हुई है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह यहां अटल विकास यात्रा के दौरान करोड़ों की सौगात दी थी और एक तरह से पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश हुई है। भाजपा से पूर्व विधायक भीमा मंडावी, सुखदेव तांती, जिला पंचायत अध्यक्ष कमला नाग के नाम प्रमुखता से उभरकर सामने आए हैं। 
    कांग्रेस-भाजपा से परे भाकपा ने भी यहां मेहनत की है और ग्रामीण इलाकों में पार्टी का अच्छा जनाधार है। दंतेवाड़ा से वर्ष 1980 से 2008 के मध्य वांमपंथी दल से स्व. महेन्द्र कर्मा, वारसा दुलाराम, मनीष कुंजाम, नंदा सोरी विधायक रहे और इस बीच 2013 के विधानसभा चुनाव में भीमा मंडावी को हार का सामना करना पड़ा और वांमपंथी दलों को मतदाताओं ने नकार दिया था।
    इस बार भी भाकपा यहां चुनाव मैदान में ताकत दिखाने की तैयारी में हैं। भाकपा को जोगी पार्टी और बसपा ने भी समर्थन किया है। इससे पार्टी थोड़ी ताकत बढ़ी है। क्षेत्र का एक हिस्सा नक्सल प्रभावित है।
    वर्तमान में दंतेवाड़ा विधानसभा बस्तर संभाग के चर्चित विधानसभाओं से एक है। कुआकोंडा जनपद के बैलाडीला जिसमें किरंदूल, बचेली और भांसी सहित क्षेत्र शामिल है।  छजकां-बसपा-सीपीआई गढ़बंधन के प्रत्याशी नंदा सोरी इन दोनों राष्ट्रीय पार्टियों को टक्कर देने की मुड़ में  दिखाई दे रहा है। इसके अलावा यहां से आप पार्टी भी चुनाव मैदान में अपने प्रत्याशी संभवत: सोनी सोरी को बतौर प्रत्याशी बनाये जाने की चर्चा जोरों पर है। इन सबके चलते यहां मुकाबला कांटे का होने के आसार हैं। 

Daily Chhattisgarh News

 

Daily Chhattisgarh News

Daily Chhattisgarh News

राजनीति

  • मीटू, पेट्रोल-डीजल के दाम, बेरोजगारी से ध्यान भटकाने के लिए है-राज ठाकरे

    मुंबई, 18 अक्टूबर । भारत में चल रहे मीटू कैंपेन की जद में कई ऐसे बड़े-बड़े नाम सामने आए हैं, जिन पर यौन शोषण के आरोप लगे हैं और इस कैंपेन की वजह से उनके चेहरे पर से नकाब हटा है। मगर मनसे मुखिया राज ठाकरे ने मीटू अभियान जिस वक्त उठाया गया है, उसे लेकर ठाकरे ने कई सवाल खड़े किये हैं। राज ठाकरे को लगता है कि मीटू कैंपेन गंभीर मुद्दों से ध्यान भटकाने वाला है। ठाकरे ने कहा कि ऐसा लगता है कि मीटू की कैंपेन पेट्रोल-डीजल की कीमतों, बेरोजगारी और रुपये की गिरती कीमतों से ध्यान भटकाने के लिए किया गया है। 
    ठाकरे ने कहा कि ऐसा लगता है कि जैसे अहम मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए इस मुद्दे की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि मीटू की कैंपेन पेट्रोल-डीजल की कीमतों, बेरोजगारी और रुपये की गिरती कीमतों से ध्यान भटकाने के लिए किया गया है। अगर किसी भी महिला के साथ मीटू जैसा कुछ भी हुआ है तो वह मनसे के पास आ सकती हैं, हम आरोपियों को सबक सिखाएंगे। महिलाएं शोषण का सामना करती हैं तो उन्हें तुरंत आवाज उठानी चाहिए न कि 10 साल बाद। 
    अमरावती में मनसे प्रमुख ने नाना पाटेकर पर लगे यौन उत्पीडऩ के आरोपों पर बुधवार को कहा कि मैं नाना पाटेकर को जानता हूं। वह अभद्र आदमी हैं, वह बेवकूफाना हरकते करते हैं, मगर मुझे नहीं लगता है कि वह इस तरह की हरकत कर सकते हैं। इस मामले को कोर्ट देखेगी, इसमें मीडिया का क्या लेना-देना है। मीटू एक गंभीर मुद्दा है, ऐसे में ट्विटर पर इस मुद्दे को लेकर बहस करना बिल्कुल भी सही नहीं है। (एनडीटीवी)

