ताजा खबर

राम जन्मभूमि ट्रस्ट जमीन अनुबंध मामले में कोर्ट जाएंगे AAP सांसद संजय सिंह
16-Jun-2021 5:38 PM (73)
राम जन्मभूमि ट्रस्ट जमीन अनुबंध मामले में कोर्ट जाएंगे AAP सांसद संजय सिंह

 

नई दिल्ली. राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पर जमीन अनुबंध घोटाले का आरोप लगाने वाले आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा है कि जिस एग्रीमेंट की बात की जा रही है वो एग्रीमेंट 18 मार्च, 2021 को रद्द कर दिया गया था. उन्होंने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट में जो जमीन घोटाला हुआ बीजेपी उस पर कार्रवाई करने के बजाए प्रॉपर्टी डीलर्स के पक्ष में खड़ी हो गयी है. करोड़ो रामभक्तों से मैं कहना चाहता हूं कि जिन्होंने चंदा दिया उनसे हाथ जोड़कर अपील है आपकी आस्था मर्यादा पुरूषोत्तम राम में है, आपकी आस्था चंपत राय, सुल्तान अंसारी में नहीं है.

आप सांसद ने कहा कि मंगलवार को कुछ कागज हमारे हाथ लगे जिससे यह साबित होता है बीजेपी की आस्था राम में नहीं चंदा चोरों में है. बीजेपी और चंपत राय लगातार तर्क दे रहे हैं कि प्रॉपेर्टी डीलर से वर्ष 2011 में अग्रीमेंट हुआ फिर 2019 में कहा. जिस अग्रीमेंट का जिक्र यह करते हैं वो 18 मार्च, 2021 को रद्द हो चुका है इसका शपथ पत्र मेरे हाथ मे है.

संजय सिंह ने कहा कि जमीन का एग्रीमेंट दो करोड़ रुपये में हुआ था जिसके लिए 50 लाख एडवांस दिया गया. इस सौदे में पहला पक्ष कुसुम पाठक, हरीश पाठक हैं. जिन नौ लोगों के साथ अग्रीमेंट हुआ है उनमें इच्छा राम सिंह, विश्व प्रताप सिंह, मनीष कुमार, सूबेदार दुबे, बलराम यादव, राजेन्द्र प्रसाद, रविंद कुमार दुबे, सुल्तान अंसारी और राशिद हुसैन हैं. इन नामों में रवि मोहन तिवारी का भी नाम शामिल है.

16 करोड़ रुपये वापस करे ट्रस्ट, राम मंदिर का जल्द हो निर्माण
उन्होंने चंपत राय और बीजेपी से सवाल पूछा कि रवि मोहन तिवारी और ऋषिकेश उपाध्याय के बीच क्या रिश्ता है. साढ़े पांच करोड़ की मिल्कियत दो करोड़ में सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी को बेची गयी. जबकि वही जमीन पांच मिनट बाद 18 करोड़ रुपये में चंपत राय को बेच दी गई. इसलिए आम आदमी पार्टी यह मांग करती है कि साढ़े 16 करोड़ रुपए वापस होने चाहिए और जल्द राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए. साथ ही सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी के खातों की जांच की जाए.

आप सांसद ने बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा पर हमलावर होते कहा कि वो चोरों और प्रोपेर्टी डीलर के पक्ष में खड़े हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि चंपत राय के बारे में कहा जा रहा है कि वो अविवाहित हैं. तो क्या पत्नियां भ्रष्टाचार के लिए उकसाती हैं. मैं इंतजार कर रहा था कि बीजेपी कुछ तो शर्म दिखाएगी. मैं इन सभी मामलों को लेकर कोर्ट जाने की तैयारी कर रहा हूं.

(news18.com)

अन्य पोस्ट

Comments