सामान्य ज्ञान

दुनिया में पहला किडनी ट्रांसप्लांट कब हुआ?
17-Jun-2021 12:51 PM (102)
दुनिया में पहला किडनी ट्रांसप्लांट कब हुआ?
आजकल दिल और किडनी के ट्रांसप्लांट आम बात हैं लेकिन जब डॉक्टरों ने ऐसा पहली बार किया, तो चिकित्सा जगत में धूम मच गई।
वर्ष 1950 में  शिकागो में 49 साल की रूथ टकर के गुर्दे खराब हो चुके थे। टकर अस्पताल के बिस्तर पर मौत का इंतजार नहीं करना चाहती थीं। डॉक्टर रिचर्ड लॉलर की टीम ने फिर तय किया कि वे एक मृत महिला के शरीर से एक किडनी लेंगे और उसे टकर के शरीर में ट्रांसप्लांट करेंगे। टकर के पास एक ही गुर्दा बचा था और उसकी हालत भी काफी खराब थी। उस समय डॉक्टरों के पास भी इन्फेकशन रोकने के लिए अच्छी दवाइयां नहीं थीं, लेकिन गुर्दा उन्होंने फिर भी ट्रांसप्लांट किया। टकर का शरीर गुर्दे को सही तरह अपना नहीं पाया लेकिन डॉक्टरों ने किसी तरह गुर्दे को टकर के शरीर में नौ महीनों तक रखा। उनका दूसरा गुर्दा तब तक ठीक हो गया और उनकी जिंदगी पांच साल और बढ़ गई।   हालांकि उनकी मौत उनके गुर्दे की वजह से नहीं, बल्कि दिल की बीमारी से हुई।
चार साल बाद वर्ष 1954 में पहली बार दो जिंदा लोगों के बीच किडनी ट्रांसप्लांट हुआ। बॉस्टन के डॉक्टरों ने रिचर्ड हेरिक को बचाने के लिए उसके जुड़वा भाई रोनल्ड से एक गुर्दा लिया, क्योंकि वे जुड़वा थे, तो उनके शरीर भी एक जैसे थे और गुर्दे को शरीर ने स्वीकार करने में कोई दिक्कत नहीं की। इस काम के लिए डॉक्टर जोसेफ मरे को 1990 में नोबल चिकित्सा पुरस्कार से नवाजा गया था। 
 
भारत में साक्षरता प्रतिशत
जनगणना साक्षरता पुरुषों में महिलाओं में 
1951 18.33 27.16 8.86
1961 28.3 40.40 15.35
1971 34.45 45.96 21.97
1981 43.57 56.38 29.76
1991 52.21 64.13 39.29
2001 64.84 75.26 53.67
2011 73.0 80.09 64.06
 

अन्य पोस्ट

Comments