मनोरंजन

  • शादी के बाद सोनम ने शुरू की अगली फिल्म की शूटिंग

    बॉलीवुड निर्देशक आकर्ष खुराना की फिल्म कारवां में एक्टर दलकीर सलमान को दर्शकों ने काफी पसंद किया था। जिसके बाद अब मलयालम एक्टर दलकीर सलमान अपनी दूसरी फिल्म जोया फैक्टर की शूटिंग शुरू कर चुके हैं। इस फिल्म में इस फिल्म में सलमान के साथ सोनम कपूर नजर आएंगी। अपनी शादी और सारी मौज मस्ती के बाद अब सोनम कपूर वापस अपने वर्किंग मोड़ में लौट चुकी हैं। वहीं दूसरी तरफ अपनी शादी के बाद भी सोनम ने कोई खास ब्रेक नहीं लिया था। जहां उन्हें शादी के बाद कांस जाना पड़ा था।
    लेकिन सोनम अपनी शादी के बाद अपनी अगली फिल्म की शूटिंग शुरू कर चुकी हैं।  सोनम कपूर की फिल्म जोया फैक्टर साल 2008 में आई अनुजा चौहान की किताब पर आधारित है। साथ इस किताब का टाइटल भी यही था। सोनम कपूर ने इस वक्त अंगद बेदी के साथ अपनी फिल्म की शूटिंग शुरू कर दी है। इस फिल्म में अंगद बेदी भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान की भूमिका में हैं। इस फिल्म में सोनम कपूर एक कॉरपोरेट में काम करने वाली महिला का किरदार निभा रही हैं।
    सोनम कपूर की यह फिल्म अगले साल 5 अप्रैल 2019 को रिलीज होगी। इस फिल्म का निर्देशन अभिषेक शर्मा कर रहे हैं। इस फिल्म के अलावा सोनम कपूर अपनी होम प्रोडक्शन में बनी फिल्म एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा में भी नजर आएंगी। इस फिल्म में वो अपने पिता अनिल कपूर के साथ नजर आने वाली हैं। हाल ही में इस फिल्म का टीजर रिलीज किया गया था। जिसे सभी ने खूब पसंद किया था। (मुंबई मिरर)

