राजनीति

राहुल गांधी के बयान पर भड़की BJP, संबित पात्रा बोले- हमारी भावनाओं के साथ आप खिलवाड़ क्यों कर रहे हैं?
10-Sep-2021 7:15 PM (89)
राहुल गांधी के बयान पर भड़की BJP, संबित पात्रा बोले- हमारी भावनाओं के साथ आप खिलवाड़ क्यों कर रहे हैं?

नई दिल्ली, 10 सितंबर। भारतीय जनता पार्टी के नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के एक बयान को लेकर उनपर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने जीएसटी की तुलना मां लक्ष्मी से की और कहा कि जीएसटी आने से मां लक्ष्मी की शक्तियां कम हो गई हैं. संबित पात्रा ने आश्चर्य करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले आपने (राहुल गांधी) जीएसटी की तुलना गब्बर सिंह से की थी. जिस जीएसटी की तुलना आप गब्बर सिंह से कर रहे थे आज उसी की तुलना मां लक्ष्मी से कर रहे हैं. हमारी भावनाओं के साथ आप खिलवाड़ क्यों कर रहे हैं?

संबित पात्रा ने राहुल गांधी के बयान पर कहा, "राहुल गांधी और कांग्रेस को दुख हो रहा है, क्योंकि जम्मू कश्मीर में तुष्टिकरण और भेदभाव की राजनीति खत्म हो रही है और विकासवाद आगे बढ़ रहा है. आज यह जान के दुख हुआ, आज कोई साधारण दिन नहीं, आज गणेश चतुर्थी है. ऐसे में भारती परंपराओं का हनन होता है. ऐसे में यदि हमारे देवी देवताओं का अपमान किया जाता है तो मुझे लगता है ये उचित नहीं है."

संबित ने कहा, "राहुल गांधी जी ने आज अपने भाषण में, मां वैष्णो देवी के तीर्थ स्थान को हम पिंडियों के रूप में कहते हैं. हम कहते हैं पिंडियां. उन्होंने कहा ये जो सिंबल्स (प्रतीक) हैं. सिंबल्स राजनीतिक पार्टी में होते हैं. ये मां की पिंडिया हैं." संबित पात्रा ने कहा कि इस तरह के शब्दों का प्रयोग करना कहीं न कहीं भावनाओं को ठेस पहुंचाना है.

राहुल गांधी ने क्या कहा है ?

राहुल गांधी ने कहा, ''कल जब मैं वैष्णो माता जी के मंदिर में गया, तब वहां त्रिशक्तियाँ थीं- दुर्गा जी, लक्ष्मी जी, सरस्वती जी. 'दुर्गा जी' जिन्हें हम दुर्गा माँ कहते हैं; दुर्गा शब्द 'दुर्ग' से आता है; 'दुर्गा माँ' यानी वो शक्ति जो रक्षा करती है.''

उन्होंने आगे कहा, ''लक्ष्मी मां यानी वो शक्ति जो 'लक्ष्य' को पूरा करती हैं; अगर आपका लक्ष्य' पैसा है, तो जो आपने कहा वो भी सही है. आपका लक्ष्य कुछ और है तो उस लक्ष्य को पूरा करने की जो शक्ति हमें मिलती है, वो हैं 'लक्ष्मी मां'.''

राहुल गांधी ने कहा, ''सरस्वती जी वो शक्ति हैं, जिन्हें हम विद्या, ज्ञान की देवी/शक्ति कहते हैं. ये त्रिशक्तियाँ हैं. ये त्रिशक्तियाँ जब घर में होती हैं या देश में होती हैं, तो देश की तरक्की होती है. हिन्दुस्तान में नोटबंदी और GST से माँ लक्ष्मी जी शक्ति घटी है या बढ़ी है? किसानों के बनाए गए तीन काले कानूनों से दुर्गा माँ की शक्ति घटी है या बढ़ी है?  जब हिन्दुस्तान के हर संस्थान में, कॉलेज और स्कूल में RSS का व्यक्ति बैठाया जाता है तो सरस्वती माँ की शक्ति घटती है या बढ़ती है?  जवाब है- घटती है.''

उन्होंने कहा कि जो (बीजेपी) अपने आपको हिन्दू कहते हैं, वो वैष्णो देवी के मंदिर में जाकर माथा टेकते हैं और उन्हीं त्रिशक्तियों का अपमान करते हैं. कहते हैं कि हम धार्मिक लोग हैं और फिर उन्हीं शक्तियों को दबाने का काम करते हैं. (abplive.com)

अन्य पोस्ट

Comments