सामान्य ज्ञान

अरावली पर्वत
09-Jun-2021 12:12 PM (168)
अरावली पर्वत

अरावली या अर्वली उत्तर भारतीय पर्वतमाला है। राजस्थान राज्य के पूर्वोत्तर क्षेत्र से गुजऱती 560 किलोमीटर लम्बी इस पर्वतमाला की कुछ चट्टानी पहाडिय़ां दिल्ली के दक्षिण हिस्से तक चली गई हैं। भारत की भौगोलिक संरचना में अरावली प्राचीनतम पर्वत है। यह संसार की सबसे प्राचीन पर्वत श्रृंखला है, जो राजस्थान को उत्तर से दक्षिण दो भागों में बाँटती है। अरावली का सर्वोच्च पर्वत शिखर सिरोही जि़ले में  गुरुशिखर  (1727 मी.) है, जो माउंट आबू में है। इस पर्वतमाला में केवल दक्षिणी क्षेत्र में सघन वन हैं, अन्यथा अधिकांश क्षेत्रों में यह विरल, रेतीली एवं पथरीली है।
शिखरों एवं कटकों की श्रृंखलाएं, जिनका फैलाव 10 से 100 किलोमीटर है, सामान्यत: 300 से 900 मीटर ऊंची हैं। इस पर्वत श्रेणी का विस्तार उत्तर-पूर्व से दक्षिण-पश्चिम की ओर दिल्लीसे अहमदाबाद तक लगभग 800 कि.मी. की लम्बाई में है। अरावली पर्वत श्रंखला का लगभग 80 प्रतिशत विस्तार राजस्थान में है। दिल्ली में स्थित राष्ट्रपति भवन रायशेला पहाड़ी पर बना हुआ है, जो अरावली का की भाग है। अरावली की औसत ऊंचाई 920 मीटर है तथा इसकी दक्षिण की ऊंचाई और चौड़ाई सर्वाधिक है। यह एक अवशिष्ट पर्वत है एवं विश्व के प्राचीनतम मोड़दार पर्वतों में से एक है। यह पर्वत श्रेणी क्वाट्र्ज चट्टानों से निर्मित है। इनमें सीसा, तांबा, जस्ता आदि खनिज पाये जाते हैं। इस पर्वत श्रेणी को उदयपुर के निकट जग्गा पहाडिय़ों, अलवर के निकट हर्षनाथ की पहाडिय़ों  और दिल्ली के निकट इसे दिल्ली की पहाडिय़ों के नाम से जाना जाता है। अरावली पर्वत श्रेणी की सर्वोच्च चोटी गुरु शिखर 1 हजार 722 मीटर है। 
 

अन्य पोस्ट

Comments