स्थायी स्तंभ

खेल

  • इंडीज के सामने उतरेगा यह भूखा शेर, अब वनडे टीम में शामिल

    वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट क्रिकेट में दस विकेट लेने वाले तेज गेंदबाज उमेश यादव को बड़ा तोहफा मिला है। टेस्ट के बाद अब उमेश को वेस्टइंडीज के खिलाफ 5 मैचों की वनडे सीरीज के शुरुआती दो मैचों के लिए मौका मिला है। पिछले कुछ समय से उमेश बहुत बेहतरीन फॉर्म में चल रहे हैं और वह विकेटों के भूखे हैं, जो वेस्टइंडीज के लिए खतरे की घंटी है। 
    उमेश को चोटिल शार्दुल ठाकुर के स्थान पर भारतीय टीम में शामिल किया गया है।  शार्दुल को हैदराबाद टेस्ट मैच में डेब्यू का मौका मिला था, लेकिन केवल दस गेंद करने के बाद मांसपेशियों में खिंचाव के कारण उन्हें मैदान छोडऩा पड़ा था।
    उमेश ने इस मैच में दस विकेट लिए थे और घरेलू धरती पर यह कारनामा करने वाले वह केवल तीसरे तेज गेंदबाज हैं।  बीसीसीआई ने कहा, सीनियर चयन समिति ने वेस्टइंडीज के खिलाफ शार्दुल ठाकुर की जगह उमेश यादव को टीम में रखा है। ठाकुर मांसपेशियों के कारण वनडे सीरीज में नहीं खेल पाएंगे।
    बयान के मुताबिक, ठाकुर पूरी वनडे सीरीज से बाहर हो गए हैं। शार्दुल को दाहिने पैर में चोट लगी थी। मैदान से बाहर जाने के बाद उनका स्कैन किया गया था। 
    2017 चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में हार के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली, युवराज सिंह और शोएब मलिक की एक तस्वीर वायरल हुई थी जिसमें कोहली पाकिस्तानी खिलाडिय़ों के साथ जोर-जोर से हंस रहे थे।
    तब भारतीय फैंस को कोहली के रवैये से हैरानी हुई थी कि कैसे कोई कप्तान अपनी टीम की इतनी शर्मनाक हार के बावजूद इस कदर हंस सकता है, लेकिन शोएब मालिक ने इसका खुलासा कर दिया है। 
    शोएब ने एक इंटरव्यू में बताया कि सब किस बात पर जोर-जोर से हंस रहे थे। दरअसल,  शोएब मलिक ने विराट के सामने पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच हुए एक मैच का जिक्र किया था। 
    जिसमें शोएब मलिक और सईद अजमल ने मिलकर क्रिस गेल का एक ऐतिहासिक कैच ड्रॉप किया था। उस मैच में क्रिस गेल पाकिस्तानी गेंदबाजों की जबरदस्त धुनाई कर रहे थे। तभी गेल के बल्ले से ऊपर उठी गेंद को लपकने के लिए सईद अजमल भागे, क्योंकि बॉल की पोजीशन पर शोएब मलिक खड़े थे ऐसे में सईद ने शोएब के लिए बॉल छोड़ दी। शोएब समझ रहे थे कि सईद कैच पकड़ेंगे। इस आपाधापी में वह कैच छूट गया।
    शोएब ने बताया कि वह कैच गिर गया तो मैंने अजमल से पूछा कि आपने पहले कैच पकडऩे की पोजिशन बना ली और फिर हाथ पीछे क्यों खिंच लिए। फिर अजमल ने कहा मैं इसलिए बैठा था कि अगर कैच आपसे छूट जाए तो मैं पकड़ लूं। फिर मैंने बोला मेरे हाथ से तो निकल गया लेकिन आपने पकड़ा क्यों नहीं। 
    पाकिस्तान ने भारत को चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल में 180 रनों से हराया था। भारतीय टीम भले ही वह मुकाबला हार गई हो लेकिन मैच के बाद कप्तान विराट कोहली और युवराज सिंह पाकिस्तान के खिलाडिय़ों के साथ हंसी मजाक करते हुए देखे गए थे। यह बात किसी को नहीं पता थी कि सभी क्यों हंस रहे थे, लेकिन उस समय भारतीय खिलाडिय़ों की हार के बाद भी हंसने की काफी आलोचना हुई थी। (आज तक)

कारोबार

  • फोन सेवा बंद करने से 30 दिन पहले ग्राहकों को बताना होगा

    नई दिल्ली, 18 अक्टूबर। सरकार ने दूरसंचार सेवा प्रदाता (टेलिकॉम) कंपनियों के लिए सेवाएं बंद करने से कम से कम 30 दिन पहले ग्राहकों को अग्रिम नोटिस देने को अनिवार्य बनाने का निर्णय लिया है। दूरसंचार सचिव अरुणा सुंदरराजन ने यह बात कही है। उन्होंने कहा कि टेलिकॉम कंपनियों को ट्राई को भी 60 दिन पहले सेवाएं बंद करने की सूचना देनी होगी। इससे पहले इस तरह की कोई समय सीमा नहीं थी।
    हाल में कुछ दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनियों ने अचानक सेवाएं बंद कर दी थीं जिससे उनके ग्राहकों को परेशानी हुई। कई ग्राहकों ने इसकी शिकायत भी की थी। नया नियम भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण की उन सिफारिशों का हिस्सा है जिन्हें दूरसंचार आयोग ने बुधवार को हुई अपनी बैठक में मंजूरी दी है। (पीटीआई)

सेहत/फिटनेस

  • ग्लोबल हंगर इंडेक्स: भुखमरी दूर करने में और पिछड़ा भारत, 119 देशों में से 103वें पर पहुंचा

    नई दिल्ली, 15 अक्टूबर। भुखमरी खत्म करने वाले देशों की सूची में भारत और पीछे चला गया है। साल 2018 का ग्लोबल हंगर इंडेक्स (जीएचआई) जारी किया गया है और इसके मुताबिक भारत 119 देशों की सूची में 103वें स्थान पर है। पिछले साल भारत 100वें स्थान पर था।
    ध्यान देने वाली बात ये है कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में भारत ग्लोबल हंगर इंडेक्स में लगातार पिछड़ता जा रहा है। इस मामले में साल 2014 में भारत 99वें स्थान पर था। वहीं साल 2015 में थोड़े सुधार के साथ भारत 80वें स्थान पर जा पहुंचा। इसके बाद साल 2016 में 97वें और साल 2017 में 100वें पायदान पर पहुंच गया।
    ग्लोबल हंगर इंडेक्स (जीएचआई) वैश्विक, क्षेत्रीय, और राष्ट्रीय स्तर पर भुखमरी का आंकलन करता है। भूख से लडऩे में हुई प्रगति और समस्याओं को लेकर हर साल इसकी गणना की जाती है। जीएचआई को भूख के खिलाफ संघर्ष की जागरूकता और समझ को बढ़ाने, देशों के बीच भूख के स्तर की तुलना करने के लिए एक तरीका प्रदान करने और उस जगह पर लोगों का ध्यान खींचना जहां पर भारी भुखमरी है, के लिए डिजाइन किया गया है।
    ग्लोबल हंगर इंडेक्स में ये देखा जाता है कि देश की कितनी जनसंख्या को पर्याप्त मात्रा में भोजन नहीं मिल रहा है। यानि देश के कितने लोग कुपोषण के शिकार हैं। इसमें ये भी देखा जाता है कि पांच साल के नीचे के कितने बच्चों की लंबाई और वजन उनके उम्र के हिसाब से कम है। इसके साथ ही इसमें बाल मृत्यु दर की गणना को भी शामिल किया जाता है। 
    ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत का खराब प्रदर्शन लगातार जारी है। भारत की स्थिति नेपाल और बांग्लादेश जैसे पड़ोसी देशों से भी खराब है। इस मामले में चीन भारत से काफी आगे है। चीन 25वें नंबर पर है। वहीं बांग्लादेश 86वें, नेपाल 72वें, श्रीलंका 67वें और म्यामांर 68वें स्थान पर हैं। पाकिस्तान भारत से पीछे है। उसे 106वां स्थान मिला है।
    जीएचआई की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में भूख की स्थिति बेहद गंभीर है। संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की 2018 बहुआयामी वैश्विक गरीबी सूचकांकÓ के मुताबिक साल 2005-06 से 2015-16 के बीच एक दशक में भारत में 27 करोड़ लोग गरीबी रेखा से बाहर निकल गए हैं। हालांकि ग्लोबल हंगर इंडेक्स की हालिया रिपोर्ट ने इन दावों पर सवाल खड़े कर दिए हैं।  (भाषा)

     

सामान्य ज्ञान

  • मैन बुकर पुरस्कार

     न्यूजीलैंड की 28 वर्षीय लेखिका एलिनोर कैटन को वर्ष 2013 के मैन बुकर पुरस्कार के लिए चुना गया है। इसी के साथ वे मैन बुकर पुरस्कार जीतने वाली सबसे कम उम्र की लेखक बन गईं हैं। 
    कैटन को उनके उपन्यास  द लुमिनरीज के लिए साल  मैन बुकर पुरस्कार दिया गया है।  832 पन्नों वाला यह उपन्यास एक मर्डर मिस्ट्री है। जो कि दक्षिणी द्वीप के वेस्ट कोस्ट के सोने की खदानों पर आधारित है। द लुमिनरीज 1866 के न्यूजीलैंड की कहानी है, जब काफी लोग सोने की तलाश में वेस्ट कोस्ट जाते थे। द लुमिनरीज  कैटन की दूसरी किताब है। उनका पहला उपन्यास रिहर्सल था।
    बुकर पुरस्कार साहित्यिक योगदान के क्षेत्र में दिया जाने वाला दुनिया का एक प्रतिष्ठित पुरस्कार है।  मैन बुकर पुरस्कार फ़ॉर फि़क्शन  जिसे लघु रूप में मैन बुकर पुरस्कार या बुकर पुरस्कार भी कहा जाता है, कॉमनवैल्थ या आयरलैंड के नागरिक द्वारा लिखे गए मौलिक अंग्रेजी उपन्यास के लिए हर वर्ष दिया जाता है।  
     बुकर पुरस्कार की स्थापना 1969 में इंगलैंड की बुकर मैकोनल कंपनी द्वारा की गई थी।  इस पुरस्कार के लिए पहले उपन्यासों की एक लंबी सूची तैयार की जाती है और फिर पुरस्कार वाले दिन की शाम के भोज में पुरस्कार विजेता की घोषणा की जाती है। पहला बुकर पुरस्कार अलबानिया के उपन्यासकार इस्माइल कादरे को दिया गया था। बुकर पुरस्कार के तहत विजेता लेखक को 50 हजार पाउंड का इनाम दिया जाता है।
    पांगोंग त्सो
    पांगोंग त्सो  हिमालय में स्थित एक झील है जिसकी ऊंचाई लगभग साढ़े चार हजार मीटर है। यह 134 किमी लंबी है और भारत के लद्दाख़ से तिब्बत पहुंचती है। जनवादी गणराज्य चीन में झील का दो तिहाई हिस्सा है। इसकी सबसे चौड़ी नोंक केवल 8 किमी चौड़ी है। शीतकाल में, नमक पानी होने के बावजूद, झील पूरी तरह से जम जाती है।

अंग्रेज़ी

  • The English Corner 18 October 2018

    Economics Terminology  
    Goods - Objects that can satisfy people's wants.  
    Households - Individuals and family units which, as consumers, buy goods and services from firms and, as resource owners, sell or rent productive resources to business firms.

     

    Vocabulary
    Volatile - (adj.) highly changeable, fickle; tending to become violent or explosive; changing readily from the liquid to the gaseous state
    Synonyms: unstable, erratic
     Antonyms: stable, steady, static, inert, dormant

    PROVERBS
    proverb - is a saying that makes a truth or piece of wisdom easier to remember e.g. a stitch in time saves nine 
    bird in hand is worth two in the bush
    do not risk losing something that you have by tr ing to get something that is not certain "You should accept the job offer with the lower salary now rather than waiting for a better job. Remember, a bird in hand is worth two in the bush." 
    curiosity killed the cat
     asking questions or being curious about som thing that is not your business is often not a good thing "Curiosity killed the cat," the mother said as the child asked questions about her birthday party. 
    don't put the cart before the horse
    do not do things out of order I told my friend not to put the cart before the horse and buy clothes for the new job that he does not have. 

    Buzz Words
    Recently-coined new words in English,  terms and expressions with their meaning. 
    Docusoap: Blend of 'documentary' and 'soap'. (soap opera: sentimental TV serial) A 'docusoap' is a reality television programme in the style.
    Funkinetics :    A form of energetic step aerobics that mixes exercise and soul music.

    Tongue Twister
    Ten Tiny Tentacles Tethered to a Tightrope.
    (Repeat it loudly a few times to check   if you could say it fast, without a slip)

फोटो गैलरी


विडियो गैलरी